रथ सप्तमी कल, जानें स्नान का मुहूर्त

सूर्य देव को इस शुभ समय में अवश्य चढ़ाएँ जल! पढ़ें सूर्य सप्तमी का धार्मिक व ज्योतिषीय महत्व और जानें सूर्य पूजन की विधि व नियम। 



रथ सप्तमी या सूर्य सप्तमी वह तिथि है जब सूर्य देव ने ब्रह्मांड को अपने दिव्य तेज से प्रकाशमान किया था। माघ माह के शुक्ल पक्ष में आने वाली सप्तमी की तिथि को रथ सप्तमी, माघ सप्तमी या सूर्य सप्तमी कहा जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार साल 2018 में यह तिथि 24 जनवरी को पड़ रही है।

मान्यता है कि इस दिन भगवान सूर्य का जन्म हुआ था इसलिए इसे सूर्य जयंती के नाम से भी मनाया जाता है। इस दिन सूर्य देव की पूजा का विशेष महत्व है। 

सूर्य सप्तमी पर स्नान का मुहूर्त
समयप्रातःकाल 05:29 से 07:17 तक
अवधि1 घंटा 47 मिनट
अर्घ्य दान के लिए सूर्योदय का समय7:13

उपरोक्त मुहूर्त नई दिल्ली के लिए प्रभावी है। जानें अपने शहर में सूर्योदय का समय: दैनिक पंचांग


सूर्य सप्तमी पूजा विधि


सूर्य देव को नियमित जल चढ़ाने और उनकी उपासना करने से मनुष्य के अंदर आत्म विश्वास, आरोग्य, सम्मान और तीव्र स्मरण शक्ति की प्राप्ति होती है। रथ सप्तमी पर सूर्य देव के पूजन की विधि इस प्रकार है:

  • सूर्य सप्तमी पर व्रत रखें और सूर्योदय के समय सूर्य देव को अर्घ्य दें।
  • इस दिन पवित्र नदी, सरोवर या घर पर स्नान के बाद एक कलश में जल लेकर पूर्व दिशा की ओर मुख करके धीरे-धीरे सूर्य देव को जल चढ़ाएँ और सूर्य मंत्र “ॐ घृणि सूर्याय नमः” का जाप करें।
  • सूर्य देव को अर्घ्य देने के बाद घी का दीपक जलाएं और कपूर, धूप जलाकर सूर्य देव की आरती करें व उन्हें लाल पुष्प चढ़ाएं। 
  • इस दिन आदित्य ह्रदय स्त्रोत का पाठ अवश्य करना चाहिए। इसके प्रभाव से आरोग्य की प्राप्ति होती है।
  • सूर्य ग्रहण की तरह सूर्य सप्तमी के दिन भी दान-पुण्य का विशेष महत्व होता है, इसलिए इस दिन सूर्य से संबंधित वस्तुओं का दान करें। 

अवश्य करें इन वस्तुओं का दान: सूर्य ग्रह की शांति के उपाय

सूर्य पूजन का महत्व


हिन्दू धर्म और वैदिक ज्योतिष में सूर्य को देवता व नवग्रहों के राजा की उपाधि दी गई है। संसार में सूर्य के बिना जीवन के अस्तित्व की कल्पना नहीं की जा सकती है, इसलिए सूर्य को जगत पिता कहा गया है। मान्यता है कि रोजाना सूर्य को जल चढ़ाने से स्मरण शक्ति बढ़ती है और मानसिक चेतना मिलती है। धार्मिक मान्यता के अनुसार रथ सप्तमी पर सूर्य भगवान की पूजा करने से जाने-अनजाने किए गए पापों से छुटकारा मिल जाता है और सूर्य से संबंधित सभी दोषों का प्रभाव कम होता है।

एस्ट्रोसेज की ओर से सभी पाठकों को सूर्य सप्तमी की हार्दिक शुभकामनाएँ! हम आशा करते हैं कि सूर्य देव की कृपा आप पर बनी रहे।
Read More »

साप्ताहिक राशिफल (22-28 जनवरी 2018)

ये 7 राशि वाले अवश्य करें ये उपाय! पढ़ें साप्ताहिक राशिफल और जानें इस हफ्ते क्या कहते हैं आपके सितारे? क्या नौकरी, व्यापार और शिक्षा आदि कार्यों में मिलेगी सफलता?



यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि।

मेष


इस सप्ताह की शुरुआत में आप थोड़े मायूस रह सकते हैं लेकिन धीरे-धीरे परिस्थितियां सामान्य हो जाएंगी। धन संबंधी मामलों के लिए यह सप्ताह सामान्य रहने वाला है। अत्यधिक गर्म और तली-भुनी चीजों से परहेज करें अन्यथा स्वास्थ्य समस्याएं परेशान कर सकती हैं। माता जी का स्वास्थ्य कुछ कमजोर रहेगा। वहीं पिताजी से भी मतभेद होने की आशंका है। इस सप्ताह आप किसी लंबी दूरी की यात्रा पर जा सकते हैं। कार्य क्षेत्र में परिस्थितियां सामान्य रहेंगी। जहां एक ओर आपके अधिकारों में वृद्धि होगी वहीं कुछ विवाद भी संभव है। विद्यार्थी वर्ग के लिए यह समय थोड़ा चुनौतीपूर्ण है। इसलिए बेहतर होगा कि वे ध्यान पूर्वक पढ़ाई करें। वहींं संतान से आपके कुछ मतभेद हो सकते हैं। 

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए यह सप्ताह अच्छे संकेत नहीं दे रहा है। प्रियतम से कुछ बातों को लेकर विवाद अथवा मनमुटाव होने की संभावना है। इस दौरान दोनों के बीच अहम का टकराव भी हो सकता है। इस बात का ध्यान रखें यदि आप विवाहित हैं तो जीवनसाथी की बातों को समझने की कोशिश करें। इससे आपका दांपत्य जीवन अच्छा व्यतीत होगा। आपका जीवनसाथी अध्यात्म में रुचि लेगा। 

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: घर के बाहर कहीं दूरी पर अनार का पौधा लगाएं। 

वृषभ


इस सप्ताह आपका पूरा ध्यान अपनी आमदनी में बढ़ोत्तरी करने पर होगा। इस दौरान मनचाही सफलता नहीं मिलने से मन थोड़ा उदास रह सकता है अतः परिस्थितियों में उतार-चढ़ाव देखने को मिलेगा। बेहतर होगा कि प्रयास करते हैं क्योंकि आने वाले समय में आपको सफलता अवश्य मिलेगी। पिता जी को स्वास्थ्य संबंधी समस्या हो सकती है इसलिए उनका ध्यान रखें। अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान रखें। इस सप्ताह आप किसी लंबी दूरी की यात्रा पर जा सकते हैं। विद्यार्थी वर्ग को मनोवांछित लाभ होगा। वहीं आपकी संतान भी आनंद का अनुभव करेगी हालांकि इस दौरान उन्हें अकेला न छोड़ें। 

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए यह सप्ताह बेहतर रहेगा। इस दौरान आपके प्यार में गहराई आएगी और आप एक दूसरे से अपनी सभी बातें शेयर करेंगे। साथ ही आप एक-दूसरे के साथ कहीं घूमने फिरने का प्लान भी बन सकते हैं। यदि आप विवाहित हैं तो जीवन साथी के स्वभाव में थोड़ा क्रोध देखने को मिल सकता है, इसलिए स्थिति को देखते हुए धैर्य से काम लें, तो सब कुछ ठीक रहेगा। 

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: मां दुर्गा की आराधना करें और उन्हें लाल पुष्प अर्पित करें। 


बसंत पंचमी आज, जानें मां सरस्वती की पूजा विधि और मुहूर्त: सरस्वती पूजा मुहूर्त

मिथुन


इस सप्ताह आपको अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा। साथ ही कार्य स्थल पर भी पूर्ण रुप से मन लगाकर काम करना आपके लिए अच्छा रहेगा। इस हफ्ते कार्य क्षेत्र या नौकरी बदलने का प्रयास कर सकते हैं जिसमें आपको सफलता मिलने की संभावना है। माता-पिता का स्वास्थ्य सामान्य रहेगा। इस सप्ताह आप अपनी बातों से दूसरों को मनाने में कामयाब होंगे और इससे आपको लाभ भी मिलेगा। कार्य स्थल पर वरिष्ठ अधिकारियों से अच्छे संबंध बनाकर रखें। इस अवधि में आप अपने विरोधियों पर हावी रहेंगे। यह सप्ताह विद्यार्थी वर्ग के लिए बेहतरीन रहने वाला है। वहीं आपके बच्चे भी आनंद का अनुभव करेंगे।

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए यह सप्ताह बेहतरीन रहने की संभावना है। आप छुप छुप कर मिलेंगे और अपने प्रियतम के साथ प्रेम के पलों का आनंद उठाएंगे। इस दौरान रिश्ते में गहराई आएगी। यदि आप विवाहित हैं तो जीवन साथी को समझने में कुछ समस्याएं आ सकती हैं। जिस कारण आप के रिश्ते में कुछ तनाव पैदा हो सकता है लेकिन दूसरी ओर जीवनसाथी को कोई अप्रत्याशित लाभ होने की संभावना भी बन रही है। इस दौरान उनकी कोई इच्छा पूरी हो सकती है। जिससे आपको भी सुख की प्राप्ति होगी।

भाग्यस्टार: 3.5/5

उपाय: श्री विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करना आपके लिए उत्तम रहेगा। 

31 जनवरी 2018 को 150 साल बाद दुर्लभ चंद्र ग्रहण, जानें आपके जीवन पर क्या होगा असर?


