साप्ताहिक राशिफल (20 से 26 मई 2019)

लोकसभा चुनाव के परिणाम लेकर आ रहा है ये सप्ताह ! पढ़ें इस सप्ताह की सबसे अहम भविष्यवाणियाँ। 


सप्ताहिक राशिफल में हर बार की तरह एस्ट्रोसेज आपके लिए लाया है आपके आने वाले इस पूरे सप्ताह का लेखा-जोखा। इसकी मदद से हर राशि के जातकों को हम आने वाली हर चुनौती के लिए न केवल सावधान करते हैं बल्कि इन चुनौतियों से आपको कैसे लड़ना है इसके लिए उपाय भी बताते हैं। साप्ताहिक राशिफल, 20 से 26 मई 2019 की गणना से यह पता चल रहा है कि इस सप्ताह 6 राशियों के लिए ग्रहों की स्थिति ठीक नहीं रहेगी। इस सप्ताह में विशेष तौर से मेष, सिंह, तुला, धनु, मकर और मीन राशि वाले लोगों को संभलकर रहना होगा। इन राशियों के वो जातक जो नौकरीपेशा और बिज़नेस करते हैं उन्हें अपने आसपास के लोगों से कुछ परेशानी हो सकती है। इन राशियों के जातक किसी प्रकार के षडयंत्र का भी शिकार हो सकते हैं। इन राशियों के लोगों को लेन-देन और निवेश के मामलों में भी संभलकर रहने की आवश्यकता है, किसी भी इंसान पर भरोसा करने से पहले उसकी विश्वसनीयता परख लें। इसके अलावा अन्य 6 राशि वालाें को इस सप्ताह अपने सितारों का पूरा साथ मिलेगा और ये सप्ताह उनके लिए काफी अच्छा रहेगा।

इस सप्ताह का हिन्दू पंचांग एवं ज्योतिषीय तथ्य


हिन्दू पंचांग के अनुसार, सप्ताह की शुरुआत कृष्ण पक्ष की द्वितीया तिथि से होगी और सप्ताह का अंत कृष्ण पक्ष की सप्तमी तिथि के साथ होगा। वहीं इस सप्ताह में चंद्र देव वृश्चिक राशि से होते हुए कुंभ राशि तक गोचरीय अवस्था में रहेंगे। इसके अलावा इस सप्ताह में 22 मई को संकष्टी चतुर्थी पड़ रही हैं। इस दिन व्यक्ति अपने दुःखों से छुटकारा पाने के लिए गणपति की अराधना करता है। पुराणों के अनुसार चतुर्थी के दिन गौरी पुत्र गणेश की पूजा करना बहुत फलदायी होता है। इस दिन लोग सूर्योदय के समय से लेकर चन्द्रमा उदय होने के समय तक उपवास रखते हैं। संकष्टी चतुर्थी को पूरे विधि-विधान से गणपति की पूजा-पाठ की जाती है।

संकष्टी चतुर्थी का महत्व और पूजा विधि- यहाँ क्लिक कर पढ़ें!

इस सप्ताह किन ग्रहों की बदलेगी चाल?


इस सप्ताह के ग्रह और नक्षत्र संकेत कर रहे हैं कि ये अवधि खासतौर से कम्युनिकेशन या शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े लोगों व छात्रों के लिए बेहद लाभदायक रहने वाली है। क्योंकि इस दौरान न केवल उनके मान-सम्मान में वृद्धि होगी बल्कि उन्हें इस समय अपनी मेहनत का उचित परिणाम भी मिल सकता है। इसलिए यह सप्ताह इन लोगों के लिए विशेष फलदायी साबित होने वाला है। इस सप्ताह की शुरुआत में जहाँ चंद्र देव वृश्चिक राशि में स्थित होंगे वहीं बाद में वो धनु, मकर और अंत में कुंभ राशि में गोचर करेंगे। जिससे सबसे ज्यादा इन राशि के जातकों पर प्रभाव देखने को मिलेगा। इस दौरान चंद्र देव ज्येष्ठा, मूल, पूर्वाषाढ़ा, उत्तराषाढ़ा, श्रवण, धनिष्ठा और शतभिषा नक्षत्रों में भी अपना प्रभाव दिखाएँगे। इसके साथ ही इस सप्ताह अन्य ग्रहों में से मुख्य रूप से सूर्य देव और बुध देव भी एक दूसरे के साथ नज़र आएंगे और बुधादित्य योग का निर्माण करेंगे। जिससे देशभर में कई बड़े बदलाव देखे जाएंगे।

शेयर बाज़ार में इस सप्ताह


इस सप्ताह के शेयर बाजार पर नज़र डालें, तो इस हफ्ते डॉलर के मुकाबले रूपये की कीमतों में गिरावट के चलते टेलीकॉम, आईटीआई कॉमर्स, जेम्स एन्ड ज्वेलरी, जूते और चमड़े की कंपनियों के शेयरों में अचानक तेजी आने के आसार हैं। जिसके चलते विशेषज्ञ इनमें बिकवाली करना फ़ायदेमंद समझते हैं। इसके अलावा शराब, सिगरेट, फार्मा एंड हॉस्पिटल उद्योग में भी अच्छा ख़ास लाभ दिखने की उम्मीद है। ऐसे में इसका सही समय पर फायदा उठाना आपको धन लाभ करा सकता है। 


लोकसभा के परिणामों पर एक नज़र 


इस सप्ताह देश के अगले प्रधानमंत्री पद को लेकर देशभर में चल रहे चुनावी संग्राम का परिणाम आने वाला है, जिससे साफ़ होगा कि इस बार देश की कमान किस पार्टी के हाथ में होगी। इस विषय पर जब हमने गहन विश्लेषण किया तो हमने देखा कि लग्नेश सुखेश बुध बीजेपी पार्टी के भाग्य भाव में भाग्येश से दृष्ट है जो पाराशरी राजयोग का निर्माण कर रहा है। द्वितीयेश चन्द्रमा छठे भाव में वृश्चिक राशि में मंगल से दृष्ट होकर ये भी एक प्रकार का राजयोग बना रहा है। वहीं पार्टी की कुंडली ये भी साफ़ बता रही है कि तृतीय स्थान में मंगल-राहु-शनि-गुरु का एक साथ होना यहाँ तीन राजयोग बना रहे हैं, यह स्थिति विपक्ष की सभी राजनीतिक पार्टियों को कमज़ोर करने का काम कर रही है। यह स्थिति सीधा-सीधा पार्टी के जीतने की संभावना दिखा रही है।

जन्मदिन विशेष 


इस हफ्ते भारत के खेल जगत, फिल्म जगत एवं देश के कई जाने-माने दिग्गजों का जन्मदिन है। इसमें 20 मई को महिला क्रिकेटर अंजुम चोपड़ा, 21 मई को फिल्म जगत के जाने माने चेहरे आदित्य चोपड़ा, 25 मई को करण जौहर और कुणाल खेमू व 26 मई को पहलवान सुशील कुमार अपना जन्मदिन मनाएंगे। जानें इन हस्तियों के लिए कैसा रहेगा आने वाला समय और क्या कहती है उनकी कुंडली। हमारी ओर से इन्हें जन्मदिन की शुभकामनाएँ। चलिए अब जानते हैं इस सप्ताह का राशिफल:-


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

मेष


इस सप्ताह चंद्रमा का गोचर आपकी राशि से अष्टम, नवम, दशम और एकादश भाव मेें होगा। चंद्रमा के इस गोचर के दौरान आपको पारिवारिक जीवन में अच्छे फल मिलेंगे। आपकी माता को इस दौरान लाभ होने की संभावना है। यदि आपके पिता नौकरी पेशा हैं तो उन्हें कार्यक्षेत्र में इस दौरान उन्नति मिल सकती है। ऐसे में...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- यह सप्ताह आपके प्रेम जीवन के लिए मिलेजुले परिणाम लेकर आया है। इस सप्ताह आपके प्रेमी के व्यवहार में रुखापन देखा जा सकता है। इस दौरान आपको उन्हें समझने की जरुरत है, ऐसे में इस समय अगर आप ...आगे पढ़ें

वृषभ


आपके विवाह भाव यानि सप्तम भाव में चंद्रमा के गोचर के चलते वैवाहिक जीवन में ख़ुशियाँ आएँगी। जीवनसाथी के साथ आपके रिश्तों में इस दौरान सुधार देखने को मिलेगा। वहीं जो लोग साझेदारी में बिज़नेस करते हैं उनके संबंध भी अपने साझेदार के साथ बेहतर होंगे। यह ऐसा वक्त होगा जब आपके जोड़ीदार आपकी परेशानियों को...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- प्रेम जीवन के लिए यह सप्ताह अनुकूल रहने वाला है। अपने संगी के साथ समय बिताकर आप तरोताजा महसूस करेंगे। मुमकिन है कि आप उन्हें घुमाने के लिए किसी पहाड़ी इलाके में लेकर जाएं। वैवाहिक जीवन में संतुलन बनाए रखने के लिए...आगे पढ़ें

मिथुन


इस सप्ताह चंद्रमा का गोचर आपकी राशि से षष्ठम, सप्तम, अष्टम और नवम भाव में होगा। इस गोचरीय काल में आप अपने माता-पिता के साथ किसी धार्मिक यात्रा पर जा सकते हैं। धर्म के प्रति आपका झुकाव इस दौरान बढ़ेगा। आपकी मुलाकात इस समय किसी ऐसे शख्स से हो सकती है जो आपको आध्यात्मिकता की ओर लेकर जाएँ...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- जिन प्रेमियों के बीच कुछ समय पहले अलगाव की स्थिति बनी थी वो अब एक बार फिर रिश्ते में वापस आ सकते हैं। आपका प्रेमी का व्यवहार इस समय बहुत अच्छा रहेगा और आपका प्रेमी आपको खुश करने की हर संभव कोशिश करेंगे। वहीं शादीशुदा लोगों को भी...आगे पढ़ें

ऑनलाइन सॉफ्टवेयर से मुफ्त जन्म कुंडली प्राप्त करें।

कर्क


इस सप्ताह आपके विरोधी आपके खिलाफ साज़िश रच सकते हैं। इसलिए आपको इस समय बहुत सोच समझकर चलने की जरुरत है। आपकी छोटी सी भूल भी इस समय आपको किसी परेशानी में डाल सकती है। इस वक्त अपने घर के लोगों से सलाह मशवरा लेकर ही आपको कोई भी काम करना चाहिए। सप्ताह के मध्य में जब चंद्रमा आपके सप्तम भाव में होगा तो...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- शादीशुदा जातकों के लिए यह सप्ताह यादगार रह सकता है। अपने जीवनसाथी के प्रति आपके प्यार में इस समय अधिकता देखी जा सकती है। आपके अच्छे संबंध घर के माहौल को भी खुशनुमा...आगे पढ़ें

सिंह


इस सप्ताह की शुरुआत आपके चतुर्थ भाव में चंद्रमा के गोचर से होगी, इसके बाद चंद्रदेव आपकी राशि से पंचम, षष्ठम और सप्तम भाव में गोचर करेंगे। चतुर्थ भाव में चंद्र के गोचर के दौरान आपको अपनी माता के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना होगा। अगर आपकी माता कामकाजी हैं तो इस समयावधि में वो काम के सिलसिले में किसी यात्रा पर...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- प्रेम में पड़े इस राशि के जातकों के लिए यह सप्ताह उतार-चढ़ाव भरा रह सकता है। आपके प्रेमी के परिवार का कोई सदस्य इस समय आप पर क्रोधित हो सकता है, जिसकी वजह से आपके प्रेम जीवन में भी टकराव की स्थिति बन सकती है...आगे पढ़ें

