2017 में पहला सूर्य ग्रहण आज, जानें समय और सावधानी

ग्रहण के दौरान ना करें ये काम वरना बिगड़े जाएंगे बनते काम। क्या है साल 2017 के पहले सूर्य ग्रहण का महत्व? आइये जानते हैं 26 फरवरी रविवार को हो रहे सूर्य ग्रहण का आपके ऊपर क्या प्रभाव होगा...




विज्ञान के अनुसार ग्रहण एक खगोलीय घटना है लेकिन हिंदू धर्म और वैदिक ज्योतिष में ग्रहण का बड़ा महत्व है। जिस नक्षत्र और राशि में ग्रहण लगता है उससे जुड़े लोगों पर ग्रहण के अच्छे और बुरे दोनों तरह के प्रभाव पड़ते हैं। ज्योतिष प्रभाव से पहले जानते हैं इस सूर्य ग्रहण का समय, प्रकार और दृश्यता...

सूर्य ग्रहण का समय: शाम 5:39 से रात्रि 11:04 बजे तक

ग्रहण का प्रकार: कंकण सूर्य ग्रहण

दृश्यता: यह सूर्य ग्रहण दक्षिणी-पश्चिमी अफ्रीका, दक्षिणी अमेरिका के देशों पेरु, ब्राजील, बेल्विया, परागुए, अर्जेंटीना, चिली में दिखाई देगा। यह सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा। इस वजह से सूर्य ग्रहण का धार्मिक महत्व और सूतक मान्य नहीं होगा। इसके अलावा यूरोप, उत्तरी अमेरिका और एशिया महाद्वीप के देशों में भी सूर्य ग्रहण नहीं दिखाई देगा।


भारतीय समयानुसार सूर्य ग्रहण का प्रारंभ और समाप्तिकाल इस प्रकार होगा:

ग्रहण प्रारंभ शाम 5 बजकर 39 मिनट पर
कंकण प्रारंभ शाम 6 बजकर 44 मिनट पर
परमग्रास (मध्य अवधि) रात्रि 8 बजकर 26 मिनट पर
कंकण समाप्त रात्रि 10 बजकर 00 मिनट पर
ग्रहण समाप्त रात्रि 11 बजकर 04 मिनट पर


यह सूर्य ग्रहण शतभिषा नक्षत्र में लग रहा है, जो राहु का नक्षत्र है। इस वजह से यह सूर्य ग्रहण सामान्यत: हानिकारक प्रतीत हो रहा है। हालांकि हर राशि पर ग्रहण का अलग-अलग प्रभाव होगा। इस सूर्य ग्रहण के फलस्वरूप भूकंप, किसी बड़े राजनेता की मृत्यु, सत्ता परिवर्तन, आगजनी और आतंकी घटनाएं हो सकती हैं। 

आइये जानते हैं इस सूर्य ग्रहण का आपकी राशि पर क्या असर होगा –

यह राशिफल आपकी चंद्र राशि पर आधारित है। अपनी चंद्र राशि जानने के लिए क्लिक करें। 

मेष: वाणी में कड़वाहट बढ़ सकती है, व्यापार में परेशानियां उत्पन्न होने की संभावना, छोटे भाई-बहनों से लाभ मिलेगा।

वृषभ: प्रॉपर्टी या वाहन से लाभ मिलने के योग, मां को होगी लाभ की प्राप्ति, पिता को करना पड़ सकता है समस्या का सामना।

मिथुन: कार्यक्षेत्र में मान-सम्मान बढ़ेगा, पारिवारिक जीवन से दूर रहना पड़ सकता है। आध्यात्मिकता में वृद्धि होगी।

कर्क: शत्रुओं से परेशानी और कोर्ट संबंधी हानि की संभावना है। मानसिक तनाव और शारीरिक समस्या हो सकती है। हालांकि मनोबल में वृद्धि होगी।

सिंह: वैवाहिक जीवन में बाधा और जीवन साथी के साथ मनमुटाव की संभावना। बिज़नेस पार्टनरशिप में आ सकती है परेशानी, लंबी दूरी की यात्रा के योग।

कन्या: अचानक से किसी चीज की प्राप्ति होगी, मनोबल में वृद्धि होगी। शत्रुओं का दामन होगा, स्वास्थ्य समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

तुला: संतान पक्ष को हो सकता है कष्ट, गर्भवती महिला को अत्यंत सावधान रहने की ज़रुरत। पढ़ाई में अड़चनें आ सकती है। आर्थिक लाभ के योग हैं।

वृश्चिक: वाहन या संपत्ति से हो सकती है हानि। आय में वृद्धि और यात्रा के योग। मां के स्वास्थ्य में गिरावट की संभावना।

धनु: छोटे भाई-बहनों को समस्या, साहस में वृद्धि होगी। सामाजिक स्थिति में सुधार होगा, मान-सम्मान बढ़ेगा।

मकर: मानसिक और शारीरिक समस्या से परेशानी हो सकती है। धन हानि और परिजनों के साथ मनमुटाव की आशंका। लंबी यात्रा के बन रहे हैं योग।

कुंभ: विदेश या विदेशी संबंधों से लाभ की संभावना। धन लाभ और मनचाही इच्छा पूरी होगी।

मीन: शारीरिक हानि और अचानक से कष्ट की आशंका। ससुराल पक्ष से हो सकता है मनमुटाव। धन लाभ के बन रहे हैं योग।

सभी राशियों का वार्षिक राशिफल 2017 पढ़ने के लिए क्लिक करें

सूर्य ग्रहण के दौरान करें मंत्र जप  

ग्रहण के दौरान मंत्र उच्चारण का विशेष महत्व बताया गया है। धार्मिक मान्यता के अनुसार ग्रहण के समय मंत्र जप करने से ग्रहण के नकारात्मक प्रभावों से बचा जा सकता है। इसलिए सूर्य ग्रहण के दौरान इस मंत्र का जप अवश्य करें।

‘’ॐ आदित्याय विद्महे दिवाकराय धीमहि तन्नो सूर्य: प्रचोदयात्॥’’


ग्रहण के दौरान क्या करें, क्या ना करें...

हिंदू धर्म और वैदिक ज्योतिष में ग्रहण का बड़ा महत्व है। मान्यता है कि ग्रहण के प्रभाव से वातावरण अशुद्ध हो जाता है, जिसका मानव जीवन पर बुरा प्रभाव पड़ता है। हालांकि ज्योतिष उपाय, दान-धर्म और साधना के द्वारा ग्रहण के नकारात्मक प्रभावों से बचा जा सकता है। 

ग्रहण के दौरान ध्यान, भजन-कीर्तन, धार्मिक पुस्तकें और मंत्र का जप करना चाहिए।

देवी-देवताओं की मूर्ति और तुलसी के पौधे का स्पर्श नहीं करना चाहिए। ग्रहण समाप्त होने के बाद देवी-देवताओं की मूर्तियों को स्नान कराना चाहिए।

ग्रहण के दौरान भोजन बनाना और खाना वर्जित होता है। साथ ही ग्रहण से पहले घर में रखे भोज्य पदार्थों में तुलसी के पत्ते डाल देना चाहिए। ग्रहण समाप्ति पर नहाने के बाद भोजन करना चाहिए। 

ग्रहण के दौरान सोना नहीं चाहिए। स्त्री-पुरुष को शारीरिक संबंध और शृंगार नहीं करना चाहिए।

ग्रहण के समाप्त होने पर घर में गंगा जल का छिड़काव करना चाहिए।

गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के दौरान बाहर नहीं निकलना चाहिए। इसके अलावा काटने, छीलने और सिलने के लिए चाकू, कैंची व सुई आदि का प्रयोग करने से बचना चाहिए।

बुज़ुर्ग, बच्चे और रोगियों पर ग्रहण के सूतक का कोई प्रभाव नहीं होता है। 

ग्रहण का मानव जीवन पर अच्छा और बुरा दोनों तरह का प्रभाव पड़ता है लेकिन धार्मिक और ज्योतिष उपायों की मदद से आप इसके बुरे प्रभाव से बच सकते हैं।

हम आशा करते हैं कि यह लेख आपके लिए लाभकारी हो और इन उपायों की मदद से आप ग्रहण के बुरे प्रभावों से दूर रहेंगे।
Read More »

आज महाशिवरात्रि पर करें ये काम, शिव से मिलेगा वरदान

महाशिवरात्रि पर महादेव को कब और कैसे करें प्रसन्न? महाशिवरात्रि पर क्या है भगवान शिव के रुद्राभिषेक का महत्व? आईये जानते हैं महाशिवरात्रि पर भगवान शिव की भक्ति से कैसे मिलेगा अनुपम वरदान।

महाशिवरात्रि को लेकर हिंदू धर्म में कई पौराणिक कथाएं प्रचलित हैं। बताया जाता है कि महाशिवरात्रि के दिन ही भगवान शिव लिंग रूप में प्रकट हुए थे, इसलिए कहा जाता है कि शिव के निराकार से साकार रूप में अवतरण की रात्रि ही महाशिवरात्रि है। हिंदू धर्म में महाशिवरात्रि एक पावन पर्व है। हर वर्ष फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी के दिन महाशिवरात्रि मनाई जाती है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार यह तारीख फरवरी और मार्च के महीने में आती है। वर्ष 2017 में महाशिवरात्रि 24 फरवरी शुक्रवार को मनाई जा रही है। महाशिवरात्रि पर भगवान शिव के रुद्राभिषेक का बड़ा महत्व है, मान्यता है कि इस दिन भगवान शिव का रुद्राभिषेक करने से रोग, शोक व तमाम कष्टों का नाश हो जाता है और मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है।

Click here to read in english...

