पाएं 2018 का सबसे बड़ा ज्योतिषीय कवरेज एस्ट्रोसेज पर

मुफ्त में पाएं 2018 की ज्योतिषीय कवरेज! 2018 में सफलता और समृद्धि पाने के लिए एस्ट्रोसेज खास आपके लिए लेकर आया है दुनिया की सबसे बड़ी ज्योतिषीय कवरेज। एस्ट्रोसेज पेश करता है त्रिकाल संहिता 2018, महाकुंडली, चाइनीज राशिफल, कुंडली आधारित राशिफल 2018, टैरो कार्ड राशिफल, कृष्णमूर्ति पद्धति पर आधारित भविष्यफल, लाल किताब राशिफल और भी बहुत कुछ। हमारी इन सेवाओं का मुफ्त में लाभ उठाकर नये साल को बनाएं और भी खुशनुमा और पाएं जीवन के हर क्षेत्र में बंपर सफलता। तो अब बिल्कुल देर मत कीजिये और नववर्ष में अपनी उम्मीदों को नये पंख और नई ऊर्जा देने के लिए हमारी इन ज्योतिषीय सेवाओं का फौरन लाभ उठाइये। क्योंकि “2018 के सबसे बड़े ज्योतिषीय कवरेज” में छुपा है आपकी सफलता और समृद्धि का राज! आइये जानते हैं हमारे पास 2018 को लेकर आपके लिए क्या है खास?

2018 में स्पेशल ऑफर के साथ, हमारे खास प्रॉडक्ट 
  • त्रिकाल संहिता 2018
  • कुंडली आधारित भविष्यफल 2018
  • ग्रह गोचर रिपोर्ट 2018
  • करियर और व्यवसाय रिपोर्ट 2018
  • विवाह रिपोर्ट 2018
  • प्रेम जीवन रिपोर्ट 2018
  • स्वास्थ्य रिपोर्ट 2018
  • शिक्षा रिपोर्ट 2018 
  • ज्योतिषीय उपाय रिपोर्ट 2018

एस्ट्रोसेज ने हमेशा जीता आपका विश्वास

एस्ट्रोसेज ज्योतिष जगत में एक जाना-पहचाना और तेजी से उभरता हुआ नाम है। ऑनलाइन एस्ट्रोलॉजी सर्विस के मामले में एस्ट्रोसेज ने भारत के साथ-साथ दुनियाभर में अपनी पहचान बनाई है। आज 80 लाख से अधिक डाउनलोड के साथ “एस्ट्रोसेज कुंडली एप” भारत का #1 कुंडली एप बन चुका है। यह एप आज हिन्दी-इंग्लिश समेत भारत की 8 प्रादेशिक भाषाओं में उपलब्ध है। तकनीक की मदद से हम अपनी ज्योतिष सेवाओं को लगातार बेहतर बनाने की कोशिश कर रहे हैं। हम अपने विभिन्न ज्योतिष उत्पादों के माध्यम से देश-विदेश में विगत 15 वर्षों से निरंतर अपनी सेवाएं देते आ रहे हैं। इनमें ऑनलाइन ज्योतिष परामर्श, विभिन्न ज्योतिष रिपोर्ट और अन्य ज्योतिष उत्पाद प्रमुख है। ये सभी सेवाएं विद्वान ज्योतिषियों के मार्गदर्शन में तैयार की जा रही है। इसलिए हमारे उत्पाद गुणवत्ता की कसौटी पर हमेशा खरे उतरे हैं। इसके अतिरिक्त ऑनलाइन माध्यम से भुगतान, प्रॉडक्ट की डिलीवरी, ग्राहक सेवा और बेहतर रिफंड पॉलिसी से हमने हमेशा ग्राहकों का विश्वास जीता है।

प्राचीन ज्योतिष पद्धतियां और हमारे उत्पाद

वैदिक ज्योतिष एक प्राचीन विद्या है, जिसका जिक्र वेदों में मिलता है लेकिन आजकल जमाना मीडिया का है। ऐसे में आपको ज्योतिष शास्त्र की कई पद्धतियों के बारे में सुनने को मिलता है। इनमें भृगु संहिता, पाराशरी ज्योतिष, कृष्णमूर्ति पद्धति, नाड़ी ज्योतिष, जैमिनी ज्योतिष, पाश्चात्य पद्धति और लाल किताब आदि प्रमुख हैं। इन सभी पद्धतियों का अपना महत्व और स्थान है इसलिए इनसे प्राप्त होने वाले ज्योतिषीय विश्लेषण और भविष्यफल बेहद मायने रखते हैं। इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए एस्ट्रोसेज ज्योतिष से जुड़ी इन सभी पद्धतियों के आधार पर ज्योतिषीय रिपोर्ट और परामर्श प्रदान करता आ रहा है। हमारे पास 100 से अधिक विद्वान और दिग्गज ज्योतिषियों की टीम, जिन्हें ज्योतिष शास्त्र की कई शाखाओं में महारत हासिल है। 

