साप्ताहिक राशिफल 17 से 23 दिसंबर 2018

यह सप्ताह होगा 6 राशि वालों के लिए लाभकारी, बाकी 6 राशि वालों के लिए भारी ! 
यह सप्ताह मेष, मिथुन, सिंह, धनु, कुंभ और मीन राशि के जातकों के लिए खास रहने वाला है। इस सप्ताह जहाँ इन राशि के जातकों को धन लाभ, पारिवारिक जीवन में आनंद, आर्थिक संपन्नता और लंबी दूरी या विदेश यात्रा के अच्छे अवसर मिलेंगे। वहीं अन्य 6 राशि वालों के लिए यह सप्ताह थोड़ा चुनौतियों के बीच धीरे-धीरे सफलता देने वाला सिद्ध होगा।

इस सप्ताह की शुरुआत रेवती नक्षत्र के साथ और अंत आद्रा नक्षत्र के साथ होगा। इस सप्ताह 22 दिसंबर, शनिवार को मार्गशीर्ष पूर्णिमा भी घटित होगी। ऐसे में हर राशि को इस दौरान कुछ बातों का ध्यान रखना उनके लिए फ़ायदेमंद साबित हो सकता है। तो आइये अब विस्तार में पढ़ते है इस सप्ताह का राशिफ़ल। 


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

मेष


इस हफ्ते का मध्य और आखिरी समय आपके लिए अच्छा व्यतीत होगा। किसी विदेशी स्रोत से लाभ प्राप्त हो सकता है...आगे पढ़ें

वृषभ


आपके ऊपर अष्ठम शनि का प्रभाव इस हफ्ते बना रहेगा जिस वजह से आय में वृद्धि के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी...आगे पढ़ें

मिथुन


ये हफ्ता मिथुन राशि वालों के लिए वैवाहिक जीवन को छोड़कर अन्य सभी दृष्टिकोणों से काफी अच्छा बीतने वाला है। जीवनसाथी के साथ गहन मतभेद हो सकते हैं...आगे पढ़ें


कर्क


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार, ये हफ्ता पारिवारिक दृष्टिकोण से काफी अच्छा व्यतीत होगा। इस हफ्ते पिता के स्वास्थ्य पर ज्यादा पैसे खर्च हो सकते हैं...आगे पढ़ें

सिंह


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार इस हफ्ते आपका रूझान अपने बच्चों की पढ़ाई की तरफ ज्यादा रहेगा। किसी भी कार्य को करने में काफी ज्यादा ऊर्जावान अनुभव करेंगे...आगे पढ़ें

कन्या


कन्या राशि के साप्ताहिक राशिफल के अनुसार, स्वास्थ्य के लिहाज से ये हफ्ता अच्छा बीतेगा। इस हफ्ते आप अपने परिवार के लिए कुछ महंगें सामान खरीद सकते हैं...आगे पढ़ें


तुला


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार, इस हफ्ते आपके लग्न में लग्न स्वामी शुक्र के गोचर की वजह से आप लोगों के बीच आकर्षण का केंद्र बनेंगे...आगे पढ़ें

वृश्चिक


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार, इस हफ्ते गुरु के आपके प्रथम भाव में गोचर करने से ये सप्ताह आपके अनुकूल रहेगा। इस हफ्ते के मध्य में आप अपने...आगे पढ़ें

धनु


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार, इस हफ्ते आपकी आय में वृद्धि होगी। इस सप्ताह आप किसी लंबी यात्रा पर भी जा सकते हैं...आगे पढ़ें


मकर


मकर राशि के साप्ताहिक राशिफल के अनुसार, इस हफ्ते आपका रूझान आध्यात्मिक कार्यों की तरफ ज्यादा होगा। इस हफ्ते खर्चों में ख़ासा बढ़ोतरी होगी...आगे पढ़ें

कुंभ


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार इस हफ्ते आपका करियर उंचाईयों पर होगा। किसी विदेशी स्रोत से आय के नए मार्ग बनेंगे। कार्यक्षेत्र में किसी काम को...आगे पढ़ें

मीन


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार ये हफ्ता आपका काफी शांतिपूर्वक बीतेगा और आपका रुझान धार्मिक कार्यों की तरफ ज्यादा होगा...आगे पढ़ें

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिष समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर
Read More »

सूर्य का धनु राशि में गोचर कल, जानें प्रभाव

सूर्य के गोचर के दौरान जानिए इन 8 राशियों पर बरसेगी सूर्य देव की दया दृष्टि ! साथ ही पढ़ें सूर्य के धनु राशि में होने वाले इस गोचर का समस्त ज्योतिषीय प्रभाव !
वेदों में सूर्य देव को समस्त जगत की वो अहम आत्मा का रूप कहा गया है जिसके बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है। वैदिक ज्योतिष में भी सूर्य को नवग्रहों के सम्राट की उपाधि मिली हुई है। ऐसे में सूर्य को आत्मा, पिता और सरकारी सेवा का कारक माना जाता है। सूर्य को सिंह राशि का स्वामित्व प्राप्त है। यह मेष राशि में उच्च भाव और तुला राशि में नीच भाव में रहता है। सूर्य का इस साल का अंतिम गोचर 16 दिसंबर 2018 रविवार को सुबह 9.25 बजे धनु राशि में होगा जो 14 जनवरी 2019 सोमवार शाम 19.45 बजे तक इसी राशि में स्थित रहेगा। आइये जानते हैं सूर्य के इस गोचर का सभी राशियों पर होने वाला प्रभाव।

यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। अपनी चंद्र राशि जानने के लिए क्लिक करें

मेष


सूर्य आपकी राशि से नौवें भाव में गोचर करेगा। इस अवधि में आप उच्च शिक्षा के संबंध में कोई योजना बना सकते हैं। आपकी लव लाइफ बेहद अच्छी रहेगी और बच्चे भी प्रसन्न रहेंगे…आगे पढ़ें

वृषभ


सूर्य आपकी राशि से आठवें भाव में प्रवेश करेगा। इसके फलस्वरुप अध्यात्म, ध्यान और प्राणायाम में आपकी रुचि बढ़ेगी। इस अवधि में आपको थोड़ा सतर्क रहने की जरुरत है क्योंकि...आगे पढ़ें

मिथुन


सूर्य आपकी राशि से सातवें भाव में संचरण करेगा। इस अवधि में जीवनसाथी या बिजनेस पार्टनर के साथ मतभेद हो सकते हैं। इन बातों से तनाव बढ़ेगा इसलिए बेवजह के विवादों से बचें…आगे पढ़ें

कर्क


सूर्य आपकी राशि से छठे भाव में गोचर करेगा। इस दौरान आपकी प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी और आप विरोधियों पर हावी रहेंगे। स्वास्थ्य संबंधी विकार से परेशानी हो सकती है इसलिए सेहत पर अधिक ध्यान दें…आगे पढ़ें

शनि की साढ़े साती से हैं परेशान, समाधान के लिए प्राप्त करें: शनि साढ़े साती निवारण रिपोर्ट

सिंह


सूर्य देव आपकी राशि के स्वामी हैं और गोचर की इस अवधि में सूर्य आपकी राशि से पांचवें भाव में प्रवेश करेंगे। इसके परिणामस्वरुप आपकी आमदनी अच्छी रहेगी हालांकि फिर भी आप आय को लेकर संतुष्ट नहीं रहेंगे...आगे पढ़ें

कन्या


सूर्य आपकी राशि से चौथे भाव में प्रवेश करेगा। ऐसे में आर्थिक लाभ होने की संभावना बन रही है, साथ ही आप लंबी दूरी की यात्रा पर भी जा सकते हैं…आगे पढ़ें

तुला


सूर्य आपकी राशि से तीसरे भाव में संचरण करेगा। इस अवधि में आपके भाग्य में वृद्धि होगी। आपको रिश्तेदारों, दोस्तों और भाई-बहनों से लाभ मिल सकता है...आगे पढ़ें