महाशिवरात्रि पूजन मुहूर्त: 

निशीथ काल पूजा मुहूर्त- 00:09:07 से 00:59:21 (24 और 25 की मध्य रात्रि में)

अवधि: 50 मिनट

महाशिवरात्रि पारणा मुहूर्त: 06:51:58 से 15:27:20, 25 फरवरी

नोट: यह मुहूर्त नई दिल्ली के लिए है। जानें अपने शहर में पूजन का मुहूर्त और विस्तृत पूजा विधि – 


महाशिवरात्रि पर कैसे करें महाकाल की आराधना ?

भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए महाशिवरात्रि पर व्रत और रुद्राभिषेक का विशेष महत्व है। 

महाशिवरात्रि पर रात्रि में उपवास करें और दिन में सिर्फ फल और दूध ग्रहण करें।

शिव पुराण का पाठ, महामृत्युंजय मंत्र और ‘’ऊँ नम: शिवाय’’ मंत्र का जाप करें। इसके अलावा रात्रि जागरण करें।

रात्रि के चारों पहरों में भगवान शिव का अभिषेक और आराधना करें। हालांकि निशीथ काल में शिव पूजन का विशेष महत्व होता है।

नीलकंठ महादेव को क्यों प्यारी है महाशिवरात्रि ? 


1. जब भगवान शिव ने मां पार्वती को बताया सर्वोत्तम व्रत का रहस्य

पौराणिक मान्यता के अनुसार माता पार्वती ने भगवान शिव से पूछा था कि कौन सा व्रत उनको सर्वोत्तम भक्ति और पुण्य प्रदान करता है। तब माता पार्वती के सवाल के जवाब में भगवान शिव ने महाशिवरात्रि के व्रत के महत्व का वर्णन किया। भोलेनाथ ने कहा कि जो भक्त महाशिवरात्रि का उपवास रखता है, वह मुझे प्रसन्न कर लेता है।




2. कैसे भगवान शिव ने तोड़ा था ब्रह्मा और विष्णु का अभिमान?

इस पौराणिक कथा के अनुसार एक समय भगवान विष्णु और ब्रह्मा जी को अपने श्रेष्ठ कर्मों पर अभिमान हो गया था। दोनों देव अपना महत्व और श्रेष्ठता सिद्ध करने पर आमादा हो गए। ब्रह्मा और विष्णु के इस अहंकार को दूर करने के लिए भगवान शिव अत्यंत प्रकाशवान होकर अग्नि स्तंभ के रूप में प्रकट हुए थे। शिव का यह स्वरूप फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी की रात्रि में ही हुआ था, इसलिए इसे महाशिवरात्रि कहा गया। 


3. जब हुआ था भगवान शिव और आदि शक्ति का मिलन

मान्यता है कि महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव और आदि शक्ति का विवाह हुआ था। इसलिए महाशिवरात्रि को शिव और आदि शक्ति के मिलन की रात्रि भी कहा जाता है। 


ज्योतिष शास्त्र में महाशिवरात्रि का महत्व

हिंदू धर्म में चतुर्दशी तिथि के स्वामी भगवान शिव हैं इसलिए हर माह में कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को शिवरात्रि के तौर पर मनाया जाता है। वैदिक ज्योतिष में चतुर्दशी तिथि को बेहद शुभ बताया गया है। क्योंकि फाल्गुन मास में कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी के दिन चंद्रमा सूर्य के सबसे समीप होता है। यह वही घड़ी है जब जीव रूपी चंद्रमा का शिवरूपी सूर्य के साथ मिलन होता है। इसलिए इस दिन शिव पूजन से शुभ फल की प्राप्ति होती है। भगवान शिव काम, क्रोध, लोभ, मोह आदि विकारों से मुक्त करके परम सुख, शांति और ऐश्वर्य प्रदान करते हैं।


एस्ट्रोसेज की ओर से आप सभी को महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएँ ।
Read More »

बुध का कुंभ में गोचर आज, जानें ज्योतिष प्रभाव

क्यों खास है बुध का कुंभ राशि में गोचर, वैदिक ज्योतिष में क्या है बुध के इस गोचर का महत्व। 22 फ़रवरी 2017 को बुध ग्रह शाम 06 बजकर 53 मिनट पर कुंभ राशि में गोचर करेगा। 11 मार्च को बुध सुबह 02 बजकर 43 मिनट पर मीन राशि में प्रवेश करेगा।






मेष


गोचर के दौरान आपकी आय में इज़ाफा होगा जिससे आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। आगे पढ़ें...

वृषभ


व्यापार में आपको सफलता मिलने की संभावना है, यानी गोचर आपके लिए आर्थिक रूप से लाभकारी सिद्ध हो सकता है। आगे पढ़ें...

मिथुन


बुध का कुंभ राशि में गोचर होने से आपको सुनहरे अवसर प्राप्त होने के संकेत मिल रहे हैं। आगे पढ़ें...

कर्क


गोचर के दौरान अपने छोटे भाई-बहन की सेहत का ख़्याल रखें, क्योंकि इस दौरान उनके स्वास्थ्य पर विपरीत असर पड़ सकता है। आगे पढ़ें...

सिंह


वैवाहिक जीवन में आपको और भी आनंदमयी पलों का अनुभव हो सकता है। आगे पढ़ें...

कन्या


गोचर के दौरान आपको अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता रहेगी, इसलिए इस दौरान सेहत को लेकर कोई लापरवाही ना बरतें। आगे पढ़ें...

तुला


आय की दृष्टि से गोचर आपके लिए शुभ संकेत दे रहा है। आमदनी में बढ़ोतरी होने की संभावना है। आगे पढ़ें...

वृश्चिक


यह गोचर आपके धैर्य की परीक्षा लेने वाला है, क्योंकि इस दौरान आपको कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। आगे पढ़ें...

धनु


आप भ्रम की स्थिति में रह सकते हैं, परंतु आप जल्द ही इस परिस्थिति से बाहर निकलेंगे। आगे पढ़ें...

मकर


गोचर के दौरान आपकी तिजोरी में धन का आगमन होगा और आप जीवन का आनंद लेंगे। आगे पढ़ें...

कुंभ


आध्यात्म की ओर आपकी रुचि बढ़ेगी, जिससे आप अपने व्यक्तित्व में बदलाव देखेंगे। अपने स्वास्थ्य का ख़्याल रखें। आगे पढ़ें...

मीन


विदेश यात्रा के योग बन रहे हैं। आप किसी लंबी यात्रा पर भी जा सकते हैं। आगे पढ़ें...