तकनीक और अनुभव

ई-कॉमर्स के क्षेत्र में ज्योतिष उत्पादों के मामले में एस्ट्रोसेज के प्रॉडक्ट हमेशा अपनी गुणवत्ता और विश्वसनीयता के लिए जाने जाते हैं। इसकी सबसे बड़ी वजह है हमारे पास मौजूद तकनीक, संसाधन और अनुभव। हम आधुनिक और वैज्ञानिक के दौर में रह रहे हैं। इसलिए यह जरूरी है कि हम अपने कार्यों में तकनीक का सहारा लें और उसे बेहतर बनाएं। एस्ट्रोसेज ने यही करके दिखाया है। एस्ट्रोसेज के डायरेक्टर पुनीत पांडे एक प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य होने के साथ-साथ एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर भी हैं। इन्होंने आधुनिक युग में ज्योतिष विद्या को नये आयाम देने के लिए कई तरह के प्रयोग किये हैं। इनमें कुंडली सॉफ्टवेयर का निर्माण प्रमुख है। पुनीत पांडे द्वारा तैयार किया गया एस्ट्रोसेज कुंडली एप आज 50 लाख से अधिक डाउनलोड के साथ भारत का नंबर-1 कुंडली एप बन चुका है। तकनीक की मदद से हम अपनी ज्योतिष सेवाओं को लगातार बेहतर बनाने के लिए प्रयासरत हैं।

2018 से जुड़ी अहम ज्योतिषीय कवरेज को मुफ्त में जानने के लिए एस्ट्रोसेज के साथ जुड़े रहें। हम आशा करते हैं कि नववर्ष आपके लिए मंगलमय हो!


Read More »

सूर्य का धनु राशि में गोचर आज, जानें प्रभाव

इन 8 राशियों पर होगी सूर्य देव की दया दृष्टि ! पढ़ें सूर्य के धनु राशि में होने वाले गोचर का ज्योतिषीय प्रभाव और जानें आपके जीवन पर क्या होगा इसका असर।



वैदिक ज्योतिष में सूर्य को आत्मा, पिता और उच्च सरकारी सेवा का कारक माना जाता है। 16 दिसंबर 2017 को सूर्य ग्रह धनु राशि में गोचर कर रहा है। इस गोचर का प्रभाव सभी राशियों पर होगा। आईये इस राशिफल के माध्यम से जानते हैं आपकी राशि पर क्या होगा सूर्य के इस गोचर का असर?

यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। अपनी चंद्र राशि जानने के लिए क्लिक करें

मेष


इस अवधि में आप उच्च शिक्षा के संबंध में कोई योजना बना सकते हैं। आपकी लव लाइफ बेहद अच्छी रहेगी और बच्चे भी प्रसन्न रहेंगे। आगे पढ़ें…

वृषभ


अध्यात्म, ध्यान और प्राणायाम में आपकी रुचि बढ़ेगी। इस अवधि में किसी विवाद में फंसने की वजह से परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। आगे पढ़ें…

मिथुन


इस अवधि में जीवनसाथी या बिजनेस पार्टनर के साथ मतभेद हो सकते हैं। इन बातों से तनाव बढ़ेगा इसलिए बेवजह के विवादों से बचें। आगे पढ़ें…

कर्क


इस दौरान आपकी प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी और आप विरोधियों पर हावी रहेंगे। स्वास्थ्य संबंधी विकार से परेशानी हो सकती है इसलिए सेहत पर अधिक ध्यान दें। आगे पढ़ें…

शनि की साढ़े साती से हैं परेशान, समाधान के लिए प्राप्त करें: शनि साढ़े साती निवारण रिपोर्ट

सिंह


इसके परिणामस्वरुप आपकी आमदनी अच्छी रहेगी हालांकि फिर भी आप आय को लेकर संतुष्ट नहीं रहेंगे। आगे पढ़ें…

कन्या


ऐसे में आर्थिक लाभ होने की संभावना बन रही है, साथ ही आप लंबी दूरी की यात्रा पर भी जा सकते हैं। आगे पढ़ें…

तुला


इस अवधि में आपके भाग्य में वृद्धि होगी। आपको रिश्तेदारों, दोस्तों और भाई-बहनों से लाभ मिल सकता है। आगे पढ़ें…

वृश्चिक


इस अवधि में आप धन अर्जित करने में सफल रहेंगे हालांकि इस दौरान कोई भी निवेश संबंधी कार्य करने से बचें। आगे पढ़ें…

जॉब-बिजनेस के लिए कैसा रहेगा साल 2018, जानने के लिए प्राप्त करें: करियर रिपोर्ट

धनु


सूर्य देव आपकी राशि में गोचर करेंगे। इस गोचर के प्रभाव से आपको सरकारी मामलों में लाभ मिल सकता है। आगे पढ़ें…

मकर


इस दौरान खर्चों में बढ़ोतरी और अप्रत्याशित नुकसान होने से धन हानि हो सकती है। मन में कामुक विचार हावी रहने से आप किसी गलत संगत में पड़ सकते हैं। आगे पढ़ें…

कुंभ


इस गोचर के फलस्वरुप आप उस लक्ष्य को हासिल करने में सफल रहेंगे, जिसकी आप वर्षों से प्रतीक्षा कर रहे हैं। आगे पढ़ें…

मीन


यदि आप नई नौकरी की तलाश में हैं तो इस अवधि में आपकी यह तलाश खत्म हो जाएगी, साथ ही मौजूदा कार्यस्थल पर आपकी पदोन्नति होने की संभावना है। आगे पढ़ें…

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर
Read More »

पेश है "2018 त्रिकाल संहिता" - एस्ट्रोसेज द्वारा कुंडली-आधारित साल का विस्तृत फलादेश


क्या आप जानना चाहते हैं कि साल 2018 आपके लिए कैसा रहेगा? वर्ष 2018 को ख़ुशनुमा और सफल बनाने के लिए हम लेकर आए हैं "2018 त्रिकाल संहिता - एस्ट्रोसेज द्वारा कुंडली-आधारित भविष्यवाणी"। आशा और उमंग से भरे इस साल में आपके लिए ढेरों सौगात हैं। जीवन के हर क्षेत्र में सफलता पाने के आपके सपने इस साल साकार हो सकते हैं। बस जरुरत है तो सिर्फ एक अवसर की। सफलता और समृद्धि पाने का ऐसा ही एक मौका एस्ट्रोसेज लेकर आया है खास आपके लिए।  