वृश्चिक


सूर्य आपकी राशि से द्वितीय भाव में गोचर करेगा। इस अवधि में आप धन अर्जित करने में सफल रहेंगे हालांकि इस दौरान कोई भी निवेश संबंधी कार्य करने से बचें…आगे पढ़ें

जॉब-बिजनेस के लिए कैसा रहेगा आने वाला साल, जानने के लिए प्राप्त करें: करियर और व्यवसाय रिपोर्ट

धनु


सूर्य देव आपकी राशि में गोचर करेंगे और आपकी राशि से प्रथम भाव में स्थित रहेंगे। इस गोचर के प्रभाव से आपको सरकारी मामलों में लाभ मिल सकता है...आगे पढ़ें

मकर


सूर्य आपकी राशि से बारहवें भाव में गोचर करेगा। इस दौरान खर्चों में बढ़ोतरी और अप्रत्याशित नुकसान होने से धन हानि हो सकती है। मन में कामुक विचार हावी रहने से आप किसी गलत संगत में पड़ सकते हैं…आगे पढ़ें

कुंभ


सूर्य आपकी राशि से ग्यारहवें भाव में संचरण करेगा। इसके फलस्वरुप आप उस लक्ष्य को हासिल करने में सफल रहेंगे, जिसकी आप वर्षों से प्रतीक्षा कर रहे हैं। सरकारी मामलों में…आगे पढ़ें

मीन


सूर्य आपकी राशि से दसवें भाव में प्रवेश करेगा। यदि आप नई नौकरी की तलाश में हैं तो इस अवधि में आपकी यह तलाश खत्म हो जाएगी, साथ ही…आगे पढ़ें

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर
Read More »

साप्ताहिक राशिफल ( 10 से 16 दिसंबर 2018 )

जानिए किन 6 राशि वालों के लिए ये सप्ताह होगा ‘सौगातों का सप्ताह’! हमारे साप्ताहिक राशिफल में पढ़ें क्या कहते हैं आपके सितारे? साथ ही नौकरी, व्यवसाय, शिक्षा और विवाह आदि के लिए कैसा रहेगा यह सप्ताह।
दिसंबर के दूसरे हफ्ते की शुरुआत हो चुकी है। ऐसे में ग्रह और नक्षत्रों की चाल के अनुसार 10 से 16 दिसंबर की यह अवधि हर राशि के लिए बेहद महत्वपूर्ण रहने वाली है। खासतौर पर 6 राशि वालों के लिए ये सप्ताह कई सौगातें लेकर आ रहा है। क्योंकि इस दौरान ग्रहों के प्रभाव से इन 6 राशि वालों को घर, गाड़ी, विदेश यात्रा और धन लाभ अर्जित करने का विशेष मौका मिलेगा। 

इस सप्ताह की शुरुआत मूल नक्षत्र और समाप्ति उत्तरभाद्रपदा नक्षत्र के साथ होगी। इसके अलावा सप्ताह के अंत में 16 दिसंबर को सूर्य का धनु राशि में गोचर होने से हर राशि पर इसका प्रभाव दिखाई देगा। ऐसे में किन राशि के जातकों को रहना होगा सावधान व किन जातकों के लिए ये सप्ताह होगा शुभ आईये ये सब जानते हैं इस सप्ताह के राशिफल में:-


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

मेष


मेष राशि वालों के लिए सप्ताह की शुरुआत अच्छी नहीं रहेगी और सप्ताह के मध्य में भी यही हाल रहेगा। आप किसी कारण वश तनाव में रह सकते हैं। आय प्राप्ति के साधनों में कोई कमी नहीं होगी लेकिन...आगे पढ़ें

वृषभ


अष्टम भाव का शनि वृषभ राशि के जातकों के लिए परेशानियाँ पैदा कर सकता है। इसलिए इस सप्ताह आपको थोड़ा सतर्क रहना पड़ेगा। धन को संचय करने के लिए आप अधिक प्रयासरत रहेंगे...आगे पढ़ें

मिथुन


इस सप्ताह आप किसी लंबी यात्रा पर जा सकते हैं। यात्रा के माध्यम से आमदनी होगी। वहीं कार्य स्थल पर आपको प्रसिद्धि मिलेगी और आय में स्थिरता देखने को मिलेगी। हालाँकि...आगे पढ़ें

कर्क


इस सप्ताह आप अपने परिवार के लिए कोई महँगी वस्तु को ख़रीदेंगे। घर का वातावरण अच्छा रहेगा। हालाँकि केतु के सातवें भाव में उपस्थित होने से...आगे पढ़ें

सिंह


इस सप्ताह आप अपने परिवार को अधिक प्राथमिकता देंगे। घर का माहौल भी सुकून देने वाला रहेगा। इससे आप ख़ुश रहेंगे...आगे पढ़ें

कन्या


कन्या राशि के जातकों के लिए यह सप्ताह आर्थिक रूप से अच्छा रहेगा। आप धन की बचत करने में कामयाब रहेंगे। वहीं कार्यक्षेत्र में सफलता पाने के लिए आप...आगे पढ़ें

तुला


इस सप्ताह लग्न भाव में शुक्र की उपस्थिति आपको आंतरिक रूप से प्रसन्न रखेगी। आकर्षक व्यक्तित्व के कारण लोग आपकी ओर खींचे चले आएंगे। आवाज़ में मधुरता आएगी...आगे पढ़ें

वृश्चिक


आपके लग्न भाव में गुरु की उपस्थिति से सप्ताह शानदार रहेगा। हालाँकि शुरुआती दिनों आप थोड़े परेशान रह सकते हैं। आर्थिक रूप से आप धन की बचत करेंगे...आगे पढ़ें

ऑनलाइन सॉफ्टवेयर से मुफ्त जन्म कुंडली प्राप्त करें।

धनु


लंबी दूरी की यात्रा के योग बन रहे हैं। इस सप्ताह आपको कई प्रकार के लाभ प्राप्त होंगे। यदि आप वीजा बनवाने की सोच रहे हैं तो समय इसके लिए उत्तम है...आगे पढ़ें

मकर


केतु के लग्न भाव में होने से आपका मन अध्यात्म की ओर लगेगा। किसी से कड़वी बात न करें, अन्यथा उसकी भावनाएं आहत हो सकती हैं। अपने फिज़ूल के ख़र्चों में लगाम लगाएं...आगे पढ़ें

कुंभ


करियर के लिहाज़ से सप्ताह शानदार बीतेगा। विदेशी स्रोत से आमदनी की संभावना दिखाई दे रही है। सप्ताह के शुरुआती दिनों में आप भौतिक वस्तुओं से दूरी बनाकर रखेंगे...आगे पढ़ें

मीन


सप्ताहांत में जीवन सुकून से व्यतीत होगा। धार्मिक कार्यों में आपका मन लगेगा। क़ानूनी मामलों में भी आपको सफलता मिलेगी। विदेशी स्रोतों से भी आमदनी की प्रबल संभावना है...आगे पढ़ें

हमारी ओर से आपको उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएँ !
Read More »

‘ईयर एंड सेल’ आज से शुरू! पाएँ आकर्षक ऑफर और छूट!

80% तक की छूट के साथ ‘ईयर एंड सेल’ आज से शुरू। एस्ट्रोसेज की हर सर्विस पर पाएँ आकर्षक ऑफर। स्पेशल सेल का आप भी उठाए फायदा।

Read More »

‘एस्ट्रोसेज कुंडली’ ऐप ने 1 करोड़ डाउनलोड किये पूरे - आप के प्यार एवं सहयोग के लिए धन्यवाद!

