साप्ताहिक राशिफल ( 23 से 29 अप्रैल 2018)

इन 5 राशि वालों को मिलेंगी खुशियाँ अपार! पढ़ें साप्ताहिक राशिफल और जानें नौकरी, व्यवसाय, शिक्षा, प्रेम व पारिवारिक जीवन से जुड़ी भविष्यवाणियाँ।


अप्रैल माह के आखिरी सप्ताह की शुरुआत आज से हो चुकी है। यह सप्ताह 5 राशि के लोगों के लिए सुखद पल लेकर आने वाला है। इस दौरान इन राशि के जातकों को विदेश यात्रा, धन लाभ, नौकरी और व्यवसाय में तरक्की के अवसर मिलेंगे। हालांकि अन्य 7 राशि के लोगों को भी अच्छे अवसरों की प्राप्ति होगी लेकिन इसके लिए उन्हें संघर्ष करना पड़ सकता है। इस हफ्ते क्रिकेट, फिल्म और लेखन जगत की दो दिग्गज हस्तियों के जन्मदिन हैं। इनमें पहले हैं मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर और दूसरे हैं प्रसिद्ध उपन्यास और कहानीकार चेतन भगत। इन दोनों शख्सियतों ने क्रिकेट और लेखन की दुनिया में नाम कमाया है। एस्ट्रोसेज की ओर से इन दोनों शख्सियतों को जन्मदिन की ढेर सारी शुभकामनाएँ।

आईये अब जानते हैं इस सप्ताह का राशिफल:-


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

मेष


इस सप्ताह मन कुछ अप्रसन्न रह सकता है। व्यावसायिक साझेदारी से लाभ होने की संभावना है...आगे पढ़ें

वृषभ


इस सप्ताह छोटी दूरी की यात्राओं की संभावना बनेगी। आप प्रत्येक कार्य को मेहनत से करना चाहेंगे...आगे पढ़ें

मिथुन 


इस सप्ताह कार्यक्षेत्र अथवा कुटुंब परिवार में किसी तरह की बहस बाजी से बचें अन्यथा आप परेशानी में फंस सकते हैं...आगे पढ़ें

पढ़ें: 26 अप्रैल 2018 को आने वाली मोहिनी एकादशी के व्रत का धार्मिक महत्व

कर्क


इस सप्ताह मानसिक तनाव बढ़ने से परेशानी हो सकती है इसलिए धैर्य से काम लें। आप विरोधियों पर हावी रहेंगे...आगे पढ़ें

सिंह


यह सप्ताह सिंह राशि के जातकों के लिए अच्छा रहने वाला है। मान-सम्मान में वृद्धि होगी...आगे पढ़ें

कन्या 


पारिवारिक जीवन में अशांति रह सकती है। माता के स्वास्थ्य को लेकर भी चिंतित रहेंगे। वाणी में प्रभाव बढ़ेगा...आगे पढ़ें


पढ़ें: 2 मई 2018 को शनि की राशि में मंगल का गोचर! आप पर क्या होगा असर

तुला 


इस सप्ताह कार्यक्षेत्र पर कुछ विरोधाभास का सामना करना पड़ सकता है, इसलिए थोड़ा संभल कर चलें...आगे पढ़ें

वृश्चिक 


इस सप्ताह वृश्चिक राशि के जातक तंदुरुस्ती पर ध्यान दें और नियमित रूप से योगाभ्यास करें...आगे पढ़ें

धनु 


इस सप्ताह आपको किसी पुरानी बीमारी से छुटकारा मिल सकता है। वहीं दूसरी ओर जरुरत से ज्यादा परेशान होने से आपके स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है...आगे पढ़ें

मन में है कोई सवाल, जो कर रहा है परेशान तो तुरंत पाएँ समाधान: प्रश्न पूछें

मकर 


इस सप्ताह विदेश जाने के इच्छुक लोगों की मनोकामना पूर्ण हो सकती है। वहीं जो लोग पहले से विदेश में बसे हैं...आगे पढ़ें

कुम्भ


इस सप्ताह बाहरी स्त्रोतों से धन लाभ के मार्ग खुलेंगे और कार्यक्षेत्र में तरक्की मिलेगी...आगे पढ़ें

मीन 


इस सप्ताह मानसिक क्षमता व योग्यता में वृद्धि होगी। कार्यस्थल पर कॉन्ट्रोवर्सी से बचने का प्रयास करें...आगे पढ़ें

डाउनलोड करें अपनी नि:शुल्क जन्म कुंडली
Read More »

शुक्र का वृषभ राशि में गोचर आज! जानें प्रभाव

इन 10 राशि वालों पर होगी विशेष कृपा! आज यानि 20 अप्रैल, शुक्रवार को शुक्र ग्रह वृषभ राशि में गोचर कर रहा है। इस लेख में पढ़ें शुक्र के इस गोचर का ज्योतिषीय प्रभाव।


कला, सौंदर्य, विवाह और सांसारिक सुखों का कारक कहा जाने वाला शुक्र ग्रह आज यानि 20 अप्रैल 2018, शुक्रवार को वृषभ राशि में गोचर कर रहा है। रात्रि 02:21 बजे शुक्र मेष राशि से निकलकर वृषभ में प्रवेश कर चुका है और 14 मई 2018 तक इसी राशि में संचरण करेगा। शुक्र के इस गोचर का प्रभाव सभी राशियों पर देखने को मिलेगा। इस दौरान आपके वैवाहिक और सांसारिक जीवन पर भी इसके सुखद और दुखद दोनों प्रभाव देखने को मिल सकते हैं।

आईये जानते हैं सभी राशियों पर शुक्र के इस गोचर का क्या प्रभाव होगा-

Click here to read in English

यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

मेष


शुक्र आपकी राशि से दूसरे भाव में गोचर करेगा। इस स्थिति में आप एक प्रभावी वक्ता के रूप में उभर सकते हैं...आगे पढ़ें

वृषभ


शुक्र ग्रह आपकी ही राशि में गोचर करेगा जो प्रथम भाव में स्थित होगा। इसके प्रभाव से आपको निजी जीवन में सुधार देखने को मिल सकता है...आगे पढ़ें

मिथुन


इस दौरान आपके खर्चों में वृद्धि देखने को मिल सकती है। क़ीमती वस्तु एवं सुविधाओं पर आपका धन अधिक ख़र्च होने की संभावना है...आगे पढ़ें

जानें अपनी राशि की विशेषता, स्वभाव और स्वास्थ्य: आपकी राशि

कर्क


इस परिस्थिति में आपकी आय में वृद्धि देखने को मिल सकती है। किसी महिला के द्वारा आपको मदद मिलेगी। प्रेम संबंध भी मधुर रहेंगे...आगे पढ़ें

सिंह


इस अवधि में कार्य क्षेत्र से आपको शुभ समाचार मिलने के संकेत हैं। आप अपना कार्य पूरी ईमानदारी के साथ करेंगे...आगे पढ़ें

कन्या


आप किसी लंबी दूरी की यात्रा पर जा सकते हैं और यह यात्रा आपके लिए लाभकारी सिद्ध होगी...आगे पढ़ें

संतान जन्म में आ रही परेशानियों को दूर करने के लिए पढ़ें: संतान प्राप्ति के उपाय



तुला


आपको अप्रत्याशित लाभ मिलने की संभावना है। हालांकि छोटी-मोटी स्वास्थ्य संबंधी परेशानी आपको हो सकती है...आगे पढ़ें

वृश्चिक


यह गोचर आपके लिए उत्तम होने के संकेत दे रहा है। ज्योतिषफल के अनुसार, गोचर के दौरान आपका वैवाहिक जीवन सुखद रह सकता है...आगे पढ़ें

धनु


इस दौरान आपको प्रेम जीवन में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। आप विरोधियों पर हावी रहेंगे...आगे पढ़ें

शादीशुदा जीवन में आ रही परेशानियों को दूर करने के लिए पाएँ: विवाह परामर्श

मकर


शुक्र आपकी आपकी राशि से चौथे भाव में गोचर करेगा। ऐसे में प्रेम जीवन में आपको आनंद आएगा...आगे पढ़ें