2018 त्रिकाल संहिता है आपकी सफलता, समृद्धि और समस्याओं के समाधान की कुंजी। आपने आम राशिफल तो अक्सर पढ़ा होगा लेकिन कुंडली आधारित भविष्यफल इससे बिल्कुल अलग है। इसकी सबसे बड़ी वजह है इसका सटीक फलादेश और विश्लेषण। कुंडली आधारित 2018 त्रिकाल संहिता के माध्यम से आप इस साल अपने जीवन में होने वाली विभिन्न घटनाओं की सटीक जानकारी पा सकते हैं। 2018 त्रिकाल संहिता में है आपके करियर, नौकरी, बिजनेस, शिक्षा, स्वास्थ्य, परिवार, विवाह और वैवाहिक जीवन से संबंधित भविष्यफल। इसके साथ-साथ आपकी समस्याएं और उनके समाधान। नौकरी, विवाह, शिक्षा और स्वास्थ्य से संबंधित परेशानियों को दूर करने के लिए प्रभावी उपाय। 2018 त्रिकाल संहिता में हैं इस साल आपकी कुंडली में निर्मित होने वाले राज योग और विशेष योग की जानकारी एवं उनके प्रभाव का आपके जीवन पर होने वाला असर। 


2018 त्रिकाल संहिता को प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य पंडित पुनीत पांडे के मार्गदर्शन में एस्ट्रोसेज की टीम ने तैयार किया है। उन्हें वैदिक ज्योतिष, लाल किताब, कृष्णमूर्ति पद्धति, नाड़ी ज्योतिष, जैमिनी ज्योतिष, पाश्चात्य पद्धति तथा अन्य कई विधाओं में महारथ हासिल है। 2018 त्रिकाल संहिता में ज्योतिष की विशेष पद्धतियों को सम्मिलित किया गया है और उनकी गणना के आधार पर आपका कुंडली आधारित सटीक भविष्यफल बनाया गया है।

2018 त्रिकाल संहिता की प्रमुख विशेषता

कुंडली आधारित भविष्यफल- 2018 त्रिकाल संहिता पूरी तरह से कुंडली आधारित रिपोर्ट है। इसमें जन्मतिथि, समय और स्थान के आधार पर आपके भविष्यफल की गणना की जाती है। इसलिए सामान्य राशिफल की तुलना में कुंडली आधारित भविष्यफल बिल्कुल अलग और विशेष है। 

करियर, धन, व्यापार, शिक्षा, विवाह, स्वास्थ्य- अच्छी जॉब, बिजनेस, पैसा और सेहत हर कोई चाहता है। लेकिन हर किसी को यह सब एक समय पर नसीब हो यह मुमकिन नहीं है। क्योंकि समय और परिस्थितियां हर वक्त एक जैसी नहीं होती हैं। इनमें उतार-चढ़ाव होता रहता है। अगर आपके मन में यह सवाल घूम रहा है कि क्या साल 2018 में मेरी नौकरी लगेगी, पदोन्नति होगी? क्या धन लाभ होगा, मेरी सेहत अच्छी रहेगी? क्या इस साल शादी के योग बनेंगे? इन सभी सवालों का जवाब 2018 त्रिकाल संहिता में आपको मिलेगा।

राज योग और आपका भाग्य- जिंदगी में किस्मत अक्सर आदमी को बुलंदियों पर पहुंचाती है। भाग्य का साथ मिलने पर इंसान तरक्की करता है। लेकिन बड़ा सवाल है कि भाग्य चमकता कब है? इसका जवाब आपको ज्योतिष शास्त्र में मिल सकता है। हर कुंडली में कुछ विशेष तरह के राज योगों का निर्माण होता है। इनके प्रभाव से मनुष्य को अपार सफलता और उन्नति मिलती है। हर वर्ष ग्रहों की स्थिति में परिवर्तन के फलस्वरुप भी इन राज योग और विशेष योगों का निर्माण होता है। इसलिए 2018 त्रिकाल संहिता के माध्यम से आप अपनी कुंडली में इस साल बनने वाले योगों की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। 

2018 में तरक्की के महाउपाय- कुछ पाने के लिए मेहनत करनी पड़ती है लेकिन मेहनत के साथ-साथ किस्मत का साथ होना भी जरूरी है। इसलिए ऐसा क्या किया जाए कि किस्मत चमक जाए? इसके लिए ज्योतिषीय उपाय बेहद कारगर हो सकते हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए 2018 त्रिकाल संहिता में विवाह, शिक्षा, नौकरी और व्यवसाय आदि से संबंधित समस्याओं के प्रभावी उपाय दिये गये हैं।

2018 में क्या है आपके लिए भाग्यशाली- कभी-कभी कुछ चीजें मनुष्य का भाग्य बदल सकती है। आपने अक्सर सुना होगा कि इस दिन इस रंग के कपड़े पहनें, इस दिशा में जाएं तो आपको सफलता मिलेगी। सुनने में यह थोड़ा अजीब लग सकता है लेकिन वैदिक ज्योतिष में इन बातों का जिक्र है। इसी कड़ी में 2018 त्रिकाल संहिता में आप पाएंगे इस साल आपके लिए कौन सी दिशा, दिन, अंक, रत्न और धातु आदि लाभकारी या भाग्यशाली साबित होंगे। इनकी मदद से आप विभिन्न कार्यों में सफलता सुनिश्चित करने के लिए रणनीति बना सकते हैं।