कर्क


इस सप्ताह आप काफी व्यस्त रहेंगे और इसका प्रभाव आपके शरीर पर देखने को मिलेगा। परिणाम स्वरुप आप थकान महसूस करेंगे। परिवार में शांति और सद्भाव बना रहेगा। इस हफ्ते विद्यार्थी वर्ग को परीक्षाओं में अपनी कड़ी मेहनत का परिणाम मिलेगा। वहीं यदि आपके बच्चे हैं तो वे थोड़े गुस्सैल या जिद्दी हो सकते हैं। हालांकि वे अपने कार्य को पूरी ऊर्जा के साथ करेंगे। इस सप्ताह आप अपने विरोधियों पर हावी रहेंगे लेकिन कड़वा बोलने से बचें। अपनी सेहत का विशेष ख्याल रखें। सप्ताह की मध्य अवधि में अनावश्यक खर्च होने से थोड़ी परेशानी हो सकती है, इसलिए वित्तीय प्रबंधन पर अधिक ध्यान दें।

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए यह सप्ताह सामान्य रहेगा। आप प्यार में उतावले हो सकते हैं जिस कारण आप का प्रियतम आपसे कुछ भयभीत भी हो सकता है, इसलिए प्रेम संबंधों में धैर्य बनाए रखें और अपने साथी को पहल करने दें। यदि आप विवाहित हैं तो आपको बहुत ध्यान से चलना होगा क्योंकि विवाद होने की पूरी संभावना है, साथ ही जीवन साथी की खराब सेहत भी आपकी परेशानी का कारण बन सकती है।

भाग्यस्टार: 2.5/5

उपाय: भगवान शिव को गेहूं अर्पित करें। 


सिंह


इस सप्ताह आपको कुछ अनावश्यक यात्राएं करनी पड़ सकती हैं। साथ ही आपके खर्च भी बढ़ सकते हैं। हालांकि अच्छी बात है कि प्रॉपर्टी अथवा वाहन खरीदी के योग भी बन रहे हैं। इस सप्ताह माताजी का खराब स्वास्थ्य आपको परेशान कर सकता है इसलिए उनका विशेष ध्यान रखें। आपका आचरण धार्मिक होगा और आप दान-पुण्य के कार्य भी करेंगे। भाई-बहनों से मनमुटाव होने की संभावना है। संतान पक्ष को लेकर भी चिंता बढ़ सकती है। इस सप्ताह विद्यार्थी वर्ग को भी एकाग्रता में कमी की समस्या से जूझना पड़ सकता है। कार्य क्षेत्र में आप खूब मेहनत करेंगे और वरिष्ठ अधिकारियों का सहयोग भी प्राप्त होगा लेकिन किसी भी प्रकार के विवाद से बचने की कोशिश करें।

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिहाज से यह सप्ताह ज्यादा अच्छा नहीं कहा जा सकता है। इसलिए आपको धैर्य रखना होगा और अपने साथी के प्रति वफादार रहना होगा। किसी नये रिश्ते की शुरुआत भी हो सकती है। यदि आप पहले से प्रेम संबंधों में हैं तो अपने रिश्ते के महत्व को समझें और उन्हें गंभीरता से लें। यदि आप विवाहित हैं तो जीवन साथी से संबंध सुधरेंगे रिश्ता मजबूत होगा और जीवनसाथी की उन्नति भी होगी, जो आपकी प्रसन्नता का कारण बनेगी। 

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: भगवान विष्णु की आराधना करें और उन्हें पीले पुष्प चढ़ाएं। 


कन्या


इस सप्ताह आप ऊर्जावान महसूस करेंगे और प्रत्येक कार्य को दृढ़ता के साथ करेंगे। इसके फलस्वरुप आपको कामयाबी भी मिलेगी। कार्य क्षेत्र में आपका प्रदर्शन सराहनीय रहेगा हालांकि कार्य क्षेत्र में व्यस्तता के चलते परिवार को अधिक समय नहीं दे पाएंगे। संतान पक्ष का खराब स्वास्थ्य आपकी चिंता का कारण बन सकता है, इसलिए बच्चे की सेहत पर ध्यान दें। इस हफ्ते विद्यार्थी वर्ग को भी चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है इसलिए अच्छे से मन लगाकर पढ़ाई करें। इस अवधि में धन लाभ होने के योग बन रहे हैं। कुछ जातकों के घर में कोई मांगलिक कार्य या समारोह होने की संभावना भी बन रही है।

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए यह सप्ताह मिले-जुले परिणाम देगा। जहां एक और आपके बीच अहम के टकराव के कारण विवाद की स्थिति बन सकती है। वहीं दूसरी ओर यदि आप समझदारी से काम लेंगे तो रिश्ते में प्यार बढ़ेगा। अगर आप विवाहित हैं तो जीवन साथी पूर्ण रुप से आप और आपके परिवार के प्रति समर्पित रहेगा और आपके रिश्ते में एकरूपता और प्रेम की भावना बढ़ेगी और आप एक दूसरे को सम्मान देंगे। 

भाग्यस्टार: 3.5/5

उपाय: बुधवार के दिन हरे रंग की चूड़ियां मंदिर में देवी मां को पहनाएं। 

साल 2018 में क्या कहते हैं आपके सितारे? जानने के लिए पढ़ें: राशिफल 2018


तुला


तुला राशि के जातकों के लिए यह सप्ताह काफी बेहतर रहने वाला है। इस दौरान आप जो भी निर्णय लेंगे वह काफी संतुलित होंगे और उनका प्रभाव आपके जीवन पर देखने को मिलेगा। इस हफ्ते कार्य क्षेत्र पर थोड़ा ध्यान देने की आवश्यकता होगी। घर परिवार में कुछ अच्छी और कुछ बुरी स्थितियों का सामना करना पड़ सकता है। व्यर्थ के वाद विवाद से दूर रहें और आलस्य का त्याग करें। कड़वे वाणी बोलने से भी बचें। विद्यार्थी वर्ग बहुत मेहनत करेगा और उसका उन्हें अच्छा परिणाम भी प्राप्त होगा। इस सप्ताह आपका मन एक से अधिक कार्य में लगने के कारण कुछ व्याकुल रह सकता है। सरकार से कोई लाभ प्राप्त होने की संभावना है।

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए यह सप्ताह अच्छा रहेगा। यह रिश्ते में आगे बढ़ने का समय है क्योंकि आपके प्रयास सार्थक होंगे। जिनसे आप प्रेम करते हैं वह आपकी बातों को समझेंगे और बदले में आपको भी उतना ही प्यार प्राप्त होगा। यदि आप विवाहित हैं तो जीवनसाथी की सेहत खराब रह सकती है लेकिन वह आपके प्रति पूर्ण समर्पण का भाव रखेंगे। 

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: काले कुत्ते को रोटी खिलाएं। 