कन्या


सप्ताह की शुरुआत तृतीय भाव में चंद्रदेव के गोचर से होगी। यह समय पारिवारिक रुप से अच्छा होगा। अगर आपको धन से जुड़ी कोई समस्या है तो आपके भाई-बहन आपकी मदद के लिए इस दौरान आगे आ सकते हैं। स्वास्थ्य को लेकर सचेत रहें, खासकर अपने हाथ और कंधों का ख्याल रखें इनपर चोट लगने के आसार हैं। अगर वाहन चलाते हैं तो...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- इस राशि के प्रेमी जातकों के जीवन में इस सप्ताह रोमांस की कमी आ सकती है। इस समय आपको अपने प्रेमी को उधार नहीं देना चाहिए नहीं तो आपको धन हानि हो सकती है। वैवाहिक जीवन की बात करें तो आपके जीवनसाथी के भाई-बहन इस सप्ताह...आगे पढ़ें


तुला


इस गोचर से आपको अपने संचित धन को किसी काम में व्यय करना पड़ सकता है। इसके साथ ही पारिवारिक जीवन में भी आपको चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। इस अवधि में खुद को सकारात्मक बनाए रखने की कोशिश करें। तृतीय भाव में चंद्र के गोचर के चलते आप जीवन के कुछ महत्वपूर्ण निर्णय ले सकते हैं। या मुमकिन है कि आप अपने शौक को अपना...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- वैवाहिक जीवन की बात करें तो आपको अपने जीवनसाथी के घरवालों के साथ अपने अच्छे रिश्ते बनाने की ओर कार्य करने होंगे। आपका जीवनसाथी इस दौरान उनके माता-पिता के प्रति आपके अच्छे व्यवहार के कारण खुश हो सकता है...आगे पढ़ें

वृश्चिक


इस सप्ताह आपकी पैतृक संपत्ति में इज़ाफा हो सकता है। अगर आप अपनी पैतृक संपत्ति के लिए कोर्ट-कचहरी में कोई मुकदमा लड़ रहे थे तो इस समय फैसला आपके पक्ष में आने के पूरे आसार हैं। सप्ताह के मध्य में चंद्रमा आपके तृतीय भाव में जाएगा जिससे आपको धन का निवेश करने से बचना चाहिए नहीं तो आपको आर्थिक नुकसान...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- इस राशि के प्रेमी जातकों को अपने दिल की बातें दिल में ही छुपाकर नहीं रखनी चाहिए बल्कि उन्हें खुलकर अपने प्रेमी के सामने रखना चाहिए। अगर आप ऐसा नहीं करते तो आप दोनों के बीच दूरियाँ बढ़ सकती हैं। वैवाहिक जीवन की बात की जाए तो...आगे पढ़ें

धनु


प्रथम भाव में चंद्रमा के गोचर से आपके स्वभाव में थोड़े बदलाव देखे जा सकते हैं। इस समय आप अधीरता दिखा सकते हैं, साथ ही आपके स्वभाव में कठोरता भी देखने को मिल सकती है जिसके कारण आपके कुछ ज़रुरी कामों में रुकावट आ सकती है। अत: आपको सलाह दी जाती है कि अपने व्यवहार में सकारात्मक बदलाव लाने के लिए योग ध्यान का सहारा लें। सप्ताह के बीच में...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- वैवाहिक जीवन की बात करें तो आपके जीवनसाथी को दाँतों से संबंधी कोई समस्या इस दौरान हो सकती है जिसके कारण आप भी परेशान हो सकते हैं। आपको इस समय अपने साथी का...आगे पढ़ें

मकर


इस सप्ताह नौकरी पेशा लोगों की आमदनी में वृद्धि हो सकती है साथ ही कुछ जातकों को पदोन्नति भी मिल सकती है। हालांकि इस समय आपको अपने विरोधियों से बचने की जरुरत है वो आपके खिलाफ साज़िश कर सकते हैं। द्वादश भाव में चंद्रमा का गोचर से आपका मन परोपकारी कामों में लगेगा जिससे आपको मानसिक शांति की अनुभूति होगी...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- यह सप्ताह आपके लिए अच्छा रहेगा। इस सप्ताह अपने प्रेमी के दोस्तों के बीच आप आकर्षण का केंद्र बन सकते हैं। आपका प्रेमी भी इससे प्रभावित होगा और आपको भी अपने संगी के प्रति सम्मान प्रकट करना चाहिए। आप दोनों...आगे पढ़ें

कुंभ


इस सप्ताह चंद्रमा की स्थिति के कारण जीवन में आपको थोड़ा संभलकर चलना होगा। खासकर इस राशि के वो जातक जो नौकरी पेशा से जुड़े हैं उन्हें इस दौरान दूसरे के कामों में अपनी टाँग नहीं अड़ानी चाहिए नहीं तो इसके बुरे प्रभाव आपको भुगतने पड़ सकते हैं। इससे आपकी पदोन्नति और आमदनी में बढ़ौतरी की संभावनाएं भी कम हो सकती हैं...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- वैवाहिक जीवन में रोमांस की अधिकता देखी जा सकती है। अगर आपके बच्चे हैं तो अपने परिवार के साथ आप इस हफ्ते कहीं घूमने जा सकते हैं। इससे आपके परिवार के बीच निकटता बढ़ेगी...आगे पढ़ें

मीन


चंद्रमा के गोचर के दौरान आपको कार्यक्षेत्र में कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है ऐसी स्थिति से बाहर निकलने के लिए आपको अपने सीनियर्स या उस क्षेत्र के अनुभवी लोगों से बात करनी चाहिए। अगर आप पर किसी का उधार है या आपने लोन लिया है तो आपके बड़े भाई-बहन इसे चुकाने में आपकी मदद कर सकते हैं...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- आपके माता-पिता को आपके प्रेमी या होने वाले जीवनसाथी का व्यवहार पसंद आएगा। इसलिए यह सप्ताह आपके प्रेम जीवन के लिए बहुत अच्छा रहने वाला है। इस दौरान आपके प्यार में गहराई आएगी...आगे पढ़ें

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

Read More »

बुध ने किया वृषभ राशि में गोचर, जानिये प्रभाव

बुध के वृषभ राशि में परिवर्तन से होगी आपकी चाँदी ही चाँदी! पढ़ें इस गोचर का प्रभाव


बुध ग्रह सौर मंडल के सभी ग्रहों में से सबसे छोटा ग्रह होने के साथ-साथ सूर्य के सबसे निकट है। वैदिक ज्योतिष में भी बुध को एक बेहद प्रभावशाली ग्रह माना जाता है। बुध ग्रह से आपकी तार्किक क्षमता, संवाद शैली, यात्रा, लेखन आदि का बोध होता है। वहीं काल पुरुष की कुंडली में बुध ग्रह को मिथुन और कन्या राशियों का स्वामित्व प्राप्त है। इसके साथ ही जहाँ कन्या राशि में बुध देव अपने उच्च स्थान में विराजमान होते हैं तो वहीं मीन राशि में बुध नीच अवस्था में होते हैं। जिस प्रकार अन्य सभी ग्रह दिन या रात एक ही समय बली होते हैं, इसके विपरीत बुध ग्रह दिन और रात दोनों समय बली रहते हैं जिसके चलते भी इसका महत्व बढ़ जाता है। 

कुंडली में बुध की स्थिति का प्रभाव 


ज्योतिष शास्त्र में बुध देव को बुद्धि का प्रदाता माना गया है। बुध ग्रह के प्रभावों की बात करें तो यह जातक में बुद्धि, विवेक, हाज़िर-जवाबी और हास्य–विनोद का प्रतिनिधित्व करता है। बुध एक तटस्थ ग्रह है इसलिए यह दूसरे ग्रहों की संगति के अनुसार ही फल देता है। जैसे शुभ ग्रहों के साथ शुभ फल और क्रूर ग्रहों के साथ अशुभ फल। बुध का संबंध संवाद से जुड़ा है। इसके साथ ही यह वाणिज्य, कॉमर्स, व्यापार, खाते, बैंकिंग, मोबाइल, नेटवर्किंग, कंप्यूटर आदि से संबंधित क्षेत्रों का प्रतीक है। किसी भी कुंडली में एक बली बुध जातक के जीवन के उपर्युक्त क्षेत्रों में सफलता प्रदान करता है। जिन जातकों की कुंडली में बुध मजबूत होता है ऐसे जातक तेज दिमाग वाले होने के साथ-साथ सोचने-समझने की शक्ति से भी परिपूर्ण होते हैं। लेकिन, इन लोगों के साथ एक समस्या यह होती है कि ये चिंता और अनिश्चितता से प्रभावित भी होते हैं। 

प्रतिकूल या निर्बल बुध से कौनसा रत्न-रुद्राक्ष करेगा आपका बचाव


बुध को कुंडली में मजबूत बनाने के लिए हरा पन्ना धारण करना चाहिए। यह देखा गया है कि इसे धारण करने से बुध संबंधी सभी अशुभ फल समाप्त हो जाते हैं और जातक को बुध के अच्छे फलों की प्राप्ति होने लगती है। वहीं रुद्राक्ष की बात करें तो बुध का कारक रुद्राक्ष चार मुखी रुद्राक्ष को माना गया है। इसे भी धारण करने से अशुभ फल समाप्त हो जाते हैं और शुभ फलों में वृद्धि होने लगती है। 


बुध गोचर का समय


बुध ग्रह 18 मई 2019, शनिवार को रात्रि 23:25 बजे मेष से वृषभ राशि में गोचर किया और 2 जून 2019, रविवार प्रातः 00:08 बजे तक इसी राशि में स्थित रहेंगे। तो चलिए जानते हैं इसका प्रभाव हर राशि पर कैसा पड़ेगा। लेकिन इससे पहले आइये जानते हैं कि इस गोचर का देश-विदेश पर कैसा रहेगा प्रभाव:- 

  • लोकसभा चुनाव परिणामों में बुध दिखायेगा अपना प्रभाव 

लोकसभा चुनाव 2019 के परिणाम 23 मई को आने हैं। ऐसे में बुद्धि, कम्युनिकेशन, नेटवर्किंग, यात्रा आदि के कारक देव बुध के वृषभ राशि में आने से चुनाव परिणामों में कुछ बेहद रोचक बदलाव देखने को मिल सकते हैं। चूँकि यह चुनाव राष्ट्रीय और क्षेत्रीय पार्टी के लिए बेहद अहम हैं। क्योंकि इस चुनाव के परिणाम से ही देश को उसका अगला प्रधानमंत्री मिलेगा। इसलिए बुध देव के इस परिवर्तन से संभावना बन रही है कि भारतीय जनता पार्टी को गोचर का शुभ फल प्राप्त हो सकता है। 

  • बुध के गोचर से आ सकती है स्वास्थ्य समस्या 

जब तृतीयेश बुध चतुर्थ भाव में शनि से युक्त होता है और लग्नेश चंद्र, राहु या केतु से युक्त या दृष्ट होता है तो जातक को दमा संबंधी विकार होने की संभावना बढ़ जाती है। ऐसे में बुध के इस गोचर से जिन भी लोगों को किसी भी प्रकार का श्वसन संबंधी रोग हैं तो उन्हें कुछ परेशानी आ सकती है। 