2018 त्रिकाल संहिता 100 से अधिक विद्वान ज्योतिषियों के मतों से तैयार एक विस्तृत कुंडली आधारित वार्षिक भविष्यफल है। जिसमें आपके जीवन के हर पहलू पर बड़ी ही बारीकी से चर्चा की गई है। साल के 12 महीनों में करियर, नौकरी, व्यवसाय, शिक्षा, विवाह, परिवार और स्वास्थ्य में होने वाले उतार-चढ़ाव का विश्लेषण किया गया है। अतः 2018 त्रिकाल संहिता निश्चित रूप से आपके लिए लाभकारी सिद्ध होगी।

Read More »

साप्ताहिक राशिफल (11 से 17 दिसंबर 2017)

इन राशियों में धन,विवाह,यात्रा के प्रबल योग! पढ़ें साप्ताहिक राशिफल और जानें इस हफ्ते क्या कहते हैं आपके सितारे?




यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि।

मेष


सप्ताह की शुरुआत में आपको मानसिक तनाव रह सकता है। आर्थिक लाभ के योग हैं। मन में कामुक विचार आ सकते हैं। अपने अंदर अहम को न पनपने दें और सावधानी के साथ वाहन चलाएं। व्यस्त दिनचर्या के कारण फै़मिली और प्रोफ़ेशनल लाइफ़ दोनों ही प्रभावित हो सकती हैं। हालांकि अपने कार्य से आप संतुष्ट होंगे। छात्र पढ़ाई में अच्छा प्रदर्शन करेंगे। संतान के लिए सप्ताह अनुकूल रहेगा। भाई-बहनों को समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

प्रेमफल: प्रेम प्रसंग के लिए सप्ताह अच्छा रहेगा। सप्ताह की शुरुआत अच्छी रहेगी और सप्ताहांत के बेहतर रहने के योग हैं। आप अपने लव पार्टनर के साथ ख़ास समय व्यतीत करेंगे। वहीं विवाहित जातकों को अपने गुस्से पर कंट्रोल करना होगा। इस सप्ताह जीवनसाथी आपके ऊपर हावी होने का प्रयास कर सकता है।

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: बरगद के वृक्ष की पूजा करें और उसकी जड़ पर दूध चढ़ाएं। फिर वृक्ष की जड़ की मिट्टी का तिलक लगाएं।


वृषभ


मन प्रफुल्लित रहेगा और आप ऊर्जा से सराबोर रहेंगे। कार्यक्षेत्र में परिस्थितियाँ उतार-चढ़ाव भरी रह सकती हैं। हालांकि सफलता पाने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी। आप विरोधियों को मात देने में सक्षम होंगे। आपका पारिवारिक जीवन अच्छा रहेगा। माता जी को स्वास्थ्य लाभ मिलेगा। छात्र पढ़ाई में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेंगे और उन्हें इसका अच्छा परिणाम भी प्राप्त होगा। अपने कर्तव्य के प्रति संतान उत्साहित रहेगी।

प्रेमफल: प्रेम संबंध के लिए सप्ताह अच्छा रहेगा। आप अपने प्रेम को रिश्ते को वैवाहिक रिश्ते में बदल सकते हैं। यदि विवाहित हैं तो जीवनसाथी के साथ रोमांस करने का मौक़ा मिलेगा। हालांकि अहम का टकराव दोनों के बीच विवाद को जन्म दे सकता है इसलिए अपने ज़ेहन में अहम को न पनपने दें।

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: नित्य श्री विष्णु सहस्राम का पाठ करें। 


मिथुन


पारिवारिक जीवन में सुख-शांति रहेगी। हालांकि आपके ख़र्चों में वृद्धि की संभावना है। आप अपनी जॉब बदलने का विचार कर सकते हैं। हालांकि कार्यक्षेत्र से आपको ख़ुशख़बरी भी प्राप्त हो सकती है। आध्यात्म की ओर आपका झुकाव होगा। आपके शत्रुओं की भी संख्या बढ़ सकती है। परंतु फिर भी आप उनके ऊपर हावी रहेंगे। आर्थिक लाभ होने की प्रबल संभावना है। धनार्जन के लिए आप विदेश भी जा सकते हैं। यदि बैंक लोन है तो आप उसे चुका सकते हैं।

प्रेमफल: प्रेम जीवन में चुनौतियाँ आ सकती हैं। लव पार्टनर के साथ किसी बात को लेकर विवाद संभव है। यदि आप विवाहित हैं तो जीवनसाथी को किसी प्रकार की उपलब्धि प्राप्त हो सकती है। आपके दाम्पत्य जीवन में मधुरता आएगी। हालांकि जीवनसाथी की सेहत कमजोर रह सकती है।

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: चना एवं गुड़ का दान करें। 


कर्क


इस सप्ताह भाई-बहन अपने कर्मक्षेत्र को लेकर उत्साहित रहेंगे। पारिवारिक में किसी तरह का विवाद देखने को मिल सकता है। माता जी की सेहत कमज़ोर रह सकती है। कार्य स्थल पर पदोन्नति की संभावना है। विवादों से दूर रहें। आप शत्रुओं को मात देने में सफल रहेंगे। कला के प्रति आपकी रुचि बढ़ेगी। आप नई चीज़ों को सीखने में दिलचस्पी दिखाएंगे। आपका बौद्धिक विकास होगा। आय के साधनों में वृद्धि होगी।