ऑनलाइन सॉफ्टवेयर से मुफ्त जन्म कुंडली प्राप्त करें।

वृश्चिक


इस सप्ताह आपको अपने व्यवहार पर नियंत्रण रखना होगा और व्यर्थ के झगड़ों और गुस्से से बचना होगा अन्यथा इसका प्रभाव आपके स्वास्थ्य और आप के रिश्तों पर पड़ सकता है। इस दौरान वाहन सावधानी पूर्वक चलाएं। प्रॉपर्टी संबंधित कोई लाभ प्राप्त होने की प्रबल संभावना है। आपके भाई-बहनों के लिए समय चुनौतीपूर्ण है। आपके अंदर धार्मिक प्रवृत्ति की वृद्धि होगी। आप अपने हर कार्य को कुशलता के साथ समय पर करेंगे। इस हफ्ते धर्म-कर्म के कार्यों पर कुछ खर्च होने की संभावना है। संतान पक्ष के साथ आपका व्यवहार अच्छा रहेगा। विद्यार्थी वर्ग भी पढ़ाई के क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करेंगे। पारिवारिक जीवन में शांति और सद्भाव बना रहेगा।

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए यह सप्ताह औसत रहने वाला है। हालांकि ऐसी संभावना भी है कि आपका प्रेमी आपसे कुछ समय के लिए दूर हो जाए लेकिन आप अपनी सूझबूझ और अपने प्रेम के कारण अपने रिश्ते को बनाए रखने में सफल रहेंगे। यह समय अपने रिश्तो में आत्म चिंतन का है। यदि आप विवाहित हैं तो इस सप्ताह जीवनसाथी के साथ आपके संबंध सुधरेंगे। 

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: भगवान शिव की आराधना करें और उन्हें श्वेत पुष्प अर्पित करें। 

बुध के वक्री होने से आपके जीवन पर क्या होगा असर, जानें और पढ़ें: बुध वक्री 2018


धनु


इस सप्ताह आपका पूरा ध्यान अपने पारिवारिक जीवन पर होगा। आप परिवार के बारे में ही सोचेंगे, साथ ही संतान के प्रति अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करेंगे। सप्ताह के आखिरी में कुछ अनावश्यक खर्च हो सकते हैं इसलिए फिजूलखर्ची से बचने की कोशिश करें। आध्यात्मिक और धार्मिक मामलों में रुचि बढ़ेगी। समाज के गणमान्य लोगों से मिलने का अवसर मिलेगा। किसी समारोह में जाने का मौका भी मिल सकता है। इस सप्ताह वाहन सावधानी से चलाएं और अपने खान-पान पर विशेष रुप से ध्यान दें, हो सके तो गरिष्ठ भोजन से परहेज करें। स्वास्थ्य कमजोर रहने से शारीरिक दुर्बलता महसूस होगी, इसलिए संतुलित दिनचर्या अपनाएँ। भाई-बहन पूरी तरह से आपका सहयोग करेंगे। संतान पक्ष से कुछ मनमुटाव हो सकता है। विद्यार्थी वर्ग के लिए अच्छा समय है। इस सप्ताह धन लाभ के विशेष योग बन रहे हैं।

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए यह सप्ताह अच्छा रहने की संभावना है। यदि आपकी अपने प्रियतम से किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई है, तो इस सप्ताह उन्हें मनाने का प्रयास करें। आप में से किसी भाग्यवान जातकों को अपने प्रेमी के साथ शादी के बंधन में बंधने का मौका मिलेगा। यदि आप विवाहित हैं तो जीवन साथी के साथ आपका रिश्ता और मजबूत होगा। आप एक दूसरे के साथ अच्छा समय व्यतीत करें। 

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: पीपल का वृक्ष लगाएं। 


मकर


इस सप्ताह सेहत के प्रति बिल्कुल लापरवाही ना बरतें। आप लोगों से स्नेह का भाव रखेंगे लेकिन साथ ही आपके अंदर अहंकार की प्रवृत्ति भी हावी होगी। इसलिए अपने व्यवहार में संतुलन बनाये रखने का प्रयास करें। कार्य क्षेत्र में आपका दबदबा रहेगा। विदेशी क्षेत्रों से भी आपको लाभ होने की संभावना है। इस हफ्ते आपकी आय में बढ़ोत्तरी होने के योग भी बन रहे हैं। आपको भाई-बहनों का सहयोग मिलेगा। विद्यार्थी वर्ग के लिए बेहतरीन समय है। वहीं संतान पक्ष भी आप के प्रति समर्पित रहेगा। मकान अथवा अचल संपत्ति बेचने के योग भी बन रहे हैं। आप अपने विरोधियों पर भारी पड़ेंगे। वरिष्ठ अधिकारियों से आपको समर्थन मिलेगा।

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए सप्ताह सामान्य रहेगा। यदि आप अपने संबंधों में किसी भी प्रकार की जबरदस्ती अथवा अहम की भावना का त्याग कर दें तो आपका प्रेम जीवन सुचारू रूप से चलता रहेगा। हालांकि आपके प्रियतम पूर्ण रुप से आप के प्रति समर्पित रहेंगे। वहीं दूसरी ओर यदि आप विवाहित हैं तो जीवन साथी के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। आपके वैवाहिक जीवन में मधुरता आएगी।

भाग्यस्टार: 3.5 /5

उपाय: गौ माता को आटे का पेड़ा और हरा चारा खिलाएं। 


कुम्भ


घर परिवार के मामलों में आपका ध्यान अधिक रहेगा। आप भाई-बहनों की सहायता करेंगे। कार्यस्थल पर आपकी स्थिति और मजबूत होगी। इस दौरान कोई अच्छी खबर मिलने से आपकी खुशियों में बढ़ोत्तरी हो जाएगी। वहीं इस सप्ताह आपकी आय में भी वृद्धि के योग बन रहे हैं। इन सबके बीच माता जी का खराब स्वास्थ्य आपकी चिंता बढ़ा सकता है, इसलिए उनकी सेहत का विशेष ख्याल रखें। धर्म-कर्म के कामों में आपका रुझान बढ़ेगा। इस सप्ताह आपके खर्चों में भी बढ़ोतरी होने की संभावना है। नेत्र विकार और अनिद्रा की समस्या से परेशानी हो सकती है, इसलिए संयमित दिनचर्या अपनाएं और संतुलित भोजन करें। छात्र जातकों को कुछ अड़चनों का सामना करना पड़ सकता है। संतान पक्ष आपके सपनों को पूरा करने की दिशा में आगे बढ़ेगी। बड़े अधिकारियों और बड़े भाई-बहनों से लाभ मिलेगा। 

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए यह सप्ताह मिला-जुला रहेगा। मित्रों अथवा प्रियजनों के साथ आप अपने प्रियतम को मिलवाएंगे और एक दूसरे के साथ मिलकर पार्टी आदि में जाएंगे। साथ ही आप किसी लंबी दूरी की यात्रा पर भी जा सकते हैं। कुल मिलाकर आपके रिश्ते में गहराई आएगी और आप एक दूसरे को और अच्छे से समझ पाएंगे। एक दूसरे की भावनाओं की कद्र भी करेंगे। यदि आप विवाहित हैं तो जीवन साथी से अलगाव होने की स्थिति बन सकती है या उनके स्वास्थ्य में गिरावट हो सकती है। दोनों ही परिस्थितियों में धैर्य के साथ काम लें।

भाग्यस्टार: 3.5/5

उपाय: गौ माता को हरा चारा और हरी सब्जी खिलाएं । 


मीन


आपका मन प्रसन्न रहेगा इस वजह से आप प्रत्येक कार्य को पूरी निष्ठा और लगन के साथ करेंगे। कार्य क्षेत्र में जमकर मेहनत करेंगे और आपके विचार आपको कार्य स्थल पर सम्मान दिलाएंगे। इस दौरान वरिष्ठ अधिकारियों से काफी कुछ सीखने को मिलेगा। सरकार या सरकारी पक्ष से लाभ होगा। कभी-कभार आपके और सीनियर्स के विचारों में भिन्नता हो सकती है। छोटे भाई बहन आप की महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने अथवा धन लाभ में आपका पूरा साथ देंगे। आपके बच्चे थोड़े मनमौजी स्वभाव के रहेंगे, इसलिए आपको उनके मित्र की तरह व्यवहार करना होगा। इस सप्ताह विद्यार्थी वर्ग को थोड़ी ज्यादा मेहनत करनी पड़ सकती है।

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए यह सप्ताह सामान्य रहेगा। छोटी-मोटी नोक झोंक को छोड़ कर आपके जीवन में प्यार भरे पल आएंगे। आप अपने प्रियतम के साथ अपने प्रेम जीवन को आगे बढ़ाएंगे। यदि आप विवाहित हैं तो जीवन साथी कार्य क्षेत्र में आपकी सहायता करेगा। हालांकि इस सप्ताह आपके दांपत्य जीवन में कुछ तनाव की स्थिति भी उत्पन्न हो सकती है। 