हमें ये कहते हुए अत्यंत ख़ुशी हो रही है कि “एस्ट्रोसेज कुंडली” भारत का पहला ऐसा ज्योतिष ऐप बन गया है जिसे अब तक गूगल प्ले पर करीबन एक करोड़ से भी ज्यादा लोग डाउनलोड कर चुके हैं। इस मुकाम पर पहुँचने के बाद एस्ट्रोसेज अपने समस्त एक करोड़ यूजर्स का बेहद गर्मजोशी के साथ स्वागत करता है। 2 लाख 39 हजार समीक्षाओं से मिले 4.5 स्टार के साथ ही एस्ट्रोसेज कुंडली गूगल प्ले पर एक उच्चतम मूल्यांकन प्राप्त करने वाला एप बन गया है।


इस वीडियो को देखने के लिए यहां  क्लिक करें


इस सन्दर्भ में, एस्ट्रोसेज के कर्ताधर्ता श्री पुनीत पांडेय का कहना है कि “ एक करोड़ डाउनलोड निश्चित रूप से एक प्रभावशाली उपलब्धि है और हमें खुशी है कि लोगों ने एस्ट्रोसेज को इतना पसंद किया और उसे स्वीकारा। मुझे लगता है कि इस मुकाम पर पहुँचने के पीछे हमारी जुझारू टीम का काफी हाथ रहा है। इस सफलता ने हमें भविष्य में और भी बेहतर काम करने के लिए काफी बढ़ावा दिया है। “

आप के प्यार  एवं  सहयोग के लिए धन्यवाद!

एस्ट्रोसेज कुंडली ऐप की विशेषताएं :


एस्ट्रोसेज कुंडली ऐप का उपयोग कर आप सटीक ज्योतिषीय भविष्यवाणी के बारे में विस्तृत जानकारी हासिल कर सकते हैं। ये ऐप आपको भविष्य से जुड़ी सभी भविष्यवाणियों को जानने में मदद करती है। इसके आलवा आप गूगल प्ले पर उपलब्ध हमारे इस ऐप के जरिये ज्योतिषीय परामर्श और साथ ही अन्य कई सेवाएं भी प्राप्त कर सकते हैं। ये ऐप बहुत से प्रभावशाली विशेषताओं से भरपूर है जो निम्नलिखित हैं :

  • इस्तेमाल करने में आसान। 
  • बेहद विश्वसनीय और उपयोगकर्ता के अनुकूल सेवाएं देता है। 
  • कुंडली, राशिफल, कुंडली मिलान, पंचांग, ज्योतिषीय परामर्श, उत्पाद और भी बहुत कुछ। 
  • लाल किताब भविष्यवाणी, के पी प्रणाली, नाड़ी ज्योतिष, शनि की साढ़े साती, काल सर्प दोष, ग्रहों की दशा आदि। 
  • कुंडली प्रिंट करने के लिए पीडीएफ डाउनलोड करें।
  • ये 9 भाषाओं में उपलब्ध है - हिंदी, अंग्रेजी, बंगाली, मराठी, गुजराती, तमिल, तेलुगु, मलयालम और कन्नड़।
  • Google Play Store पर उपलब्ध ऐप का विशिष्ट 2.8 संस्करण उपलब्ध है। 



एस्ट्रोसेज डॉट कॉम की प्रमुख सफलता


AstroSage.com के पास 10 मिलियन ग्राहक हैं, जिसमें 9 मिलियन मासिक उपयोगकर्ताओं के पास करीबन 200 उत्पाद 50 श्रेणियों में उपलब्ध हैं। भारत के साथ ही संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, नेपाल और पाकिस्तान के उपयोगकर्ताओं की भी गणना की जाती है। ज्योतिष बाजार में, यह $ 30 बिलियन तक पहुंच गया है, हमारी ऐप का 10 मिलियन डाउनलोड पूरा करना एक बड़ी सफलता है।


इससे पहले भी एस्ट्रोसेज का एक और ऐप, “कुंडली” अब तक 5 मिलियन के पार डाउनलोड पूरा कर चुका है। उच्च गुणवत्ता वाले सॉफ्टवेयर विकास, प्रतिष्ठित प्रौद्योगिकियों के साथ, आने वाले वर्षों में उपयोगकर्ताओं को बेहतर सेवाएं प्रदान करने के लिए एस्ट्रोसेज आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग, डीप लर्निंग, बिग डेटा, वर्चुअल रियलिटी, वर्नाक्युलर और क्लाउड में भी काम कर रहा है।

आप के प्यार एवं  सहयोग के लिए धन्यवाद!
Read More »

साप्ताहिक राशिफल - 3 से 9 दिसंबर 2018

किन 4 राशि वालों की इस सप्ताह चमकेगी किस्मत! जानें साप्ताहिक राशिफल 3 से 9 दिसंबर 2018 में !
साप्ताहिक फलादेश के अनुसार यह सप्ताह मिथुन, कन्या, धनु, कुंभ राशि, और मीन राशि वाले लोगों के जीवन में कई मायनों में आशा की नई किरण लेकर आया है। इस सप्ताह ग्रहों की विशेष चाल और नक्षत्रों के प्रभाव से कुछ राशि के जातकों को विशेष लाभ होने की संभावना साफ़-साफ़ दिखाई दे रही है। जिसके चलते इस लाभ का असर जातकों के करियर, व्यवसाय, शिक्षा, स्वास्थ्य, परिवार और वैवाहिक जीवन आदि पर देखने को मिलेगा। 

यह सप्ताह ज्योतिषीय और धार्मिक दृष्टि से भी महत्वपूर्ण रहने वाला है। सप्ताह की शुरुआत उत्पन्ना एकादशी के साथ होगी। इसके बाद 4 दिसंबर को प्रदोष व्रत (कृष्ण), 5 दिसंबर को मासिक शिवरात्रि के साथ ही 7 दिसंबर को कार्तिक अमावस्या घटित हो रही है। जिसके चलते बाजार में जोरदार तेजी के बाद मंदी के योग बनेंगे। ऐसे में आइये अब विस्तार में पढ़ें कि ये सप्ताह हर राशि पर कैसा प्रभाव डालने वाला है। 


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें अपनी चंद्र राशि: चंद्र राशि कैल्कुलेटर

मेष


मेष राशि के जातकों को इस हफ्ते किसी विदेशी स्रोत से ख़ासा लाभ मिल सकता है। इस हफ्ते आप किसी यात्रा पर जा सकते हैं, ये यात्रा किसी व्यापारिक उद्देश्य से भी हो सकती है...आगे पढ़ें

वृषभ


इस समय आप अष्टम शनि के प्रभाव से ग्रसित हैं जो आपके लिए बहुत अच्छा नहीं सिद्ध होगा। इस समय अपनी सेहत का विशेष ध्यान रखें...आगे पढ़ें

मिथुन


इस हफ्ते मिथुन राशि के जातकों को यात्रा से ख़ासा लाभ मिलने वाला है। आपकी आय में वृद्धि होगी लेकिन साथ ही खर्चों में भी इजाफा होगा। कार्यस्थल पर आपके अच्छे कामों की सराहना होगी...आगे पढ़ें

कर्क


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार, इस हफ्ते आप अपनी आय को भोग विलास की वस्तुओं को खरीदने पर व्यय कर सकते हैं। पारिवारिक दृष्टिकोण से ये हफ्ता...आगे पढ़ें

सिंह


सिंह राशि के साप्ताहिक राशिफल के अनुसार इस हफ्ते के मध्य में आप किसी विदेश यात्रा पर जा सकते हैं। पारिवारिक दृष्टिकोण से देखा जाए तो इस हफ्ते परिवार के सदस्यों के साथ अच्छा वक़्त बीतेगा और...आगे पढ़ें

कन्या


कन्या राशि के साप्ताहिक राशिफल के अनुसार इस हफ्ते आप अपने परिवार के लिए किसी महंगी वस्तु को खरीद सकते हैं। आर्थिक दृष्टिकोण से आपका ये हफ्ता काफी अच्छा बीतेगा...आगे पढ़ें

तुला


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार तुला राशि के पहले भाव में शुक्र के विराजमान होने से इस राशि के जातक दूसरों के लिए बेहद आकर्षक नजर आएंगे। इसके अलावा इस हफ्ते आपकी राशि में...आगे पढ़ें

वृश्चिक


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार वृश्चिक राशिवालों के लिए ये हफ्ता काफी अच्छा रहेगा । हालाँकि सप्ताह के दो दिन बृहस्पति के गोचर के कारण तनावपूर्ण बीत सकता है...आगे पढ़ें

धनु


धनु राशि के साप्ताहिक राशिफल के अनुसार इस हफ्ते ससुराल पक्ष की तरफ से आपको काफी फायदे मिल सकते हैं। इस दौरान आध्यात्म की तरफ आपका रूझान होगा...आगे पढ़ें

मकर


मकर राशि के साप्ताहिक राशिफल के अनुसार इस हफ्ते आप खुद को दुनिया से भिन्न महसूस करेंगे और इसलिए...आगे पढ़ें

कुंभ


कुंभ राशि के साप्ताहिक राशिफल के अनुसार, इस सप्ताह आप अपने कार्यक्षेत्र का भरपूर आनंद उठा पाएंगे। इस दौरान किसी विदेशी स्रोत से लाभ मिल सकता है...आगे पढ़ें

मीन


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार ये हफ्ता पारिवारिक दृष्टिकोण से आपके लिए काफी अच्छा व्यतीत होने वाला है। इस दौरान धार्मिक कार्यों की तरफ आपका रूझान होगा...आगे पढ़ें

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर
Read More »

जानिए दिसंबर 2018 मासिक राशिफल में क्या है आपके लिए ख़ास!