  • बुध के गोचर का किस क्षेत्र पर पड़ेगा सकारात्मक प्रभाव
इस गोचर के दौरान जब भी लग्नेश, द्वितीयेश, पंचमेश, नवमेश या दशमेश से होकर कन्या या सिंह राशि का बुध गुरु से दृष्ट या युक्त होगा तब बैंकिंग सेक्टर, एजुकेशन सेक्टर और फिल्म जगत सम्बन्धी व्यवसाय खूब धन अर्जित कर पाएंगे। 

  • वैशाख पूर्णिमा पर बुध गोचर से बना राज योग 

हिन्दू धर्म में वैशाख पूर्णिमा का बड़ा ही महत्व है। इस दिन दान-पुण्य और धर्म-कर्म के अनेक कार्य किये जाते हैं। इसे सत्य विनायक पूर्णिमा भी कहा जाता है। वैशाख पूर्णिमा पर ही भगवान विष्णु का तेईसवाँ अवतार महात्मा बुद्ध के रूप में हुआ था, इसलिए बौद्ध धर्म के अनुयायी इस दिन को बड़े ही धूमधाम से मनाते हैं। ऐसे में इस दिन बुध देव का यह गोचर वैशाख पूर्णिमा का व्रत करने वाले लोगों के जीवन में राज योग लेकर आया है।


आइए अब राशि अनुसार जानते हैं इस गोचर का आप पर क्या प्रभाव पड़ेगा। 


मेष


बुध ग्रह आपकी राशि से द्वितीय भाव में संचरण करेगा। ऐसे में इस गोचर के प्रभाव से आपकी संवाद शैली में सकारात्मक परिवर्तन देखने को मिलेगा। आप अपनी वाणी से लोगों को प्रभावित करेंगे। दूसरों के सामने अपनी बातों को प्रखरता से रखेंगे। हालाँकि भाषा में कटुता आपकी छवि को धूमिल कर सकती है...आगे पढ़ें

वृषभ


इस गोचर के फलस्वरूप आपके व्यक्तित्व में एक आकर्षण पैदा होगा। आप अपनी कुशल संवाद शैली की मदद से दूसरों पर अमिट छाप छोड़ेंगे। आप दूसरों के सामने बेबाक तरीक़े से अपनी राय पेश करेंगे। आपके व्यवहार में उदारता, कोमलता एवं सौम्यता दिखाई देगी। इस दौरान आपकी तार्किक क्षमता भी...आगे पढ़ें

मिथुन


आपके 12वें भाव में बुध का गोचर यह दर्शाता है कि इस दौरान आपके ख़र्चों में वृद्धि होगी और अनावश्यक रूप से धन ख़र्च होगा। इस दौरान आप आर्थिक प्रबंध कर इन ख़र्चों को रोक सकते हैं। इस दौरान आपको आर्थिक मदद की भी आवश्यकता पड़ सकती है। निवास स्थान में भी परिवर्तन...आगे पढ़ें

कर्क


बुध का गोचर आपकी राशि से एकादश भाव में होगा। गोचर के प्रभाव से आपको आर्थिक लाभ होने की संभावना है। आय के स्रोत बढ़ेंगे। अगर आपने किसी व्यक्ति को धन उधार दिया है तो वह धन वापस आ सकता है। इस दौरान विदेश संबंधों से आपको किसी प्रकार का लाभ मिल सकता है। यदि आप व्यापार से संबंध रखते हैं तो...आगे पढ़ें

सिंह


अगर आप वाणिज्य या फिर मीडिया क्षेत्र से संबंध रखते हैं तो यह समय आपके लिए बेहद अनुकूल नहीं रहेगा। आप अपने बौद्धिक क्षमता के कारण बड़े से बड़ा कार्य आसानी से कर गुजरेंगे। वहीं घर का वातावरण भी शांतिपूर्ण होने का संकेत दे रहा है। बड़े भाई-बहनों से करियर के क्षेत्र में मदद मिलने की संभावना है...आगे पढ़ें

कन्या


गोचर की इस स्थिति में आपकी किस्मत चमक सकती है। भाग्य आपका साथ देगा और आप अपने क्षेत्र में सफलता अर्जित करेंगे। हालाँकि हर एक कार्य के लिए भाग्य के भरोसे भी न बैठें और अपनी मेहनत पर विश्वास रखें। समाज में आपका मान-सम्मान बढ़ेगा और आपकी पहचान एक प्रभावी व्यक्ति के तौर पर होगी...आगे पढ़ें

तुला


बुध ग्रह आपकी राशि से अष्टम भाव में गोचर करेगा। इस दौरान आपको सावधानी से काम करने की आवश्यकता होगी। क्योंकि अचानक धन हानि होने के संकेत मिल रहे हैं। वाहन चलाते समय ट्रैफिक नियमों का पालन करें। नशे की हालत में वाहन चलाना दुर्घटना को निमंत्रण देने जैसा हो सकता है। किसी बात या रहस्य को जानने के लिए आप…आगे पढ़ें

वृश्चिक


वैवाहिक जीवन में किसी ग़लतफ़हमी के कारण जीवनसाथी से आपके संबंध कटु हो सकते हैं। ऐसे में उनके साथ प्रेम से बातचीत करें और ग़लतफ़हमी को तुरंत दूर करने का प्रयास करें। किसी व्यक्ति के साथ आप प्रेम संबंध बना सकते हैं। यदि आप साझेदारी में व्यवसाय कर रहे हैं तो लाभ मिलने की प्रबल संभावना है...आगे पढ़ें

धनु


इस गोचर के प्रभाव के कारण आपके जीवनसाथी की सेहत में गिरावट आने की संभावना है। ऐसी स्थिति में उनकी सेहत का ख्याल रखें। इसके अलावा दोनों के बीच किसी तरह का विवाद भी संभव है। ख़र्च में बढ़ोतरी होगी। इसलिए धन सोच-समझकर ख़र्च करें। ख़ासकर अनावश्यक चीज़ों में धन व्यय न करें...आगे पढ़ें

मकर


इस गोचर के फलस्वरूप आपके ज्ञान में वृद्धि होगी। उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए आप एक स्थान से दूसरे स्थान पर जा सकते हैं। जो छात्र उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाने के बारे में सोच रहे हैं विदेश जाने का अवसर मिल सकता है। बच्चे भी गोचर के दौरान स्वस्थ्य रहेंगे। संतान अपने कार्यक्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करेगी...आगे पढ़ें

कुंभ


गोचर के दौरान वाहन चलाते वक़्त सावधानी बरतें। माता जी के स्वास्थ्य में गिरावट देखने को मिल सकती है। ऐसी स्थिति में उनकी सेहत का ख्याल रखें। इस दौरान ऐसा भी संभव है कि माता जी के साथ आपके रिश्तों में खटास पैदा हो। वहीं बच्चों की सेहत खराब रह सकती है। इसलिए उनका ख्याल रखें। छात्रों को पढ़ाई-लिखाई में...आगे पढ़ें

मीन


यदि आप शादीशुदा हैं तो जीवनसाथी को इस गोचर का बड़ा लाभ मिल सकता है। समाज में उनकी प्रसिद्धि बढ़ने की संभावना है। गोचर के दौरान आप किसी यात्रा पर भी जा सकते हैं। घर में छोटे भाई-बहन का सहयोग आपको प्राप्त होगा। अपनी सेहत का ध्यान रखें। बुध के गोचर से आपके साहस में वृद्धि होगी...आगे पढ़ें

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

Read More »

बुद्ध पूर्णिमा : सफलता के खुलेंगे हर द्वार!

इस बुद्ध पूर्णिमा बना सबसे बड़ा राजयोग! पढ़ें वैशाख पूर्णिमा पर व्रत करने का महत्व, पूजा विधि और सही मुहूर्त !


बुद्ध पूर्णिमा भगवान बुद्ध को समर्पित सबसे बड़ा पर्व है। दुनियाभर में बौद्ध धर्म के अनुयायियों के लिए यह एक बेहद पवित्र दिन होता है। हिन्दू पंचांग के अनुसार वैशाख माह की पूर्णिमा को बुद्ध पूर्णिमा पड़ती है, इसीलिए इसे वैशाख पूर्णिमा, बुद्ध जयंती, वेसाक और हनमतसूरी आदि नामों से भी जाना जाता है। मान्यता अनुसार यह दिन भगवान विष्णु के तेइसवे अवतार महात्मा बुद्ध यानी सिद्धार्थ गौतम जिन्हे हम गौतम बुद्ध के नाम से भी जानते हैं, उनके जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। एक अन्य मान्यता के अनुसार बुद्ध भगवान् विष्णु के नवें अवतार थे। उनके जन्मदिन के उपलक्ष्य में यह दिन बेहद धूमधाम से मनाया जाता है। इसी विशेष पूर्णिमा के दिन लुंबिनी में भगवान बुद्ध ने धरती पर जन्म लिया था तथा इसी विशेष दिन उन्हें ज्ञान की प्राप्ति हुई थी और 80 वर्ष की आयु में इसी ही दिन उन्होंने कुशीनगर में अपना मानव शरीर त्याग दिया था। यानि भगवान बुद्ध का जन्म, उन्हें ज्ञान की प्राप्ति और महापरिनिर्वाण ये तीनों एक ही दिन अर्थात वैशाख पूर्णिमा के दिन पड़े थे। जो आज तक किसी भी अन्य महापुरुष के साथ नहीं हुआ, इसी लिए इस दिन व्रत करने का भी विधान है।


बुद्ध पूर्णिमा पर पूजा का मुहूर्त


मई 18, 2019 को 04:12:32 से पूर्णिमा आरम्भ
मई 19, 2019 को 02:42:59 पर पूर्णिमा समाप्त

नोटः उपरोक्त समय केवल नई दिल्ली के लिए है। जानें अपने शहर के अनुसार जानिए इस दिन का मुहूर्त एवं पूजा विधि

वैशाख पूर्णिमा पर व्रत करने का महत्व


वैशाख पूर्णिमा के दिन पर धर्मराज की पूजा की जाती है। इस साल यह 18 मई को मनाई जाएगी। इस बार की ये तिथि अपने आप में कई मायनों में बेहद फलदायी साबित होने वाली है क्योंकि इस बार बुद्ध पूर्णिमा के दिन एक विशेष समसप्तक योग बन रहा है। क्योंकि इस ख़ास दिन देव गुरु बृहस्पतिसूर्य देव आमने-सामने रहेंगे। जिसके चलते इस बार इस योग में सभी जातको को कार्यों में स्थायित्व के साथ प्रगति मिलेगी। कहा जाता है कि इस ख़ास दिन व्रत करने से अकाल मृत्यु का भय भी समाप्त हो जाता है। एक मान्यता है कि भगवान श्री कृष्ण के बचपन के साथी निर्धन सुदामा जब द्वारिका भगवान कृष्ण के पास मिलने पहुंचे थे, तो भगवान श्री कृष्ण ने उन्हें सत्य विनायक पूर्णिमा व्रत करने की सलाह दी थी। जिसके बाद इसी व्रत के प्रभाव से सुदामा की सारी दरिद्रता दूर हुई। इसलिए जो भी व्यक्ति इस दिन व्रत करता है तो उसे धर्मराज का तो आशीर्वाद मिलता ही है साथ ही उसका जीवन भी भगवान गौतम बुद्ध की तरह ही सकारत्मकता से परिपूर्ण हो जाता है। 