भाग्यस्टार: 3.5/5

उपाय: पीपल के वृक्ष को जल चढ़ाएं। 


रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिष समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर
Read More »

बसंत पंचमी कल, जानें सरस्वती पूजा का मुहूर्त

पढ़ें मां सरस्वती के पूजन की विधि और नियम! इस लेख के माध्यम से जानें बसंत पंचमी पर्व का धार्मिक और ज्योतिषीय महत्व।



बसंत पंचमी विद्या की देवी मॉं सरस्वती की आराधना का दिन है, इसे श्री पंचमी के नाम से भी जाना जाता है। यह समृद्धि और सद्भाव का पर्व है। बसंत पंचमी माघ माह की पंचमी तिथि पर मनाया जाने वाला पर्व है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार यह पर्व इस साल 22 जनवरी को मनाया जा रहा है। प्राकृतिक रूप से बसंत पंचमी का बड़ा महत्व है क्योंकि इस पर्व से ही बसंत ऋतु की शुरुआत हो जाती है और सर्दी कम होने लगती है। बसंत पंचमी पर हिन्दू धर्म के अनुनायी कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं। इस दिन देवी सरस्वती की पूजन का विशेष विधान है। हिन्दू धर्म में माता सरस्वती को ज्ञान, कला, संस्कृति और संगीत की देवी कहा जाता है। 

जानें बसंत पंचमी पर पूजन का शुभ मुहूर्त: सरस्वती पूजा मुहूर्त


सरस्वती पूजा का महत्व


हिन्दू धार्मिक मान्यताओं के अनुसार बसंत पंचमी का पर्व देवी सरस्वती को समर्पित है। क्योंकि इस दिन ही उनका जन्म हुआ था। पौराणिक मान्यता के अनुसार देवी सरस्वती को ब्रह्मा जी की मानस पुत्री कहा गया है। वहीं एक अन्य मत के अनुसार उन्हें ब्रह्मा जी की स्त्री भी कहा जाता है। माता सरस्वती को विद्या की देवी कहते हैं। इनके आशीर्वाद से ज्ञान, विवेक, संगीत और कला में निपुणता मिलती है। इसलिए बसंत पंचमी के दिन सरस्वती पूजा का विशेष विधान है। इस दिन प्रातःकाल से लेकर अपराह्न काल के बीच सरस्वती पूजा की जाती है। इस दौरान विधि विधान से देवी सरस्वती की पूजा-अर्चना की जानी चाहिए।

पढ़ें देवी सरस्वती की वंदना के मंत्र: सरस्वती स्त्रोत

पूजा विधि


बसंत पंचमी पर देवी सरस्वती के पूजन की विधि इस प्रकार है: 
  • सर्वप्रथम सरस्वती पूजा के लिए एक कलश की स्थापना करें।
  • पूजा की शुरुआत भगवान गणेश की वंदना से करें और फिर शिव जी का ध्यान करें।
  • इसके बाद देवी सरस्वती की पूजा-अर्चना शुरू करें। सबसे पहले उनकी मूर्ति को स्नान कराएं और फिर उन्हें सफेद वस्त्र पहनाएँ।
  • देवी सरस्वती को कुमकुम, गुलाल, पीले फूल और माला चढ़ाएँ। इसके अलावा ऋतु के अनुसार उन्हें फल अर्पित करें।
  • अंत में देवी सरस्वती की आरती के बाद उनसे ज्ञान और विवेक प्रदान करने की कामना करें। 


सरस्वती पूजा के ज्योतिषीय लाभ


बसंत पंचमी के अवसर पर सरस्वती पूजन के कई ज्योतिषीय लाभ हैं। कहते हैं कि जो मनुष्य बसंत पंचमी पर मॉं सरस्वती की आराधना करता है, उसे चंद्र, बृहस्पति, बुध और शुक्र के बुरे प्रभाव से मुक्ति मिलती है। साथ ही वे लोग जिन पर चंद्रमा, बृहस्पति, बुध और शुक्र की महादशा व अंतर्दशा चल रही है उन्हें भी सरस्वती पूजन से लाभ मिलता है। वे व्यक्ति जो ज्ञान और शांति का कामना करते हैं उन्हें सरस्वती स्त्रोत का पाठ अवश्य करना चाहिए। वे छात्र जिन्हें पढ़ाई में बाधा का सामना करना पड़ रहा है उन्हें देवी सरस्वती की पूजा अवश्य करनी चाहिए।

बसंत पंचमी का महत्व


बसंत पंचमी का प्रकृति से गहरा संबंध है। क्योंकि इसी दिन से बसंत ऋतु की शुरुआत होती है। बसंत ऋतु के आगमन से शरद ऋतु धीरे-धीरे क्षीण होने लगती है। इस दौरान खेतों में चारों और सरसों के पीले फूल धरती की सुंदरता को बढ़ाते हैं। बसंत पंचमी के अवसर पर सरस्वती पूजा के अलावा देवी रति और कामदेव की भी पूजा की जाती है। यह पूजन विशेष रूप से वैवाहिक जोड़ों यानि दंपत्तियों के लिए विशेष लाभकारी है। इसके प्रभाव से उनके जीवन में आपसी प्रेम और सद्भाव बना रहता है। वहीं बसंत पंचमी के दिन व्यवसायी गण माता लक्ष्मी और भगवान विष्णु की पूजा करते हैं। इसके अलावा बसंत पंचमी के दिन कई स्थानों पर पतंगबाजी होती है। इस दौरान समूचा आसमान रंग-बिरंगी पतंगों से सराबोर हो जाता है।

एस्ट्रोसेज की ओर से सभी पाठकों को बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएँ! हम आशा करते हैं देवी सरस्वती की कृपा आप पर बनी रहे।
Read More »

माघ गुप्त नवरात्रि आज से प्रारंभ

गुप्त नवरात्रि में करें देवी दुर्गा की आराधना और पाएँ वरदान! पढ़ें माघ माह की गुप्त नवरात्रि का महत्व और जानें मां के विभिन्न रूपों का वर्णन।



देवी दुर्गा की आराधना के लिए नवरात्रि के नौ दिन सबसे शुभ माने गए हैं। हर वर्ष कुल 5 नवरात्रि मनाई जाती हैं। इनमें चैत्र और शरद नवरात्रि अधिक प्रचलन में है लेकिन इसके अलावा 3 गुप्त नवरात्रि भी मनाई जाती है। ये क्रमशः पौष गुप्त, आषाढ़ गुप्त और माघ गुप्त नवरात्रि के नाम से जानी जाती हैं। नवरात्रि की तरह गुप्त नवरात्रि में भी देवी दुर्गा की उपासना का विधान है। माघ महीने की गुप्त नवरात्रि 18 जनवरी से शुरू हो रही है और यह 26 जनवरी को समाप्त होगी। 

नवरात्रि के इन नौ दिनों में देवी मॉं हर प्रकार से अपने भक्तों के दुःख और दर्द को दूर करती हैं। वे सभी व्यक्ति जो धन, मान-सम्मान, सुख-संपत्ति और वैभव पाना चाहते हैं उन्हें देवी दुर्गा की आराधना अवश्य करनी चाहिए। 

आईये जानते हैं माघ माह की गुप्त नवरात्रि में किस दिन करें देवी दुर्गा के विभिन्न नौ रूपों का पूजन-


नवरात्रि में हर व्यक्ति सुख-समृद्धि की कामना के लिए देवी मां की उपासना करता है। वहीं देवी शक्ति मां दुर्गा अपने भक्तों की हर समय भय और कष्ट से रक्षा करती हैं। देवी दुर्गा के नाम का मतलब ही जीवन के दुःखों को हरने वाली होता है।

एस्ट्रोसेज की ओर से सभी पाठकों को माघ गुप्त नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएँ! हम आशा करते हैं कि देवी दुर्गा का आशीर्वाद आप पर बना रहे।
Read More »

मंगल का वृश्चिक में गोचर आज, जानें प्रभाव व उपाय

6 राशि वालों के जीवन में होगा “मंगल ही मंगल”! पढ़ें मंगल के वृश्चिक राशि में होने वाले गोचर का ज्योतिषीय प्रभाव।


ऊर्जा और साहस का कारक कहा जाने वाला मंगल ग्रह 17 जनवरी 2018 को वृश्चिक राशि में गोचर कर रहा है। इस लेख के माध्यम से जानें समस्त 12 राशियों पर मंगल के इस गोचर का क्या प्रभाव होगा?