पढ़ें दिसंबर 2018 मासिक राशिफल और जानिए साल का ये अंतिम महीना नौकरी, व्यापार, शिक्षा, करियर, प्रेम, विवाह और पारिवारिक जीवन के लिए कैसा रहने वाला है। 
आज से साल 2018 के अंतिम महीने यानि दिसंबर माह की शुरुआत हो गई है। ऐसे में हर बार की तरह इस बार भी हम अपने इस लेख में आपके लिए सभी 12 राशियों का मासिक राशिफल लेकर आए है। हमारे इस साल के अंतिम माह के राशिफल में आप पाएंगे धन, करियर, व्यवसाय, प्रेम, पारिवारिक और वैवाहिक जीवन आदि बातों की सम्पूर्ण जानकारी। 

ज्योतिषीय दृष्टिकोण से देखें तो यह महीना बेहद अहम रहने वाला है। इस माह 16 दिसंबर को सूर्य देव धनु राशि में गोचर करेंगे। वहीं 23 दिसंबर को मंगल का मीन राशि में गोचर होगा। ऐसे में सूर्य व मंगल की स्थिति में बदलाव का असर सभी 12 राशियों के जातकों पर पड़ने वाला है। 

चलिए अब पढ़ें इस माह का राशिफल-


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

मेष


इस माह आपके आत्म सम्मान में वृद्धि होने के साथ साथ कार्य क्षेत्र में परिवर्तन होने की संभावना है। आय के साधन बनते रहेंगे। पारिवारिक जीवन में...विस्तार से पढ़ें

वृषभ


इस माह में कुछ बिगड़े हुए काम बनने की संभावना पाई जा रही है। आपको अपने पुरुषार्थ एवं पराक्रम से उन्नति के अवसर प्राप्त हो सकते हैं। क्योंकि शुक्र स्वयं तुला राशि का गोचर में संचरण कर रहा है जो...विस्तार से पढ़ें

मिथुन


आप बुद्धिमान तथा समझदार व्यक्ति हैं। आपकी सोचने और समझने के साथ-साथ निर्णय लेने की क्षमता भी अच्छी पाई जाती है। इस माह में आपको फाइनेंसियल समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है...विस्तार से पढ़ें

कर्क


इस माह में अनावश्यक सोच बढ़ने के कारण मानसिक परेशानियां ज्यादा हो सकती हैं। सोचने समझने तथा निर्णय लेने की क्षमताओं पर बुरा असर पड़ सकता है। कुछ बिगड़े हुए कार्य बनने की संभावना भी पाई जा सकती है...विस्तार से पढ़ें

सिंह


साहस और उत्साह में वृद्धि होने के योग बन रहे हैं। सिंह राशि के जातक किसी भी कार्य को जिम्मेदारी पूर्वक करने वाले होते हैं और उनका समय के अनुसार यथाशीघ्र कार्य की पूर्णता पर विशेष ध्यान रहता है...विस्तार से पढ़ें

कन्या


आत्मविश्वास में वृद्धि हो सकती है। इस माह आपकी स्मरण शक्ति तीव्र होगी। ऐसे में आप किसी भी कार्य को सोच समझकर करने वाले व्यक्ति होंगे। आपका प्रयास समय के अनुसार सफल हो सकता है...विस्तार से पढ़ें


तुला


इस माह में कार्य क्षेत्रों में अघोषित लाभ में कमी रहने की संभावना है। अधिकांश समय व्यर्थ के कामों में व्यतीत हो सकता है। प्रयास से अच्छी सफलता प्राप्त हो सकती है तथा सामाजिक सम्मान प्राप्त हो सकता है...विस्तार से पढ़ें

वृश्चिक


कारोबार में कई तरह के उतार-चढ़ाव व अन्य परेशानियां उत्पन्न हो सकती हैं। परिश्रम व दौड़-धूप अधिक हो सकता है। समय के अनुसार स्थितियां अनुकूल हो सकती हैं...विस्तार से पढ़ें

धनु


मन विचलित होने से निर्णय लेने की क्षमताओं पर बुरा असर पड़ेगा। समय रहते किसी कार्य को करने में समस्या उत्पन्न हो सकती हैं। सम्मान की दृष्टि से स्थितियां तनावपूर्ण हो सकती है...विस्तार से पढ़ें

मकर


भूमि वाहन आदि का क्रय विक्रय करने से लाभ प्राप्त होने की संभावना बन रही है। मनोरंजन आदि का रुझान तथा धन का खर्च अधिक हो सकता है। गुरु वृश्चिक राशि में संचरण कर रहा है जो भाग दौड़ तथा...विस्तार से पढ़ें


कुंभ


आप गंभीर प्रवृत्ति के व्यक्ति होते हैं। किसी भी कार्य को स्थिरता और गंभीरता से करने का प्रयास करने वाले हैं। इसलिए इस माह आपके कार्य सफल होने की संभावना देखी जा रही है...विस्तार से पढ़ें

मीन


इस माह में आपका मन विचलित होने के कारण कामकाज के क्षेत्रों पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। अत्यधिक सोच के कारण मानसिक अशांति ज्यादा हो सकती है। समय के अनुसार ठोस निर्णय ना लेने के कारण कामकाज में व्यवधान उत्पन्न हो सकता है...विस्तार से पढ़ें

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिष समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर
Read More »

साप्ताहिक राशिफल 26 नवंबर से 02 दिसंबर 2018 में क्या है ख़ास !

पढ़ें अपना साप्ताहिक राशिफल और जानें क्या कहती है आपकी राशि। किन राशियों के लिए ये सप्ताह होगा शुभ और किन लोगों को रहना होगा सावधान ! 
नवंबर की समाप्ति और नए माह दिसंबर के शुभ आरंभ के साथ इस साल का एक और नया सप्ताह शुरू हो चला है। इसलिए ही एस्ट्रोसेज पर अपने इस लेख में आज हम आपको बताएंगे कि 26 नवंबर से 02 दिसंबर तक आपके सितारे कैसे रहने वाले है। हर राशि के अनुसार हम ये भी जानकारी देंगे कि इस सप्ताह करियर, शिक्षा, व्यवसाय और धन को लेकर आपका भविष्य कैसा रहने वाला है। इसके अलावा हम आपको यह भी बताएंगे कि प्रेम संबंधों के लिए ये सप्ताह आखिर कैसा रहेगा, इसका सारा लेखा जोखा आज हम आपको देंगे। 


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि।

मेष


मेष राशि के जातकों के लिए इस हफ्ते खर्चे बढ़ सकते हैं। किसी विदेशी श्रोत से लाभ प्राप्त होने की संभावना है…आगे पढ़ें 

वृषभ


सप्ताह के मध्य में धन अर्जित करने के लिए काफी कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता पड़ सकती है। इस दौरान आपके ऊपर अष्टम शनि का प्रकोप रहेगा जो आपके वैवाहिक जीवन में काफी बाधाएं उत्पन्न कर सकता है…आगे पढ़ें 