वैशाख पूर्णिमा व्रत की सही विधि


वैशाख पूर्णिमा पर व्रत और ज़रूरी पुण्य कर्म करने से मनुष्य को शुभ फलों की प्राप्ति होती है। हालांकि इस पूर्णिमा व्रत की पूजा विधि भी काफी हद तक अन्य पूर्णिमा व्रत के सामान ही है लेकिन इस दिन किये जाने वाले कुछ धार्मिक कर्मकांड इस प्रकार हैं:-


  • वैशाख पूर्णिमा के दिन प्रातः काल सूर्योदय से पूर्व किसी पवित्र नदी, जलाशय, कुएँ या बावड़ी में स्नान करना शुभ होता है। 
  • स्नान के बाद सूर्य मंत्र का उच्चारण करते हुए सूर्य देव को अर्घ्य दें। इस दौरान मन में व्रत का संकल्प लेकर भगवान विष्णु का भी ध्यान करें। 
  • इसके बाद सच्चे मन से भगवान विष्णु और उनके अवतार गौतम बुद्ध की भी पूजा करें। 
  • ज्योतिष अनुसार इस दिन धर्मराज के निमित्त जल से भरा कलश और पकवान देने से मनवांछित फल की प्राप्ति होती है। 
  • इसके बाद 5 या 7 ग़रीबों और ब्राह्मणों को शक्कर के साथ तिल देने से पापों का क्षय होता है। 
  • इस दिन घर में तिल के तेल के दीपक जलाएँ और तिलों का तर्पण विशेष रूप से करें।
  • इस दिन व्रत के दौरान एक समय ही भोजन करें। 

सूर्य को अर्घ्य देने का ज्योतिषी महत्व- यहाँ क्लिक कर पढ़ें

बुद्ध पूर्णिमा का महत्व


जैसा सभी जानते है कि भगवान गौतम बुद्ध अपने अहिंसा, मानवतावादी और विज्ञानवादी विचारों से विश्व के सबसे महान पुरुष कहलाए, जिन्होंने धरती पर बौद्ध धर्म स्थापित कर उसका प्रचार-प्रसार भी किया। इसके चलते ही आज पूरे विश्व में करीब 180 करोड़ से भी ज्यादा लोग बौद्ध धर्म के अनुयायी हैं। केवल भारत में ही नहीं बल्कि चीन, नेपाल, सिंगापुर, वियतनाम, जापान, कंबोडिया, मलेशिया, श्रीलंका और इंडोनेशिया जैसे कई बड़े देशों में बुद्ध पूर्णिमा बड़े उत्सव के साथ मनाई जाती है। बौद्ध धर्म के साथ-साथ हिन्दू धर्म में भी बुद्ध पूर्णिमा का बड़ा महत्व है। क्योंकि हिन्दू धार्मिक में भगवान बुद्ध को भगवान विष्णु का ही एक अवतार कहा गया है। 

गौतम बुद्ध की पूर्ण मोक्ष प्राप्ति की परिभाषा 


भगवान गौतम बुद्ध द्वारा बौद्ध धर्म की स्थापना की गयी और उन्होंने 4 प्रमुख संदेश दिए हैं, जिन्हे इस बुद्ध पूर्णिमा हर जन मानस को पालन करना चाहिए। 
  1. इस दुनिया में हर स्थिति में केवल दुःख है। जन्म में, बुढ़ापे में, बीमारी में, मृत्यु में, सब में दुःख है।
  2. और इस दुःख के मुख्य कारण मनुष्य की इच्छा और तृष्णा ही है। 
  3. मानव की इसी इच्छा और तृष्णा का अंत होने पर ही जीवन के समस्त दुःख समाप्त हो जाएंगे। 
  4. कोई भी मनुष्य इन सभी इच्छाओं का अंत बौद्ध धर्म में दिये गये जीवन के 8 मार्गों से कर सकता है।
भगवान बुद्ध के द्वारा सुझाए गए जीवन के वो आठ मार्ग हैं - सम्यक दृष्टि, सम्यक संकल्प, सम्यक वाक, सम्यक कर्म, सही जीविका, सम्यक प्रयास, सत्य स्मृति और सम्यक समाधि। 

विभिन्न राज्यों में बुद्ध पूर्णिमा


यूँ तो बुद्ध पूर्णिमा उत्सव को दुनियाभर में बुद्ध जयंती के रूप में मनाया जाता है। लेकिन अगर भारत की बात करें तो यहाँ ये पर्व मुख्य रूप से अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम, जम्मू-कश्मीर और बिहार में ख़ास तौर से मनाया जाता है। बिहार के बोध गया में स्थित महाबोधि मंदिर को बुद्ध पूर्णिमा के दिन विशेष रूप से सजाया जाता है। यह मंदिर प्राचीन काल में से ही बौद्ध भिक्षुओं की शिक्षा का एक मुख्य केन्द्र रहा है। इस दिन बौद्ध धर्म के सभी अनुयायी भगवान बुद्ध के चरणों में उनका ध्यान करते हुए अपना दिन व्यतीत करते हैं। इसके अतिरिक्त इस दिन भव्य तौर पर दान पुण्य भी किया जाता है।
बुद्ध पूर्णिमा का ज्योतिषीय और धार्मिक महत्त्व

हिन्दू धर्म और वैदिक ज्योतिष दोनों में ही पूर्णिमा की तिथि का विशेष महत्व है। ज्योतिषीय दृष्टिकोण से देखें तो इस ख़ास दिन वैशाख पूर्णिमा पर चंद्रमा पूर्ण होता है, और जो लोग इस व्रत को करते हैं उन्हें चंद्र देव की कृपा प्राप्त होती है। वहीं शास्त्रों में पूरे वैशाख माह में गंगा स्नान का अपना एक विशेष महत्व होता है। ऐसे में मान्यता है कि वैशाख पूर्णिमा पर स्नान, दान और तप करने से पुण्य फल की प्राप्ति होती है और व्यक्ति अकाल मृत्य के भय से भी मुक्त हो जाता है। 

एस्ट्रोसेज की ओर से सभी पाठकों को बुद्ध पूर्णिमा की शुभकामनाएँ!
Read More »

सूर्य का गोचर आज, जानें भविष्यफल

सूर्य के वृषभ राशि में आते ही बदल जाएगी इन 7 राशि वाले जातको की क़िस्मत! अभी से हो जाएं सावधान नहीं तो भुगतना होगा ख़ामियाज़ा। 



वैदिक ज्योतिष में सूर्य देव को पिता, पूर्वज, आत्मा और सरकारी सेवा के कारक के रूप में देखा जाता रहा है। इसी चलते कुंडली में सूर्य के शुभ प्रभाव से सरकारी नौकरी, राजनीति और किसी भी संस्था में उच्च पद की प्राप्ति होने की संभावना बढ़ जाती है। सूर्य देव को सिंह राशि का स्वामित्व प्राप्त होता है और मेष, सिंह और धनु में ये स्थित होकर विशेष रूप से बलवान होते हैं। इसके साथ ही मेष राशि में सूर्य को उच्च का माना जाता है। अब यही जगत की आत्मा अपनी उच्च राशि मेष का त्याग करते हुए वृषभ राशि में गोचर करने जा रहे हैं। जिसका सीधा-सीधा प्रभाव न केवल सभी 12 राशियों के जातकों पर पड़ेगा बल्कि इस गोचर से देश-विदेश में भी कई बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे। 

सूर्य देव को मजबूत करने के लिए स्थापित करें सूर्य यंत्र

गोचर काल का समय 


सूर्य देव 15 मई 2019, बुधवार को सूर्य प्रातः 10:56 बजे अपनी उच्च राशि मेष का त्यागकर वृषभ राशि में गोचर प्रवेश हो रहा है। जो यहाँ 15 जून तक इसी राशि में स्थित रहेंगे। सूर्य के इस संचरण का प्रभाव सभी राशियों पर व्यापक रूप से होगा। हालांकि वृषभ राशि में सूर्य के गोचर के चलते इस राशि के जातकों पर सूर्य गोचर का प्रभाव बाकी राशियों से अधिक पड़ेगा। ऐसे में हम इस लेख में प्रत्येक राशि पर होने वाले सूर्य के इस गोचर का प्रभाव जानेंगे लेकिन उससे पहले आइये जानते हैं इस गोचर से देशभर में क्या बड़े परिवर्तन देखने को मिलेंगे:-

देश में तेजी-मंदी का दौर


15 मई को सूर्य देव वृषभ राशि में प्रवेश कर रहा है। याद दिला दें कि मंगल एवं शनि की समसप्तक स्तिथि पहले से ही चल रही है जिसके चलते सूर्य के इस गोचर से सोना, चाँदी, गुड़, खाण्ड, शक़्कर, कपास, रुई, सूत, बादाम, सुपारी, नारियल, तिल, सरसों तेल एवं अन्य प्रकार के तेल के दामों में तेजी रहेगी। हालांकि इस समय अनाज के दामों में कुछ मंदी देखी जा सकती है। 

सूर्य के गोचर के दौरान गर्मी से परेशान होगा देश


समस्त सृष्टि के देवता सूर्य के अपनी उच्च राशि मेष से पृथ्वी तत्व की राशि वृषभ में प्रवेश करने के दौरान ये शुक्र की राशि में जाकर पृथ्वी पर भीषण गर्मी का प्रकोप पैदा करेंगे, जिसके परिणामस्वरूप देशभर के कई राज्यों में जगह-जगह आगजनित घटनाएँ बढ़ेंगी। इसके साथ ही वृषभ राशि में सूर्य के आने से जंगलों में भी आग की घटनाओं में बढ़ोत्तरी दर्ज होगी। 

सूर्य के गोचर से राजनेतओं का बढ़ेगा मान 


चूँकि सूर्य सरकारी पदों, आत्मबल, प्रतिष्ठा आदि का कारक होता है इसलिए इस गोचर काल के दौरान जब सूर्य अपनी उच्च राशि छोड़कर शुक्र की राशि में प्रवेश करेंगे तो इससे राजनीति के क्षेत्र में कई हैरान कर देने वाले बदलाव नज़र आएँगे। इस गोचरीय स्थिति से जहाँ कई दिग्गजों को नकारात्मक परिणामों की प्राप्ति होगी तो वहीं कई लोग अपनी सोच से भी ज्यादा अच्छे परिणाम प्राप्त कर पाने में सफल होंगे। 

आइये अब जानते हैं सभी राशियों पर कैसा होगा सूर्य के इस गोचर का असर:- 


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

मेष


सूर्य देव का गोचर आपकी राशि से द्वितीय भाव में हो रहा है। सूर्य का गोचर आपके इस भाव में होने से आपकी वाणी में कठोरता आ सकती है। बातों-बातों में आप किसी को ऐसा कुछ कह सकते हैं जिससे सामने वाला आहत हो जाएगा। इसलिए किसी से कोई भी बात सोच-समझकर करें, अन्यथा बात बढ़कर झगड़े का रुप भी ले सकती है...आगे पढ़ें

वृषभ


चूंकि सूर्य का गोचर आपकी ही राशि में हो रहा है इसलिए इस गोचर का प्रभाव आप पर बाकी राशि के जातकों से अधिक पड़ेगा। सूर्य के इस गोचर से आपमें आक्रामकता आ सकती है और इसके साथ ही आपके अहंकार में भी वृद्धि हो सकती है। वैवाहिक जीवन में इस दौरान थोड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है...आगे पढ़ें 