कुंभ


इस अवधि में आपके घर का वातावरण सामान्य रह सकता है। गोचर के दौरान आप नया घर अथवा नई कार ख़रीद सकते हैं...आगे पढ़ें

मीन


इस अवधि में आप अपनी संवाद शैली से लोगों को प्रभावित करेंगे। मीडिया, कला, ग्लैमर, अभिनय से जुड़े लोगों को गोचर का अधिक लाभ मिल सकता है...आगे पढ़ें

पढ़ें हर ग्रह की शांति के लिए विशेष ज्योतिषीय उपाय
Read More »

अक्षय तृतीया कल, जानें शुभ मुहूर्त

धन-समृद्धि के लिए करें ये 5 धार्मिक कर्म! कल यानि 18 अप्रैल 2018 को अक्षय तृतीया मनाई जाएगी। पढ़ें इस पावन तिथि का पौराणिक व ज्योतिषीय महत्व और इस दिन किये जाने वाले धार्मिक कर्म।


वैशाख माह में शुक्ल पक्ष की तृतीया को अक्षय तृतीया कहा जाता है। इसे आखातीज और वैशाख शुक्ल तृतीया के नाम से भी जाना जाता है। अक्षय तृतीया का हिन्दू धर्म में बड़ा महत्व है। मान्यता है कि सतयुग और त्रेता युग का प्रारंभ इसी तिथि से हुआ था। इसके अलावा इस दिन को भगवान परशुराम के जन्मोत्सव के रूप में भी मनाया जाता है। अक्षय तृतीया के अवसर पर जो भी कार्य किया जाता है उसका पुण्य फल कभी नष्ट नहीं होता है।

Click here to read in English


अक्षय तृतीया का पूजा मुहूर्त
प्रारंभसमापनअवधि
05:53:17 बजे12:20:51 बजे6 घंटे 27 मिनट


नोटः उपरोक्त समय नई दिल्ली के लिए है। जानें अपने शहर में अक्षय तृतीया का मुहूर्त एवं पूजा विधि


अक्षय तृतीया का महत्व


अक्षय तृतीया का दिन बहुत पवित्र माना गया है। इस दिन किया हुआ दान, स्नान, जप-तप और होम आदि का अक्षय फल मिलता है। यदि यह व्रत सोमवार और रोहिणी नक्षत्र में आए तो महाफलदायक माना जाता है। अक्षय तृतीया को सर्वसिद्ध मुहूर्त कहते हैं। अतः इस दिन बिना पंचांग देखे कोई भी शुभ कार्य जैसे- विवाह, गृह प्रवेश आदि किए जा सकते हैं। पुराणों में ऐसा वर्णन है कि अक्षय तृतीया के दिन पितरों को किया गया पिण्डदान अक्षय फल प्रदान करता है। स्वर्ण की ख़रीदारी के लिए भी इस दिन को अति शुभ माना जाता है।



अक्षय तृतीया पर किये जाने वाले पुण्य कर्म


  • इस दिन पितरों की आत्मा की शांति के लिए घड़ी, कलश, पंखा, छाता, चावल, दाल, नमक, घी, चीनी, साग, इमली, फल, वस्त्र, खड़ाऊ, सत्तू, ककड़ी, खरबूजा और दक्षिणा का किसी जरुतमंद या ब्राह्मण को दान करना चाहिए। 
  • भाग्योदय के लिए अक्षय तृतीया के दिन सोना, चांदी, मिट्टी के बरतन, वस्त्र, शंख, शक्कर, हल्दी, मोरपंख आदि खरीदना चाहिये।
  • गाय को अच्छे स्वास्थ्य एवं धन-संपदा का प्रतीक माना जाता है, इसलिए अक्षय तृतीया के दिन गाय की पूजा करनी चाहिए।
  • जीवन में धन, वैभव, सुख-संपदा को पाने के लिए इस दिन माँ लक्ष्मी जी की आराधना की जाती है।
  • अक्षय तृतीया पर भगवान बद्रीनारायण के कपाट खुलते हैं, इसलिए इस दिन भगवान को तुलसीदल चढ़ाकर, श्रद्धा व भक्तिपूर्वक पूजन करना चाहिए।
                        अक्षय तृतीया पर धन लाभ के लिए करें महालक्ष्मी यंत्र की स्थापना


पौराणिक कथाएँ


परशुराम जयंती

भगवान परशुराम जी का जन्म अक्षय तृतीया पर हुआ था। इसलिए अक्षय तृतीया के दिन परशुराम जयंती मनाई जाती है। परशुराम जी भगवान विष्णु के छठे अवतार के रूप में जाने जाते हैं। कहा जाता है कि प्रारंभ में परशुराम जी का नाम रामभद्र था परंतु असुरों के चंगुल से माताओं व देवियों को छुड़ाने एवं दुष्टों का संहार करने के लिए भगवान शिव ने उन्हें परशु नामक शस्त्र दिया था, जिसके कारण उनका नाम परशुराम पड़ा।

महाभारत काल

अक्षय तृतीया के पावन पर्व का वर्णन महाभारत में भी मिलता है। ऐसा कहा जाता है कि महाभारत जैसे विशाल पौराणिक ग्रंथ के लेखन की शुरुआत इसी पवित्र दिन से हुई थी। भगवान सूर्य ने अक्षय तृतीया के दिन ही पाण्डवों को अक्षय पात्र भेंट किया था।

ज्योतिषीय महत्व


वैदिक ज्योतिष के अनुसार एक वर्ष में साढ़े तीन अक्षय मुहूर्त आते हैं, उनमें से अक्षय तृतीया को सबसे उत्तम और शुभ माना गया है। यह तिथि वैसाख माह में पड़ती है। कहा जाता है कि इस दिन सूर्य एवं चंद्रमा का प्रकाश अपने चरम पर होता है, जो समस्त मंगल कार्यों के लिए बहुत शुभ समय होता है।

एस्ट्रोसेज की ओर से सभी पाठकों को अक्षय तृतीया की हार्दिक शुभकामनाएँ!
Read More »

शनि देव धनु राशि में कल होंगे वक्री, पढ़ें भविष्यफल

जानें हर राशि पर होने वाले प्रभाव और उपाय! शनि देव कल यानि 18 अप्रैल 2018 को धनु राशि में वक्री होंगे। इसका असर सभी राशियों पर देखने को मिलेगा।


कर्म और सेवा के कारक शनि देव 18 अप्रैल 2018, बुधवार सुबह 7:10 बजे धनु राशि में वक्री हो जाएंगे और 06 सितंबर 2018 गुरुवार शाम 05:02 बजे पुनः मार्गी होंगे। सामान्यतः शनि का वक्री होना शुभ नहीं माना जाता है लेकिन जरूरी नहीं है कि हर राशि पर इसका अशुभ प्रभाव देखने को मिले। क्योंकि वक्री शनि शुभ फल भी प्रदान करता है। आईये जानते हैं विभिन्न राशियों पर होने वाला इसका प्रभाव।


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

मेष


शनि के वक्री होने से मेष राशि के लोगों को नौकरी और व्यवसाय में सफलता अर्जित करने के लिए अधिक प्रयास करने होंगे...आगे पढ़ें

वृषभ


शनि के व्रकी होने से पिता और शिक्षा से संबंधित मामलों में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है...आगे पढ़ें

मिथुन


शनि के वक्री होने से कुछ परेशानियां उत्पन्न होंगी। इस दौरान भाग्य आपका साथ नहीं देगा...आगे पढ़ें

शनि की साढ़े साती से हैं परेशान तुरंत पाएँ समाधान: शनि साढ़ें साती ज्योतिषीय परामर्श

कर्क


शनि के वक्री होने से आपके वैवाहिक जीवन में कुछ समस्याएं उत्पन्न होने की संभावना है...आगे पढ़ें

सिंह


शनि के वक्री होने से इस अवधि में स्थान परविर्तन के योग बनने की संभावना है...आगे पढ़ें