प्रेमफल: प्रेमी युगल के लिए सप्ताह बहुत ही बढ़िया रहेगा। सप्ताह की शुरुआत बेहतरीन रहेगी। मध्य भाग सामान्य और सप्ताहांत शानदार रहेगा। रिलेशनशिप में आप रोमांस का आनंद लेंगे। लव पार्टनर के साथ लॉन्ग ड्राइव, सिनेमा आदि जा सकते हैं। विवाहित जातकों को अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखना होगा। जीवनसाथी कामकाज के चलते विदेश जा सकता है। 

भाग्यस्टार: 4/5

उपाय: कुत्तों को दूध एवं रोटी खिलाएं। 



सिंह


परिवार में आनंद का वातावरण रहेगा। आपके साहस में वृद्धि होगी। भाई-बहनों को कोई समस्या हो सकती है। माता जी की सेहत गिर सकती है। छोटी दूरी की यात्रा के योग हैं। छात्रों को पढ़ाई के क्षेत्र में उपलब्धि हासिल होगी। यदि प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो उसमें सफलता मिलेगी। संतान सुखी रहेगी। कार्यक्षेत्र में आपका प्रदर्शन सराहनीय रहेगा और अपने प्रदर्शन के कारण आप लाभान्वित होंगे। 

प्रेमफल: प्रेम जीवन के लिए सप्ताह की शुरुआत सामान्य रहेगी। मध्य भाग ज़्यादा ख़ास नहीं है, परंतु सप्ताहांत के अच्छे रहने के योग हैं। रिलेशनशिप में धैर्य बनाए रखें और साथी की भावनाओं को समझने का प्रयास करें। यदि विवाहित है तो जीवन में ख़ुशियाँ आएंगी।

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: प्रतिदिन सूर्य देव को तांबे के पात्र से जल का अर्घ्य दें।


कन्या


छोटी दूरी की यात्रा योग में है। विभिन्न क्षेत्रों से लाभ मिलेगा। लड़ाई-झगड़ों से दूर रहें और कटु शब्दों का प्रयोग न करें। भाई-बहनों के साथ कोई दुर्घटना घट सकती है, लिहाज़ा उनका ध्यान रखें। संतान का स्वास्थ्य गिर सकता है। ऐसा संभव है कि आप अपने कार्य को लेकर थोड़े परेशान रहें। हालांकि आपके योग में अचानक धन लाभ है। माता जी की सेहत में गिरावट आ सकती है।

प्रेमफल: लव रिलेशनशिप के लिए सप्ताह सामान्य रहने के संकेत दे रहा है। प्रेम प्रसंग के लिए सप्ताहांत बेहतर रहेगा। अपने प्रियतम की भावनाओं को समझने की कोशिश करें। इससे आपका रिश्ता और भी गहरा होगा। विवाहित हैं तो जीवनसाथी को अच्छे परिणाम मिलने के आसार हैं, परंतु उनका स्वास्थ्य कमजोर रह सकता है।

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: कुत्तों को दूध एवं रोटी खिलाएं। 


तुला


अपने ग़ुस्से पर नियंत्रण रखें। कार्य स्थल पर थोड़ा सतर्क रहें, क्योंकि कोई शख़्स आपके खिलाफ़ साज़िश रच सकता है। आपकी दिनचर्या बेहद व्यस्त रह सकती है लिहाज़ा अपनी सेहत पर भी ध्यान दें। छात्र पढ़ाई में मेहनत करेंगे और परीक्षा में उन्हें अच्छे अंक प्राप्त होंगे। संतान अपनी लाइफ स्टाइल से प्रसन्न रहेगी। पिता जी को क़ारोबार से लाभ प्राप्त होने की संभावना है। 

प्रेमफल: प्रेम संबंधों के लिए सप्ताह अच्छा रहेगा। वीकेंड रिलेशनशिप के लिए बेस्ट पार्ट रहेगा। इस समय किसी ख़ास शख़्स के साथ नई रिलेशनशिप की शुरुआत हो सकती है। यदि आप विवाहित हैं तो आपको जीवनसाथी का पूरा सपोर्ट मिलेगा। 

भाग्यस्टार: 3.5/5

उपाय: काली गाय को गुड़ एवं गेहूँ खिलाएं।


ऑनलाइन सॉफ्टवेयर से मुफ्त जन्म कुंडली प्राप्त करें।

वृश्चिक


आपको मानसिक प्रसन्नता होगी। आप अपने कार्य को बड़ी आसानी से पूरा करेंगे। आप ऊर्जावान रहेंगे और कार्यक्षेत्र पर अपने कर्तव्यों का पालन करेंगे। अपने कार्य में आपको आनंद आएगा और आपकी आमदनी में वृद्धि होगी। हालांकि आपके ख़र्च में भी वृद्धि संभव है। इस बीच अपनी सेहत का ख्याल रखें। छात्र अध्ययन क्षेत्र में जमकर मेहनत करते हुए नज़र आएंगे।

प्रेमफल: प्रेम जीवन के लिए सप्ताह की शुरुआत बढ़िया रहेगी और इसका अंत प्रेम में गति प्रदान करेगा। हालांकि किसी कारण आप अपने साथी से दूर जा सकते हैं। फिर भी दोनों के बीच संवाद बना रहेगा। यदि आप विवाहित हैं तो जीवनसाथी आपके प्रति पूरी तरह समर्पित रहेगा। दोनों में प्रेम व रोमांस बना रहेगा। 

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: शनिवार के दिन काली मसूर दान करें। 