मिथुन


इस गोचर के दौरान आप किसी पहाड़ी इलाके में घूमने जा सकते हैं। शादीशुदा लोगों को अपने जीवनसाथी के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य का इस दौरान ख्याल रखना होगा। छात्र किसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो पढ़ाई के बीच कुछ समय अपने शरीर को भी अवश्य दें, हो सके तो समय निकालकर योग अथवा व्यायाम करें...आगे पढ़ें

पढ़ें: विभिन्न भावों में सूर्य ग्रह का ज्योतिषीय फल

कर्क


सूर्य के इस गोचर से जीवन में आगे बढ़ने के आपको कई मौके मिलेंगे। अगर धन को लेकर कुछ समस्याएं चल रही थीं तो इस दौरान वो दूर हो सकती हैं। इस गोचर के चलते आपका आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। प्रेम जीवन में इस दौरान अपने अहम को पीछे रखने की जरूरत है। अपने संगी के प्रति विनम्र बनने की कोशिश करें नहीं तो...आगे पढ़ें

सिंह


आपके दशम भाव में सूर्य के गोचर के चलते आप कार्यक्षेत्र में कुछ साहसिक फैसले ले सकते हैं। इस अवधि में आप पूरी लगन के साथ अपना काम करेंगे। कारोबारियों को इस दौरान अच्छा मुनाफ़ा हो सकता है। यह ऐसा समय है जब आपको उन्नति के कई अवसर प्राप्त होंगे। सरकारी कामकाजों में आपको इस दौरान...आगे पढ़ें
कन्या

सूर्य देव के नवम भाव में गोचर के दौरान आपको समाजिक स्तर पर सोच-समझकर चलने की जरूरत है। खासकर महिलाओं के साथ इस दौरान सम्मान के साथ बात करें। पिता की सेहत में गिरावट आ सकती है और उनके साथ किसी बात को लेकर आपके मतभेद भी हो सकते हैं। इस अवधि में अपने पिता से बात करते वक्त...आगे पढ़ें

पढ़ें: साल 2019 में होने वाले सभी सूर्य ग्रहण का सभी राशियों पर असर

तुला


प्रेम जीवन के लिहाज से समय सामान्य है। इस दौरान अचानक कहीं सैर-सपाटे के लिए आप जा सकते हैं। इस दौरान आर्थिक तंगी के चलते यदि उधार लेना पड़े तो किसी विश्वासपात्र शख्स से ही लें। जीवनसाथी के साथ कहासुनी हो सकती है इसलिए वैवाहिक जीवन में थोड़ा सोच-समझकर चलें। कुल मिलाकर देखा जाए तो...आगे पढ़ें

वृश्चिक


कार्यक्षेत्र में इस दौरान आपको पदोन्नति मिल सकती है या कोई शुभ समाचार मिल सकता है। समाजिक जीवन के लिए भी यह समय अच्छा है आपका व्यवहार लोगों को पसंद आएगा और समाज में आपकी प्रतिष्ठा बढ़ेगी। सूर्य के प्रभाव से इस दौरान आपका व्यवहार कई मामलों में आक्रामक हो सकता है। इस अवधि में आपके...आगे पढ़ें

धनु


सूर्य का गोचर आपकी राशि से षष्टम भाव में होगा। आपके व्यवहार में इस दौरान पराक्रम की वृद्धि देखी जा सकती है इस दौरान आपके काम करने की गति में भी तेजी आएगी। कोर्ट-कचहरी से जुड़े मामलों में आपको सकारात्मक परिणाम मिलने की संभावना है। आर्थिक पक्ष थोड़ा कमजोर रह सकता है इस दौरान कुछ...आगे पढ़ें

पढ़ें: साल 2019 में राहु के गोचर का ज्योतिषीय प्रभाव

मकर


इस गोचर काल के दौरान पढ़ाई में ध्यान लगाने के लिए आप योग का सहारा ले सकते हैं। प्रेम जीवन में आपको परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। आपको ऐसा महसूस हो सकता है कि आपका जीवनसाथी आपकी बातों को नहीं समझता, ऐसी स्थिति में उनके साथ टकराव की स्थिति पैदा हो सकती है। आपको सलाह दी जाती है कि...आगे पढ़ें

कुम्भ


अगर आप शादीशुदा हैं तो सूर्य का यह गोचर आपके जीवनसाथी के लिए बहुत अच्छा रहने वाला है। उनको कार्यक्षेत्र में इस दौरान प्रगति मिल सकती है, हालांकि आप दोनों के रिश्ते में इस दौरान थोड़ी बहुत खटास आ सकती है। पारिवारिक जीवन के लिए समय सामान्य रहेगा, इस अवधि में अपनी माता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें, अन्यथा...आगे पढ़ें

मीन


कार्यक्षेत्र में आप इस दौरान अच्छा काम करेंगे। पारिवारिक जीवन में भी आनंद की अनुभूति होगी और आपके व्यक्तिगत संबंध सुधरेंगे। हालांकि बड़े भाई-बहनों से किसी बात को लेकर मनमुटाव हो सकता है। धार्मिक कार्यों में रूचि बढ़ेगी इस दौरान आप दान-पुण्य के काम कर सकते हैं। धार्मिक ज्ञान को बढ़ाने के लिए आप...आगे पढ़ें

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिष समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर
Read More »

साप्ताहिक राशिफल (13 से 19 मई 2019)

इन 9 राशि वालों की चमकेगी किस्मत ! पढ़ें इस सप्ताह की अहम भविष्यवाणियाँ और जानें आपकी नौकरी, शिक्षा और व्यवसाय आदि पर होने वाला प्रभाव। 


एक बार फिर एस्ट्रोसेज आपके लिए हर सप्ताह की तरह इस बार फिर आने वाले सप्ताह का लेखा-जोखा लेकर आया है। जिसकी मदद से आप आने वाली हर चुनौती के लिए न केवल खुद को बल्कि अपने करीबियों को भी तैयार कर सकते हैं। इस सप्ताह ग्रह और नक्षत्र संकेत कर रहे हैं कि 13 मई से 19 मई की ये अवधि खासतौर से 9 राशि वालों के लिए बेहद लाभदायक रहने वाली है। क्योंकि इस दौरान उनके न केवल मान-सम्मान में वृद्धि होगी बल्कि उन्हें धन लाभ, भौतिक सुख और स्वास्थ्य लाभ की भी प्राप्ति होने की संभावना नज़र आ रही है। इसलिए यह सप्ताह 9 राशि वालों के लिए किसी स्वप्न से कम साबित होने वाला नहीं है। 

इस सप्ताह का हिन्दू पंचांग एवं ज्योतिषीय तथ्य


हिन्दू पंचांग के अनुसार, सप्ताह की शुरुआत पक्ष की नवमी तिथि से होगी और सप्ताह का अंत कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा तिथि को होगा। वहीं इस सप्ताह में चंद्र देव सिंह से होते हुए वृश्चिक राशि तक गोचर करेंगे। इसके अलावा इस सप्ताह में मोहिनी एकादशी, प्रदोष व्रत (शुक्ल) और वैशाख पूर्णिमा भी पड़ रही हैं। इस दिन व्रत करने का विशेष प्रावधान है, जिसके चलते ये सप्ताह कई राशि के जातकों के लिए महत्वपूर्ण रहेगा।

इस सप्ताह किन ग्रहों की बदलेगी चाल?


इस सप्ताह की शुरुआत में चन्द्र देव सिंह राशि में स्थित होंगे और फिर वो समय के साथ कन्या, तुला, और अंत में वृश्चिक राशि में गोचर करेंगे। जिससे सबसे ज्यादा इन राशि के जातकों पर प्रभाव देखने को मिलेगा। इस दौरान चंद्र देव मघा, पूर्वाफाल्गुनी, उत्तराफाल्गुनी, हस्त, चित्रा, स्वाति, विशाखा और अनुराधा नक्षत्रों में भी अपना प्रभाव दिखाएँगे। इसके साथ ही इस सप्ताह अन्य ग्रहों का गोचर भी होने वाला है जिनमें मुख्य रूप से सूर्य देव 15 मई को मेष राशि से निकल कर वृषभ राशि में प्रवेश करेंगे। वैदिक ज्योतिष में यह इनके शत्रु ग्रह शुक्र की राशि मानी जाती है। इसलिए कई जातकों को ये गोचर थोड़ा परेशान ज़रूर कर सकता है। वहीं इसके बाद बुध देव भी 18 मई को मेष राशि से निकलकर अपनी मित्र राशि वृषभ में प्रवेश करेंगे जिससे बुधादित्य योग बनेगा। 
और देशभर में कई बड़े बदलाव देखे जाएंगे।

शेयर बाज़ार में इस सप्ताह


इस सप्ताह शेयर बाजार के हाल पर नज़र डालें, तो इस हफ्ते बाज़ार में विशेष शेयर आधारित गतिविधियाँ देखने को मिल सकती हैं। हमारे ज्योतिष विशेषज्ञों अनुसार इस सप्ताह के दौरान भारतीय स्टेट बैंक और हिंदुस्तान यूनिलीवर जैसी बड़ी अन्य कंपनियों के नतीजों से बाजार की दिशा तय होगी। इसके साथ ही लोकसभा चुनावों के चलते भी बाज़ार में लगातार मंदी और फिर तेजी देखने को मिल सकती है। सप्ताह की शुरुआत में यानी सोमवार को बाजार पर औद्योगिक उत्पादन से जुड़ी कंपनियों के बेहतर आंकड़ों के भी असर दिख सकते हैं। हालांकि ये आंकड़े शुक्रवार को बाजार बंद होने के बाद साफ़ स्थिति में नज़र आएँगे। कंपनियों के बेहतर नतीजों तथा गैर-बैंकिंग सेक्टर के बेहतर नतीजों से बाजार के और ऊपर जाने की संभावना भी बन रही है। अधिकांश ज्योतिषियों का मानना है कि निकट भविष्य में वैश्विक स्तर पर किसी प्रमुख घटनाक्रम के होने से इस सप्ताह शेयर आधारित गतिविधियों में हैरानीजनक बदलाव दिखने की संभावना है।


जन्मदिन विशेष 


इस हफ्ते भारत के राजनीतिक, फिल्म जगत एवं देश-विदेश के कई जाने-माने दिग्गजों का जन्मदिन है। इसमें अभिनेत्री सनी लियोन, आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रवि शंकर, और असदुद्दीन ओवैसी 13 मई को जन्मदिन मनाएंगे। इसके साथ ही फेसबुक के सीईओ मार्क ज़ुकरबर्ग और अभिनेत्री जरीन खान का 14 मई, वहीं इस सप्ताह के बीच 15 मई को मशहूर अभिनेत्री और बॉलीवुड की धक-धक गर्ल कही जाने वाली माधुरी दीक्षित नेने का, 17 मई को गायक पंकज उधास और नवाजुद्दीन सिद्दीकी का 19 मई को जन्मदिन है। जानें इन हस्तियों के लिए कैसा रहेगा आने वाला समय और क्या कहती है उनकी कुंडली। हमारी ओर से इन्हे जन्मदिन की शुभकामनाएँ। चलिए अब जानते हैं इस सप्ताह का राशिफल:-