कन्या


शनि के वक्री होने के दौरान सफलता प्राप्ति में बाधा आ सकती है। बनते-बनते आपके काम बिगड़ सकते हैं...आगे पढ़ें


पढ़ें अपनी राशि की विशेषता, स्वभाव और स्वास्थ्य: आपकी राशि

तुला


इस दौरान पारिवारिक सुख को बनाये रखने के लिए आपको कामकाज और गृहस्थ जीवन के बीच संतुलन बनाकर चलना होगा...आगे पढ़ें

वृश्चिक


शनि के वक्री होने की स्थिति में इस दौरान दोस्तों और सहयोगियों से मिलने वाली मदद में कमी आ सकती है...आगे पढ़ें

धनु


शनि के आपकी ही राशि में वक्री होने से आपको बेवजह की यात्राएं करनी पड़ सकती है...आगे पढ़ें

शनि ग्रह की शांति के लिए पढ़ें: विशेष ज्योतिषीय उपाय

मकर


शनि के वक्री होने पर मकर राशि के जातकों को अपनी वाणी पर नियंत्रण रखना होगा...आगे पढ़ें

कुंभ


शनि के वक्री होने की स्थिति में आपको पारिवारिक और आर्थिक मोर्चे पर परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है...आगे पढ़ें

मीन


शनि के वक्री होने की स्थिति में आपके खर्चों में बढ़ोत्तरी देखने को मिल सकती है, इसलिए इस दौरान फिजूलखर्ची पर नियंत्रण रखने की कोशिश करें...आगे पढ़ें

पढ़ें 20 अप्रैल 2018 को शुक्र के वृषभ राशि में होने वाले गोचर का ज्योतिषीय प्रभाव
Read More »

साप्ताहिक राशिफल ( 16 से 22 अप्रैल 2018)

इन 6 राशि वालों के लिए ‘सौगातों का सप्ताह’! पढ़ें साप्ताहिक राशिफल और जानें क्या कहते हैं आपके सितारे? नौकरी, व्यवसाय, शिक्षा और विवाह आदि के लिए कैसा रहेगा यह सप्ताह!


अप्रैल के तीसरे हफ्ते की शुरुआत हो चुकी है। ग्रह और नक्षत्रों की चाल के अनुसार 16 से 22 अप्रैल की यह अवधि में 6 राशि वालों के लिए कई सौगातें लेकर आ सकती है। क्योंकि इस दौरान ग्रहों के प्रभाव से इन 6 राशि वालों को घर, गाड़ी, विदेश यात्रा और धन लाभ अर्जित करने का मौका मिलेगा। इस सप्ताह दो नामी शख्सियत के जन्मदिन भी हैं। इनमें पहले हैं रिलायंस इंडस्ट्री के मालिक मुकेश अंबानी जिनके नेतृत्व में रिलायंस ग्रुप लगातार तरक्की कर रहा है। वहीं दूसरी शख्सियत हैं बॉलीवुड एक्टर मनोज वाजपेयी जो कि अपने संजीदा अभिनय के लिए मशहूर हैं। देश की इन दोनों शख्सियत को जन्मदिन की शुभकामनाएँ!

आईये अब जानते हैं इस सप्ताह का राशिफल:-


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

मेष


इस सप्ताह आप मानसिक रूप से दृढ़ रहेंगे। अहंकार का त्याग करें, पिता को स्वास्थ्य संबंधी कष्ट हो सकता है...आगे पढ़ें

वृषभ


इस सप्ताह विदेश यात्रा की संभावना बन रही है। स्वास्थ्य संबंधित कुछ परेशानियां हो सकती हैं...आगे पढ़ें

मिथुन


इस सप्ताह मिथुन राशि वाले जातकों की आमदनी में वृद्धि और धन लाभ के योग बन रहे हैं...आगे पढ़ें


जानें वर्ष 2018 में किन राशियों पर होगी गुरु की कृपा, पढ़ें: गुरु गोचर

कर्क


कार्य क्षेत्र में अधिकारों में वृद्धि होगी महिलाओं के प्रति सम्मानजनक व्यवहार करना आपके लिए अच्छा रहेगा...आगे पढ़ें

सिंह


लंबी दूरी की यात्रा के योग बनेंगे। आप धार्मिक कार्यों में सम्मिलित होंगे। कार्यक्षेत्र में ट्रांसफर के साथ पदोन्नति की संभावना है...आगे पढ़ें

कन्या


इस सप्ताह कन्या राशि के जातकों को शारीरिक समस्या का सामना करना पड़ सकता है...आगे पढ़ें


जानें: 20 अप्रैल को शुक्र के वृषभ राशि में होने वाले गोचर का सभी राशियों पर प्रभाव

तुला


इस सप्ताह तुला राशि के जातकों की निर्णय लेने की क्षमता में वृद्धि होगी। कार्य क्षेत्र में व्यस्तता के कारण आप पारिवारिक सुख से वंचित रह सकते हैं...आगे पढ़ें

वृश्चिक


इस सप्ताह खर्चों में वृद्धि होने की संभावना है। हालांकि कोर्ट-कचहरी के कार्यों में आपको जीत मिलेगी...आगे पढ़ें

धनु


इस सप्ताह विचारों को लेकर दूसरों के साथ विरोधाभास बना रहेगा। मन में व्याकुलता बढ़ेगी...आगे पढ़ें

मकर


इस सप्ताह सुदूर यात्रा पर जाने के योग बन रहे हैं। सामान्य रूप से स्वास्थ्य थोड़ा कमजोर रह सकता है...आगे पढ़ें

ऑनलाइन सॉफ्टवेयर से मुफ्त जन्म कुंडली प्राप्त करें

कुंभ


इस सप्ताह आपकी आमदनी बढ़ेगी और आपके साहस व पराक्रम में भी वृद्धि होगी...आगे पढ़ें

मीन


इस अवधि में धन संचय के योग बनेंगे। वहीं कार्य क्षेत्र में विवाद की स्थिति बन सकती है...आगे पढ़ें


Read More »

सूर्य का मेष में गोचर आज, आप पर क्या होगा असर?

आय में वृद्धि और सरकारी नौकरी के योग! पढ़ें सूर्य के मेष राशि में गोचर क्या आपके जीवन पर क्या प्रभाव पड़ेगा। क्या बदल जाएगी आपकी किस्मत!


नवग्रहों का स्वामी सूर्य आज 14 अप्रैल 2018 से मेष राशि में गोचर कर रहा है। सुबह 8:28 बजे सूर्य मेष राशि में प्रवेश कर चुका है और 15 मई तक इसी राशि में स्थित रहेगा। सूर्य की चाल में हुए परिवर्तन का असर सभी राशियों पर देखने को मिलेगा। चूंकि सूर्य सरकारी सेवा और सम्मान का कारक माना जाता है, इसलिए इस दौरान सभी 12 राशियों के जातकों को अपने जीवन में कई परिवर्तन देखने को मिलेंगे। इसके साथ ही आज पंजाब और हरियाणा समेत देश-दुनिया के कई हिस्सों में बैसाखी का पर्व भी मनाया जा रहा है।

आईये जानते सभी 12 राशियों पर सूर्य के इस गोचर का होने वाला प्रभाव-


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

मेष


इस दौरान आपको सरकारी कामकाज में लाभ मिलने की प्रबल संभावना दिखाई दे रही है...आगे पढ़ें

वृषभ


आपके विदेश यात्रा पर जाने के योग हैं, हालाँकि जो जातक पहले ही विदेश में हैं उनके करियर की गाड़ी में गति देखने को मिलेगी...आगे पढ़ें

मिथुन


इस दौरान आपकी आमदनी में वृद्धि होने की संभावना है। इसके साथ ही समाज में आपकी ख़्याति बढ़ेगी...आगे पढ़ें

साल 2018 में कैसी होगी आपकी आर्थिक स्थिति, प्राप्त करें: आर्थिक रिपोर्ट 2018

कर्क


सूर्य आपकी राशि से दसवें भाव में जाएगा। जिसके परिणाम स्वरूप आपको इसके अनुकूल परिणाम मिलेंगे। कार्य क्षेत्र में आपका कद बढ़ सकता है...आगे पढ़ें