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

मेष


मेष राशि के जातक अपने लक्ष्य के रास्ते में आने वाली परेशानियों से थोड़े निराश हो सकते हैं... आगे पढ़ें

वृषभ


इस अवधि में आपके सभी प्रयास सफल होंगे और आपके कार्यों का परिणाम प्राप्त होगा... आगे पढ़ें

मिथुन


आपके लिए यह गोचर कुछ हद तक बेहतर रहने वाला है, इसलिए इस अवधि में आपके प्रयास सफल होंगे... आगे पढ़ें

कर्क


इस समय सकारात्मक सोच ही आपको आगे ले जा सकती है, अतः इस पर ध्यान दें। इस गोचर के कारण आप अपनी पदवी भी बढ़ा सकते हैं... आगे पढ़ें

सिंह


इस समय आपको कुछ विषम परिस्थितियों का सामना करना पड़ सकता है जिसके लिए मन थोड़ा कुंठित भी हो सकता है... आगे पढ़ें

कन्या


आपके लिए मंगल का वृश्चिक में गोचर शानदार है। जीवनसाथी के साथ रिश्ते प्रगाढ़ होंगे, हालाँकि पार्टनर की तबियत ख़राब होने से कुछ तनाव हो सकता है... आगे पढ़ें

तुला


संयुक्त परिवार वालों को थोड़ी पारिवारिक परेशानी हो सकती है, यह परेशानी परिवार के उसूलों के ख़िलाफ़ जाने के कारण हो सकती है... आगे पढ़ें


वृश्चिक


इस अवधि में आपके शानों-शौक़त में इज़ाफ़ा होगा और आपका अत्यधिक समय नए प्रयोग करने में व्यतीत होगा, साथ ही आप इस पर पैसे भी ख़र्च करेंगे... आगे पढ़ें

पढ़ें, धनु राशि में संचरण कर रहे शनि के गोचर का प्रभाव: शनि गोचर 2018

धनु


इस गोचर की अवधि में दुविधा, कार्यों में देरी और ग़लत मार्गदर्शन आपके लिए सबसे बड़ी चुनौतियाँ होंगी... आगे पढ़ें

मकर


यह समय जायदादों को विस्तार देने और उनसे लाभ कमाने के लिए अनुकूल है। इस गोचर के दौरान पूरी दुनिया में भले ही प्रॉपर्टी मार्केट में मंदी रहेगी... आगे पढ़ें

कुम्भ


यह गोचर आपके लिए वह समय है जब आप अपने आइडिया पर काम कर सकते हैं और ख़ुद को एक नई पहचान दे सकते हैं... आगे पढ़ें

मीन


इस अवधि में आपके लिए सेहत थोड़ा चिंता का विषय हो सकता है, इसलिए नियमित रूप से व्यायाम करने के लिए समय निर्धारित करें...आगे पढ़ें

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिष समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर
Read More »

साप्ताहिक राशिफल – 15 से 21 जनवरी 2018

अवश्य अपनाएँ कामयाबी के ये 5 महाउपाय! पढ़ें साप्ताहिक राशिफल और जानें अपने इस सप्ताह का फलादेश।



यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि।

मेष


इस सप्ताह लंबी दूरी की यात्रा लाभदायक होंगी। पारिवारिक जीवन में उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकते हैं। कार्य क्षेत्र में आप जमकर मेहनत करेंगे। हालांकि ऑफिस में होने वाली गॉसिप से दूर रहें वरना आप मुसीबत में फंस सकते हैं। इस हफ्ते आपके पिताजी का स्वास्थ्य थोड़ा कमजोर रहने की संभावना है। कार्यस्थल पर वरिष्ठ अधिकारियों से आपको सहयोग मिलेगा। इस सप्ताह आपको भाग्य का साथ मिलने की प्रबल संभावना है। संतान आपके कार्य क्षेत्र में सहायक बनेगी। विद्यार्थी वर्ग इस सप्ताह कड़ी मेहनत करेगा।

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए यह सप्ताह सामान्य रहेगा। आप अपने प्रेमी के साथ लंबी दूरी की यात्रा पर जा सकते हैं। कुछ विरोधाभासों के साथ-साथ प्रेम जीवन सुचारु रूप से चलता रहेगा। यदि आप विवाहित हैं तो जीवन साथी को स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं या उनका क्रोधी स्वभाव देखने को मिल सकता है अतः ऐसी परिस्थिति में धैर्य के साथ काम लें।

उपाय: घर के बाहर किसी गार्डन अथवा मंदिर में अनार का पेड़ लगाएं। 

भाग्यस्टार: 3/5 


वृषभ


इस सप्ताह आप मानसिक तनाव से ग्रस्त रह सकते हैं। बेचैनी रहने से किसी काम में मन नहीं लगेगा। इस हफ्ते आप विरोधियों पर हावी रहेंगे। कोर्ट-कचहरी या किसी अन्य विवाद का निर्णय आपके पक्ष में आने की संभावना है। आपको प्रॉपर्टी से संबंधित कोई लाभ हो सकता है। वहीं पिता को स्वास्थ्य समस्या होने से आपकी चिंताएं बढ़ सकती हैं। आपके भाई-बहनों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इस अवधि में आपके बच्चे स्वस्थ और प्रसन्नचित रहेंगे। विद्यार्थी वर्ग को इस हफ्ते कड़ा परिश्रम करना होगा। कड़ी मेहनत के बाद ही धन लाभ होगा। अवांछनीय खर्चों के योग बनेंगे। 

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए यह सप्ताह अच्छा रहेगा। कुछ समय के लिए आप अपने प्रियतम के साथ एकांत में समय बिताना पसंद करेंगे। यह आपके रिश्ते को और मजबूती देगा। आपके लिए जरूरी होगा कि अपने साथी के प्रति ईमानदार रहें। यदि आप विवाहित हैं तो जीवनसाथी से विवाद होने की संभावना है इसलिए ऐसी परिस्थिति उत्पन्न होने पर थोड़ा संयम बरतें। 

उपाय: दुर्गा माता की आराधना करें और उन्हें खीर का भोग लगाएं। 

भाग्यस्टार: 3/5 


मिथुन


इस सप्ताह व्यावसायिक साझेदारी में आपको लाभ होगा। यदि आप जॉब करते हैं तो उसमें चेंज करने का प्रयास करेंगे और यह आपके लिए फायदेमंद रहेगा। आपको वरिष्ठ अधिकारियों का सहयोग मिलेगा। आपका मन आध्यात्मिक कार्यों में अधिक लगेगा। इस सप्ताह आपके किसी पुराने राज़ से पर्दा उठ सकता है। परिवार में समरसता बनाए रखने का प्रयास करें, साथ ही ससुराल पक्ष से संबंध अच्छे रखें। आपके बच्चे आनंदपूर्वक जीवन व्यतीत करेंगे। हालांकि कोई शारीरिक कष्ट भी हो सकता है। आपके भाई-बहनों को शारीरिक समस्या हो सकती है।

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए यह सप्ताह अच्छा रहने की संभावना है लेकिन मर्यादित आचरण करना भी आवश्यक है। अपने प्रियतम पर अपने विचारों को थोपने का प्रयास ना करें। उनकी भावनाओं को भी समझें इससे आपके रिश्ते में प्रगाढ़ता आएगी। यदि आप विवाहित हैं तो जीवन साथी से आपको सहयोग मिलेगा, साथ ही उन्हें कोई लाभ भी हो सकता है।

उपाय: श्री विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करना आपके लिए उत्तम रहेगा। 

भाग्यस्टार: 3.5/5

जॉब-बिजनेस के लिए कैसा रहेगा आने वाला साल, जानने के लिए प्राप्त करें: करियर और बिजनेस रिपोर्ट