धनु


यह सप्ताह आपके लिए थोड़ा व्यस्त रहेगा। सामाजिक समारोह और मीटिंग्स आदि में आप नए-नए व्यक्तियों से मुलाकात करेंगे। अनैतिक कार्यों से दूर रहें। आपकी आमदनी में वृद्धि होगी। दूसरी ओर लग्जरी लाइफ में आप अपना पैसा ख़र्च कर सकते हैं। हालांकि आपको इससे बचने के लिए आर्थिक प्रबंधन करना होगा। पारिवारिक जीवन को लेकर थोड़े सतर्क रहें। प्रॉपर्टी व किराए की संपत्ति से आपको धन लाभ होगा। वीकेंड में आप प्रोफेशनल जर्नी में जा सकते हैं।

प्रेमफल: प्रेम मामलों के लिए सप्ताह मिलाजुला रहेगा। लव पार्टनर के ऊपर किसी तरह का दबाव न बनाएं और न ही अपने विचारों को उनपर थोपने का प्रयास करें। यदि आप विवाहित हैं तो जीवनसाथी का स्वास्थ्य कमजोर रह सकता है। विवाह योग्य जातकों के लिए रिश्ता आ सकता है।

भाग्यस्टार: 3.5/5

उपाय: पीपल के वृक्ष को जल चढ़ाएं। 


मकर


यात्रा से लाभ होगा। आप बौद्धिक रूप से अच्छे निर्णय लेंगे और इससे आपको प्रसन्नता मिलेगी। कर्मक्षेत्र पर आपकी तारीफ़ होगी। आपके कार्यों को सराहा जाएगा। पारिवारिक जीवन में सुख शांति आएगी, परंतु कुछ मुद्दों को लेकर विवाद हो सकता है। आपकी आमदनी में वृद्धि होगी लेकिन ख़र्च के मुकाबले आमदनी अधिक रहेगी। अपनी सेहत का ध्यान रखें। छात्रों का अध्ययन में मन लगेगा। संतान सुखी रहेगी।

प्रेमफल: लव रिलेशनशिप के लिए सप्ताह बढ़िया रहेगा। इसकी शुरुआत अच्छी रहेगी। मध्य भाग सामान्य और वीकेंड जबरदस्त रहेगा। इस समय आपको साथी के साथ रोमांस करने का मौक़ा मिलेगा। आप अपने पार्टनर के साथ लॉन्ग ड्राइव, पार्टी या फिर सिनेमा जा सकते हैं। यदि विवाहित हैं तो जीवनसाथी आपकी ख़ुशियों का कारण बनेगा। रिश्ते में ग़लतफ़हमी को पैदा न होने दें।

भाग्यस्टार: 4/5

उपाय: गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ करें।


कुम्भ


इस सप्ताह आपको थोड़ा मानसिक तनाव रह सकता है। करियर में उन्नति होगी। विभिन्न स्रोतों से धन का आगमन होगा। आध्यात्मिक कार्यों में आपकी विशेष रुचि दिखाई देगी। आप विरोधियों को मात देने में कामयाब रहेंगे। पिताजी की सेहत में गिरावट आने की संभावना है। पारिवारिक जीवन सुखी रहेगा। परंतु संतान को किसी प्रकार की दिक्कत रह सकती है। आपको भाई-बहनों का सहयोग प्राप्त होगा। ऑफिस में गॉसिपिंग से बचें।

प्रेमफल: प्रेम संबंध के लिए सप्ताह की शुरुआत अच्छी रहेगी। मध्य भाग थोड़ा चैलेंजिंग रह सकता है लेकिन वीकेंड में आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे। आप अपने प्रेम के रिश्ते को और भी प्रगाढ़ बनाने का प्रयास करेंगे। जो लोग विवाहित हैं उन्हें करियर में जीवनसाथी का सहयोग प्राप्त होगा। कुछ मुद्दों पर तकरार भी संभव है।

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: मंगलवार के दिन मंदिर के प्रांगण में अनार का पौधा लगाएं। 


मीन


इस सप्ताह आप जमकर मेहनत करेंगे। लेकिन आपकी सेहत में गिरावट हो सकती है। आपको बुखार, सिरदर्द आदि की समस्या हो सकती है। करियर में भी उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। गूढ़ विज्ञान और रिसर्च पर आपकी रुचि बढ़ेगी। छात्रों को अपनी पढ़ाई पर ध्यान देने की आवश्यकता होगी। आपको भाई-बहनों के द्वारा मदद मिलेगी।

प्रेमफल: प्रेम प्रसंग के लिए सप्ताह अच्छा रहेगा। सप्ताह का वीकेंड पार्ट प्रेम के लिए बहुत ही बढ़िया रहेगा। इस समय आप अपने लव पार्टनर के साथ कीमती समय बिताएंगे। दोनों साथ में लॉन्ग ड्राइव या फिर मनोरंजन के लिए भी जा सकते हैं। यदि विवाहित हैं तो जीवनसाथी की मदद से आपको लाभ प्राप्त होने की संभावना है।

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: कुत्तों को दूध एवं रोटी खिलाएं। 


रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिष समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर
Read More »

बुध का वृश्चिक राशि में गोचर कल, जानें प्रभाव

नौकरी और रिश्तों पर होगा बड़ा असर! बुध ग्रह 11 दिसंबर 2017 को 04:07 बजे वृश्चिक राशि में गोचर करने वाला है और 6 जनवरी 2018 को 20:01 बजे तक इसी राशि में स्थित रहेगा। बुध के इस गोचर का सभी 12 राशियों पर प्रभाव पड़ेगा। उन प्रभावों पर डालते हैं नज़र...



यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि जानने के लिए क्लिक करें चंद्र राशि कैलकुलेटर

मेष


आर्थिक स्थिति पहले से मज़बूत होगी। यदि लोन लेने की योजना बना रहे हैं तो इस दौरान आपको सफलता मिल सकती है। आगे पढ़ें...