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

मेष


इस सप्ताह चन्द्र देव आपके पंचम भाव में होंगे और फिर षष्ठम, सप्तम और अष्टम भाव में गोचर कर जाएंगे। जिससे आप अपने सुख साधनों में वृद्धि करेंगे, जिससे घरेलू वस्तुओं पर आपका अच्छा-ख़ासा धन भी खर्च होगा। आपकी माताजी के स्वास्थ्य में भी सुधार नज़र आने लगेगा और आप अपनी संतान के प्रति समर्पित रहेंगे। इससे घर का...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- प्रेम संबंधित मामलों के लिए यह सप्ताह अच्छा रहेगा। पूरे सप्ताह आपका मन प्यार से भरा रहेगा और आप भी अपने प्रेमी के प्रति अपने इस प्यार को जताने का प्रयास करेंगे। आपके इस प्रयास से प्रियतम खुश होगा, जिससे आपको...आगे पढ़ें

वृषभ


इस सप्ताह बुध देव और सूर्य देव आपके प्रथम यानी लग्न भाव में गोचर करेंगे। जिससे आपके परिवार के लोगों में सामंजस्य की कमी देखी जायेगी। हालाँकि माताजी को स्वास्थ्य लाभ होगा। इस सप्ताह आप प्रॉपर्टी खरीदने का विचार भी बना सकते हैं लेकिन किसी भी निर्णय पर पहुंचने से पहले किसी अनुभवी व्यक्ति से सलाह लेना न भूले, अन्यथा...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- प्रेम संबंधित मामलों के लिए इस सप्ताह के अनुकूल रहने की संभावना है। बुध और शुक्र की आपके द्वादश भाव में स्थिति प्रियतम के साथ किसी सुदूर यात्रा पर जाने और आनंद के कुछ पल बिताने की ओर इशारा कर रही है। वहीं शनि की दृष्टि भी...आगे पढ़ें

मिथुन


इस सप्ताह आपको यदि किसी यात्रा पर जाना पड़े तो इस दौरान सावधानी बरतने की आवश्यकता होगी क्योंकि मुमकिन है कि इस दौरान आपकी कोई वस्तु खो जाए या खराब हो जाए। बुध का गोचर होने से व्यर्थ में किसी से वाद विवाद होने की संभावना है। बुध देव भी आपके...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- शादीशुदा जातकों के दांपत्य जीवन में समस्याएं रह सकती हैं और आपका तथा जीवन साथी का स्वास्थ्य भी पीड़ित हो सकता है। इसलिए इस सप्ताह आप दोनों को ही संभल कर चलने की बेहद आवश्यकता होगी अन्यथा नुक्सान उठना पड़ेगा...आगे पढ़ें

ऑनलाइन सॉफ्टवेयर से मुफ्त जन्म कुंडली प्राप्त करें।

कर्क


इस सप्ताह चन्द्रमा आपके द्वितीय भाव में होंगे और फिर तृतीय, चतुर्थ और पंचम भाव में गोचर करेंगे। जिससे अपने परिवार के प्रति आपका समर्पण देखते ही बनेगा और आप अपनी जिम्मेदारियों को भली-भांति निभाएंगे भी। अपने इस रवैये से परिवार में सुख शांति बनी रहेगी। आपकी वाणी में आए अचानक इस बदलाव से आपके अपने भी...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- प्रेम संबंधित मामलों के लिए यह सप्ताह अनुकूल रहेगा। आप अपने प्रियतम के प्रति अपने प्यार में गहराई पाएंगे और आप दोनों ही एक दूसरे की भावनाओं को समझने का प्रयास करेंगे। इस सप्ताह उम्मीद है कि...आगे पढ़ें

सिंह


इस सप्ताह आपके अधिकार क्षेत्र में भी वृद्धि होगी। हालाँकि पारिवारिक जीवन में तनाव कुछ बढ़ सकता है। इस समय आपके शत्रु सक्रिय दिखाई देंगे लेकिन आप उन सभी पर हावी रह सकते है। बुध देव भी आपकी आमदनी में थोड़ी गिरावट ला सकते हैं। इस समय आप अपने काम को बढ़ाने के लिए धन का निवेश कर सकते हैं। लेकिन...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- प्रेम संबंधित मामलों के लिए सप्ताह थोड़ा अनुकूल नहीं है, हालाँकि इसके बावजूद भी सप्ताह आपके लिए ठीक रहेगा। इसके लिए आपको केवल यह ध्यान रखना होगा कि आप अपने और प्रियतम के मध्य किसी भी ग़लतफ़हमी को ना आने दें। हालाँकि...आगे पढ़ें

कन्या


इस सप्ताह की शुरुआत में चन्द्रमा के द्वादश भाव में होने से आप अचानक लाभ प्राप्ति के उद्देश्य से किसी यात्रा पर जा सकते हैं। इस यात्रा से मुमकिन है कि आपके मानसिक तनाव में वृद्धि हो। लेकिन इस दौरान आपको अपने इस तनाव को काबू करने की ज़रूरत होगी अन्यथा आपको स्वास्थ्य की हानि के साथ-साथ...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- अगर इस समय आप अपने परिवार के सदस्यों से प्रियतम को मिलवाने का सोच रहे हैं तो यह प्रयास अभी ना करें, अन्यथा बात बिगड़ सकती है। वहीं शादीशुदा जातकों के लिए दांपत्य जीवन ठीक-ठाक रहेगा लेकिन...आगे पढ़ें


तुला


सप्ताह की शुरुआत में चंद्र देव जब आपके एकादश भाव में होंगे तो आपको इस दौरान कार्यक्षेत्र में अच्छे फल मिलेंगे आपके वरिष्ठ अधिकारी आपके लाभ की वजह बन सकते हैं। व्यापारियों के लिए भी यह समय अच्छा रहेगा, व्यापार में विस्तार होने की इस समय संभावना है। इसके बाद जब चंद्र देव आपके द्वादश भाव में होंगे तो...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- यह सप्ताह आपके प्रेम जीवन के लिए अच्छा रहेगा। इस अवधि में आप अपने संगी के साथ घूमने जा सकते हैं। आपका जीवनसाथी आपके साथ मिलकर भविष्य की महत्वपूर्ण योजनाएं बना सकता है। वहीं दूसरी तरफ शादीशुदा जातकों के लिए...आगे पढ़ें

वृश्चिक


दशम भाव में चंद्र देव का गोचर इस राशि के उन लोगों को सफलता दिला सकता है जो नौकरी की तलाश में लगे हैं। वहीं जो लोग नौकरी पेशा से जुड़े हैं उन्हें भी कार्यक्षेत्र में अच्छे फल मिलेंगे। पारिवारिक जीवन में ख़ुशियाँ बनी रहेंगी। इसके बाद चंद्र देव जब आपके एकादश भाव में गोचर करेंगे तो आपको...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- प्रेम संबंधित मामलों के लिए सप्ताह के अनुकूल रहने की पूरी संभावना है। पंचम भाव पर पंचमेश बृहस्पति की दृष्टि प्यार को नई ऊंचाइयां देगी और प्रेम विवाह के योग बनाएगी। इस दौरान आपका प्रियतम आपके प्रति समर्पित रहेगा...आगे पढ़ें

धनु


चंद्रमा जब आपके दशम भाव में होंगे तो जीवन में उतार-चढ़ाव आ सकते हैं। खासकर इस राशि के व्यवसायियों को इस दौरान सोच-समझकर चलना चाहिए। कार्यक्षेत्र में अधिक व्यस्तता के कारण इस राशि के नौकरी पेशा से जुड़े लोग इस दौरान अपने परिवार को समय नहीं दे पाएंगे। सप्ताह के मध्य में...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- प्रेम संबंधित मामलों के लिए सप्ताह बेहद शानदार रहेगा, शुक्र और बुध की पंचम भाव में उपस्थिति आपको प्यार के सागर में हिलोरें मारने में मददगार रहेगी। हालाँकि इस राशि के जो जातक प्रेम विवाह करना चाहते हैं उनको परिवार की तरफ से कुछ परेशानियाँ...आगे पढ़ें

मकर


आपके अष्टम भाव में चंद्रमा के गोचर के चलते आपको व्यर्थ की मानसिक चिंताएं हो सकती हैं जिसके चलते आपका समय भी खराब हो सकता है। जो लोग शादीशुदा हैं उन्हें ससुराल की तरफ से सहयोग प्राप्त होगा। इस दौरान सामाजिक स्तर पर आपके मान सम्मान में कमी आ सकती है। इसके बाद...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- प्रेम संबंधित मामलों के लिए सप्ताह अधिक अनुकूल नहीं लग रहा है। पंचम भाव पर सूर्य का प्रभाव प्रेम जीवन में कष्ट दे सकता है। किसी बात को लेकर आप अपने प्रेमी या प्रेमिका से झगड़ सकते हैं। जिसके चलते आप दोनों के बीच...आगे पढ़ें

कुंभ


इस सप्ताह चन्द्रमा आपके सप्तम भाव में होंगे और फिर अष्टम, नवम और दशम भाव में गोचर कर जाएंगे। बुध देव का गोचर भी आपके चतुर्थ भाव में होगा और सूर्य देव आपके चतुर्थ भाव में प्रवेश करेंगे। शुरुआत में चंद्रमा का गोचर सप्तम भाव में होने से आपको किसी सगे-संबंधी के द्वारा व्यापार में सहयोग प्राप्त हो सकता है...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- प्रेम संबंधित मामलों के लिए यह सप्ताह परेशानियों से भरा रह सकता है क्योंकि पंचम भाव पर अत्यधिक क्रूर ग्रहों का प्रभाव होने से आपके अपने प्रियतम संग रिश्ते में दरार आ सकती है इसलिए कुछ समय आराम से बिता लें और...आगे पढ़ें

मीन


चंद्रमा का गोचर षष्ठम भाव में होने से आपकी संतान को समस्या होने की संभावना रहेगी। इस दौरान आपको व्यर्थ के वाद विवाद से भी परेशानी हो सकती है, इसलिए भलाई इसी में है कि किसी भी विवाद में न उलझें। आपके खर्चों में भी बढ़ोतरी देखी जाएगी इसलिए सही रणनीति से ही पैसा खर्च करें। यदि कोर्ट में कोई मामला...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- प्रेम संबंधित मामलों के लिए यह सप्ताह सामान्य रहेगा। पारिवारिक जीवन में मिल रही शांति आपके प्रेम जीवन पर असर डालेगी। आप इस दौरान अपने प्रियतम और अपने रिश्ते को लेकर चिंतित रहेंगे। लेकिन शादीशुदा जातकों के...आगे पढ़ें

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

Read More »

आज शुक्र का मेष में गोचर, बदलेंगे आपके सितारे!