हम आशा करते हैं कि इस गोचर के प्रभाव से आपके जीवन में सुख और समृद्धि आए!
Read More »

साप्ताहिक राशिफल - जानें क्या कहते हैं आपके सितारे (20 से 26 फ़रवरी, 2017)

प्रेम जीवन के बारे में है जानने की अभिलाषा या वैवाहिक जीवन की है कोई आशा, तो पढ़िए हमारा साप्ताहिक राशिफल, जो आपको बताएगा आपके जीवन से जुड़ी बात। इसमें आपकी राशि अनुसार दी गई हैं 20 से 26 फ़रवरी 2017 तक सभी भविष्यवाणी व आपकी समस्याओं का समाधान। यह राशिफल वैदिक ज्योतिष पर आधारित है।





मेष


आर्थिक दृष्टि से यह सप्ताह आपके लिए ख़र्चीला रहेगा और लाभ पाने के लिए आपको अधिक मेहनत करने की आवश्यकता होगी। यदि आप निवेशक हैं तो निवेश करने के लिए सही मौक़े का इंतज़ार करें। आपके नए विचार आपको लाभान्वित करेंगे। लॉन्ग जर्नी का सुख आपके योग में है। कार्यक्षेत्र में सीनियर्स के साथ कुछ अनबन होने की संभावना हैं, परंतु ऐसा बिल्कुल न करें। इसमें आपका ही घाटा होगा, हालाँकि सहकर्मियों का सहयोग आपको प्राप्त होगा। बच्चों का व्यवहार शायद आपको पसंद न आए। वहीं छात्रों को मेहनत के साथ-साथ सही दिशा की ओर अग्रसर होना पड़ेगा। घरेलू जीवन में शांति रहेगी। यदि आप विवाहित हैं तो जीवनसाथी के साथ अच्छा वक़्त बीतेगा। 

प्रेमफलः इस सप्ताह प्रेम के मामले में बेहद सजग रहना होगा। संदेह का कीड़ा प्रेम की डोर को काटने की कोशिश कर सकता है। ऐसे में आपको सावधान व संयमित रहना होगा। उन लोगों को बेहद सावधान रहने की जरूरत रहेगी जो एक साथ दो नावों में पांव रखने की जुगत में रहते हैं। सप्ताह की शुरुआत कमजोर, मध्य बेहतर व सप्ताहांत के अनुकूल रहने के योग हैं।

भाग्यस्टारः 2.5/5

उपायः मछलियों को दाना खिलाएँ।


वृषभ


बौद्धिक रुप से यह सप्ताह आपको धनवान बनाएगा। छात्रों को उच्च शिक्षा पाने के लिए यही अच्छा अवसर है। बच्चों के लिए भी सप्ताह शानदार है। इस वीक आप लॉन्ग जर्नी के लिए कहीं पर निकल सकते हैं जो आपके लिए लाभकारी सिद्ध होगी। यदि आप विवाहित हैं तो जीवनसाथी के साथ कहीं बाहर घूमने भी जा सकते हैं। इसमें आपको रोमांस का भी भरपूर समय मिलेगा। इसके अलावा कुछ समस्याओं को लेकर आपको तनाव भी हो सकता है। कोशिश करें कि घरेलू जीवन के लिए आप अधिक समय निकाल पाएँ। आर्थिक रूप से आपको फ़ायदा होगा सेहत में भी सुधार आएगा।

प्रेमफलः इस सप्ताह प्रेम प्रसंग बेहतर रहेगा। अलबत्ता किसी बात पर साथी नाराज हो सकता है, बेवजह की नोक झोक से बचने की भी सलाह दी जाती है। सप्ताह की शुरुआत औसत है, लेकिन पड़ोसी से प्रेम होने की स्थिति में सावधानी अपेक्षित रहेगी। मध्य भी कुछ खास नहीं रहेगा, लेकिन सप्ताहांत के अच्छे रहने के योग बन रहे हैं।

भाग्यस्टारः 3/5

उपायः चीटियों को आँटा खिलाएँ।


मिथुन


इस सप्ताह अपनी सेहत का ख़्याल रखें, क्योंकि आपको सिरदर्द, चर्म रोग, बुखार आदि की शिकायत हो सकती है। जीवनसाथी को भी तनाव रह सकता है। आप कार्य को अच्छी तरीक़े से करने की ख़ूब कोशिश करेंगे, परंतु इसमें आपको कुछ ख़ास सफलता नहीं मिलेगी। आप इस विपरीत परिस्थिति से निकलने का प्रयास करेंगे, परंतु ऐसा न हो कि आप अपने स्वास्थ्य को ही नज़रअंदाज़ कर दें। इस हफ़्ते आप ससुराल पक्ष के लोगों से भेंट करेंगे। पिताजी का स्वास्थ्य भी गिर सकता है, लिहाज़ा उनका ख़्याल रखें। कार्यक्षेत्र में सीनियर्स का सपोर्ट आपको मिलेगा। कठिन परिश्रम हमेशा आपको सफलता की मंज़िल तक पहुँचाएगा और छात्रों को यही बात भलि भाँति समझना चाहिए।

प्रेमफलः सप्ताह प्यार के लिए मिलाजुला रहेगा, यदि आप विवाहित हैं तो और भी अच्छे परिणामों की आशा रख सकते हैं। सहकर्मी से प्रेम होने की स्थिति में भी प्रेम का खजाना भरा रहेगा। हालांकि शुरुआते दिनों में कुछ कहा सुनी सम्भावित है, लेकिन प्रेम बना रहेगा। मध्य में मर्यादित रहना होगा। सप्ताहांत से बेहतरी आने के द्वार खुलने लगेंगे।

भाग्यस्टारः 3/5

उपायः गाय को हरा चारा खिलाएँ।


कर्क


इस सप्ताह अपनी सेहत का ख़्याल रखें। आपको तनाव रह सकता है, अथवा कोई बीमारी आपको अपनी ज़द में ले सकती है, इसलिए डॉक्टर से रेगुलर जाँच कराते रहें। आलस को त्यागकर क्रियाशील रहें। यदि आप विवाहित हैं तो जीवनसाथी के साथ थोड़ी अनबन होने की संभावना है। लंबी यात्रा आपके योग में है। प्रयासों से आपको सफलता मिलेगी। वहीं घरेलू जीवन में शांति रहेगी। छात्र भी अपनी पढ़ाई में बेहतर परिणाम पाएंगे। यदि आर्थिक पक्ष पर नज़र डालें तो इस सप्ताह विदेश व्यापार से लाभ संभव है और प्रेमजीवन भी कमाल का है।

प्रेमफलः सामान्य तौर पर यह सप्ताह प्रेम संबंध के लिए अच्छा रहेगा। उन लोगों को और भी अच्छे परिणाम मिलेंगे जिनका विवाह हो चुका है अथवा जिनका लव पार्टनर किसी कारण से दूर स्थल या विदेश में रहता है। सप्ताह की शुरुआत में वासना रहित प्रेम की भावना को बल मिलेगा। मध्य में पूर्ण अनुकूलता रहेगी, लेकिन सप्ताहांत के कमजोर रहने के योग हैं।

भाग्यस्टारः 3.5/5

उपायः योग व ध्यान लगाएँ।


सिंह


स्वास्थ्य को लेकर इस सप्ताह आपको कुछ उतार-चढ़ाव देखने को मिलेंगे। आय प्राप्ति की राह भी साफ़ है, लेकिन आपको धन हानि भी संभव है, इसलिए सोच-समझकर कोई आर्थिक फ़ैसला लें। पिताजी के स्वास्थ्य को लेकर आप थोड़े चिंतित रह सकते हैं। अपने आपको विवादों से दूर ही रखें, अन्यथा आपके सम्मान का पतन हो सकता है। छात्रों को अपनी पढ़ाई में ध्यान कम लग सकता है, परंतु उनका कठिन परिश्रम उन्हें अच्छे परिणाम दिलाएगा। प्यार के लिए थोड़ा चुनौतीपूर्ण सप्ताह रहने वाला है। ऐसे में अपना आपा बिल्कुल न खोएँ।

प्रेमफलः इस सप्ताह शनि देव आपके प्रेम के मामले में दखल देते नज़र आ रहे हैं ऐसे में यदि आपका उद्देश्य प्रेम को विवाह में बदलने का है तब तो सब ठीक रहेगा अन्यथा कई दिनों तक चलने वाली नाराजगी पनप सकती है। सप्ताह की शुरुआत कुछ कमजोर, लेकिन मध्य के अच्छे रहने के योग हैं। सप्ताहांत में कुछ नोक झोक सम्भावित है लेकिन प्रेम में कोई कमी नहीं आएगी।

भाग्यस्टारः 3.5/5

उपायः रविवार के दिन ग़रीब लोगों की सेवा करें।


कन्या


इस सप्ताह अपने ग़ुस्से पर क़ाबू रखें, क्योंकि आपको ग़ुस्सा अधिक आने वाला है। आपका मन किसी नई चीज़ को सीखने के लिए अधिक लगेगा। उदर के निचले भाग में किसी प्रकार की शिकायत हो सकती है। माताजी का भी स्वास्थ्य आपके लिए चिंता का सबब बन सकता है। घरेलू जीवन में उतार-चढ़ाव नज़र आ रहा है। आप किसी यात्रा पर जा सकते हैं। कार्यक्षेत्र में आपको एक अलग पहचान मिलेगी, हो सकता है आपका प्रमोशन भी हो जाए। अपने विरोधियों पर भी आप भारी पड़ेंगे। जॉब बदलने पर भी आप विचार कर सकते हैं।