सिंह


समाज में आपका सम्मान बढ़ेगा। किस्मत का साथ मिलने के कारण परिस्थितियाँ आपके अनुकूल हो जाएंगी...आगे पढ़ें

कन्या


शारीरिक समस्याएँ हो सकती हैं। बुखार, सिर दर्द के अलावा अन्य बीमारियाँ का सामना करना पड़ सकता है...आगे पढ़ें


सूर्य से शुभ फल प्राप्त करने के लिए धारण करें: माणिक्य रत्न

तुला


इस दौरान आपकी सामाजिक प्रतिष्ठा बढ़ेगी। जीवन साथी की मदद से भी आपको आर्थिक लाभ संभव है...आगे पढ़ें

वृश्चिक


स्वभाव में साहस की वृद्धि होगी और आप किसी भी चुनौती को सहर्ष स्वीकार करने से पीछे नहीं हटेंगे...आगे पढ़ें

धनु


आपकी आय में वृद्धि होगी। बच्चे पढ़ाई में बेहतर प्रदर्शन करेंगे। प्रेम संबंध में आपका अहंकार दखल दे सकता है...आगे पढ़ें

सूर्य ग्रह से संबंधित दोषों को दूर करने के लिए करें: सूर्य की शांति के उपाय

मकर


आप अपने परिजनों के ऊपर हावी होने का प्रयास कर सकते हैं, जिससे आपका पारिवारिक माहौल बिगड़ सकता है...आगे पढ़ें

कुंभ


इस गोचर के प्रभाव से आप ऊर्जावान रहेंगे। जीवन साथी की मदद से आपको आर्थिक लाभ मिल सकता है...आगे पढ़ें

मीन


इस दौरान आपकी भाषा में कड़वापन रह सकता है, जिससे कुछ लोग आपसे नाराज़ अथवा दुःखी हो सकते हैं...आगे पढ़ें

मुफ्त में करे वैवाहिक कुंडली का मिलान
Read More »

कल मनाया जाएगा बैसाखी का त्यौहार

ज्योतिषीय महत्व जानकर हैरान हो जाएंगे आप! कल यानि 14 अप्रैल 2018 को बैसाखी का पर्व धूमधाम से मनाया जाएगा। आईये लेख के माध्यम से जानते हैं इस त्यौहार का सांस्कृतिक, धार्मिक और ज्योतिषीय महत्व।


भारत सांस्कृतिक विविधताओं से परिपूर्ण एक देश है। यहां हर साल कई पर्व और त्यौहार मनाये जाते हैं। इन्ही पर्वों मे से एक है ‘बैसाखी’ का त्यौहार। यह पर्व विशेष रूप से पंजाब और हरियाणा में किसानों द्वारा मनाया जाता है। हालांकि अब इसकी लोकप्रियता ने देशभर में देखने को मिलती है और सिख समुदाय के लोग इस पर्व को धूमधाम से मनाते हैं। पूरे पंजाब में घरों से पकवानों की खुशबू के साथ-साथ रंग बिरंगी पोशाकों में सजे युवक-युवतियाँ भंगड़ा-गिद्दा करते हुए नजर आते हैं। बैसाखी का पर्व किसान रबी की फसल पकने की खुशी के रूप मे मनाते हैं, इसलिए इसे खेती का त्यौहार भी कहा जाता है। वहीं केरल में इस पर्व को “विशु’ के रूप में नये वर्ष की शुरुआत के तौर पर मनाते हैं।

बैसाखी पर होने वाले आयोजन


  • पंजाब और हरियाणा समेत देश-विदेश के कई हिस्सों में बैसाखी का पर्व धूमधाम से मनाया जाता है। 
  • इस दिन गेहूं, तिलहन और गन्ने की फसल काटने की शुरुआत होती है। लोग मंदिर और गुरुद्वारे मे जाकर भगवान का धन्यवाद करते हैं।
  • बैसाखी के मौके पर कई जगहों पर धार्मिक कार्यक्रम और मेलों का आयोजन होता है।
  • स्वर्ण मंदिर, जिसे श्री हरमंदिर साहिब के रूप में भी जाना जाता है, सिख समुदाय के लिए सबसे पवित्र स्थान माना जाता है। दुनियाभर से सिख समुदाय के लोग यहां आयोजित भव्य दिव्य समारोह में भाग लेने के लिए स्वर्ण मंदिर की यात्रा करते हैं।
  • बैसाखी पर आयोजित होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रमों में युवक-युवतियां भांगड़ा और गिद्दा जैसे लोकनृत्य करते हैं।


बैसाखी का धार्मिक और ज्योतिषीय महत्व


बैसाखी के पर्व का सामाजिक-सांस्कृतिक महत्व होने के साथ-साथ धार्मिक महत्व भी है। आईये जानते हैं इस पर्व से जुड़ी धार्मिक मान्यताएँ-

खालसा पंथ की स्थापना- सिख समुदाय के लिए बैसाखी के त्यौहार का बड़ा महत्व है। क्योंकि इस दिन सिखों के दसवें गुरु, गुरु गोबिंद सिंह जी ने आनंदपुर साहिब में खालसा पंथ की स्थापना की थी। खालसा का अर्थ है शुद्ध, पावन या पवित्र। खालसा पंथ की स्थापना का उद्देश्य लोगों को मुगल शासकों के अत्याचारों से मुक्त कराना था।

बैसाखी का ज्योतिषीय महत्व- हिन्दू ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बैसाखी का त्यौहार मंगलकारी होता है। इस दिन विशाखा नक्षत्र के आकाश में होने से बैशाख महीने की शुरुआत होती है। वहीं सूर्य इस दिन मेष राशि में प्रवेश करता है। ज्योतिष विद्वानों के अनुसार इस ज्योतिषीय घटनाक्रम का मानव जीवन पर प्रभाव देखने को मिलता है। हिन्दू कैलेंडर में इस दिन को सौर नववर्ष भी कहा जाता है। वहीं पौराणिक मान्यता के अनुसार बैसाखी के दिन ही गंगा जी स्वर्ग से पृथ्वी पर आई थीं, इसलिए हिंदू धर्म के लोग इस दिन गंगा स्नान करने को पवित्र मानते हैं व देवी गंगा की स्तुति करते हैं।

“विशु” यानि मलयालम नववर्ष


विशु केरल का प्रसिद्ध उत्सव है। यह पर्व आज मलयालम नववर्ष के शुभारंभ होने पर मनाया जा रहा है। केरल में विशु उत्सव के दिन धान की बुआई का काम शुरू होता है। इस दिन को यहाँ "मलयाली न्यू ईयर विशु" के नाम से पुकारा जाता है। 

विशु पर्व पर कई धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं। विशु के पहले उत्तरी केरल के मन्दिरों में 'ब्रैटम' का आयोजन होता है। ब्रैटम एक तरह से पुरुषों के द्वारा अपने इष्टदेव को रिझाने के लिए प्रार्थना है। इस त्योहार पर परिवार के छोटे बच्चों को कुछ नगद धन देने की भी परम्परा है। इसे "विशु कैनीतम" कहा जाता है। मान्यता है कि यह कार्य भविष्य में उनके बच्चों की समृद्धि को सुनिश्चित करता है।


एस्ट्रोसेज की ओर से सभी पाठकों को बैसाखी और विशु पर्व की शुभकामनाएँ!

Read More »

साप्ताहिक राशिफल ( 9 से 15 अप्रैल 2018)

इस सप्ताह 3 राशि वालों को मिलेगी बड़ी सौगात! पढ़ें 9 अप्रैल से 15 अप्रैल 2018 का साप्ताहिक राशिफल और जानें इस हफ्ते क्या कहते हैं आपके सितारे?