कर्क


इस सप्ताह आप मानसिक रूप से अस्थिरता का अनुभव करेंगे, साथ ही काफी व्यस्त रहेंगे। कार्य की अधिकता की वजह से आप परिजनों को अधिक समय नहीं दे पाएंगे इसलिए काम और पारिवारिक जीवन के बीच संतुलन बनाने की कोशिश करें। इस सप्ताह आपको अपनी माता जी के स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा। आपको संपत्ति से जुड़ा लाभ भी होने की संभावना है या आप प्रॉपर्टी भी खरीद सकते हैं। सरकार या सरकारी विभाग की ओर से लाभ मिलने की संभावना भी बन रही है। कड़ा परिश्रम करने से आपको अच्छी आय प्राप्त होगी। आपके बच्चे स्वस्थ्य और प्रसन्न रहेंगे। वहीं विद्यार्थी वर्ग को इस सप्ताह अच्छे परिणाम प्राप्त करने के लिए अधिक मेहनत करनी होगी। 

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए सप्ताह ज्यादा अनुकूल नहीं कहा जा सकता। आपके लिए आवश्यक होगा कि अपने रिश्तो में संवाद बनाए रखें और व्यर्थ के विवाद में पड़ने से बचें। इस सप्ताह ज्यादा मिलने-जुलने से भी बचें और जहां तक संभव हो तो फ़ोन आदि पर बातचीत करके ही वक्त बिताएं। यदि आप विवाहित हैं तो दांपत्य जीवन में कुछ कड़वाहट आ सकती है। पुरानी बातों को भूलने की कोशिश करें और अपने जीवन साथी को अपना समर्थन और प्रेम दें । 

उपाय: हनुमान जी की आराधना करें और बजरंग बाण का पाठ करें। 

भाग्यस्टार: 2.5/5 


सिंह


इस सप्ताह आपका ध्यान प्रेम, धन और आमदनी पर ही रहेगा। पारिवारिक संबंधों में उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। आपके माता-पिता का स्वास्थ्य भी कमजोर रह सकता है। छोटे भाई-बहनों की ओर से अपेक्षा के अनुसार सहयोग नहीं मिलेगा। इस सप्ताह छोटी-मोटी यात्राओं के योग बन रहे हैं, जो आपकी आमदनी को बढ़ाने का माध्यम बनेंगे। संतान का स्वास्थ्य कमजोर रह सकता है। कार्य स्थल पर आप जमकर मेहनत करेंगे। इस हफ्ते आप अधिक खर्च करेंगे इसलिए अपने वित्तीय मामलों पर नियंत्रण रखें। 

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए सप्ताह मिला-जुला असर देने वाला रहेगा। यदि आप अपने साथी के प्रति वफादार नहीं हैं तो यह सप्ताह आप को कष्ट दे सकता है। इसलिए प्रेम संबंधों में पारदर्शिता लाएं। यदि अविवाहित हैं तो जीवन साथी के माध्यम से किसी लाभ के भागीदार बनेंगे। आप प्रसन्न रहेंगे और आपके रिश्तों में भी अपनापन बना रहेगा। इस सप्ताह आपके जीवन साथी का स्वास्थ्य कुछ कमजोर रह सकता है। 

उपाय: सूर्य देव को जल अर्पित करना आपके लिए उत्तम रहेगा। 

भाग्यस्टार: 3/5

शनि की साढ़े साती से हैं परेशान, समाधान के लिए प्राप्त करें: शनि साढ़े साती निवारण रिपोर्ट


कन्या


इस सप्ताह आपका ध्यान अपने परिवार की ओर अधिक होगा। आपके अंदर आलस्य की प्रवृत्ति बढ़ सकती है इसलिए स्वयं पर नियंत्रण रखें और आलस्य का त्याग करें। कार्य क्षेत्र में आपके काम पर नजर रखी जा सकती है इसलिए अपना काम ईमानदारी से करें। संतान के साथ संबंधों में कुछ कड़वाहट आ सकती है। इस हफ्ते विद्यार्थी वर्ग पूर्ण कड़ी मेहनत करेंगे और उसके अच्छे परिणाम उन्हें प्राप्त होंगे। आपकी आमदनी में जबर्दस्त इजाफा होगा और आगे बढ़ने के कई मौके मिलेंगे। भाई-बहनों की मदद से भी लाभ मिलने की संभावना है। किसी कारणवश आपको परिवार से दूर रहना पड़ सकता है।

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए सप्ताह मिला-जुला रहने वाला है। जहां एक ओर आपके प्रेम संबंधों में मजबूती आएगी और रोमांस बढ़ेगा। वहीं दूसरी ओर किसी बात को लेकर आपके बीच में टकराव हो सकता है और इसका प्रभाव आपके रिश्तों पर पड़ेगा। यदि आप विवाहित हैं तो जीवन साथी, आपके और आपके परिवार के प्रति पूर्ण रुप से समर्पित दिखेगा। साथ ही जीवन साथी की ओर से आपको हर संभव मदद मिलेगी।

उपाय: गौ माता को हरा चारा अथवा हरी सब्ज़ियाँ खिलाएं। 

भाग्यस्टार: 2.5/5


तुला


इस सप्ताह आपकी मेहनत और प्रयास रंग लाएंगे और आप अपने कार्य क्षेत्र में आगे बढ़ेंगे। छोटी दूरी की यात्रा की संभावना बन रही है, जो कि लाभदायक सिद्ध होंगी। आपको अपने आलस्य का त्याग करना होगा और पारिवारिक जीवन पर ध्यान देना होगा क्योंकि इस हफ्ते आपकी माताजी का स्वास्थ्य कमजोर रह सकता है और पारिवारिक जीवन में किसी वजह से अशांति का वातावरण रह सकता है। कार्यस्थल पर शॉर्टकट अपनाने से बचे और कड़ी मेहनत करें। आपके तयशुदा कार्यक्रमों में भी बदलाव के संकेत नजर आ रहे हैं। आपके बच्चे अच्छा कार्य करेंगे और आगे बढ़ेंगे। विद्यार्थी वर्ग भी खूब मेहनत कर अच्छा परिणाम प्राप्त करेंगे। 

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए यह सप्ताह अनुकूल नज़र आ रहा है। इस दौरान किसी नए रिश्ते की शुरुआत हो सकती है और यह रिश्ता लंबी अवधि तक रहेगा। यदि पहले से ही प्रेम संबंधों में हैं तो संबंधों में मधुरता और अपनत्व की भावना बढ़ेगी। आप रिश्ते को नया मुकाम देने की दिशा में आगे बढ़ेंगे। यदि आप विवाहित हैं तो जीवन साथी आपके प्रति समर्पित रहेगा हालांकि आपका स्वयं का गुस्सा वैवाहिक जीवन को कुछ परेशानी दे सकता है। 

उपाय: गुड़ चने का दान करना आपके लिए उत्तम रहेगा। 

भाग्यस्टार: 3.5/5


ऑनलाइन सॉफ्टवेयर से मुफ्त जन्म कुंडली प्राप्त करें।

वृश्चिक


इस सप्ताह आपके विदेश भ्रमण पर जाने की संभावना बन रही है या फिर आप किसी लंबी दूरी की यात्रा पर जा सकते हैं। कुटुंब परिवार में उतार चढ़ाव की स्थिति बन सकती है इसलिए संवाद की महत्वता को समझना होगा और कड़वे वचन बोलने से बचना होगा, नहीं तो आपके रिश्ते खराब हो सकते हैं। पारिवारिक जीवन सुखमय व्यतीत होगा। इस हफ्ते आपको प्रॉपर्टी संबंधित लाभ भी प्राप्त हो सकता है। खर्च बढ़ने से आपका आर्थिक बजट गड़बड़ा सकता है इसलिए वित्तीय प्रबंधन पर ध्यान देने की जरुरत होगी। इस अवधि में धन का निवेश सोच समझकर करें। आपके बच्चे पढ़ाई के लिए बाहर जाने के बारे में सोचेंगे। इस सप्ताह स्वास्थ्य का ध्यान रखना आपके लिए आवश्यक होगा। 

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए यह सप्ताह मिले-जुले परिणाम लेकर आएगा। आप अपने प्रियतम के साथ कहीं घूमने-फिरने जा सकते हैं। संबंधों में समानता आएगी और आप एक दूसरे के साथ अपने रिश्ते को और मजबूत बनाएंगे। यदि आप विवाहित हैं तो जीवनसाथी के भाग्य से आपको आगे बढ़ने का अवसर मिलेगा। साथ ही उनके साथ संबंधों में प्रेम की अधिकता होगी और आपका दांपत्य जीवन मधुर होगा। 