वृषभ


इस दौरान निजी जीवन में प्रेम व आपसी सद्भाव बना रहेगा। प्यार भरी बातों से प्रेम संबंधों में और भी ज़्यादा मज़बूती आएगी। लव मैरिज के आसार हैं किंतु इसमें कुछ बाधाएं भी उत्पन्न हो सकती हैं। आगे पढ़ें...

मिथुन


गोचर की इस अवधि में आपका स्वास्थ्य कमज़ोर पड़ सकता है, इसलिए सेहत के मामले में अनदेखी न करें। बहस और विवाद में आपका ध्यान केंद्रित हो सकता है। आगे पढ़ें...

कर्क


इस दौरान आप कोई बड़ा संकल्प ले सकते हैं। संवाद शैली पहले से बेहतर होगी और आप बुद्धिमानी व समझदारी से काम लेंगे। आगे पढ़ें...


सिंह


आपके जीवन में खुशहाली व समृद्धि आएगी। घरेलू गतिविधियों में वक्त बिताकर परिवार वालों को खुश करेंगे। आगे पढ़ें...

कन्या


इस दौरान आप अपने जुनून व संकल्प को लेकर ज़्यादा गंभीर हो जाएंगे। संवाद शैली बेहतर होगी किंतु क्रोध पर काबू रखें। इस गोचर के दौरान आप अपनी जॉब भी बदल सकते हैं। आगे पढ़ें...

निःशुल्क ज्योतिष सॉफ्टवेयर से बनाएँ: ऑनलाइन कुंडली

तुला


वाणी में मिठास आएगी और अपनी बातों से दूसरों को आकर्षित कर सकेंगे। हो सकता है कि आपके इस मधुर व्यक्तित्व के कारण आपको कुछ और भी लाभ मिल जाएं। आगे पढ़ें...

वृश्चिक


इस दौरान आपका ध्यान आय के स्रोत को बढ़ाने पर रहेगा जिससे कई आर्थिक लाभ भी होंगे। सामाजिक समारोह में आना-जाना हो सकता है। भाई-बंधुओं के साथ विवाद हो सकते हैं इसलिए गुस्से पर काबू रखें। आगे पढ़ें...

धनु


गोचर की इस अवधि में आपके ख़र्चे बहुत बढ़ जाएंगे। बिजनेस या फिर व्यावसायिक मामलों के लिए आप विदेश की ओर रुख कर सकते हैं। आगे पढ़ें...


मकर


अपने लक्ष्यों का पूरा करने की लालसा बढ़ेगी और आप उस राह पर सकारात्मक भाव से आगे बढ़ेंगे। कुछ रुकावटें आ सकती हैं लेकिन आप उनका डटकर सामना करेंगे और आर्थिक लाभ प्राप्त करेंगे। आगे पढ़ें...

कुंभ


इस दौरान करियर में उतार-चढ़ाव आते रहेंगे हालांकि आप अपनी बुद्धि व समझदारी के बल पर कार्यों में सफलता हासिल कर लेंगे। निजी जीवन में प्यार बने रहने से संबंध मज़बूत होंगे। आगे पढ़ें...

मीन


अपने साथी के जरिए समाज में इज्जत हासिल करेंगे और आर्थिक लाभ का फायदा भी उठाएंगे। बिजनेस पार्टनर से भी लाभ की प्राप्ति होगी। किसी ईनाम या अवार्ड के हकदार भी हो सकते हैं। आगे पढ़ें…

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिष समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर
Read More »

शनि के कष्टों से मिलेगी मुक्ति! अभी करें ये 6 महाउपाय

क्या असफलता मिलने से निराश हैं,बनते काम बिगड़ जाते हैं? कड़ी मेहनत के बावजूद आपको सफलता नहीं मिल रही है? पैसे की कमी रहती है? क्या आपकी सेहत भी आपका साथ नहीं दे रही है? ऐसे में मुमकिन है कि आप शनि देव की वक्र दृष्टि के शिकार हों। तो अभी जानिये 6 सरल उपाय जो बचाएंगे आपको शनि के क्रोध से और दिलाएंगे जीवन में क़ामयाबी...


शास्त्रों में शनि देव के क्रोध के अनेक उदाहरण मिलते हैं। कहते हैं कि मेघनाद की कुंडली में रावण ने सारे ग्रहों को पकड़कर सबसे शुभ माने जाने वाले 11वें भाव में क़ैद कर दिया था। लेकिन त्रिलोक को जीतने वाला रावण भी शनि देव को रोक न सका और उन्होंने धीरे-से अपना पैर अनिष्ट-कारक 12वें भाव में बढ़ा दिया। शनि देव के इस कार्य की ही वजह से अपराजेय समझा जाने वाले मेघनाद का अंत बुरा हुआ।

वैदिक ज्योतिष के अनुसार भिन्न-भिन्न भावों में शनि का फल भी भिन्न-भिन्न होता है। शनि सूर्य पुत्र के नाम से विख्यात हैं। कहते हैं कि शनि जिसे चाहे राजा से रंक बना देता है और रंक से राजा। आइए देखते हैं क्या हैं वे 6 अचूक उपाय जो शनि के प्रकोप को शान्त कर उनकी कृपा-दृष्टि को आकर्षित करते हैं –