मिथुन


इस हफ्ते के दौरान, मिथुन राशि के चन्द्रमा चिन्ह के जातक यात्रा के दौरान धन लाभ कर सकते हैं। लंबी यात्रा आपके लिए फलदायी साबित हो सकती है। कार्यक्षेत्र में इस हफ्ते…आगे पढ़ें 

कर्क


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार, ये हफ्ता पारिवारिक दृष्टिकोण से आपके लिए काफी अच्छा बीतेगा। हालांकि केतु के आपके सातवें भाव में विराजमान होने की वजह से वैवाहिक जीवन में कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है…आगे पढ़ें 

सिंह


इस हफ्ते परिवार की तरफ आपका विशेष झुकाव रहेगा। सप्ताह के मध्य में विदेश यात्रा की संभावना बन सकती है। इस दौरान पारिवारिक माहौल अच्छा रेहगा…आगे पढ़ें

कन्या


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार इस हफ्ते कन्या राशि के जातकों को सफलता प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी। अपने परिवार के लिए कुछ आरामदायक वस्तुएं खरीद सकते हैं…आगे पढ़ें 

तुला


इस हफ्ते आपके पहले भाव में चद्रमा की उपस्थिति होने से आप अंदरूनी रूप से प्रसन्नता महसूस करेंगे। इस समय अपनी वाणी और स्वभाव से दूसरों के बीच आप आकर्षण का केंद्र रहेंगे…आगे पढ़ें 

वृश्चिक


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार, बृहस्पति का वृश्चिक राशि में गोचर करने से ये समय आपके लिए काफी लाभदायक साबित हो सकता है। हालांकि बृहस्पति का आपकी राशि में गोचर से पहले का समय कुछ तनाव भरा गुजर सकता है…आगे पढ़ें 

धनु


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार इस हफ्ते आपका रूझान धार्मिक कार्यों की तरफ ज्यादा रहेगा। किसी लंबी यात्रा पर जाना हो सकता है। विदेश जाने के लिए लम्बे समय से अटके हुए वीज़ा का काम भी सफलतापूर्वक पूर्ण होगा…आगे पढ़ें

मकर


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार केतु के प्रथम भाव में विराजमान होने की वजह से इस समय धार्मिक कार्यों की तरफ आपका रुझान होगा। इस दौरान खर्चों में बढ़ोत्तरी हो सकती है…आगे पढ़ें

कुंडली मिलान के लिए क्लिक करें

कुंभ


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार कार्यक्षेत्र में ख़ासा तरक्की मिलेगी। किसी विदेशी श्रोत से आय के साधन प्राप्त हो सकते हैं। सप्ताह के मध्य में अपने स्वभाव में थोड़ी विचलनता देख सकते हैं…आगे पढ़ें

मीन


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार इस हफ्ते धार्मिक कार्यों की तरफ आपका रुझान होगा। इस दौरान किसी लंबी यात्रा पर जा सकते हैं। किसी विदेशी स्रोत से आय के मार्ग बनेंगे…आगे पढ़ें 

एस्ट्रोसेज की ओर से आप सभी को शुभकामनाएँ!
Read More »

कार्तिक पूर्णिमा पर चुपचाप करें दीपदान, घर में होगा शुभ ही शुभ

पढ़ें कार्तिक पूर्णिमा पर आखिर क्या है पवित्र नदी में स्नान करने और दान करने का महत्व। जानें कार्तिक पूर्णिमा व्रत की पूजा विधि और सही मुहूर्त !
कल यानि शुक्रवार, 23 नवंबर 2018 को कार्तिक पूर्णिमा है। जो कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष में आती है इसलिए भी इस पूर्णिमा को कार्तिक पूर्णिमा कहा जाता है। मान्यता है कि इस दिन भगवान शिव ने त्रिपुरासुर नामक राक्षस का वध किया था, इसलिए इसे ‘त्रिपुरी पूर्णिमा’ भी कहते हैं। यदि इस दिन कृतिका नक्षत्र होती है तो इसे ‘महाकार्तिकी’ कहा जाता है। वहीं ये भी माना जाता है कि भरणी नक्षत्र होने पर इस पूर्णिमा का विशेष फल प्राप्त होता है। इसके साथ ही रोहिणी नक्षत्र की वजह से इसका महत्व और बढ़ जाता है।

कार्तिक पूर्णिमा व्रत मुहूर्त New Delhi, India के लिए

नवंबर 22, 2018 को
12:55:50 से पूर्णिमा आरम्भ
नवंबर 23, 2018 को
11:11:15 पर पूर्णिमा समाप्त


हिन्दू मान्यता के अनुसार कार्तिक पूर्णिमा पर संध्या के समय भगवान विष्णु का मत्स्यावतार हुआ था। ऐसे में इस दिन गंगा स्नान के बाद दीप-दान करने पर उसका फल दस यज्ञों के समान प्राप्त होता है। इस पूर्णिमा की महत्वता को देखते हुए ही इसे ब्रह्मा, विष्णु, शिव, अंगिरा और आदित्य ने महापुनीत पर्व बताया है। कई जगह इसे देव दीपावली भी कहा जाता है। 

कार्तिक पूर्णिमा का महत्व


कार्तिक मास में आने वाली पूर्णिमा देशभर की सभी पवित्र पूर्णमासियों में से एक होती है। इस विशेष दिन किये जाने वाले सभी दान-पुण्य कार्य बेहद फलदायी साबित होते हैं। कहा जाता है कि यदि इस दिन कृतिका नक्षत्र पर चंद्रमा और विशाखा नक्षत्र पर सूर्य हो तो ऐसे में पद्मक योग का निर्माण होता है, जो कि बेहद दुर्लभ योग होता है। इसके साथ ही इस दिन कृतिका नक्षत्र पर चंद्रमा और बृहस्पति हो तो, यह महापूर्णिमा कहलाती है। इस दिन संध्याकाल में त्रिपुरोत्सव करके दीपदान करने से पुनर्जन्म का कष्ट समाप्त हो हो जाता है। 

कार्तिक पूर्णिमा व्रत और धार्मिक कर्म


मान्यता के अनुसार कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्नान, दीपदान, यज्ञ और ईश्वर की उपासना करने का विशेष महत्व है। इस दिन किये जाने वाले सभी धार्मिक कर्मकांड कुछ इस प्रकार हैं-
● पूर्णिमा के दिन प्रातःकाल जाग कर व्रत का संकल्प लें और किसी पवित्र नदी, सरोवर या कुंड में स्नान करें।
● इस दिन चंद्रोदय पर शिवा, संभूति, संतति, प्रीति, अनुसुईया और क्षमा इन छः कृतिकाओं का पूजन अवश्य करना चाहिए।
● कार्तिक पूर्णिमा की रात्रि में व्रत करके बैल का दान करने से शिव पद प्राप्त होता है।
● गाय, हाथी, घोड़ा, रथ और घी आदि का दान करने से संपत्ति बढ़ती है।
● इस भेड़ का दान करने से ग्रहयोग के कष्टों का नाश होता है।
● कार्तिक पूर्णिमा से प्रारंभ होकर प्रत्येक पूर्णिमा को रात्रि में व्रत और जागरण करने से सभी मनोरथ सिद्ध होते हैं।
● कार्तिक पूर्णिमा का व्रत रखने वाले व्रती को किसी जरुरतमंद को भोजन और हवन अवश्य कराना चाहिए।
● इस दिन यमुना जी पर कार्तिक स्नान का समापन करके राधा-कृष्ण का पूजन और दीपदान करना चाहिए।

कार्तिक पूर्णिमा की पौराणिक कथा


पौराणिक कथा के अनुसार पुरातन काल में एक समय त्रिपुर राक्षस ने एक लाख वर्ष तक प्रयागराज में घोर तप किया। उसकी उसी तपस्या के प्रभाव ने सभी जड़-चेतन, जीव और देवताओं को भयभीत कर दिया था। ऐसे में सभी देवताओं ने उसका तप भंग करने के लिए योजना बनाते हुए अप्सराएँ भेजने का फैसला किया लेकिन उनकी इस योजना को सफलता नहीं मिल सकी। जिसके बाद त्रिपुर राक्षस के तप से प्रसन्न होकर ब्रह्मा जी स्वयं उसके सामने प्रकट हुए और उन्होंने राक्षस से वरदान मांगने को कहा।