प्रेमफलः यह सप्ताह आपके लिए सामान्यत तौर पर अच्छा रहने वाला है। यदि किसी के सामने विवाह का प्रस्ताव रखना है तो रख डालिए, बहुत सम्भव है कि उत्तर हां में ही मिलेगा। सप्ताह की शुरुआत में साथ में स्वस्थ्य मनोरंजन करें। मध्य में किसी सुरक्षित जगह पर बैठकर ज़िंदगी की प्लानिंग की जा सकेगी। सप्ताहांत भी अनुकूल परिणाम देने का वादा कर रहा है।

भाग्यस्टारः 4/5

उपायः काली गाय को गुड़ खिलाएँ।


तुला


इस सप्ताह किस्मत आपका साथ देगी। हो सकता है आपको कोई ख़ुशख़बरी मिले। माता-पिता जी की सेहत का ख़्याल रखें। बच्चों की सेहत में गिरावट देखी जा सकती है। कार्यक्षेत्र में आपको मिला जुला परिणाम प्राप्त होगा। सीनियर्स और सहयोगियों का साथ आपको बमुश्किल मिले, इसलिए अपना कार्य ख़ुद करें। छात्रों को भी कड़ी मेहनत की दरकार होगी। आप इस सप्ताह अपने पुराने उधार चुक्ता कर सकते हैं, निवेश न करें तो बेहतर है। घरेलु जीवन में सामंजस्यपूर्ण स्थिति रहेगी। वैवाहिक जीवन में कुछ कहासुनी हो सकती है, इसलिए आपको थोड़ी समझदारी दिखानी होगी। दुश्मनों पर आप इस सप्ताह हावी रहेंगे। आप थोड़े आलसी भी हो सकते हैं और ख़र्च में भी आपके वृद्धि की संभावना है। घर में शादी विवाह का माहौल हो सकता है। आय में धीमी गति से वृद्धि होगी।

प्रेमफलः सप्ताह आपको मिले जुले परिणाम देने वाला रहेगा। हालांकि यदि आप बेवजह की नोक झोक में नहीं पड़ेंगे तो सकारात्मक परिणामों का प्रतिशत बढ़ सकता है। ख़ासकर शुरुआती दिनों में इस बात का पूरा ख़्याल रखना होगा की आपस में अपशब्दों का प्रयोग न हो। मध्य में साथ जाएं, घूमें-फ़िरें, मनोरंजन करें। सप्ताहांत में परिणाम और भी सकारात्मक रहेंगे।

भाग्यस्टारः 3/5

उपायः काली भैंस को चारा खिलाएँ।


वृश्चिक


इस सप्ताह आपके मुख से तीखे बाण चल सकते हैं, इसलिए अपनी भाषा पर संयम रखें। शादीशुदा जीवन सुखमय रहने वाला है। आय के भी अच्छे योग बन रहे हैं। कार्यक्षेत्र में किसी तरह का भ्रम अथवा ग़लतफ़हमी रह सकती है। घरेलु जीवन में कुछ समस्याएँ आपको परेशान कर सकती हैं। प्रॉपर्टी आदि से लाभ संभव है। इस सप्ताह आपकी सेहत भी अच्छी रहेगी। ऑफ़िस में सीनियर्स एवं सहकर्मियों का साथ मिलेगा। कार्यक्षेत्र में आप बदलाव के बारे में सोच सकते हैं। किसी महिला साथी से सहयोग प्राप्त होगा।

प्रेमफलः सामान्य तौर पर यह सप्ताह आपके दिल को आराम देने वाला रहेगा, लेकिन किसी पारिवारिक समस्या के चलते या फ़िर किसी अन्य कारण से कहा सुनी सम्भावित है। कोशिश करके उसे रोकिए और प्रेम के प्रतिशत को बढ़ाइए। शुरुआती दिनों में जज़्बाती होकर कुछ अव्यवहारिक काम न करें। मध्य थोड़ा बेहतर है। सप्ताहांत में भी औसत परिणाम मिलने के योग बन रहे हैं।

भाग्यस्टारः 3.5/5

उपायः शिव मंत्र का जाप करें।


धनु


यह सप्ताह आपके लिए तनावपूर्ण रह सकता है। कार्य का बोझ आप पर अधिक रहने वाला है, परंतु आप अपनी बुद्धि के बल पर उन कार्य को निपटा देंगे। आय में इज़ाफ़ा संभव है। ऑफ़िस में सीनियर्स तो आपकी सहायता करेंगे, लेकिन आपको सहकर्मियों से थोड़ा सावधान रहने की आवश्यकता है। अपना कार्य स्वयं करें, किसी दूसरे पर निर्भर बिल्कुल न रहें। घर में कोई पवित्र कार्य हो सकता है। आप अपने विचारों से दूसरों को प्रभावित करेंगे। बच्चों में थोड़ा उग्र भाव देखने को मिल सकता है। जीवनसाथी की सेहत का ख़्याल रखें। 

प्रेमफलः इस सप्ताह प्रेम सम्बंधों में अनुकूल परिणाम मिलने के योग हैं। बस ख़्याल इस बात का रखना है कि अमर्यादित नहीं होना है और वाणी में मिठास बनी रहे। शुरुआती दिनों में भागदौड़ करके आप साथी से मिलने के मौक़े तलाश सकेंगे। मध्य में कुछ चिंताएं रह सकती हैं, लेकिन सप्ताहांत के औसत रहने के योग हैं। साथ में रुचिकर भोजन व मनोरंजन के मौक़े मिल सकते हैं।

भाग्यस्टारः 3.5/5

उपायः केला एवं पीपल के पेड़ को जल चढाएँ।


मकर


इस सप्ताह आपको पिताजी का सहयोग और आशीर्वाद प्राप्त होगा। लक का साथ मिलने से आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा। उच्च शिक्षा के लिए समय बहुत अच्छा है। लॉन्ग जर्नी आपके योग में है और यह यात्रा आपके लिए लाभकारी भी सिद्ध हो सकती है। धार्मिक ज्ञान को पाने में आपकी रुचि बढ़ेगी। स्वास्थ्य में भी थोड़ी गिरावट देखी जा सकती है, जैसे मानसिक तनाव आदि हो सकता है। वैवाहिक जीवन में उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है। छात्र अपने क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करेंगे। वाहन चलाते समय सावधानी ज़रुर बरतें। भाई-बहन के साथ भी समय अच्छा व्यतीत होगा। अपनी भाषा में संयम रखें।

प्रेमफलः यह सप्ताह प्रेम के लिए अनुकूल है। यदि साथी किसी कारण से दूर रह रहा है और आप उससे मिलने की योजना बना रहे हैं तो आपकी योजना के सफल होने के अच्छे आसार हैं। शुरुआती दिनो में अच्छे परिणाम मिलेंगे लेकिन विवाहितों में नोकझोक सम्भावित है। मध्य थोड़ा सा कमजोर है, लेकिन सप्ताहांत में बेहतर परिणाम मिलने के योग बन रहे हैं।

भाग्यस्टारः 3.5/5

उपायः महामृत्युंजय मंत्र का जाप करें।


कुंभ


आपकी तिजोरी में धन का आगमन होगा और आप सफल होने की नई योजनाएँ भी बनाएंगे। आपकी दीर्घ काल से लंबित इच्छा भी पूर्ण होगी। आध्यात्मिक क्रिया-क्लापों में आपका मन अधिक लगेगा। ख़र्च में वृद्धि होने की संभावना है। वहीं वैवाहिक जीवन में मिश्रित परिणाम देखने को मिल सकते हैं। अच्छ होगा यदि आप एक-दूसरे की भावनाओं की पूरी कद्र करें। आप इस सप्ताह पुराने उधार को चुका सकते हैं। छात्रों को चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। इस सप्ताह कोई बड़ा निवेश न करें, इसमें आपको हानि हो सकती है। कोई महिला आपकी मदद कर सकती है। भाई-बहन की मदद आपको मिलेगी। सीनियर्स आपके कार्य की तारीफ़ करेंगे और सहकर्मियों का सहयोग प्राप्त होगा। 

प्रेमफलः यह सप्ताह प्यार के लिए अच्छा है। यदि किसी सहकर्मी से प्रेम है तो परिणाम और भी अच्छे रहेंगे। साथ में मूवी व अन्य मनोरंजक जगहों पर जाना हो सकता है। दूर रह रहे पार्टनर से भी मिलना हो सकता है। सप्ताह की शुरुआत में आपको प्रेम और काम दोनों के बीच सामंजस्य बिठाना होगा। मध्य अनुकूल रहेगा, जबकि सप्ताहांत के औसत रहने के योग हैं।