उपाय: भगवान विष्णु के मंदिर में जाकर पीले कनेर के फूल चढ़ाएं। 

भाग्यस्टार: 3/5

धन संबंधी मामलों के लिए कैसा रहेगा आने वाला साल, जानें: धन और आर्थिक जीवन रिपोर्ट


धनु


आपको इस सप्ताह थोड़े संभलकर निर्णय लेने होंगे। क्योंकि शनि का गोचर आपकी राशि में ही चल रहा है। इस दौरान आप मानसिक रुप से बेचैनी का अनुभव कर सकते हैं। इस हफ्ते भौतिक जीवन से आपका मोहभंग हो सकता है और आप एकांत में रहना अधिक पसंद करेंगे, इसलिए जहां तक संभव हो अपना समय अपने मित्रों और परिजनों के साथ व्यतीत करें। कार्यक्षेत्र में आपको सुख की प्राप्ति और वृद्धि होगी, साथ ही धन का प्रचुर लाभ होने की संभावना बनेगी। विद्यार्थी वर्ग एक निष्ठ होकर अपनी विद्या पूरी करेंगे। वहीं आपकी संतान आपकी मनोकामनाओं को पूर्ण करने में आपका सहयोग देगी और स्वयं भी आगे बढ़ेगी। 

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए सप्ताह अच्छा रहने वाला है। यदि आप पहले से ही प्रेम संबंधों में हैं तो आपका प्रेमी आपके प्रति आकर्षित होगा। इस दौरान आपके प्रेम संबंधों में मजबूती आएगी। आप एक-दूसरे के साथ अपनी बातें साझा करेंगे और कहीं खाने पीने अथवा घूमने फिरने भी जा सकते हैं। यदि आप विवाहित हैं तो जीवन साथी की ओर से आपको पूर्ण समर्थन मिलेगा। हालांकि आपके लिए आवश्यक होगा कि आप उनको समझें और उनके प्रति अपने कर्तव्य को निभाएं।

उपाय: काली गाय को गुड़ खिलाएं। 

भाग्यस्टार: 2.5/5


मकर


पहला सुख निरोगी काया, इसलिए मकर राशि के जातक इस हफ्ते अपनी सेहत को नज़रअंदाज़ ना करें, क्योंकि आपका स्वास्थ्य कमजोर रह सकता है। आप कहीं सुदूर यात्रा पर भी जा सकते हैं या विदेश यात्रा की योजना बन सकती है। कार्यक्षेत्र में आपको मेहनत का फल प्राप्त होगा। इस दौरान आप विभिन्न प्रकार के सुख साधनों के प्रति आकर्षित होंगे। आप बहुत अधिक खर्च करेंगे और इसका प्रभाव आपकी आर्थिक स्थिति पर पड़ेगा। यदि आप किसी व्यावसायिक साझेदारी में हैं तो अपने साझेदार पर ध्यान रखें। पारिवारिक जीवन अच्छा रहेगा। वहीं कार्यक्षेत्र में आपको अपने भाई-बहनों का सहयोग भी मिलेगा। संतान पक्ष से भी खुशियां मिलेंगी। इस सप्ताह विद्यार्थी वर्ग बेहतर परिणाम पाने के लिए खूब मेहनत करेंगे।

प्रेमफल: प्रेम-संबंधों के लिए यह सप्ताह बेहद आनंदित रहने वाला है। आपके मन-मस्तिष्क पर रोमांस हावी रहेगा और इसका सीधा-सीधा प्रभाव आपके प्रेम संबंधों अथवा आपके दांपत्य जीवन पर पड़ेगा। यदि आप विवाहित हैं तो प्रेम को अपना माध्यम बनाकर अपने जीवनसाथी को निकट लाने का प्रयास करें और रिश्तों में किसी भी प्रकार के संदेह को जन्म ना दें। 

उपाय: शनि देव के मंत्रों का जाप करें और यथासंभव शनि स्तोत्र का पाठ करें। 

भाग्यस्टार: 3/5


कुम्भ


इस सप्ताह कुंभ राशि के जातकों को धन लाभ होने की संभावना बन रही है। आपके काम बनते जाएंगे और अनेक प्रकार के लाभों की प्राप्ति हेतु आप आगे बढ़ेंगे। वहीं दूसरी ओर आप के खर्चों में भी वृद्धि हो सकती है। कुछ भौतिक सुखों की लालसा में लिप्त होकर आप अधिक खर्च कर सकते हैं। इसके अलावा धार्मिक कार्यों पर भी कुछ खर्च संभव है। यदि आप अपने जन्म स्थान से दूर रहते हैं तो आप अपनी प्रॉपर्टी बनाने की कोशिश करेंगे। भाई-बहनों की ओर से आपको पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा और इस अवधि में होने वाली यात्राएं आपके लिए लाभ प्रदान करने वाली सिद्ध होंगी। संतान पक्ष आप की महत्वाकांक्षाओं को पूर्ण करने में सहयोगी सिद्ध होगी। वहीं विद्यार्थी वर्ग भी खूब मेहनत करेंगे। 

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए यह सप्ताह अब बेहतर रहेगा। आप अपने प्रियतम के साथ सभी बात को साझा करेंगे जिससे आपके रिश्ते में मजबूती आएगी और साथ ही एक दूसरे के साथ कहीं घूमने फिरने का प्लान भी बनेगा या फिर आप लंच और डिनर के लिए कहीं बाहर जा सकते हैं। यदि आप विवाहित हैं तो जीवन साथी के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। उनके स्वास्थ्य पर कुछ खर्च होने की संभावना है।

उपाय: नील शनि स्तोत्र का पाठ करें। 

भाग्यस्टार: 4/5


मीन


इस सप्ताह आप कार्यस्थल पर काफी मेहनत करेंगे। अपनी बुद्धि और हुनर से आप अनेक मुश्किल कार्यों को सफलता पूर्वक संपादित कर पाएंगे और इसके फलस्वरुप आपको अच्छा धन लाभ होगा। कार्यस्थल पर आपकी मेहनत और प्रयासों को सराहा जाएगा। पारिवारिक जीवन सामान्य रहेगा हालांकि आप अपने कार्य में अधिक व्यस्त रहेंगे। इस हफ्ते धन लाभ के योग बन रहे हैं। संतान पक्ष का मनमौजी स्वभाव देखने को मिल सकता है। विद्यार्थी वर्ग को कठिन परिश्रम करना होगा। भाई-बहन आपकी इच्छाओं की पूर्ति के लिए पूरी मदद करेंगे। इस सप्ताह स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें। क्योंकि पित्त संबंधित समस्या उत्पन्न हो सकती हैं, इसलिए बेहतर होगा कि संयमित दिनचर्या अपनाएँ। 

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए यह सप्ताह मिला-जुला रहने वाला है। आप अपने प्रियतम के साथ सुकून भरे पलों का आनंद लेंगे। मौज-मस्ती के लिए कहीं लॉन्ग ड्राइव पर जा सकते हैं या मित्रों के साथ पार्टी का प्लान बन सकते हैं। यदि आप विवाहित हैं तो पारिवारिक जीवन में कुछ तनाव रह सकता है परंतु जीवन साथी आपके कार्य में आपका पूरी तरह से समर्थन करेगा।

उपाय: पीपल के वृक्ष को जल चढ़ाएं और हल्दी डालकर स्नान करें। 

भाग्यस्टार: 4/5


रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर
Read More »

सूर्य का मकर में गोचर आज, मनाई जाएगी मकर संक्रांति

इन 7 राशियों को होगा विशेष लाभ! पढ़ें सूर्य के मकर राशि में होने वाले गोचर का ज्योतिषीय प्रभाव और जानें मकर संक्रांति पर क्या है स्नान और दान का महत्व? 


नवग्रहों का स्वामी सूर्य ग्रह 14 जनवरी को मकर राशि में गोचर करेगा और एक महीने की अवधि के बाद 13 फरवरी मंगलवार को 03:02 बजे कुंभ राशि में संचरण करेगा। आईये जानते हैं सूर्य के मकर राशि में गोचर का समस्त राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा :-


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

मेष


व्यावसायिक और सामाजिक क्षेत्र में मान-सम्मान बढ़ेगा। अपार शक्ति का अनुभव होगा और परिस्थितियों पर नियंत्रण करने में सफल रहेंगे। आगे पढें...


वृषभ


अपने लक्ष्य को पाने की दिशा में आप तेज़ी से बढ़ेंगे। व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन से जुड़े फैसले स्वतंत्र होकर लेने की कोशिश करें।आगे पढें...