अप्रैल महीने के दूसरे सप्ताह का आगाज हो चुका है। यह सप्ताह भी आशा और उम्मीदों से भरा है। यह सप्ताह सिख समुदाय के लोगों के लिए बेहद खास रहने वाला है। क्योंकि 14 अप्रैल को बैसाखी का पर्व मनाया जाएगा। सिख समुदाय यह पर्व नये वर्ष की शुरुआत के रूप में मनाता है। 14 अप्रैल के दिन ही भारत रत्न से सम्मानित बाबा साहेब डॉ भीमराव अंबेडकर की जयंती भी है। भारत के संविधान निर्माता डॉ भीमराव अंबेडकर ने गरीबों और असहाय वर्ग के लोगों के उत्थान के लिए अनेक प्रयास किये। 

इसके अलावा 7 अप्रैल से शुरू हुए IPL 2018 का रोमांच बरकरार है। इस सप्ताह भी आईपीएल सीजन 11 में कई बेहतरीन मैच खेले जाएंगे। ज्योतिषीय कवरेज और हर मैच की भविष्यवाणी आप एस्ट्रोसेज पर पा सकते हैं। 

आईये अब जानते हैं इस सप्ताह का राशिफल:-


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

मेष


कार्यक्षेत्र में उतार-चढ़ाव आने की संभावना है। पिताजी की सेहत को लेकर आप थोड़े चिंतित रह सकते हैं...आगे पढ़ें

वृषभ


इस सप्ताह आपके लिए यात्रा का योग बन रहा है। पारिवारिक जीवन सामंजस्यपूर्ण रहेगा...आगे पढ़ें

मिथुन


आपका कार्यक्षेत्र पर पूरा ध्यान होगा। परंतु किसी विवाद को तूल न दें अन्यथा परेशानी का सामना करना पड़ सकता है...आगे पढ़ें

कर्क


मन में कई तरह के विचार आएंगे जो आपको भ्रमित कर सकते हैं। बड़े निर्णय अभी थोड़े समय के लिए टाल दें...आगे पढ़ें

सिंह


किसी बात को लेकर मानसिक चिंता बढ़ सकती है। कंपीटीटिव एग्जाम में सफलता मिलेगी...आगे पढ़ें

कन्या


व्यवसाय में साझेदारी से लाभ होगा। आमदनी के स्रोत बढ़ेंगे जिससे आपको धन लाभ होगा...आगे पढ़ें



पढ़ें: वर्ष 2018 में शनि के गोचर का आपके जीवन पर होने वाला असर

तुला


आपके विचारों और निर्णय में गंभीरता आएगी और उसका प्रभाव आपके जीवन पर सकारात्मक रूप से पड़ेगा...आगे पढ़ें

वृश्चिक


अपनी वाणी में कड़वाहट न लाएँ और मिजाज में भी नरमी रखें, तभी आप जीवन का आनंद उठा पाएंगे...आगे पढ़ें

धनु


वाहन सावधानी पूर्वक चलाएँ। संभव हो तो पब्लिक ट्रांसपोर्ट का प्रयोग करें। अपने गुस्से पर कंट्रोल रखें...आगे पढ़ें


मकर


किसी बात को लेकर मन में व्याकुलता रह सकती है। आप निर्णय लेने में थोड़े असमर्थ दिखाई दे सकते हैं...आगे पढ़ें

कुंभ


अच्छे प्रयासों के कारण आमदनी में वृद्धि होगी। पूर्व में किए गए कार्यों का अच्छा परिणाम मिलेगा...आगे पढ़ें

मीन


किसी बात को लेकर मन में चिंतित रह सकता है। कार्यक्षेत्र में अच्छी आमदनी होगी...आगे पढ़ें


रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिष समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन 


Read More »

पाएँ एस्ट्रोसेज पर IPL 2018 की सबसे सटीक भविष्यवाणियाँ

IPL 2018 की सबसे बड़ी ज्योतिषीय कवरेज! आज से आईपीएल 2018 की शुरुआत होने जा रही है। इसी कड़ी में एस्ट्रोसेज क्रिकेट प्रेमियों के लिए लेकर आया है IPL सीज़न 11 की सबसे बड़ी और विशाल ज्योतिषीय कवरेज।


IPL 2018 से जुड़े सभी मैचों की भविष्यवाणियों के नोटिफिकेशन मोबाइल पर प्राप्त करें…


इंडियन प्रीमियर लीग 2018 आज से शुरू होने जा रहा है। मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में आज शाम 6 बजे ओपनिंग सेरेमनी के साथ IPL सीज़न 11 की रंगारंग शुरुआत होगी। जिसमें बॉलीवुड से लेकर क्रिकेट जगत के कई सितारे मौजूद रहेंगे। 

क्रिकेट के इस महाकुंभ को और भी रोमांचक बनाने के लिए एस्ट्रोसेज लाया है IPL 2018 पर सबसे बड़ी ज्योतिषीय कवरेज। इसमें आपको मिलेगी IPL के हर मैच से जुड़ी भविष्यवाणियाँ।

जानें: आज मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच होने वाले मुकाबले की भविष्यवाणी

ये सभी भविष्यवाणियाँ स्वर विज्ञान, सर्वतोभद्र चक्र, नक्षत्र विज्ञान और प्रश्न ज्योतिष पर आधारित हैं। ये सभी ज्योतिष विज्ञान की उन्नत विधाएँ हैं, जो बेहद सटीक और प्रभावी हैं। इन विधाओं का प्रयोग हम श्रीलंका, बांग्लादेश और भारत के बीच हुई निदहास ट्रॉफी 2018 में कर चुके हैं, जो कि बेहद सटीक और प्रभावी साबित हुईं है।

निदहास ट्रॉफी 2018 में बांग्लादेश की टीम के प्रदर्शन को लेकर की गई हमारी कई भविष्यवाणियां एकदम सच साबित हुईं। 16 मार्च को हुए मैच में बांग्लादेश ने श्रीलंका को पछाड़कर फाइनल में जगह बनाई थी।

वैदिक ज्योतिष के स्वर विज्ञान, नक्षत्र और सर्वतोभद्र चक्र की इन्हीं विधाओं के साथ हम लेकर आए हैं IPL 2018 के मैचों से जुड़ी भविष्यवाणियाँ, जिनके बेहद सटीक और सच साबित होने की संभावना है। एस्ट्रोसेज IPL 2018 पर पढ़ें सभी मैचों की भविष्यवाणियाँ विस्तार से।

IPL 2018 से जुड़े सभी मैचों की भविष्यवाणी के नोटिफिकेशन आप अपने मोबाइल पर भी प्राप्त कर सकते हैं।


डिस्क्लेमर: हम यह स्पष्ट करते हैं कि इस वेबसाइट में प्रयोग किए गए आईपीएल टीम्स के लोगो (शुभंकर) तथा सभी टीमों के नाम आदि आईपीएल की निजी संपत्ति है। मैच के संबंध में दी जा रही यह भविष्यवाणी अकादमिक, शोध और पत्रकारिता के उद्देश्य से की गई है। इसके जरिये हम किसी भी तरह के गैरकानूनी कार्य जैसे- सट्टा और मैच फिक्सिंग को बढ़ावा नहीं देते हैं। कृपया इस तरह के गलत कार्यों से बचने की कोशिश करें।

Read More »

नयी एस्ट्रोसेज कुंडली ऍप में अब हिन्दू कैलेंडर, त्यौहार, व्रत और बहुत कुछ

अब पाएँ हिन्दू पंचांग, कैलेंडर, वार्षिक त्यौहार, व्रत और अमांत-पूर्णिमांत माह की जानकारी। इन नये फीचर्स के साथ और बेहतर हुई एस्ट्रोसेज कुंडली ऍप की सेवाएँ।


Click here to read in English

देश का नंबर #1 कुंडली सॉफ्टवेयर, एस्ट्रोसेज कुंडली ऍप लगातार अपनी सेवाओं को विस्तार दे रहा है। इसी कड़ी में एक बार फिर यूजर्स की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए, एस्ट्रोसेज कुंडली में नये फीचर्स शामिल किये गये हैं।

  • हिन्दू मासिक पंचांग
  • हिन्दू कैलेंडर
  • वार्षिक त्यौहार
  • वार्षिक व्रत 
  • अमांत-पूर्णिमांत माह की जानकारी
  • आने वाले लगभग 80 साल का कैलेंडर