भाग्यस्टारः 4/5

उपायः काले कुत्ते को खाना खिलाएँ।


मीन


इस सप्ताह आप अपने कार्यक्षेत्र से पृथक होने पर विचार कर सकते हैं। इस वीक आपको स्वास्थ्य लाभ मिलेगा और आपका ख़र्चा बढ़ेगा। पार्टनर से आपको सहयोग और जीवनसाथी से आपको लाभ प्राप्त हो सकता है। पर्याप्त नींद लेना आपके स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। वैवाहिक जीवन सुखमय रहने वाला है। विवादों से भी आपका सामना हो सकता है। असफल होने पर हताश न हों।

प्रेमफलः सामान्य तौर पर यह सप्ताह मिले जुले परिणाम देता नज़र आ रहा है। शुरुआती दिनों में किसी पर्यटन या देव दर्शन की योजना बन सकती है। सप्ताह के मध्य में काम के कारण प्यार या घूमने का समय कम मिलेगा। फिर भी प्रेम में बढ़ोत्तरी होने के योग बन रहे हैं। सप्ताहांत अच्छा है, आप दोनों एक-दूसरे के लिए चिंता करेंगे। भले कम मिलेंगे, लेकिन जब मिलेंगे तो प्यार भरपूर रहेगा।

भाग्यस्टारः 3/5

उपायः भगवान विष्णु की आराधना करें।


इस राशिफल के साथ हम आशा करते हैं कि यह सप्ताह आपके लिए ख़ास हो। प्रेमफल हमारे ज्योतिषी पं. हनुमान मिश्रा द्वारा लिखा गया है। एस्ट्रोसेज की ओर से आपको हार्दिक शुभकामनाएँ !
Read More »

वेलेंटाइन्स डे - जानें किसे करें प्रपोज़, किसे कहें हाँ

वेलेंटाइन्स डे के इस विशेष लेख में है विभिन्न राशियों के जातकों के प्रेम स्वभाव को लेकर कुछ रोचक जानकारियां। इस लेख के माध्यम से जानिये प्यार और रोमांस को लेकर क्या हो सकती है किसी की सोच–जिससे आप तय कर सकते हैं कि किसे करें प्रपोज़ या किसको कहें हाँ।

मेष


12 राशियों में मेष पहली राशि है जिसका स्वामी मंगल ग्रह है। यह अग्नि तत्व की राशि है। 

गुण: यदि आप किसी मेष राशि के व्यक्ति को डेट कर रहे हैं तो आपके लिए उनके स्वभाव के बारे में जानना आवश्यक है मेष राशि वालों के स्वभाव में प्यार के साथ साथ क्रोध भी भी देखने को मिलेगा। इनके व्यक्तित्व में जोश, उदार के साथ-साथ सौहार्दपूर्ण व्यवहार भी नज़र आएगा। मेष राशि के व्यक्ति साहसी और पहल करने वाले होते हैं। 

दोष: यदि इनको ग़ुस्सा आएगा तो ये अधिक उत्तेजित व क्रोधित हो जाते हैं। ये अधिक मांग करने वाले भी होते हैं।

वृषभ


वृषभ 12 राशियों में से दूसरी राशि है। इसका स्वामी शुक्र ग्रह है।

गुण: पृथ्वी के तत्व हमें शक्ति एवं स्थिरता प्रदान करते हैं। वहीं शुक्र कला से निपुण ग्रह माना जाता है इसलिए ज़्यादातर आपने देखा होगा कि वृषभ राशि के व्यक्ति किसी न किसी कला में निपुण होंगे। यदि आपका प्रेम प्रसंग किसी वृषभ राशि वाले पार्टनर के साथ है तो आप अपने रिश्ते को सुरक्षित एवं स्थायी महसूस करेंगे।

दोष: वृषभ राशि वाले बेहद ज़िद्दी स्वभाव के होते हैं और यही उनका नकारात्मक पक्ष है और यदि किसी भी कारण से उनकी भावनाएँ आहत होती हैं तो वे अचानक ही झगड़ालु स्वभाव के हो जाते हैं। फिर वे किसी भी पक्ष को नज़रअदाज़ कर देते हैं।

मिथुन


मिथुन राशि का स्वामी बुध है और यह वायु तत्व की राशि है।

गुण: बुध के प्रभाव से मिथुन राशि वाले बुद्धिजीवी एवं मज़ाकिया किस्म के होते हैं। ऐसे में यदि आपका अफेयर किसी मिथुन राशि वाले पार्टनर के साथ चल रहा है तो निश्चिंत रहिए क्योंकि आपको यह रिश्ता कभी ऊबाऊ नहीं लगेगा। वे स्वभाविक रूप से दूसरों का मनोरंजन करने वाले होते हैं।

दोष: हालाँकि वे प्यार में कब बदल जाएँ, इसका अंदाज़ा आप नहीं लगा सकते हैं और यदि आप सीमित अथवा अंतर्मुखी हैं तो आप उनके अधिक बोलने के स्वभाव से चिढ़ सकते हैं।

कर्क


कर्क जल तत्व की राशि है जो कि चंद्रमा से प्रभावित है। इसलिए इस राशि का स्वभाव लगातार घटने-बढ़ने जैसा रहता है। 

गुण: कर्क राशि के पार्टनर का मूड अच्छा हो तो वे बेदह प्यार करने वाले, चाहने वाले और आपकी परवाह करने वाले होते हैं। वे संवेदनशील होने के साथ-साथ विनोदी स्वभाव के भी होते हैं।

दोष: ये अंतर्मुखी, विचारों में खोए रहने वाले, रूठने वाले एवं थोड़े चिढ़चिढ़े स्वभाव के होते हैं। यदि आप उनको किसी प्रकार से चोट पहुँचाते हैं तो वे आपको भावनाओं की खायी में धकेल सकते हैं और आपके प्रति उनका स्वभाव भी एक दम से बदल जाएगा।

सिंह


सिंह राशि का स्वामी सूर्य जो अग्नि तत्व की राशि है।

गुण: यदि आप प्यार में सिंह राशि वाले पार्टनर का सामना करते हैं तो यह ध्यान रखना कि आपके द्वारा उनके अहम को चोट न पहुँचे, अन्यथा यह आपके लिए परेशानी बन सकती है। जब सिंह अपना ऋण चुकाते हैं तो उस समय ये बेहद जोशपूर्ण, दयालु, रक्षात्मक के साथ-साथ बहुत अच्छे स्वभाव के होते हैं।

दोष: उनके अहंकार को पहुँची चोट उनको बेहद क्रोधित एवं निर्दयी बना सकती है। यदि वे ग़ुस्से में हैं तो उनको शांत होने के लिए अकेला छोड़ दें।

कन्या


यह पृथ्वी तत्व की राशि है जिसका स्वामी बुध है।

गुण: कन्या राशि वाले दयालु स्वभाव के होते हैं। इनके हर कार्यों में आपको पूर्णता नज़र आएगी और यदि आप इनके अधिक पास आना चाहते हैं तो आपको अपने कार्य को परफ़ेक्ट करना होगा। ये राशि वाले अधिक मददगार एवं सेवा करने वाले होते हैं।

दोष: यदि आपका वास्ता कन्या राशि वाले पार्टनर से पड़ा है तो आपको बौद्धिक रूप से अधिक तैयार रहना होगा। 

तुला


यह वायु तत्व की राशि है जिसका स्वामी शुक्र है।

गुण: यदि आपका झुकाव कला की ओर है तो तुला राशि के जातक आपके लिए अच्छे लव पार्टनर हो सकते हैं। इस राशि के लोगों की गिनती अच्छे प्रेमियों में की जाती है। क्योंकि यह लोग प्प्यार की गहराई को अच्छे से समझते हैं। 

दोष: इस राशि के जातकों से झगड़ा करने से हमेशा बचना चाहिए। क्योंकि अगर इन्होंने अपना आपा खो दिया तो आप संकट में पड़ सकते हैं। 

वृश्चिक


यह जल तत्व की राशि है, जिसका स्वामी मंगल है।

गुण: इस राशि के लोग बहुत अच्छे मित्र और सबसे बड़े शत्रु दोनों हो सकते हैं। इनकी पसंद और नापसंद बेहद साफ होती है। ये लोग उच्च आदर्श प्रेमी होते हैं और प्यार के लिए कुछ भी कर गुजरने के लिए तैयार रहते हैं।

दोष: वृश्चिक राशि के लोग अपने प्रतिशोधी (बदला लेने वाले) स्वभाव के लिए जाने जाते हैं। इनके द्वारा प्यार में दी गई चोट जीवन भर पीड़ा पहुंचाती है। इस राशि के लोगों में ईर्ष्या की भावना ज्यादा होती है।