मिथुन


ऊर्जा और मनोबल में कमी आ सकती है। कोई भी कार्य करने से पहले अच्छे से सोचें और फिर आगे बढ़ें। विवाद होने की भी संभावना है। आगे पढें...


कर्क


कर्क राशि के जातकों के आचरण और व्यवहार में कड़वाहट और चिड़चिड़ापन बढ़ सकता है। जीवनसाथी के व्यवहार में परिवर्तन देखने को मिलेगा। आगे पढें...


सिंह


सिंह राशि के जातक अपनी सेहत का खास ख्याल रखें। क्योंकि इस गोचर की वजह से आपके स्वास्थ्य में गिरावट आ सकती है। आगे पढें...


कन्या


वे जातक जो उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाने के इच्छुक हैं। इस गोचर के प्रभाव से उनकी यह मनोकामना पूरी होगी। आगे पढें...


तुला


पारिवारिक जीवन में अशांति रह सकती है। क्रोध और बेसब्र स्वभाव की वजह से प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ में कुछ मुद्दे और मतभेद उभर सकते हैं।आगे पढें...


वृश्चिक


अति आत्म विश्वासी होने से बचें वरना ये अति आत्म विश्वास आपके लिए घातक साबित हो सकता है। आगे पढें...


धनु


गोचर धनु राशि के जातकों के लिए लाभकारी रहेगा। इस दौरान आपको आर्थिक फायदे होंगे। आपके ग़लत व्यवहार से दूसरों को तकलीफ पहुँच सकती है। आगे पढें...


मकर


आपके अंदर क्रोध और अहंकार की प्रवृत्ति बढ़ सकती है। इससे वैवाहिक जीवन पर बुरा असर पड़ सकता है। आगे पढें...


कुंभ


लंबी दूरी की यात्रा पर जा सकते हैं। वे लोग जो विदेश यात्रा पर जाने के इच्छुक हैं उनकी यह मनोकामना पूरी होने की संभावना नज़र आ रही है। आगे पढें...


मीन


मीन राशि के जातकों के लिए गोचर लाभकारी रहने वाला है। आप अन्य लोगों की बातों को छोड़कर खुद पर फोकस करेंगे।आगे पढें...

मकर संक्रांति 2018


मकर संक्रांति हिन्दू धर्म से जुड़ा एक प्रमुख पर्व है। यह पर्व मुख्यतः सूर्य के राशि परिवर्तन करने पर मनाया जाता है। हिन्दू पंचांग के अनुसार जब पौष मास में सूर्य देव धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करते हैं, तब मकर संक्रांति मनाई जाती है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार यह तिथि हर साल सामान्यतः 14 जनवरी को आती है। इसी दिन से सूर्य देव की उत्तरायण गति प्रारंभ हो जाती है, इसलिए भारत के कुछ इलाकों में इसे उत्तरायण पर्व के तौर पर मनाया जाता है। दक्षिण भारत के राज्यों में मकर संक्रांति को पोंगल पर्व के तौर पर मनाया जाता है। मकर संक्रांति से ही मौसम में बदलाव होने लगता है। शरद ऋतु धीरे-धीरे कम होने लगती है और बसंत ऋतु का आगमन हो जाता है। इसके बाद से ही दिन लंबे होने लगते हैं और रातें छोटी हो जाती है।



यह जानना भी ज़रूरी है- सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करने के 17 दिन बाद चंद्र ग्रहण घटित होगा। माना जा रहा है कि 150 साल से भी ज्यादा समय के बाद 31 जनवरी 2018 को दुर्लभ पूर्ण चंद्र ग्रहण घटित होगा खगोल विज्ञान के अनुसार इस चंद्र ग्रहण को “ब्लू मून” कहते हैं। यह चंद्र ग्रहण भारत समेत दुनिया के कई देशों देखा जाएगा और सभी जगहों पर इसका व्यापक असर होगा।



मकर संक्रांति का धार्मिक और पौराणिक महत्व


भारत में धार्मिक और सांस्कृतिक नजरिये से मकर संक्रांति का बड़ा ही महत्व है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार मकर संक्रांति के दिन सूर्य देव अपने पुत्र शनि के घर जाते हैं। चूंकि शनि मकर व कुंभ राशि का स्वामी है। लिहाजा यह पर्व पिता-पुत्र के अनोखे मिलन से भी जुड़ा है।


एक अन्य कथा के अनुसार असुरों पर भगवान विष्णु की विजय के तौर पर भी मकर संक्रांति मनाई जाती है। बताया जाता है कि मकर संक्रांति के दिन ही भगवान विष्णु ने पृथ्वी लोक पर असुरों का संहार कर उनके सिरों को काटकर मंदरा पर्वत पर गाड़ दिया था। तभी से भगवान विष्णु की इस जीत को मकर संक्रांति पर्व के तौर पर मनाया जाने लगा।


विस्तार से जानें मकर संक्रांति पर्व से जुड़ी परंपरा और मुहूर्त: मकर संक्रांति 


मकर संक्रांति क्यों है महत्वपूर्ण- 14 जनवरी को सूर्य मकर राशि में गोचर करेगा। मकर शनि की राशि है और शनि देव, सूर्य देव के पुत्र हैं लेकिन सूर्य और शनि पिता-पुत्र होने के बावजूद आपस में शत्रुता रखते हैं, इसलिए सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करने से कुछ हलचल देखने को मिल सकती है। 



पोंगल


पोंगल दक्षिण भारत में विशेषकर तमिलनाडु, केरल और आंध्रा प्रदेश में मनाया जाने वाला एक महत्वपूर्ण हिंदू पर्व है। पोंगल विशेष रूप से किसानों का पर्व है। इस मौके पर धान की फसल कटने के बाद लोग खुशी प्रकट करने के लिए पोंगल का त्यौहार मानते हैं। पोंगल का त्यौहार ’तइ’ नामक तमिल महीने की पहली तारीख यानि जनवरी के मध्य में मनाया जाता है। 3 दिन तक चलने वाला यह पर्व सूर्य और इंद्र देव को समर्पित है। पोंगल के माध्यम से लोग अच्छी बारिश, उपजाऊ भूमि और बेहतर फसल के लिए ईश्वर के प्रति आभार प्रकट करते हैं। पोंगल पर्व के पहले दिन कूड़ा-कचरा जलाया जाता है, दूसरे दिन लक्ष्मी की पूजा होती है और तीसरे दिन पशु धन को पूजा जाता है।


पढ़ें पोंगल पर्व पर होने वाले धार्मिक कर्म और आयोजन: पोंगल


उत्तरायण


उत्तरायण खासतौर पर गुजरात में मनाया जाने वाला पर्व है। नई फसल और ऋतु के आगमन पर यह पर्व 14 और 15 जनवरी को मनाया जाता है। इस मौके पर गुजरात में पतंग उड़ाई जाती है साथ ही पतंग महोत्सव का आयोजन किया जाता है, जो दुनियाभर में मशहूर है। उत्तरायण पर्व पर व्रत रखा जाता है और तिल व मूंगफली दाने की चक्की बनाई जाती है।


वैदिक ज्योतिष में सूर्य- सूर्य को आत्मा, पिता, पूर्वज, उच्च सरकारी सेवा और सम्मान का कारक माना गया है इसलिए सूर्य के राशि परिवर्तन बड़ा महत्व होता है। जन्म कुंडली में सूर्य की शुभ स्थिति मनुष्य को उन्नति प्रदान करती है। वहीं सूर्य के अशुभ प्रभाव से सम्मान की हानि, पिता को कष्ट और उच्च पद प्राप्ति आदि में बाधा होती है। सूर्य की आराधना से इसके अशुभ प्रभावों से बचा जा सकता है।



हिंदू धर्म में उत्तरायण काल का महत्व


हिंदू धर्म में सूर्य का दक्षिण से उत्तर दिशा की ओर गमन करना बेहद शुभ माना गया है। मान्यता है कि जब सूर्य पूर्व से दक्षिण की ओर चलता है, इस दौरान सूर्य की किरणों को खराब माना गया है, लेकिन जब सूर्य पूर्व से उत्तर की ओर गमन करने लगता है, तब उसकी किरणें सेहत और शांति को बढ़ाती हैं।


एस्ट्रोसेज की ओर से आप सभी को मकर संक्रांति पर्व की शुभकामनाएं! हम आशा करते हैं कि आपके जीवन में शांति और समृद्धि आये।
Read More »