एस्ट्रोसेज कुंडली ऍप के इन नये फीचर्स में आपको मिलेगी वार, तिथि, पंचांग, हिन्दू माह, साल भर में मनाये जाने वाले विभिन्न व्रत, त्यौहार, अमांत-पूर्णिमांत माह और लगभग आने वाले 80 साल के कैलेंडर की जानकारी। इस सुविधा की मदद से आप जान सकते हैं प्रदोष, पूर्णिमा, अमावस्या, एकादशी आदि प्रमुख व्रत की तिथि और तारीख। हिन्दू कैलेंडर के माध्यम से संक्रांति, नवरात्रि, होली, रक्षाबंधन और दिवाली जैसे प्रमुख त्यौहारों की जानकारी। खास बात है कि आप इन व्रत, त्यौहार और तिथि की जानकारी के लिए रिमांइडर कॉल भी लगा सकते हैं। इसके लिए आपको व्रत और त्यौहार वाले सेक्शन में जाकर किसी भी व्रत या पर्व को कैलेंडर में जोड़ना होगा। यदि आप एकादशी, पूर्णिमा या किसी अन्य त्यौहार पर व्रत रखना चाहते हैं, तो इसकी सूचना आपको रिमांइडर के माध्यम से पहले मिल जाएगी। इसके अलावा एस्ट्रोसेज कुंडली ऍप पर पहले से मौजूद है होरा, चौघाड़िया, राहु काल, दो घटी मुहूर्त आदि सेवाओं का उठाएं लाभ।

एस्ट्रोसेज कुंडली ऍप ने हमेशा अपने यूजर्स की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए अपनी सेवाओं को सरल, सुलभ और विश्वसनीय बनाये रखने का प्रयास किया है। चूंकि यह सूचना प्रौद्योगिकी और तकनीक का जमाना है, इसलिए इस दिशा में कार्य करते हुए हम अपने ऍप में नई तकनीकों का प्रयोग कर रहे हैं। फिलहाल एस्ट्रोसेज कुंडली ऍप का एडवांस वर्जन 11.1 गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है।


एस्ट्रोसेज कुंडली ऍप की सेवाओं को और भी बेहतर बनाने के लिए अगर आपके पास कोई सुझाव है तो हमसे अवश्य साझा करें। यदि हमारी सेवाओं को लेकर कोई शिकायत है तो हमें जरूर लिखें।
Read More »

साप्ताहिक राशिफल ( 2 से 8 अप्रैल 2018)

8 अप्रैल तक इन 8 राशि वालों को होगा “लाभ ही लाभ”! पढ़ें साप्ताहिक राशिफल और जानें इस सप्ताह क्या कहते हैं आपके सितारे।



अप्रैल महीने का पहला सप्ताह कई मायनों में खास रहने वाला है, खासतौर पर दुनियाभर के क्रिकेट प्रेमियों के लिए। क्योंकि 7 अप्रैल से IPL 2018 की रंगारंग शुरुआत होने जा रही है। आईपीएल सीज़न 11 से जुड़ी ज्योतिषीय कवरेज और हर मैच की भविष्यवाणी आप एस्ट्रोसेज पर पा सकते हैं। वहीं इस हफ्ते फिल्म जगत के दो दिग्गज कलाकारों का जन्मदिन भी है। अपने संजीदा अभिनय के लिए फिल्म इंडस्ट्री में एक खास मुकाम बना चुके अजय देवगन 2 अप्रैल को अपना 49वां जन्मदिन मना रहे हैं। वहीं एक्टिंग और डायरेक्शन में अपना जौहर दिखा चुके प्रभुदेवा 3 अप्रैल को अपना 45वां बर्थ डे मनाएंगे। ये दोनों ही कलाकार भविष्य में अच्छा करें ऐसी हमारी कामना है।

आईये अब जानते हैं इस सप्ताह का राशिफल:-

यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

मेष 


इस सप्ताह आपके मन में प्रसन्नता का भाव रहेगा और कार्य में मन लगेगा। अच्छे निर्णय आपके लिए सफलता का मार्ग प्रशस्त करेंगे...आगे पढ़ें

वृषभ 


इस सप्ताह आपको प्रतियोगी परीक्षा में सफलता मिलेगी। आय में वृद्धि होगी परंतु ख़र्चों में भी बढ़ोत्तरी संभव है...आगे पढ़ें

मिथुन 


इस सप्ताह अपने स्वास्थ्य पर ध्यान दें। कार्य क्षेत्र में मन लगेगा, जिसके कारण शारीरिक थकान भी संभव है...आगे पढ़ें


कर्क 


इस सप्ताह पारिवारिक जीवन सुखी रहेगा। किसी आवश्यक कार्य हेतु खर्च बढ़ सकता है...आगे पढ़ें

सिंह


इस सप्ताह धार्मिक क्रियाकलापों में वृद्धि की संभावना है। परिवार में छोटे भाई-बहनों को किसी प्रकार का लाभ मिलेगा...आगे पढ़ें

कन्या 


इस सप्ताह मन किसी बात को लेकर थोड़ा दुःखी रह सकता है। पारिवारिक जीवन में तनाव होने की संभावना है...आगे पढ़ें


तुला 


आप अपने ज्ञान के बल पर अच्छे निर्णय लेंगे। कार्यक्षेत्र में तरक्की पाने के लिए शॉर्टकट का रास्ता अपना सकते हैं...आगे पढ़ें

वृश्चिक 


इस सप्ताह आपको अपनी वाणी पर पूर्ण रुप से नियंत्रण रखना होगा अन्यथा वाणी में कटुता लड़ाई-झगड़े का कारण बन सकती है...आगे पढ़ें

धनु


मन में एक प्रकार की बेचैनी रह सकती है। किसी स्वास्थ्य परेशानी से भी सामना हो सकता है। ध्यान रखें...आगे पढ़ें

बुरी नज़र से बचने के लिए घर-दफ्तर में लगाएँ: काले घोड़े की नाल

मकर 


अपनी सेहत पर ध्यान दें और किसी से व्यर्थ के विवाद में ना उलझे अन्यथा कोर्ट कचहरी के चक्कर काटने पड़ सकते हैं...आगे पढ़ें

कुम्भ 


यह सप्ताह आपके लिए अच्छा बीतेगा। आमदनी में वृद्धि की प्रबल संभावना है। कोई पुरानी डील फाइनल होने से धन की प्राप्ति होगी...आगे पढ़ें

मीन 


अपने ज्ञान के बल पर आप आगे बढ़ेंगे। आध्यात्मिक तथा रहस्यमयी चीजों में आपकी रुचि बढ़ेगी...आगे पढ़ें
Read More »

अप्रैल 2018 मासिक राशिफल

इस महीने क्या कहते हैं आपके सितारे! पढ़ें अप्रैल माह का मासिक राशिफल और जानें नौकरी, व्यापार, शिक्षा, वैवाहिक जीवन आदि के लिए कैसा रहेगा यह माह।



अप्रैल माह दस्तक दे चुका है। ज्योतिषीय दृष्टिकोण से यह महीना बेहद अहम रहने वाला है। इस माह 14 अप्रैल को सूर्य देव मेष राशि में गोचर करेंगे। वहीं 18 अप्रैल को सूर्य पुत्र शनि देव धनु राशि में वक्री होंगे। सूर्य व शनि की स्थिति में बदलाव का असर सभी राशियों के साथ-साथ अर्थव्यवस्था और व्यापार पर भी होगा। सूर्य और शनि के प्रभाव से घी, तेल, रुई, शक्कर, सोना-चांदी आदि में तेजी आने के योग बनेंगे। वहीं 18 अप्रैल को अक्षय तृतीया होने से दान, यज्ञ, जप और स्नान का विशेष महत्व होगा।

अब पढ़ें अप्रैल माह का मासिक राशिफल:-

यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

मेष


इस माह में यश सम्मान प्राप्त होने की संभावना है तथा किसी कार्य को पूरा करने का प्रयत्न कर रहे हैं तो इस माह में वह कार्य सफल हो सकता है...आगे पढ़ें