त्रिपुर ने वरदान मांगा कि, ‘मैं न देवताओं के हाथों मरूं, न मनुष्यों के हाथों से’। ब्रह्मा जी से वरदान मिलने पर त्रिपुर निडर होकर अत्याचार करने लगा। इतना ही नहीं उसने कैलाश पर्वत पर भी चढ़ाई कर दी। इसके बाद भगवान शंकर और त्रिपुर के बीच भयंकर युद्ध हुआ। अंत में शिव जी ने ब्रह्मा जी और भगवान विष्णु की मदद से त्रिपुर का संहार इसी दिन किया।

हमारी ओर से आप सभी को कार्तिक पूर्णिमा की हार्दिक शुभकामनाएँ !
Read More »

साप्ताहिक राशिफल 19 से 25 नवंबर 2018 में जानिए आपके लिए क्या है ख़ास

पढ़ें साप्ताहिक राशिफल और जानें इस सप्ताह की प्रमुख भविष्यवाणियां। किन राशियों के लिए ये सप्ताह होगा लाभदायक और किन लोगों को रखने होंगे संभलकर कदम ! 
एस्ट्रोसेज पर आज हम आपको बताएंगे कि 19 से 25 नवंबर तक आपके सितारे कैसे रहेंगे। आपकी राशि के मुताबिक़ हम आपको जानकारी देंगे कि इस सप्ताह में करियर, शिक्षा और धन को लेकर आपका भविष्य कैसा रहेगा। साथ ही हम आपको यह भी बताएंगे कि किन राशियों के बिजनेस में या नौकरी में परिवर्तन के योग बनेंगे। प्रेम संबंधों के लिए ये सप्ताह कैसा रहेगा इसका लेखा जोखा भी हम आपको देंगे। साथ ही बता दें कि नवंबर का ये हफ्ता सिंह, वृश्चिक, धनु और मकर राशियों के लिए बहुत ख़ास रहेगा।


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि।

मेष


मेष राशि के जातक इस सप्ताह किसी सुदूर यात्रा पर जा सकते हैं और साथ ही साथ उन्हें अत्यधिक खर्च का सामना करना पड़ सकता है इसलिए पैसे के मामले में सोच विचार कर ही कोई निर्णय लें। दूसरी और आमदनी में वृद्धि होगी और आप कुछ हद तक…आगे पढ़ें

वृषभ


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार वृषभ राशि के जातकों के लिए यह सप्ताह काफी अच्छा रह सकता है क्योंकि इस दौरान ना केवल उन्हें उत्तम धन लाभ होगा बल्कि सुदूर यात्रा का भी योग बनेगा। कार्यक्षेत्र में आपकी धाख जमेगी और आपके अधिकारों में…आगे पढ़ें 

मिथुन


इस सप्ताह मिथुन राशि के लोग कार्यक्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करेंगे और उनके काम की सराहना होगी। पारिवारिक जीवन सुचारु रुप से चलता रहेगा और सामान्य रूप से शांति रहेगी तथा पिताजी को कुछ…आगे पढ़ें 

कर्क


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार कर्क राशि के लोग इस सप्ताह अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देंगे तो अच्छा होगा और अपना खान-पान संतुलित रखना और अत्यधिक तले भुने और गरम मसालों से परहेज आपको काफी हद तक…आगे पढ़ें 

सिंह


इस सप्ताह आपको अपने प्रयासों से हर काम में सफलता मिलेगी और परिवार में किसी शुभ कार्य के होने से मन खिला-खिला रहेगा। कार्यक्षेत्र में आपको अपने सहकर्मियों का सहयोग मिलेगा और यदि आप प्रयासरत हैं तो…आगे पढ़ें

कन्या


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार कन्या राशि के जातक इस सप्ताह अपने परिवारिक और पेशेवर जीवन के बीच तालमेल बिठाने के लिए मेहनत करेंगे। किसी बात को लेकर परिवार में तनाव का माहौल रह सकता है जिससे…आगे पढ़ें 

तुला


इस सप्ताह आप अपने अंदर एक विशेष प्रकार का आकर्षण अनुभव करेंगे। आपकी वाणी में भी मिठास बढ़ेगी और लोग आपसे प्रभावित होंगे जिसके कारण आप अनेक प्रकार के…आगे पढ़ें 

वृश्चिक


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार वृश्चिक राशि के जातक अपनी कार्य कुशलता के चलते कई क्षेत्रों में सफलता अर्जित करेंगे। परिवार में कुछ परेशानी रह सकती है और संभवतया आप की माताजी का…आगे पढ़ें 

धनु


इस सप्ताह आपका आचरण काफी धार्मिक रहेगा और आप धर्म संबंधी क्रियाकलापों पर काफी हद तक खर्च करेंगे। कुछ लोगों को विदेश यात्रा का सौभाग्य मिलेगा और…आगे पढ़ें

मकर


मकर राशि वालों के लिए यह सप्ताह काफी धन लाभ लेकर आ रहा है और यदि आप अपने मार्ग में आने वाली अपॉर्चुनिटी को लेकर सजग रहें तो आप एक शानदार समय का आनंद लेंगे जिसमें आपको अनेक प्रकार से…आगे पढ़ें

कुंडली मिलान के लिए क्लिक करें

कुंभ


साप्ताहिक राशिफल के अनुसार इस सप्ताह आप किसी कम दूरी की यात्रा पर जा सकते हैं। यह यात्रा आप अपनी खुशी से किसी मित्र मंडली के साथ कर सकते हैं अथवा परिवार के साथ…आगे पढ़ें

मीन


मीन राशि वाले जातकों को इस सप्ताह भी अपने कार्यस्थल पर काफी मेहनत करनी होगी लेकिन आपको इससे परेशान नहीं होना चाहिए क्योंकि भविष्य में यही मेहनत आप के लाभ का मार्ग प्रशस्त करेगी। परिवार में…आगे पढ़ें 

एस्ट्रोसेज की ओर से आप सभी को शुभकामनाएँ!
Read More »

जानिये देवउठनी एकादशी के दिन क्यों किया जाता है तुलसी विवाह का आयोजन

पढ़ें देवउठनी एकादशी पर आखिर क्या है तुलसी विवाह का महत्व, जानिए देवोत्थान एकादशी की पूजा विधि और सही मुहूर्त !
कल यानि 19 नवंबर 2018 को देवउठनी एकादशी ग्यारस है। जिसे हम प्रबोधिनी एकादशी के नाम से भी जानते हैं। प्रबोधिनी एकादशी के साथ ही चातुर्मास काल समाप्त हो जाता है और मंगलकार्य शुरू किए जाते हैं, क्योंकि ये माना जाता है कि चातुर्मास में कोई भी मंगलकार्य करना वर्जित होता है। तो आइए जानते हैं विस्तार से इस दिन और इसके मुहूर्त के बारे में।

देवउठनी एकादशी व्रत मुहूर्त New Delhi, India के लिए

देवउठनी एकादशी मुहूर्त
06:47:17 से 08:55:00 तक 20th, नवंबर को
अवधि
2 घंटे 7 मिनट


देवउठनी ग्यारस दीपावली के बाद आती है। मान्यता है कि आषाढ़ शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवशयन करते हैं जो कार्तिक शुक्ल पक्ष की एकादशी के दिन उठते हैं, यही कारण है कि इसे देवोत्थान एकादशी कहा जाता है।

हिन्दू शास्त्रों अनुसार देवउठनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु क्षीरसागर में 4 महीने शयन करने के बाद जगते हैं। इसीलिए ही भगवान विष्णु के शयनकाल के चार मास में विवाह आदि मांगलिक कार्य करना वर्जित होता है और देवोत्थान एकादशी पर भगवान विष्णु के जागने के बाद शुभ तथा मांगलिक कार्य दुबारा शुरू होते है। मांगलिक कार्य की शुरुआत होने के साथ ही इसी दिन सबसे पहले तुलसी विवाह का आयोजन भी किया जाता है।