शुक्र ने अपनी उच्च राशि का त्याग कर किया मेष में गोचर- अब आएगा ये बड़ा बदलाव! पढ़ें मेष में शुक्र के गोचर का ज्योतिषीय प्रभाव। 


शुक्र ग्रह जिसे अंग्रेजी में वीनस यानि सुंदरता के देव की उपाधि दी गई है और जो सूर्य से दूसरे सबसे नजदीक ग्रह है। इसके साथ ही सौर मंडल का सबसे गर्म ग्रह भी शुक्र ही होता है। जिसका आकार, रेडियस और भार पृथ्वी जैसा ही है। हमारे सौर मंडल मे सभी ग्रह सूर्य की परिक्रमा घड़ी के कांटो की विपरीत दिशा मे करते है, जो कि सूर्य के घूर्णन भी दिशा है। यह दिशा पृथ्वी के उत्तरी ध्रुव के उपर से देखने से है। शुक्र और युरेनस ग्रह को छोड़कर अन्य सभी ग्रहो का घूर्णन भी इसी दिशा मे है। लेकिन शुक्र और युरेनस बाकि ग्रहो के विपरीत घड़ी के कांटो की दिशा मे घूर्णन करते है। इनका आकार पृथ्वी से थोडा ही छोटा है। शुक्र का नाम रोम की सुंदरता और प्रेम की देवी के नाम पर पड़ा है। ज्योतिष में शुक्र ग्रह को भौतिक सुख, वैवाहिक सुख, भोग-विलास, शौहरत, कला, प्रतिभा, सौन्दर्य, रोमांस, काम-वासना और फैशन-डिजाइनिंग आदि का कारक माना जाता है। इसलिए कुंडली में इनके बली और कमज़ोर होने का सीधा असर जातक के जीवन पर पड़ता है।

कुंडली मे शुक्र का नकारात्मक प्रभाव 


जिस भी जातक की कुंडली में शुक्र कमज़ोर होता है, ऐसे लोग न तो रूप रंग से और न ही परिधान से बिलकुल आकर्षक होते है। ऐसे लोगों का रहन-सहन भी थोड़ा अजीब होता है। ये लोग सुविधा कितनी भी जुटा ले लेकिन इन्हे सुख की कमी हमेशा रहती है। अगर किसी पुरुष का शुक्र कमजोर है तो उसे जीवनसाथी के सुख में भी कमी महसूस होती है। साथ ही उसका दाम्पत्य जीवन भी नीरस रहता है। ऐसे व्यक्ति ज्यादातर काम भाव और प्रदर्शन में ही लिप्त रहते हैं।

शुक्र का सकारात्मक प्रभाव 


जिन लोगों की कुंडली में शुक्र अच्छी अवस्था में या बली होते हैं वो व्यक्ति बहुत आकर्षक होता है। न केवल बाहरी सुंदरता बल्कि ये लोग अपने व्यवहार और स्वभाव दोनों से दूसरों का दिल जीतने में सक्षम होते हैं। आमतौर पर ऐसे लोग दूसरों की तुलना में बहुत ज्यादा नाम-यश अर्जित करते हैं और मीडिया, फिल्म अथवा कला के क्षेत्र में रूचि रखते हैं। इन लोगों को विपरीत लिंगी व्यक्तियों से बहुत सम्मान मिलता है और इनका दाम्पत्य जीवन भी सुखद रहता है।

शुक्र यंत्र को स्थापित कर विवाहिक जीवन का उठाए आनंद ! 

गोचर काल का समय 


अब यही शुक्र ग्रह अपनी उच्च मानी जाने वाली राशि मीन राशि से मेष राशि में परिवर्तन कर रहे हैं और उच्च राशि को त्यागकर आगे बढ़ रहे हैं। शुक्र वैशाख शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि और शुक्रवार के दिन यानि 10 मई 2019 को 18:57 बजे पर मेष राशि में प्रवेश करेंगे और 4 जून को 11:11 बजे तक यहीं पर रहेंगे| शुक्र के मेष राशि में इस प्रवेश से विभिन्न राशि वाले लोगों पर अलग-अलग प्रभाव होंगे। अतः 4 जून तक शुक्र के मेष राशि में इस प्रवेश से विभिन्न राशि वाले लोगों पर क्या प्रभाव होंगे, शुक्र उनकी जन्मपत्रिका में किस स्थान पर गोचर करेंगे, साथ ही शुक्र की इस स्थिति के शुभ और अशुभ फल सुनिश्चित करने के लिए एवं उनसे बचने के लिए आपको क्या उपाय करने चाहिए ये हम आपको बतायेंगे लेकिन उससे पहले आइये जानते है इस गोचर से देश भर में क्या-क्या बड़े बदलाव आने वाले हैं:-

  • प्रियंका गाँधी पर शुक्र का प्रभाव:-

इन लोकसभा चुनावों में जो एक नाम शुरुआत से ही चर्चा में रहा वो है कांग्रेस की पूर्वी उत्तरप्रदेश प्रभारी श्रीमती प्रियंका गाँधी का। अगर उनके ग्रह-नक्षत्रों को देखें तो वर्तमान में प्रियंका गाँधी की कुंडली में शुक्र में शनि की अन्तर्दशा पहले से प्रभावी नज़र आ रही है। शुक्र की ये महादशा साल 2024 तक रह सकती है। ऐसे में शुक्र का अपनी उच्च राशि को त्यागकर जाना प्रियंका गाँधी के लिए प्रतिकूल साबित होगा। इसके साथ ही शुक्र में शनि की या शनि में शुक्र की दशा होने से भी उन्हें इस लोकसभा चुनाव मनोवांछित फल प्राप्त नहीं होंगे।

  • व्यापारिक वस्तुओं पर प्रभाव:- 

शुक्र अश्वनी नक्षत्र, मेष राशि में प्रवेश कर सूर्य-बुध के साथ मेल करेगा, जिससे अनाज, दाल, चावल आदि व्यापारिक वस्तुओं में तेजी आएगी।

  • देश पर प्रभाव:- 

इसके साथ ही प्राकृतिक प्रकोप या पानी की कमी से देशभर के व्यापारिक क्षेत्र सबसे ज्यादा प्रभावित होंगे।

  • शेयर बाज़ार पर प्रभाव:- 

अगर शेयर बाज़ार को देखें तो इस गोचर के चलते मोटर वाहन कंपनियों और नॉन-बैंकिंग फ़ाइनेंसर कंपनियों इंश्योरंस कंम्पनियों के अच्छे परिणामों की खबर के चलते इसमें तेजी का रुख बनेगा। जो लोग इससे लाभ कमाना चाहेंगे उन्हें मुनाफ़ा हो सकता है। यहाँ क्लिक पर जानें सेंसेक्स - निफ्टी भविष्यवाणी!

चलिए अब जानते है हर राशि पर क्या होगा इस गोचर का असर:-


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

मेष


चूँकि शुक्र का गोचर आपकी ही राशि में हो रहा है, लिहाजा ये आपकी राशि में लग्न भाव यानि की पहले भाव में स्थापित होंगें। शुक्र का ये गोचर आपके व्यक्तित्व को आकर्षक बनाने के साथ ही साथ आपकी छवि में भी चार चाँद लगाता है। इस गोचर के परिणामस्वरूप… आगे पढ़ें

वृषभ


शुक्र का ये गोचर आपके लिए शारीरिक समस्याएं उत्पन्न कर सकता है। हालाँकि इस दौरान आपका ज्यादातर समय भौतिक सुख साधनों का आनंद लेते हुए बीत सकता है। आर्थिक रूप से देखें तो इस दौरान आपके ख़र्चों में अनायास ही वृद्धि हो सकती है। कोर्ट कचहरी के मामलों में… आगे पढ़ें

मिथुन


आपके लिए शुक्र का ये गोचर आर्थिक रूप से काफी लाभदायक साबित होने वाला है। शुक्र के प्रभाव से आपकी आय में वृद्धि होने की संभावना बन सकती है। इसके साथ ही साथ इस दौरान आपको कार्यक्षेत्र में भी तरक्की पाने के विभिन्न अवसर प्राप्त होंगें। इस गोचर काल में… आगे पढ़ें

शुक्र के अशुभ प्रभाव से बचने के लिए ज़रूर करें: शुक्र ग्रह की शांति के उपाय

कर्क 


इस गोचर के दौरान शुक्र आपकी राशि से दसवें भाव में स्थापित होंगें। शुक्र ग्रह के प्रभाव से आप अपने कार्यक्षेत्र में ख़ासा तरक्की प्राप्त करने में सफल हो सकते हैं। कार्यक्षेत्र में आपका बेहतर प्रदर्शन आपको नयी ऊँचाइयों पर ले जा सकता है। गोचर के इस अवधि काल में… आगे पढ़ें

सिंह


इस गोचर काल में पारिवारिक स्तर पर देखें तो, आपको अपने भाई बहन से कोई विशेष लाभ मिल सकता है। इसके साथ ही साथ आपको आर्थिक रूप से भी परिवार का भरपूर साथ प्राप्त होगा। गोचर की इस अवधि में आपको जीवनसाथी का… आगे पढ़ें

कन्या


आपकी राशि में शुक्र की ये स्थिति आपके लिए धन हानि का कारण बना सकती है, लिहाजा इस गोचर काल में पैसों का खर्च सोच समझकर करें। गोचर की ये अवधि आपके पिता के स्वास्थ्य में गिरावट ला सकती है। इसके साथ ही इस दौरान आपको… आगे पढ़ें

तुला


शुक्र का ये गोचर आपके जीवन में प्रेम का नया अध्याय खोल सकता है। आपकी मुलाकात किसी ऐसे व्यक्ति से हो सकती है जिसे देखते ही आपको पहली नजर में प्यार हो जाए। यदि आप विवाहित हैं तो, इस दौरान जीवनसाथी का साथ आपके लिए बेहद… आगे पढ़ें

वृश्चिक


गोचर काल की ये अवधि स्वास्थ्य के लिहाज से आपके लिए ख़ासा नुक़सानदेह साबित हो सकती है। ऐसे में बेहतर होगा कि इस दौरान आप अपनी सेहत का ख़ास ख्याल रखें। इस दौरान अचानक किसी यात्रा पर जानें का प्रोग्राम बनने से आपके ख़र्चों में वृद्धि हो सकती है। इस अवधि में… आगे पढ़ें

धनु


शुक्र के गोचर की ये अवधि आपके लिए प्रेम जीवन के आधार पर बेहद अच्छी साबित होने वाला है। वैसे संभावना है कि इस दौरान आपके पार्टनर के साथ किसी बात को लेकर आपकी झड़प हो। दूसरी तरफ इस गोचर काल के दौरान आपके… आगे पढ़ें

मकर


शुक्र के प्रभाव से प्रेम जीवन में आप अपने पार्टनर के साथ ज्यादा से ज्यादा समय गुजार पाएंगे। इसके साथ ही साथ आप अपने कार्यक्षेत्र में भी अच्छा प्रदर्शन कर सकेंगे। गोचर की इस अवधि में आप नया घर या गाड़ी खरीद सकते हैं। मकर राशि के जातकों के लिए ये गोचर… आगे पढ़ें

शुक्र से शुभ फल पाने के लिए धारण करें: ओपल रत्न

कुम्भ


गोचर की इस अवधि काल में आपको अपनी प्रतिभा को निखारने का विशेष अवसर प्राप्त होगा। धार्मिक कार्यों के प्रति आपकी रुचि बढ़ेगी और संभवतः आप किसी धार्मिक यात्रा पर भी जा सकते हैं। यदि आपकी रुचि कला क्षेत्र में है तो, कला से संबंधित क्रियाओं में आपको… आगे पढ़ें

मीन


शुक्र का ये गोचर आपकी संवाद शैली में निखार लाएगा और आप अपनी वाणी से लोगों को आकर्षित करने में सक्षम रहेंगे। पारिवारिक दृष्टिकोण से भी ये गोचर आपके लिए ख़ासा फलदायी साबित होगा। परिवार में किसी… आगे पढ़ें

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

Read More »

मंगल का हुआ मिथुन राशि में गोचर बना अंगारक योग

अक्षय तृतीया की शुभ तिथि पर मंगल ने मिथुन राशि में स्थान परिवर्तन कर बनाया सबसे अशुभ अंगारक योग। जानें आपकी कुंडली पर कैसा होगा इस गोचर का परिणाम। 


ज्योतिषी दृष्टि में मंगल ग्रह को सबसे क्रूर ग्रह माना जाता रहा है। इसके अलावा मंगल ग्रह को अग्नि तत्व का प्रतिनिधित्व प्राप्त है इसलिए इसे अंगारे जैसा रक्त वर्ण भौम यानि भूमि पुत्र का दर्जा भी मिला हुआ है। मंगल को युद्ध का देवता भी कहा जाता है जो शारीरिक ऊर्जा, आत्मविश्वास, अहंकार, क्रोध, वीरता और साहस जैसे गुणों का प्रतिनिधित्व करते हैं। जिस भी जातक की कुंडली में मंगल कमज़ोर हो तो ये देखा गया है कि इसके दुष्प्रभाव से व्यक्ति को रक्त संबंधी, मांस पेशी और अस्थि जनित रोगों से जुड़ी कोई परेशानी रहती है और वह डरपोक होता है। बावजूद इसके मंगल ग्रह शुभत्व का प्रतीक भी है और जीवन ऊर्जा का मुख्य कारक ग्रह भी है। 

मंगल की क्रूर दृष्टि से बचने के उपाय- यहाँ क्लिक कर पढ़ें!