वृषभ


​इस​ ​माह​ ​में​ ​कार्य​ ​क्षेत्र​ ​से​ ​संबंधित​ ​​सफलता​ ​प्राप्त​ ​हो​ ​सकती​ ​है​ ​तथा​ ​आप धन-संपत्ति एकत्रित​ ​करने​ ​में​ ​सक्षम​ ​हो​ ​सकते​ ​हैं​​...आगे पढ़ें

मिथुन


धन अचल संपत्ति का योग अच्छा बन रहा है परंतु धन प्राप्ति में विलंब तथा बाधा उत्पन्न हो सकती है। क्योंकि राहु कर्क राशि में संचरण कर रहा है...आगे पढ़ें


कर्क


आपके व्यवसाय में वृद्धि होने की संभावना है तथा व्यवसाय में विस्तार हो सकता है। यदि आप नौकरी करते हैं तो धन प्राप्ति के योग बनते हैं...आगे पढ़ें

सिंह


यदि आप किसी उच्च पद प्राप्ति के लिए प्रयास कर रहे हैं तो इस माह आपको सफलता प्राप्त होने की संभावना बन रही है...आगे पढ़ें

कन्या


इस माह में कार्यक्षेत्र में स्थितियां बेहतर हो सकती हैं। हालांकि पद प्रतिष्ठा प्राप्त होने में विलंब हो सकता है...आगे पढ़ें


तुला


यह माह में आपके करियर के लिए अच्छा रहने की संभावना है, साथ ही कामकाज की दृष्टि से बेहतर लाभ प्राप्त हो सकता है...आगे पढ़ें

वृश्चिक


धन अचल संपत्ति के लिहाज से स्थिति बेहतर हो सकती हैं। आपके द्वारा किया गया प्रयास सफल होने की संभावना है...आगे पढ़ें

धनु


धन लाभ के अच्छे अवसर प्राप्त हो सकते हैं। कठिन परिश्रम से आपको कामयाबी मिल सकती है...आगे पढ़ें

घर बैठे निःशुल्क सीखें: ज्योतिष विद्या 

मकर


आपके कारोबार में उतार-चढ़ाव होने की संभावना है। धन आगमन के साधनों में वृद्धि और परिवार में धार्मिक कार्यों पर खर्च होने की संभावना है...आगे पढ़ें

कुंभ


इस माह शुभ कार्यों पर धन खर्च करना पड़ सकता है तथा अकस्मात धन का अपव्यय हो सकता है। इसलिए सोच समझकर धन खर्च करें...आगे पढ़ें

मीन


आपका मन विचलित ज्यादा रह सकता है। किसी कार्य को लेकर निर्णय लेने में समस्या उत्पन्न हो सकती है...आगे पढ़ें


Read More »

हनुमान जन्मोत्सव आज, जानें पूजा विधि-मुहूर्त

पढ़ें हनुमान जी को प्रसन्न करने के महाउपाय! आज 31 मार्च 2018 को चैत्र शुक्ल पूर्णिमा पर हनुमान जन्मोत्सव मनाई जा रहा है। इस लेख में पढ़ें महावीर हनुमान की पूजा विधि और नियम।



हनुमान जी की आराधना के लिए आज का दिन बेहद शुभ है। क्योंकि आज पवन पुत्र हनुमान जी का जन्मोत्सव है। राम भक्त हनुमान भगवान शिव के रुद्र अवतार हैं। इनकी कृपा मात्र से भक्तों के समस्त दुःख-दर्द पलभर में दूर हो जाते हैं। विशेषकर उत्तर भारत में हनुमान जन्मोत्सव हर वर्ष चैत्र मास में शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को मनाया है। वहीं दक्षिण भारत में हनुमान जन्मोत्सव कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मनाया जाता है। पौराणिक ग्रंथों में भी दोनों तिथियों का उल्लेख मिलता है लेकिन एक तिथि को जन्मदिवस के रुप में तो दूसरी को विजय अभिनन्दन महोत्सव के रुप में मनाया जाता है।

चैत्र शुक्ल पूर्णिमा तिथि का समय



पूर्णिमा तिथि प्रारंभपूर्णिमा तिथि समापन
30 मार्च 2018 को 19:36:3831 मार्च 2018 को 18:08:29

नोट: उपरोक्त समय नई दिल्ली के लिए प्रभावी है। जानें अपने शहर में पूर्णिमा तिथि का समय: हनुमान जन्मोत्सव 2018

महावीर हनुमान की भक्ति से जीवन में सुख और समृद्धि आती है व समस्त दुःखों का नाश होता है। हनुमान जी की पूजा के कुछ विशेष नियम होते हैं, जिनका पालन अवश्य करना चाहिए।

  • हनुमान जन्मोत्सव के दिन बजरंग बली को चोला अवश्य चढ़ाएं और हनुमान चालीसा का पाठ करें। 
  • यदि आप हनुमान जन्मोत्सव पर व्रत रखते हैं तो इस दिन नमक का सेवन न करें। 
  • इस दिन हनुमान जी का स्मरण करें और ब्रह्मचार्य व्रत का पालन करें। 
  • हनुमान जी की पूजा में काले रंग के कपड़े नहीं पहनने चाहिए। बल्कि लाल रंग या पीले रंग के कपड़े पहनकर करनी चाहिए। 


इस वर्ष हनुमान जन्मोत्सव पर विशेष ज्योतिषीय संयोग भी बन रहा है। क्योंकि शनि और मंगल दोनों धनु राशि में स्थित हैं। इस वजह से शनि और मंगल का खास द्विग्रही योग भी बना है और इसी दिन चन्द्रमा का हस्त नक्षत्र भी है। ऐसे में यह ज्योतिषीय योग कल्याणकारी सिद्ध हो सकता है।

मंगल और शनि के बुरे प्रभाव से बचने के लिए स्थापित करें: हनुमान यंत्र

अब जानें अपनी राशि के अनुसार हनुमान जन्मोत्सव पर केसरी नंदन को प्रसन्न करने के उपाय…

मेष


मंगल ही इस राशि का स्वामी है। मंगल से संबंधित सिंदूर यदि श्री हनुमान जी को लगाया जाए तो इस राशि के लोगों की मनोवांछित मनोकामना की पूर्ति होती है।

वृष


इस राशि का स्वामी है शुक्र। हनुमान मंदिर में सुगंधित अगरबत्ती और घी का दीपक जलाएं।

मिथुन


इस राशि का स्वामी है बुध। लाल पुष्प के साथ अपराजिता का पुष्प हनुमान जो को चढ़ाएं और उनको वस्त्र अर्पित करें।

कर्क


इस राशि का स्वामी है चंद्रमा। चंद्रमा का संबंध भगवान शिव से भी है। इसलिए रुद्रावतार श्री हनुमान जी को शिवपुराण अर्पित करें तथा उसका पाठ करें।

सिंह


इस राशि का स्वामी है सूर्य। सूर्य श्री हनुमान जी के गुरु भी हैं। श्री सुन्दरकाण्ड के साथ-साथ श्री आदित्यहृदयस्तोत्र का भी पाठ करें।

कन्या


इस राशि का स्वामी है बुध। श्री हनुमान चालीसा का 108 बार पाठ करें। श्री रामरक्षा स्तोत्र का भी पाठ करें।


तुला


इस राशि का स्वामी है शुक्र। सुगंधित अगरबत्ती जलाकर घी का दीपक प्रज्जवलित करें और लाल पुष्प और सिंदूर बजरंगबली को चढ़ाएं।

वृश्चिक


इस राशि का स्वामी है मंगल। शनि के प्रकोप से बचने के लिए तिल के तेल का दीपक जलाएं और श्री सुन्दरकाण्ड का पाठ करने के पश्चात मंदिर में प्रसाद बांटें।

धनु


इस राशि का स्वामी है बृहस्पति। श्री राम रक्षा स्तोत्र का पाठ करें। श्री हनुमान जी को श्री राम कथा का कोई प्रिय प्रसंग सुनाएं और मंदिर में श्री रामचरितमानस का दान करें।

समस्त संकटों से मुक्ति के लिए हनुमान जन्मोत्सव पर धारण करें: हनुमान कवच

मकर


इस राशि का स्वामी है शनि। शनि की साढ़े साती के प्रकोप से बचने के लिए हनुमान जी का सम्मुख तिल के तेल का दीपक जलाके श्री सुन्दरकाण्ड का पाठ करें।

कुंभ


इस राशि का स्वामी है शनि। इस राशि के लोग राम नाम की माला हनुमान जी को पहनाएं। श्री हनुमान चालीसा का 108 बार पाठ करें।

मीन


इस राशि का स्वामी है बृहस्पति। हनुमान जयंती के दिन सुन्दरकाण्ड के साथ साथ श्री रामचरितमानस के अरण्यकांड का पाठ भी करें।

एस्ट्रोसेज की ओर से सभी पाठकों को हनुमान जन्मोत्सव की शुभकामनाएँ!
Read More »

एस्ट्रोसेज वर्ष पत्रिका – आने वाले 12 महीनों का कुंडली-आधारित सटीक फलादेश

अगले 12 महीनों को बनाएँ सफल, समृद्ध और भाग्यशाली। कुंडली आधारित वर्ष पत्रिका में पाएँ आने वाले कल की तस्वीर!