देवोत्थान एकादशी व्रत और पूजा विधि

देवउठनी ग्यारस यानी प्रबोधिनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु का पूजन और उनको जगाने की प्रार्थना की जाती है। इस दिन होने वाले धार्मिक कर्म इस प्रकार हैं-
  • इस दिन प्रातःकाल उठकर व्रत का संकल्प लेना चाहिए और भगवान विष्णु का ध्यान करना चाहिए।
  • घर की सफाई के बाद स्नान आदि से निवृत्त होकर आंगन में भगवान विष्णु के चरणों की आकृति बनाना चाहिए।
  • एक ओखली में गेरू से चित्र बनाकर फल,मिठाई,बेर,सिंघाड़े,ऋतुफल और गन्ना उस स्थान पर रखकर उसे डलिया से ढांक देना चाहिए। 
  • इस दिन रात्रि में घरों के बाहर और पूजा स्थल पर दीये जलाना चाहिए।
  • रात्रि के समय परिवार के सभी सदस्य को भगवान विष्णु समेत सभी देवी-देवताओं का पूजन करना चाहिए।
  • इसके बाद भगवान को शंख, घंटा-घड़ियाल आदि बजाकर उठाना चाहिए और ये वाक्य दोहराना चाहिए- उठो देवा, बैठा देवा, आंगुरिया चटकाओ देवा, नई सूत, नई कपास, देव उठाये कार्तिक मास

तुलसी विवाह का आयोजन

देवउठनी एकादशी के दिन देशभर में तुलसी विवाह का आयोजन बड़ी धूमधाम से किया जाता है। जिसकी प्रक्रिया के लिए तुलसी के वृक्ष और शालिग्राम की शादी अन्य सामान्य विवाह की तरह पुरे विधि-विधान के साथ की जाती है। तुलसी को विष्णु प्रिया भी कहते हैं इसलिए माना जाता है कि देवता जब जागते हैं, तो सबसे पहली प्रार्थना हरिवल्लभा तुलसी की ही सुनते हैं। शास्त्रों के अनुसार तुलसी विवाह का सीधा अर्थ है, तुलसी के माध्यम से भगवान का धरती पर आह्वान कराना। कई ज्योतिषी ये सलाह देते है कि जिन दंपत्तियों के कन्या नहीं होती, वे जीवन में एक बार तुलसी का विवाह करके कन्यादान का पुण्य अवश्य प्राप्त करें।

आप सभी को एस्ट्रोसेज की ओर से देवउठनी एकादशी और तुलसी विवाह की ढेरों शुभकामनाएँ।
Read More »

सूर्य के गोचर से आपकी राशि पर पड़ने वाला हैं ये बड़ा प्रभाव, हो जाएं सावधान !

सूर्य कर रहा है अपना स्थान परिवर्तन। जानें सूर्य के इस गोचर का आपकी राशि पर क्या पड़ने वाला है प्रभाव ! 
ज्योतिष में सूर्य को नवग्रहों के राजा होने का दर्जा प्राप्त है, जो हर महीने राशि परिवर्तन करते हैं। सूर्य के गोचर यानी कि जब सूर्य एक राशि से दूसरी राशि में स्थान परिवर्तन करते हैं तो उसे सूर्य संक्रांति कहा जाता है। सभी नौ ग्रहों के राजा होने के चलते माना गया हैं कि सूर्य को रोज़ाना जल अर्पित करने से उससे संबंधी हर दोष दूर होता है। देव सूर्य को आत्मा, पिता, पूर्वज, मान-सम्मान, प्रतिष्ठा व उच्च सरकारी सेवा का कारक माना गया है। चूकि सूर्य एक राशि में एक महीने की अवधि तक गोचर करता है तो ऐसे में इस काल के दौरान वह विभिन्न राशियों के अलग-अलग भावों में स्थित होकर उनपर उसका प्रभाव डालता है। बारह राशियों में से सूर्य सिंह राशि के स्वामी है।

गोचर का समय 

हिन्दू शास्त्रों अनुसार सूर्य के स्थान परिवर्तन की अवधि लगभग एक महीने की होती है। साल 2018 में 16 नवंबर, शुक्रवार को शाम 6 बजकर 48 मिनट पर सूर्य वृश्चिक राशि में गोचर करेगा जो इस राशि में 16 दिसंबर 2018, रविवार सुबह 9 बजकर 25 मिनट तक स्थित रहने वाला है। 


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैलकुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि

मेष

सूर्य आपकी राशि से आठवें भाव में गोचर करने वाला है। जिसके परिणामस्वरुप आप स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां जैसे बुख़ार, सिरदर्द आदि से पीड़ित रह सकते है…आगे पढ़ें 

वृषभ

आपकी राशि से सूर्य सातवें भाव में प्रवेश करेगा। जिसके चलते आपके करियर में ग्रोथ देखने को मिल सकती है…आगे पढ़ें 

मिथुन

आपकी राशि से सूर्य छठे भाव में गोचर करेगा। ऐसे में इस गोचर से आपके द्वारा किए गए प्रयास सफल होंगे जिसका लाभ भी आपको ही प्राप्त होगा…आगे पढ़ें 

कर्क

सूर्य आपकी राशि से पांचवें भाव में प्रवेश करेगा। इसके परिणामस्वरूप आर्थिक लाभ होगा और साथ ही आपको अपने साथी संग मतभेद होने के चलते प्रेम संबंधों में परेशानी व तनाव महसूस होगा…आगे पढ़ें 

सिंह

सूर्य आपकी राशि से चौथे भाव में गोचर करेगा जिससे आपको सरकारी फायदे जैसे घर, गाड़ी आदि सुविधाओं का लाभ प्राप्त होगा…आगे पढ़ें 

कन्या 

सूर्य आपकी राशि से तीसरे भाव में प्रवेश कर रहा है। इस अवधि के दौरान आपके साहस में कमी देखी जायेगी लेकिन बावजूद इसके आप अपने संकल्प के प्रति अडिग रहेंगे…आगे पढ़ें

तुला

आपकी राशि से सूर्य दूसरे भाव में प्रवेश करेगा। ऐसे में आपकी भाषा कठोर हो जाएगी जिससे परिवार में विवाद हो सकते हैं…आगे पढ़ें

वृश्चिक

सूर्य आपकी राशि में गोचर करेगा और प्रथम भाव में स्थित रहेगा। इस गोचर काल के दौरान आपका ध्यान केवल अपने काम पर ही केंद्रित रहेगा हालांकि इस अवधि में आपके समक्ष कई तरह की रुकावटें भी आती रहेंगी…आगे पढ़ें

धनु

आपकी राशि से सूर्य बारहवें भाव में प्रवेश लेगा। जिसके चलते आपको बुख़ार, पेट दर्द, अनिद्रा या नेत्र संबंधित समस्याएं आ सकती हैं…आगे पढ़ें

मकर

सूर्य आपकी राशि से ग्यारहवें भाव में स्थित रहने वाला है। इस चलते आपको अप्रत्याशित लाभ मिलने की संभावना है…आगे पढ़ें

कुंडली मिलान के लिए क्लिक करें

कुंभ

आपकी राशि से सूर्य दसवें भाव में गोचर करेगा। गोचर के दौरान आपको कार्यक्षेत्र में तरक्की प्राप्त होगी…आगे पढ़ें

मीन

सूर्य आपकी राशि से नौवें भाव में प्रवेश करेगा। इस गोचर से आपके जीवन में संघर्ष बढ़ जाएगा और हर कार्य को पूर्ण करने के लिए आपको ज़्यादा मेहनत करनी होगी…आगे पढ़ें

एस्ट्रोसेज की ओर से आप सभी को शुभकामनाएँ!
Read More »