धनु


यह अग्नि तत्व की राशि है, जिसका प्रतिनिधित्व बृहस्पति करता है।

गुण: इस राशि के लोग हमेशा ऊर्जावान और खुशमिज़ाज रहने वाले होते हैं। सभी 12 राशियों में इनका स्वभाव ज्यादा सहयोग करने वाला होता है। यह हर पल को खुशी के साथ गुजारना पसंद करते हैं। इन गुणों की वजह से इनके कई प्रेमी होते हैं। 

दोष: इस राशि के जातक बंधन में रहना पसंद नहीं करते हैं। इस वजह से इनके प्रेम संबंधों में विवाद होते रहते हैं। यह लोग ज्यादातर प्यार में धोखा मिलने से दुखी रहते हैं लेकिन जल्द ही अपने लिए नए लव पार्टनर की तलाश कर लेते हैं।

मकर


यह पृथ्वी तत्व की राशि है, इस राशि का स्वामी शनि है। इस राशि के साथ होने वाले प्रेम संबंधों में उतार-चढ़ाव देखने को मिलते हैं।

गुण: ये लोग बेहद यथार्थवादी होते हैं इसलिए इनके विचार और आदर्शों का सम्मान करें। इस राशि के लोग एक बार जिसे अपना मान लेते हैं उसके प्रति पूरी ईमानदारी रखते हैं। यह इनका सबसे खास गुण होता है।

दोष: इनका बदलता स्वभाव इस राशि के लोग का सबसे दुर्बल पक्ष होता है। यह अपने लव पार्टनर के साथ बेहद प्यार करते हैं, लेकिन अपनी आदतों की वजह से इनका झगड़ा भी जल्द हो जाता है।

कुंभ


यह वायु तत्व की राशि है जिसका स्वामी शनि है। इस राशि के जातकों के साथ प्रेम संबंध आपके बौद्धिक और मानवीय स्वभाव पर निर्भर करेंगे।

गुण: इस राशि के जातकों का प्रेम चिर स्थायी होता है। प्यार में ये लोग अति भावुक हो जाते हैं। यही वजह है कि यह लोग अजनबी से भी नि:स्वार्थ होकर प्यार कर लेते हैं। चंचल मन होने की वजह से यह लोग हमेशा नया करने की चाहत रखते हैं। 

दोष: कुंभ राशि के जातक हमेशा स्वतंत्र होकर जीना चाहते हैं इसलिए इनकी आजादी पर अंकुश लगाने के बारे में कभी नहीं सोचें। इन्हें गुस्सा कम आता है लेकिन जब आता है तो यह खुद पर से नियंत्रण खो देते हैं।

मीन


यह जल तत्व की राशि है। इस राशि का स्वामी बृहस्पति है।

गुण: सभी 12 राशियों में मीन राशि के जातकों का स्वभाव बेहद संवेदनशील और मानवीय होता है। ये लोग बहुत जल्दी विपरित लिंग के प्रति आकर्षित हो जाते हैं। बहुमुखी प्रतिभा और सरल स्वभाव होने की वजह से इनके साथ होने वाले प्रेम संबंध बेहद आनंदित करने वाले होते हैं।

दोष: मीन राशि के जातक अक्सर चाहते हैं कि उनका लव पार्टनर उनके प्रति पूर्ण सहानुभूति और समझदारी रखे लेकिन यदि आप ने उनकी इस भावना को ठेस पहुंचाई तो वे बेहद दुखी होते हैं और प्रेम प्रसंग में गलतफहमियां पैदा होने लगती है।

हम आशा करते हैं कि सभी 12 राशियों का स्वभाव जानकर, आपको अपने लव पार्टनर और प्यार को लेकर उनकी भावना के बारे में जानने का मौका मिलेगा। उम्मीद है कि हमारा यह लेख आपके प्रेम संबंधों में एक नया मोड़ लेकर आए।
Read More »

जानिए इस सप्ताह का अपना भाग्यफल, साप्ताहिक राशिफल (13 से 19 फ़रवरी 2017)

‘वैलेंटाइन डे’ का मौसम हो और प्यार-मोहब्बत का ज़िक्र न हो, ऐसा हो नहीं सकता, इसलिए आपको अपना प्रेम राशिफल जानना ज़रुरी है। इसके ज़रिए ही आप जान सकेंगे कि यह वैलेंटाइन आपके लिए कैसा रहने वाला है। इसमें आपके प्रेमजीवन से संबंधित भविष्यवाणी दी गई है जिन्हें जानकर आप अपने इस लम्हे को और भी ख़ूबसूरत बना सकते हैं। 




मेष


इस सप्ताह आप किसी लॉन्ग जर्नी में जा सकते हैं। विदेश यात्रा भी इसमें शामिल है। साथ ही ख़र्च में वृद्धि की संभावना है। किसी चीज़ में अचानक ही आपका ध्यान भंग हो सकता है। छात्र पढ़ाई को लेकर थोड़े असहज़ और भ्रम की स्थिति में रहेंगे। बच्चों का रवैया थोड़ा बदमिज़ाजी रह सकता है। सफलता आपके हाथ लगेगी, लेकिन वह सफलता ज़रुरत के मुताबिक़ होगी। कार्य क्षेत्र में आप अपनी जॉब को चेंज करने पर विचार कर सकते हैं। आपका मन कामुक गतिविधियों की तरफ़ अधिक लगेगा। जीवनसाथी से अनबन संभावित है। अपने सीनियर्स के साथ बहसबाज़ी से बचें। आपको अपने पेशे में छोटे भाई-बहन से मदद मिलेगी। माता जी की सेहत का ख़्याल रखें, क्योंकि उनके स्वास्थ्य में गिरावट आ सकती है।

प्रेमफल: यद्यपि इस सप्ताह प्रेम के मामलें में अनुकूल परिणाम मिलने के अच्छे योग हैं। भले ही आपका पार्टनर दूर रह रहा हो, लेकिन आपकी कोशिश उससे मिलकर वेलेंटाइन डे विश करने की रहेगी। बस आस-पास के लोगों से थोड़ा सजग रहते हुए आचरण करने की सलाह है, बाक़ी सब ठीक रहने वाला है। केवल सप्ताहांत थोड़ा सा कमजोर है ।

उपाय: भगवान शिव की आराधना करें।

भाग्यस्टार: 4/5


वृषभ


सप्ताह आर्थिक दृष्टि से देखा जाए तो आपकी आय में इज़ाफ़ा होगा। कठिन परिश्रम के चलते सफलता मिलेगी और अचानक आपको लाभ होने की संभावना है। जीवनसाथी से भी आर्थिक लाभ की संभावना है। धन का भी आगमन होता रहेगा। इसके अलावा आपकी बौद्धिक क्षमता में भी वृद्धि होगी। वहीं लव रिलेशन में सकारात्मक परिणामों की प्राप्ति होगी। आप किसी से नया प्रेम संबंध भी स्थापित कर सकते हैं। घरेलू जीवन में संतोष की कमी देखी जा सकती है। माता-पिता की सेहत आपके लिए थोड़ा चिंता का विषय बन सकता है।

प्रेमफल: यह सप्ताह प्रेम प्रसंग के लिए काफी अच्छा है। फिर भी आपको इस बात का पूरा ख़्याल रखना है कि पार्टनर आपसे रूठने न पाए। अगर आपको लगता है कि पार्टनर रूठने की एक्टिंग कर रहा है तो आप भी मनाने की एक्टिंग कर डालिए। वैसे देखा जाए तो सप्ताह के पहले दिन को छोड़कर बाकी का पूरा सप्ताह प्रेम के मामले में अनुकूलता दर्शा रहा है। 

उपाय: शनि देव की पूजा करें।

भाग्यस्टार: 4.5/5


मिथुन


इस सप्ताह आपके स्वास्थ्य में गिरावट देखी जा सकती है। साथ ही छोटे भाई-बहन की भी सेहत की चिंता आपको परेशान करेगी। आपके ज्ञान एवं कौशल में वृद्धि होगी। पेशेवर जीवन में थोड़ा उतार-चढ़ाव नज़र आएगा। हालाँकि विदेश व्यापार से लाभ होने के आसार हैं और इसमें आपका कठिन परिश्रम का श्रेय होगा। आप अपने जीवनसाथी एवं छोटे भाई-बहन के साथ अधिक पल व्यतीत करेंगे। किसी कार्य के प्रति आपका दृढ़ निश्चय मजबूत होगा।

प्रेमफल: वैसे तो यह सप्ताह प्रेम के लिए अच्छा है, लेकिन किसी कारण से किसी एक पक्ष की थोड़ी सी बेरुखी देखने को मिल सकती है। ख़ासकर विवाहितों को इस मामले में अधिक ध्यान देने की ज़रूरत रहेगी। किसी सहकर्मी से प्रेम होने की स्थिति में यह सप्ताह और यह वेलेंटाइन डे काफ़ी अच्छा रहने वाला है। लगभग सप्ताह के सभी दिन अनुकूलता देने का वादा कर रहे हैं। 