समय तेजी से गुजर रहा है और वक्त के साथ-साथ जीवन में कई चुनौतियाँ आ रही हैं। भागदौड़ से भरी इस ज़िंदगी में हम इतने व्यस्त हो चुके हैं कि आने वाले कल को लेकर हमारे पास कोई साफ तस्वीर नहीं है। सपने बहुत हैं लेकिन ये सब कैसे पूरे होंगे इसका कोई अंदाजा नहीं है। घर, गाड़ी, नौकरी, बिज़नेस, शादी और परिवार से जुड़े सपने और ज़रूरतों को कैसे पूरा किया जाये, यह हम सबके सामने एक बड़ा सवाल है। ज़िंदगी से जुड़ी इस कशमकश को दूर करने के लिए हमने हमेशा ज्योतिष विद्या की मदद से आपको कुछ बेहतर देना चाहा है। इसी सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए हम खासतौर पर आपके लिए लेकर आये हैं “एस्ट्रोसेज वर्ष पत्रिका” आपके आने वाले कल को संवारने का एक जरिया।




एस्ट्रोसेज वर्ष पत्रिका क्यों खास है


वैसे तो एस्ट्रोसेज वर्ष पत्रिका की कई विशेषताएँ हैं और यह एक ऐसा गुलदस्ता है, जो आपके आने वाले कल को खुशियों से भर देगा। लेकिन अगर बात करें इसकी सबसे बड़ी खूबी की तो, सबसे खास बात है कि यह पत्रिका वर्ष विशेष पर आधारित नहीं है यानि आप जब इसे प्राप्त करेंगे उसी माह से आपको अगले 12 महीनों का अपना कुंडली आधारित भविष्यफल मिलेगा। 

12 महीने और भाग्यशाली बिन्दु


जीवन में परिश्रम के साथ-साथ भाग्य भी व्यक्ति को ऊंचाइयों पर लेकर जाता है। हालांकि किस की किस्मत में क्या है यह किसी को पता नहीं होता है लेकिन कुछ चीजें हैं जो मनुष्य का भाग्य बदल सकती है। एस्ट्रोसेज वर्ष पत्रिका में इन्हीं बातों के बारे में स्पष्टता के साथ बताया गया है। मसलन शुभ रंग, शुभ दिन, शुभ दिशा, शुभ अंक, भाग्यशाली ग्रह, भाग्यशाली रत्न और शुभ धातु आदि। ये छोटी-छोटी बातें आपके लिए बड़ी सफलता का कारण बन सकती है।

नौकरी, बिज़नेस, पैसा, विवाह और प्यार


जॉब, बिजनेस, पैसा, शादी और प्यार इन सभी मामलों में हालात हमेशा एक जैसे नहीं होते हैं। जिंदगी के हर मोड़ पर इनमें उतार-चढ़ाव देखने को मिलते हैं। आगे क्या होने वाला है किसी को इस बात की खबर नहीं है। अगर आपके मन में भी नौकरी, व्यवसाय, विवाह और धन आदि से जुड़े सवाल हैं कि, आने वाले 12 महीनों में नौकरी में मेरी तरक्की होगी? बिजनेस में मुनाफा होगा? क्या शादी के योग बनेंगे? इन सभी सवालों का जवाब आपको एस्ट्रोसेज वर्ष पत्रिका में मिलेगा। 

उपाय जो बदल देंगे आपकी ज़िंदगी


वैदिक ज्योतिष में हर समस्या से छुटकारा और सफलता पाने के कई उपाय बताये गये हैं। जिन्हें अगर ध्यानपूर्वक किया जाये तो ये ज्योतिषीय उपाय और टोटके हर व्यक्ति की किस्मत बदल सकते हैं। वैदिक ज्योतिष की प्राचीन पद्धतियों के विभिन्न तकनीकों का अध्ययन कर एस्ट्रोसेज वर्ष पत्रिका में सटीक और प्रभावी उपाय व टोटके दिये गये हैं। जिनके प्रभाव से मनुष्य का भाग्य चमक सकता है।

विशेष योग और सफलता का मूलमंत्र


हर ग्रह में अपार शक्ति होती है और उनके प्रभाव का असर सीधे धरती और मनुष्यों पर पड़ता है। ग्रहों के शुभ प्रभाव से व्यक्ति दिन दोगुनी और रात चौगुनी तरक्की करता है। इसका सबसे बड़ा कारण है ग्रहों की स्थिति में होने वाले परिवर्तन के फलस्वरुप बनने वाले विशेष योग। ग्रहों की गति हमेशा बदलती रहती है। इसी प्रकार हर पल मनुष्य की कुंडली में विशेष योगों का निर्माण होता है। इनके प्रभाव से व्यक्ति अपार सफलता प्राप्त करता है। एस्ट्रोसेज वर्ष पत्रिका में आने वाले 12 महीनों में आपकी कुंडली में होने वाले विशेष योगों का उल्लेख है, जो कि आपको बेहतर भविष्य का बोध कराएगा।

एस्ट्रोसेज वर्ष पत्रिका और 2018 त्रिकाल संहिता में सबसे बड़ा फर्क यह है कि त्रिकाल संहिता वर्ष 2018 का कुंडली आधारित फलादेश है जबकि एस्ट्रोसेज वर्ष पत्रिका आने वाले 12 महीनों का कुंडली आधारित फलादेश है यानि अगर आप वर्ष पत्रिका को जिस माह में प्राप्त करेंगे उससे अगले 12 महीनों का फलादेश आपको मिलेगा।

एस्ट्रोसेज वर्ष पत्रिका आपके आने वाले 12 महीनों की झलक है। जिसकी मदद से आप अपने लिए एक बेहतर भविष्य चुन सकते हैं। विशिष्ट उपाय, ज्योतिषीय विश्लेषण, वर्ष शक्ति समेत कई सारी विशेषताओं को समेटे हुए एस्ट्रोसेज वर्ष पत्रिका आपके भविष्य को एक सही दिशा देने में मददगार साबित होगी।
Read More »

आखिरी मौका, आखिरी डील, जल्दी करें! “एस्ट्रोसेज नवरात्रि सेल”!

राज योग रिपोर्ट, महाकुंडली, रुद्राक्ष और रत्न समेत अन्य उत्पादों व सेवाओं पर 80% तक की छूट!

“एस्ट्रोसेज नवरात्रि उत्सव” के आखिरी दिन आज समस्त ज्योतिषीय उत्पादों और परामर्श पर भारी डिस्काउंट पाने का अंतिम मौका। महाकुंडली, राज योग रिपोर्ट, 2018 त्रिकाल संहिता समेत अन्य ज्योतिषीय सेवाओं पर 80% तक की छूट, साथ ही रत्न, रुद्राक्ष, माला और जड़ी समेत दूसरे उत्पादों पर 50% तक का डिस्काउंट। तो जल्दी करें यह मौका हाथ से जाने न दें!

Read More »