छठ पूजा: इसलिए बेहद ख़ास होती है छठ पूजा की संध्या अर्घ

पढ़ें छठ पूजा के दिन संध्या अर्घ और उषा अर्घ का क्यों होता है ख़ास महत्व और साथ ही जानें पूजा की सम्पूर्ण विधि और सही मुहूर्त।
छठ पर्व कार्तिक माह की शुक्ल षष्ठी को मनाया जाने वाला उत्तर भारत के कुछ राज्यों जैसे की बिहार, झारखण्ड और पूर्वी उत्तर प्रदेश का मुख्य लोकपर्व है। इन राज्यों के प्रमुख पर्वों में से छठ पूजा को महापर्व के रूप में जाना जाता है जिसे बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है। बीते कुछ वर्षों में आस्था के इस महापर्व को उत्तर भारत के राज्यों के अलावा देश के अन्य भागों में भी मनाया जाने लगा है। इस दिन विशेष रूप से छठ माता और सूर्य देव की पूजा अर्चना की जाती है। छठ पूजा वैसे तो चार दिनों का त्यौहार है लेकिन इस पर्व में सबसे ज्यादा महत्ता तीसरे और चौथे दिन की होती है जिसे क्रमशः संध्या अर्घ और उषा अर्घ के नाम से जाना जाता है।

छठ पूजा मुहूर्त 2018

       13 नवंबर (संध्या अर्घ ) सूर्यास्त का समय : 17:28:46

        14 नवंबर (उषा अर्घ ) सूर्योदय का समय : 06:42 :31

सूचना: उपरोक्त मुहूर्त नई दिल्ली के लिए प्रभावी है। 


इस प्रकार से करें छठी मैया और सूर्य देव की पूजा अर्चना 

छठ पूजा के दिन विशेष रूप से छठी मैया की पूजा अर्चना की जाती है। एक पौराणिक मान्यता के अनुसार छठ पूजा विशेष रूप से महिलाएं अपनी संतानों की लंबी आयु के लिए करती है। ऐसा माना जाता है की छठी मैया जिन्हें षष्ठी माता भी कहते हैं खासतौर से बच्चों को लम्बी उम्र प्रदान करने वाली देवी के रूप में जानी जाती है। इन्हें माता कात्यायनी का रूप माना गया है जिनकी पूजा नवरात्रि में षष्ठी तिथि को होती है। मुख्य रूप से बिहार और झारखण्ड में षष्टी माता को ही स्थानीय भाषा में छठी मैया कहा गया है। 

चार दिनों का महापर्व 

  • नहाय खाये ( पहला दिन ) 
छठ पूजा की शुरुवात विशेष रूप से इसी दिन से की जाती है। इस दिन छठ पूजा के व्रत की शुरुवात करने वाली महिलाएं खासतौर से स्नान करके घर की साफ़ सफाई करती हैं और इस दिन केवल शाकाहारी भोजन ग्रहण किया जाता है। 

  • खरना (दूसरा दिन)
खरना को छठ पूजा के दूसरे दिन के रूप में जाना जाता है। इस दिन महिलाएं पूरे दिन निर्जला व्रत रखती हैं और शाम के वक़्त विशेष रूप से गुड़ की खीर, फल और घी लगी हुई रोटियां प्रसाद के रूप में चढ़ाने के बाद खुद भी उसका सेवन करती हैं। यही गुड़ की खीर, फल और घी लगी हुई रोटियां परिवार के अन्य सदस्यों को प्रसाद स्वरुप बांटी। 

  • संध्या अर्घ ( तीसरा दिन ) 
संध्या अर्घ को सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण माना जाता है। कार्तिक शुल्क की षष्टी को संध्या अर्घ के दौरान सूर्य देव को दूध और जल का अर्घ अर्पित किया जाता है। इस दिन सभी व्रती महिलाएं प्रसाद स्वरुप बांस की बनी सूप और टोकरियों में ठेकुआ, चावल के लड्डू और फल लेकर अपने परिवार के साथ नदी घाट पर पहुँचती है। संध्या अर्घ के दिन डूबते सूर्य को अर्घ दिया जाता है और छठी माता का लोक गीत एवं पौरणिक कथाएं भी सुनी जाती है। 

  • उषा अर्घ ( चौथा दिन ) 
उषा अर्घ या भोर का अर्घ विशेष रूप से छठ पर्व की समाप्ति का दिन होता है। इस दिन सुबह सूर्योदय से पहले ही व्रती अपने-अपने परिवार के साथ किसी नदी या घाट पर पहुँचकर उगते सूर्य को अर्घ देते है। व्रती महिलाएं विशेष रूप से अर्घ के बाद छठी माता से अपनी संतानों के लिए लंबी आयु और परिवार की सुख शांति की कामना करती हैं। पूजा के बाद सभी व्रती महिलाएं कच्चे दूध का शरबत और प्रसाद खाकर अपना व्रत खोलती हैं। 


इस विधि से संपन्न करें छठ पूजा 

  • पूजा से पहले ये सामग्रियां विशेष रूप से एकत्रित कर लें !
  • थाली, दूध, ग्लास, तीन बांस की टोकरी, तीन बांस से बने सूप या पीतल के सूप।
  • नारियल, गन्ना, शकरकंद, चकोतरा या बड़ा निम्बू, सुथनी, लाल सिन्दूर, चावल, कच्ची हल्दी, सिंघारा आदि। 
  • कर्पूर, चन्दन, दिया, शहद, पान , सुपारी, कैराव, नाशपाती। 
  • प्रसाद के लिए मालपुआ, खीर पूरी, ठेकुआ, सूजी का हलवा और चावल के लड्डू रखें। 

इस विधि से अर्पण करें अर्घ 

  • सबसे पहले बांस और पीतल की टोकरियों में उपरोक्त सामनों को रखें।
  • इसके बाद हर सूप में एक दिया और अगरबत्ती जरूर जलाएं। 
  • फिर सूर्य को अर्घ देने के लिए नदी या तालाब में उतरें। 

छठ पूजा का धार्मिक और सांस्कृतिक महत्व 

छठ पूजा को धार्मिक और सांस्कृतिक आस्था के महापर्व के रूप में जाना जाता है। इस पर्व में विशेष रूप से सूर्य देव को अर्घ अर्पण करने का ख़ास महत्व है। हिन्दू धर्मशास्त्र में सूर्य देव को विशेष महत्व दिया जाता है क्योंकि सूर्य ही एक मात्र ऐसे देवता हैं जिन्हें सामने से लोग देख सकते हैं। सूर्य की पवित्र किरणों में बहुत से रोगों को हरने की शक्ति होती है, इसके अलावा सूर्य के प्रकाश से मनुष्य अरोग्य और आत्मविश्वास से परिपूर्ण बनता है। छठ के पावन पर्व पर लोग छठी मैया और सूर्य देव की पूजा अर्चना विशेष रूप से संतान सुख प्राप्ति और अपने बच्चों की लम्बी आयु के लिए करते हैं। ऐसा माना जाता है की छठ पर्व पर सच्चे मन से मांगी गयी सभी मनोकामनाएं निश्चित रूप से पूरी होती है। 

ज्योतिषशास्त्र और खगोलीय दृष्टिकोण से छठ पर्व का महत्व 

देखा जाएँ तो ज्योतिषशास्त्र और खगोलीय दृष्टिकोण से भी छठ पर्व की विशेष महत्ता होती है क्योंकि शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को सूर्य पृथ्वी के दक्षिणी गोलार्ध में स्थित रहता है और इसे एक विशेष खगोलीय अवसर के रूप में माना जाता है। इस अवधि में सूर्य की किरणें पृथ्वी पर ज्यादा मात्रा में जमा हो जाती है जिससे मनुष्यों पर इन किरणों का असर ज्यादा हानिकारक पड़ता है। इससे बचाव के लिए छठ पर्व के अवसर पर सूर्य देव की विशेष पूजा अर्चना की जाती है और उन्हें अर्घ दिया जाता है। 

हम उम्मीद करते हैं की छठ पूजा के पवन अवसर पर आधारित हमारा ये लेख आपको पसंद आये। सभी पाठकों को छठ महापर्व की शुभकामनाएं ! 
Read More »