उपाय: बुधवार को पाँच नारियल जल में प्रवाह करें।

भाग्यस्टार: 3.5/5


कर्क


इस सप्ताह लंबी यात्रा आपके लिए अच्छी साबित होगी। किस्मत आपके साथ है। वहीं भाई-बहनों से हर संभव मदद मिलेगी। पवित्र कार्यों में आपकी रुचि ज़्यादा रहेगी। क़रीबियों का साथ आपको ख़ुशी महसूस कराएगा। वैवाहिक जीवन में कुछ तनातनी देखने को मिल सकती है। वहीं विद्यार्थियों के लिए यह सप्ताह उम्दा है। समाज में आपका सम्मान व रुतबा बढ़ेगा। करियर की गाड़ी भी दौड़ती नज़र आएगी और घरेलू जीवन में सामंजस्य बना रहेगा। स्वास्थ्य की दृष्टि से आपकी सेहत में सुधार होगा, हालाँकि आपको काम की वजह से थकान भी महसूस हो सकती है।

प्रेमफल: यह सप्ताह प्रेम प्रसंग के लिए अच्छा है। हो सकता है कि वेलेंटाइन डे मनाने के लिए आपको कोई यात्रा भी करनी पड़े। स्कूल-कॉलेज या कोचिंग सेंटर में किसी को प्रपोज़ करने का मूड रह सकता है। वैसे कोई रिस्क नज़र नही आ रहा है आप शालीनता पूर्वक अपने दिल की बात रख सकते हैं। शुरुआती दिन कुछ कमजोर है बाकी का सप्ताह अनुकूल परिणाम देने का वादा कर रहा है।

उपाय: हनुमान जी की पूजा करें।

भाग्यस्टार: 4/5


सिंह


इस सप्ताह आप अपनी ज़िम्मेदारियों को लेकर थोड़े भ्रम की स्थिति में रहेंगे। घर में कोई पवित्र कार्य का आयोजन हो सकता है। वैवाहिक जीवन में कुछ चुनौतियाँ आएंगी। घर में जीवनसाथी के व्यवहार में थोड़ा अहंकार आपको नज़र आ सकता है और ससुराल पक्ष से लाभ प्राप्त होगा। विद्यार्थी अपने अच्छे रिजल्ट की आशा कर सकते हैं। आप लोगों पर अपनी भाषण शैली से प्रभाव छोड़ेंगे। 

प्रेमफल: सामान्यत: इस सप्ताह आपको अनुकूल परिणाम मिल जाएंगे, लेकिन अगर आपके प्रेम में गंभीरता नहीं है या आप टाइम पास के लिए मामले को आगे बढ़ा रहे हैं तो सावधान रहें। आगे आने वाला समय आपको बेचैन कर सकता है। अगर आप जीवन भर साथ रहने के इरादे में हैं तो समय आपके साथ है। लगभग पूरा सप्ताह ही आपको अनुकूल परिणाम देता नज़र आ रहा है।

उपाय: अपनी दिनचर्या में सूर्य नमस्कार को जोड़ें।

भाग्यस्टार: 3/5


कन्या


आपके द्वारा लिए गए अच्छे निर्णय अच्छे परिणाम में बदलेंगे। वैवाहिक जीवन में प्रेम की बारिश होगी। आप अपने जीवनसाथी का सम्मान करेंगे, लेकिन कभी-कभार आप उनके ग़ुस्से के भी शिकार हो सकते हैं। लव रिलेशन के लिए यह सप्ताह शानदार है। आपकी संवाद शैली में निखार आएगा। माता जी के स्वास्थ्य का ख़्याल रखें। इस सप्ताह आपकी जेब से पैसा का प्रवाह अधिक हो सकता है। अतः ध्यान से पैसे ख़र्च करें। आय में भी वृद्धि की संभावना है। आप अपनी जॉब को चेंज करने पर विचार कर सकते हैं। घरेलू जीवन में मिले-जुले परिणाम देखने को मिलेंगे।

प्रेमफल: यह सप्ताह आपको अनुकूल परिणाम देने के इरादे में है। यदि आप अपने प्रेम को विवाह में बदलने के इरादे में हैं तो सप्ताह आपकी पूरी मदद करेगा, लेकिन वासनात्मक विचारों को संतुलित रखने की सलाह आपको दी जाती है। खासकर सप्ताह के पहले दिन आपको बहुत मर्यादित रहना है। अगले दिन से लेकर सप्ताह के बाकी दिन आपको अनुकूलता दे देंगे।

उपाय: कालें रंग के कुत्तों को खाना खिलाएँ।

भाग्यस्टार: 3.5/5 


तुला


इस सप्ताह आपके व्यवहार में आलसपन देखा जा सकता है। ऐसे में आप किसी अवसर का त्वरित लाभ लेने में असफल साबित हो सकते हैं, हालाँकि आपको आगे बढ़ने के लिए कई अवसर प्राप्त होंगे। आपके सामाजिक रुतबा में वृद्धि होगी। बच्चों की सेहत का विशेष ख़्याल रखना आपके लिए आवश्यक है। छात्रों को पढ़ाई में ध्यान लगाना कठिन होगा। आप इस वीक विदेश यात्रा कर सकते हैं। सेहत का ख़्याल रखें, ज़रुरत पड़ने पर डॉक्टर से चेक अप अवश्य कराएँ। किसी तरह की लापरवाही आपके लिए परेशानी पैदा कर सकती है।

प्रेमफल: यह सप्ताह प्रेम प्रसंग के लिए मिला-जुला रह सकता है। इसे आप और बेहतर बना सकते है लेकिन इसके लिए आपको अपने ईगो पर संयम रखना होगा। अगर आपको ऐसा लगे कि पार्टनर ग़लत हैं आप सही हैं फिर भी चुप रह लेंगे तो आपका वेलेंटाइन डे बेहतर तरीक़े से मन सकेगा। शुरुआती दिन अच्छे हैं और मध्य में कुछ कमजोरी पुरंतु बाद में अनुकूलता देखने को मिलेगी।

उपाय: अपने जीवनसाथी को प्यारा सा गिफ़्ट देकर उन्हें ख़ुश करें। 

भाग्यस्टार: 2.5/5


वृश्चिक


इस सप्ताह आपको कार्यक्षेत्र में चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। हो सकता है कार्यक्षेत्र में आपके विरुद्ध कोई साज़िश रचे। शॉर्टकट रास्ते से सफलता पाने से बचें। घरेलू जीवन में भी कुछ अनबन हो सकती है। लव रिलेशनशिप के लिए सप्ताह लाभकारी है। अविवाहित लोग शादी के बारे में विचार कर सकते हैं। सफलता पाने के लिए छात्रों को कड़ी मशक्कत करनी पड़ेगी। आप अपने पुराने उधार को भी चुक्ता कर सकते हैं।

प्रेमफल: अगर आप अपने प्रेम को विवाह का रूप देना चाहते हैं या फिर आप विवाहित हैं तो आपका वेलेंटाइन डे काफ़ी अच्छा रहने वाला है। वासनात्मक तुष्टि के लिए किया गया निवेदन पूरा भले हो जाए, लेकिन उसका भविष्य सुखद नही रहेगा। सप्ताह की शुरुआत अच्छी रहेगी, सामने वाला आपको सुनेगा। मध्य कमजोर रह सकता है, लेकिन सप्ताहांत के बेहतर रहने के योग हैं।

उपाय: मिठाई का सेवन करें।

भाग्यस्टार: 3.5/5


धनु


इस सप्ताह आपके रिश्ते पिताजी के साथ थोड़े तल्ख़ हो सकते हैं। लॉन्ग जर्नी आपके योग में है। ऑफ़िस में आपका कार्य काबिल-ए-तारीफ़ होगा। जीवनसाथी के स्वास्थ्य में गिरावट आ सकती है। आप इस सप्ताह कोई नया वाहन आदि ख़रीद सकते हैं। वहीं प्रॉपर्टी आदि को लेकर विवाद पैदा हो सकता है। वैवाहिक जीवन में नीरसता आ सकती है। छात्र अच्छे परिणाम पाने के लिए कड़ी मेहनत करेंगे। इस मौसम में बच्चों की सेहत का ख़्याल आवश्यक है। घरेलू जीवन में आपको मिलेजुले परिणाम प्राप्त होंगे।