अक्षय तृतीया पर हुआ मंगल का गोचर


वैशाख माह की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि इस वर्ष 7 मई को पड़ रही है। इस तिथि पर अक्षय तृतीया और आखा तीज मनाने का विधान है। हिन्दू धर्म में अक्षय तृतीया का बड़ा महत्व है, इसे सर्वश्रेष्ठ शुभ तिथि माना जाता है। मान्यता अनुसार जब सतयुग और त्रेता युग का प्रारंभ हो रहा था तब इसी तिथि को विशेष रूप से महत्व दिया गया था। इसके अलावा इस शुभ दिन को भगवान परशुराम के जन्मोत्सव के रूप में भी मनाया जाता है। इसी कारण माना जाता है कि अक्षय तृतीया के दिन मनुष्य जो भी कार्य करता है उसका पुण्य फल कभी नष्ट नहीं होता है। यहाँ विस्तार में पढ़ें अक्षय तृतीया। 

गोचर काल का समय


इसके अलावा 7 मई 2019, मंगलवार को प्रातः 07:03 बजे लाल ग्रह मंगल ने वृषभ से मिथुन राशि में गोचर किया जो 22 जून 2019, शनिवार को रात्रि 23:21 बजे तक इसी राशि में स्थित रहेगा। जिसका प्रभाव प्रत्येक जातक के जीवन पर देखने को मिलेगा। सभी राशियों पर इस गोचर के होने वाले प्रभावों को पढ़ने से पहले आइये जानते हैं कि ये गोचर देशभर में क्या बदलाव लेकर आने वाला है:-

  • मंगल गोचर का शेयर बाज़ार पर प्रभाव 


चूंकि मंगल ताँबा, सोना, लोहा एवं अन्य धातुएं, मशीनरी, चौपाये, गुड़, धनिया, हल्दी, गन्ना, मुनक्का, किशमिश, लौंग, सुपारी, किराना, लाल मिर्च, चाय, शराब, छुहारा, मसूर, मोठ तथा गेहूं को नियंत्रित करता है। इसके अतिरिक्त यदि शेयर मार्किट की बात करें तो विशेष रूप से धातु, तांबा, डायग्नोस्टिक सेंटर,ऑटोमोबाइल, आरयन एवं स्टील, फार्मास्यूटिकल, रेडियम, परमाणु ऊर्जा, शस्त्र, तंबाकू, यूरेनियम, चिकित्सा उपकरण, इंफ्रास्ट्रक्चर, हेल्थ केयर, सीमेंट और जिप्सम आदि के शेयर मंगल ग्रह से संबंधित होते हैं। इस बार मंगल मिथुन राशि (जो एक सौम्य राशि है) में गोचर कर रहा है। ऐसे में मिथुन में मंगल जैसे क्रूर ग्रह के प्रवेश से शुरुआत में शेयर बाज़ार के सकारात्मक रूप से खुलने का प्रबल योग बन रहा है। हालांकि बाद में बाज़ार में धीरे-धीरे मंदी देखी जा सकती है।

  • मंगल का राजनीति पर प्रभाव

मंगल के गोचर को देश की राजनीति और लोकसभा चुनावों से जोड़कर देखें तो महागठबंधन के सभी दलों के पुनः बिखराव और कांग्रेस पार्टी के अन्तर्विरोधियों के चलते सीधा-सीधा बीजेपी को इसका फायदा मिलता नज़र आ रहा है। भाजपा की स्थिति इस गोचर के चलते दूसरी पार्टियों की तुलना में मजबूत होगी जिसके चलते विदेशी निवेशकों के आने से निरंतर तेजी का वातावरण देखने को मिलेगा जिसका फायदा बीजेपी इस चुनाव में बढ़-चढ़कर उठाने से ज़रा भी संकोच नहीं करेगी।

  • मंगल के गोचर से देश की अर्थव्यवस्था पर पड़ेगा असर 

इसके अलावा 7 मई को मंगल मिथुन राशि में आकर राहु के साथ एक अशुभ युति बना रहा है। मंगल और राहु का यह योग अंगारक कहलाता है जो कि अराजकता और सांप्रदायिक हिंसा का योग बनाता है। इसका असर बैंकिंग सेक्टर पर भी प्रभावी रहेगा। इसके साथ गोचर में शनि-मंगल का समसप्तक योग राजनीति में दुविधाजनक स्थिति एवं देश की इकॉनमी में भयंकर उठा-पटक का वातावरण बनाएगा। इसके साथ ही मंगल के मिथुन में प्रवेश कर जानें के बाद देश के कई ग्रामीण इलाकों में पानी की कमी देखी जायेगी जिससे अनाज, दालों के दामों में बढ़ोतरी आदि खाद्य पदार्थ महंगे हो सकते हैं। साथ ही सोने-चाँदी के दामों में तेजी-मंदी के झटके बार-बार लगते रहेंगे।

चलिए अब जानते हैं कैसा रहेगा 12 राशियों पर मंगल के गोचर का प्रभाव:-


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें चंद्र राशि कैल्कुलेटर से अपनी चंद्र राशि

मेष


मंगल ग्रह का गोचर आपकी राशि से तृतीय भाव में होगा। यह गोचर आपके लिए अच्छा रहेगा और इस दौरान आपके साहस में वृद्धि होगी। आपकी संकल्प शक्ति में इज़ाफा भी होगा और हर काम को आप सूझबूझ के साथ पूरा करेंगे, जिसके चलते...आगे पढ़ें 

वृषभ


पराक्रम का कारक ग्रह मंगल आपकी राशि से द्वितीय भाव में गोचर करेंगे। जिसके चलते आपके आर्थिक मामलों के लिए यह गोचर बहुत अच्छा रहेगा, धन संचित करने में आप सफल रहेंगे। अपनी वाणी पर इस दौरान आपको...आगे पढ़ें

मिथुन 


मंगल ग्रह आपकी ही राशि यानि आपके लग्न भाव में गोचर करेंगे। अत: इस गोचर का प्रभाव आप पर अधिक पड़ेगा। गोचर के प्रारंभ में आपके स्वभाव में परिवर्तन देखने को मिलेगा, आप पर क्रोध हावी हो सकता है। इस दौरान आपको कोई भी काम...आगे पढ़ें

कर्क


मंगल का यह गोचर आपके लिए बहुत अच्छा नहीं है। इस गोचर के चलते आपको शारीरिक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। आप शारीरिक रुप से जितने सक्रिय रहेंगे उतना आपके लिए बेहतर रहेगा। छात्रों के लिए यह समय...आगे पढ़ें

सिंह


मगंल के गोचर के चलते उन्नति के पथ पर आप अग्रसर होंगे, आपकी सोच सकारात्मक रहेगी और आप अपने अंदर ऊर्जा महसूस करेंगे। हालांकि लाभ की प्राप्ति आपको आसानी से नहीं होगी लेकिन हर मुश्किल परिस्थिति का आप...आगे पढ़ें

कन्या


नौकरी पेशा से जुड़े लोगों के लिए यह गोचर बहुत लाभदायक रहेगा। इस राशि के कई जातकों के करियर में इस दौरान उछाल देखने को मिलेगा। कार्यक्षेत्र में आपके अधिकारों में वृद्धि हो सकती है। जो जातक अब तक बेरोज़गार हैं उन्हें जॉब मिल सकती है। हालांकि इस दौरान...आगे पढ़ें

मूंगा बनाएगा मंगल को बली- यहाँ क्लिक कर पढ़ें

तुला


मंगल ग्रह का गोचर आपकी राशि से नवम भाव में होगा। आय में वृद्धि के योग इस गोचर के दौरान बनेंगे। कार्य के संबंध में किसी यात्रा पर जाना हो सकता है। पारिवारिक जीवन वैसे तो सामान्य रहेगा लेकिन पिता के साथ किस बात को लेकर वैचारिक मतभेद...आगे पढ़ें

वृश्चिक


इस गोचर के दौरान आपको अपना ख्याल रखना होगा। शारीरिक कष्ट आपको इस दौरान हो सकते हैं, अगर आप संतुलित आहार करें तो आपकी कई तकलीफें दूर हो सकती हैं। हालांकि इस गोचर से आपको अप्रत्याशित लाभ होने की भी संभावना है...आगे पढ़ें

धनु


साहस और पराक्रम के कारक ग्रह, मंगल आपकी राशि से सप्तम भाव में गोचर करेंगे। इस भाव को विवाह भाव भी कहा जाता है और इस भाव से जीवन में होने वाली साझेदारियों के बारे में विचार किया जाता है। इस दौरान आपके जीवनसाथी के व्यवहार में आक्रामकता...आगे पढ़ें

मकर


मंगल का गोचर आपकी राशि से षष्टम भाव में होगा। इस समयावधि में कानूनी मामलों में आपको सफलता मिलने के योग हैं। हालांकि इस दौरान आपको ऐसा कोई भी काम नहीं करना चाहिए जो गैर कानूनी है। गुस्से पर इस दौरान काबू रखने की जरूरत है। जहाँ पर आपको...आगे पढ़ें

कुंभ


इस गोचर के चलते प्रेम जीवन में आपको तनाव का सामना करना पड़ सकता है। छोटी-छोटी बातों को लेकर इस दौरान जीवनसाथी या प्रेमी के साथ आपके विवाद हो सकते हैं। इस राशि के नौकरी पेशा लोग इस समयावधि में नई संस्था से जुड़ने का विचार बना सकते हैं। आपकी सेहत इस दौरान...आगे पढ़ें

मीन


आपके चतुर्थ भाव में मंगल का गोचर आपको मिलेजुले परिणाम देगा। कार्यक्षेत्र में इस दौरान आपको अच्छे फल मिलेंगे और आप कार्यक्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन कर पाएंगे। इसका आपको लाभ भी प्राप्त होगा। इस दौरान आप नया वाहन या प्रॉपर्टी खरीद सकते हैं। पारिवारिक जीवन में...आगे पढ़ें

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

Read More »