प्रेमफल: यह सप्ताह प्रेम प्रसंग के मामले में अच्छे परिणाम देने का वादा कर रहा है। किसी अच्छी जगह जाकर प्रपोज करने का प्लान सफल रहेगा। आपका गिफ्ट सामने वाले को बहुत अच्छा लगेगा। सप्ताह की शुरुआत में किसी सहकर्मी से प्रेम होने की स्थिति में अच्छे परिणाम मिलेंगे। मध्य काफ़ी अच्छा रहने वाला है, लेकिन सप्ताहांत कुछ कमजोर रह सकता है। 

उपाय: माथे पर केसर का तिलक लगाएँ।

भाग्यस्टार: 4/5


मकर


इस सप्ताह अपनी सेहत का ख़्याल रखें। आपके स्वास्थ्य में गिरावट आने की संभावना है। साथ किसी समस्या को लेकर आप चिंतित रह सकते हैं। आपकी बौद्धिक क्षमता में इज़ाफ़ा होगा और इसका प्रत्यक्ष लाभ आपको सफलता पाने में मिलेगा। ध्यान रखें, आपकी तल्ख़ भाषा आपके रिलेशनशिप की डोर को कमजोर कर सकती है। इस सप्ताह आप किसी तीर्थ यात्रा पर जा सकते हैं। बड़े-बुजुर्गों की सलाह आपके लिए लाभकारी होगी। आप इस सप्ताह किसी के साथ नए रिश्ते की लकीर खीच सकते हैं। आपके घरेलू जीवन में सामंजस्य की स्थिति बनी रहेगी।

प्रेमफल: यह सप्ताह प्रेम प्रसंग के लिए अनुकूल है, लेकिन ज़िद करने व अप्रिय बोलने की आदत से बचना होगा। किसी पड़ोसी से या सहकर्मी से आत्मीयता बढ़ती प्रतीत हो रही है। सप्ताह का पहला दिन ठीक नहीं है, अत: इस दिन प्रपोज़ करने की पहल न ही करें तो बेहतर होगा। मध्य के दिन औसत है। वहीं सप्ताह में अच्छे परिणाम मिलने के सुंदर योग बन रहे हैं। 

उपाय: धतुरे की जड़ की माला पहनें।

भाग्यस्टार: 3/5


कुंभ


यह सप्ताह आपको मिले-जुले परिणाम देने का वादा कर रहा है। यदि आप अपने कार्य पर ध्यान लगाएंगे तो आय में वृद्धि होगी, हालाँकि आप निजि समस्या के कारण कुछ चिंता में रह सकते हैं जो आपकी सेहत के लिए ठीक नहीं होगा। वैवाहिक जीवन में संतोष की कमी दिखेगी। बच्चों की सेहत को लेकर आप परेशान हो सकते हैं। जो छात्र विदेश शिक्षा का सपना देखकर रहें, इस हफ़्ते उनका सपना सच में तब्दील हो सकता है। घर में कोई धार्मिक आयोजन की संभावना है। कठिन परिश्रम ही आपकी सफलता की चाबी है।

प्रेमफल: जिन लोगों का लव पार्टनर उनसे दूर रह रहा है उनके लिए सप्ताह अनुकूल हैं। मिलने मिलाने की कोशिश कामयाब होती नज़र आ रही है, लेकिन बाकी लोगों को मिलने में कठिनाइयाँ रह सकती हैं। सोशल मीडिया या इंटरनेट पर पनपने वाले प्यार के लिए भी सप्ताह अनुकूल रहने वाला है। सप्ताह का मध्य कुछ कमजोर है, लेकिन बाकी के दिन संतोषप्रद रहेंगे।

उपाय: राधे-कृष्ण की आराधना करें और ज़रुरतमंदों में मिष्ठान को बांटें।

भाग्यस्टार: 3/5


मीन


जीवनसाथी का सहयोग आपको प्राप्त होगा। उनकी मदद से आपको धन लाभ भी प्राप्त होगा। आप कार्यक्षेत्र में भी बेहतर कार्य करेंगे। व्यस्तता के चलते घर वालों को भी आप पर्याप्त समय नहीं दे पाएंगे। घर में भी भाई-बहन की मदद आपको मिलेगी। हालाँकि प्रेम जीवन में कुछ बाधाएँ उत्पन्न हो सकती हैं। छात्रों को पढ़ाई में कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है। धन का ख़र्च भी अधिक नज़र आ रहा है। आप अपना पुराना उधार चुका सकते हैं। अपनी सेहत का पूरा ख़्याल रखें।

प्रेमफल: यदि आप ताउम्र साथ रहने के विचार में हैं तो सप्ताह आपकी पूरी मदद करता नज़र आ रहा है। आपका वेलेंटाइन डे अच्छे से मनेगा, लेकिन यदि सिर्फ़ टाइम पास प्रेम है तो सप्ताह औसत रह सकता है। सप्ताह की शुरुआत अच्छी है सामने वाला आपके प्रस्ताव को प्रेम से सुनने के मूड में रहेगा। मध्य में थोड़ी सावधानी रखें। सप्ताहांत फिर से बेहतरी लेकर आ रहा है।

उपाय: शिवलिंग को जल चढाएँ और उनके सामने बैठकर ध्यान लगाएँ।

भाग्यस्टार: 3.5/5


इस राशिफल के साथ हम आशा करते हैं कि यह सप्ताह आपके लिए ख़ास हो। प्रेमफल हमारे ज्योतिषी पं. हनुमान मिश्रा द्वारा लिखा गया है। एस्ट्रोसेज की ओर से आपको वैलेंटाइन डे की हार्दिक शुभकामनाएँ !
Read More »

सूर्य का कुंभ राशि में गोचर, क्या कहते हैं आपके सितारे?

नव ग्रहों के राजा सूर्य देव 12 फरवरी रविवार को कुंभ राशि में गोचर करेंगे। इस दौरान मकर राशि से चलकर सूर्य देव 14 मार्च तक कुंभ राशि में स्थित रहेंगे और फिर मीन राशि में प्रवेश करेंगे। वैदिक ज्योतिष के अनुसार सूर्य के इस गोचर का सभी राशियों पर प्रभाव पड़ेगा। जानिये आपकी राशि पर क्या होगा सूर्य के इस गोचर का असर?




मेष: सूर्य का यह गोचर आपके लिए लाभकारी और मंगलकारी प्रतीत हो रहा है। मनचाही इच्छा पूरी होगी। धन लाभ के भी बन रहे हैं योग। आगे पढ़ें...

वृषभ: मानसिक शांति भंग होने से बढ़ेगी बेचैनी। पारिवारिक जीवन में होगा तनाव, प्रॉपर्टी को लेकर कर सकते हैं कोई बड़ा फैसला। आगे पढ़ें...

मिथुन: लंबी दूरी की यात्रा के बन रहे हैं योग। पिता के साथ विवाद होने की आशंका, विरोधियों से सावधान रहने की ज़रुरत। आगे पढ़ें...

कर्क: धन हानि और खर्च बढ़ने से होगी परेशानी। आर्थिक मामलों में संभलकर चलने की ज़रुरत होगी। आगे पढ़ें...

सिंह: सूर्य के प्रभाव से क्रोध बढ़ेगा। पति-पत्नी में विवाद होने की आशंका, बिज़नेस में साझेदारी के लिए समय सही नही है। आगे पढ़ें...

कन्या: कानूनी विवाद में जीत मिलने के योग। विरोधियों पर हावी रहेंगे। कड़े परिश्रम का अच्छा फल मिलेगा। आगे पढ़ें...

तुला: आर्थिक लाभ की बन रही है प्रबल संभावना। नौकरी और बिज़नेस में मिलेंगे तरक्की के कई अवसर। आगे पढ़ें...

वृश्चिक: माता जी की सेहत में होगी गिरावट। कार्य स्थल पर जीवन साथी को मिलेगा मान और सम्मान। आगे पढ़ें...

धनु: बड़े भाई-बहनों के लिए शुभ फलदायी नहीं रहेगा सूर्य का यह गोचर।। छोटी दूरी की यात्रा पर जाने के बन रहे हैं योग। आगे पढ़ें...

मकर: पैतृक संपत्ति से धन लाभ की संभावना। कार्य स्थल पर प्रदर्शन क्षमता में होगा सुधार, काम से नयी पहचान मिलेगी। आगे पढ़ें...

कुंभ: कार्य स्थल पर बेहतर प्रदर्शन करेंगे। लव लाइफ और मैरिड लाइफ में आपसी विश्वास बढ़ेगा। क्रोध पर नियंत्रण रखने की ज़रुरत है। आगे पढ़ें...

मीन: सरकारी सेवाओं में कार्यरत लोगों को मिलेगा शुभ समाचार। बैंक से कर्ज लेने पर कर सकते हैं विचार, माता जी की सेहत कर सकती है परेशान। आगे पढ़ें...
Read More »