1. हनुमान चालीसा का पाठ

हनुमान चालीसा का नियमित पाठ शनिदेव के प्रकोप से बचने का रामबाण उपाय है। अगर आप पर शनि की ढैया या साढे साती चल रही है और शनि द्वारा दिए कष्टों से पीड़ित हैं, तो हनुमान चालीसा का पाठ आपके लिए अचूक उपाय की तरह है। कहा जाता है कि हनुमान जी ने शनि देव को लंका में दशग्रीव के बंधन से मुक्त कराया था। ऐसा भी कहा गया है कि कलियुग में अभिमानवश एक बार शनिदेव हनुमान जी के पास गए और बोले - “तुमने मुझे त्रेता में ज़रूर बचाया था, लेकिन अब यह कलिकाल है। मुझे अपना काम करना ही पड़ता है। इसलिए आज से तुम्हारे ऊपर मेरी साढ़े साती शुरू हो रही है। मैं तुम पर आ रहा हूँ।” यह कहते हुए वे हनुमान जी के मस्तक पर सवार हो गए। शनिदेव के कारण हनुमान जी को सर पर खुजली होने लगी, जिसे मिटाने के लिए उन्होंने सर पर एक विशाल पर्वत रख लिया। जिसके नीचे शनिदेव दब गए और “त्राहि माम् त्राहि माम्” चिल्लाने लगे। उन्होंने हनुमान जी से याचना की और कहा कि वे आगे से उन्हें या उनके भक्तों को कभी परेशान नहीं करेंगे। हनुमान चालीसा हनुमान जी के स्तोत्रों में बहुप्रचलित और अनन्त शक्ति संपन्न है। इसका पाठ शनि के सभी कष्टों से मुक्ति दिलाने वाला कहा गया है।

मोबाइल या टेब पर अभी मुफ्त में डाउनलोड करें: हनुमान चालीसा ई-पुस्तक

2. शनि मंत्र का जाप

कहते हैं कि मन्त्रों में इतनी शक्ति होती है कि उनका सही उपयोग मरे हुए को भी ज़िन्दा कर सकता है। हर देवता का अपना मन्त्र होता है, जिसको विधि-पूर्वक जपना उस देवता को प्रसन्न करने का सबसे आसान तरीक़ा है। शनि देव के निम्न मंत्र का 40 दिनों में 19,000 बार जप साढ़ेसाती में बहुत लाभ देता है -

“ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनिश्चराय नमः”

शनि-मंत्र के बीज अक्षरों की अपरिमित शक्ति ढैया और साढ़े साती के ताप का शमन करती है। शनि देव के इस मन्त्र का लाभ सभी को लेना चाहिए। साथ ही दशरथ कृत शनि स्तोत्र भी शनि के दुष्प्रभावों से बचने का बेहतरीन उपाय है।

क्या आपके ऊपर चल रही है शनि की साढ़े साती? अभी जानें- साढ़े साती केलक्युलेटर। 

3. तिल, तेल और छाया पात्र का दान

तिल, तेल और छाया पात्र दान शनिदेव को अत्यन्त प्रिय हैं। इन चीज़ों का दान शनि की शान्ति का प्रमुख उपाय है। मान्यता है कि यह दान शनि देव द्वारा दिए जाने वाले कष्टों से निजात दिलाता है। छाया पात्र दान की विधि बहुत ही सरल है। मिट्टी के किसी बर्तन में सरसों का तेल लें, उसमें अपनी छाया देखकर उसे दान कर दें। यह दान शनि के आपके ऊपर पड़ने वाले दुष्प्रभावों को दूर कर उनका आशीर्वाद प्रदान करता है।

4. धतूरे की जड़ धारण करें

वैदिक ज्योतिष में विभिन्न जड़ों की मदद से ग्रहों की शान्ति का विधान है। कई ज्योतिषियों का मानना है कि रत्न धारण करना नुक़सान भी पहुँचा सक्ता है, लेकिन जड़ धारण करने से ऐसी आशंका नहीं रहती है। रत्न ग्रह की शक्ति बढ़ाने का काम करते हैं, वहीं जड़ियाँ ग्रहों की ऊर्जा को सकारात्मक दिशा में मोड़ने का कार्य करती हैं। शनि देव को प्रसन्न कर उनकी कृपा पाने के लिए ग्रन्थों में धतूरे की जड़ को धारण करने की सलाह दी गई है। धतूरे की जड़ का छोटा-सा टुकड़ा गले या हाथ में बांधकर धारण किया जा सकता है। इस जड़ी को धारण करने से शनि की ऊर्जा आपको सकारात्मक रूप से मिलने लगेगी और जल्दी ही आपको ख़ुद फर्क महसूस होगा। 

शनि देव से असीम ऊर्जा प्राप्त करने के लिए धारण करें- धतूरे की जड़

5. सात मुखी रुद्राक्ष धारण करें

जड़ियों की ही तरह रुद्राक्ष को भी हानि रहित उपाय की मान्यता प्राप्त है। सात मुखी रुद्राक्ष धारण करना न सिर्फ़ भगवान शिव को प्रसन्न करता है, बल्कि शनि देव का आशीर्वाद भी दिलाता है। पुराणों के अनुसार सात मुखी रुद्राक्ष धारण करने से घर में धन-धान्य की कमी नहीं रहती है और लक्ष्मी माता की कृपा हमेशा बनी रहती है। साथ ही सेहत से जुड़ी समस्याओं में भी इसे बहुत प्रभावी माना जाता है। इस रुद्राक्ष को सोमवार या शनिवार के दिन गंगा जल से धोकर धारण करने से शनि जनित कष्टों से छुटकारा मिलता है और समृद्धि प्राप्त होती है।

ख़रीदने के लिए अभी ऑर्डर करें- सात मुखी रुद्राक्ष

6. नाव की कील का छल्ला और काले घोड़े की नाल

नाव की कील का छल्ला और काले घोड़े की नाल भी शनि देव के दुष्प्रभावों से बचने के कारगर उपाय हैं। यदि आप शनि की अंतर्दशा या महादशा से गुजर रहे हैं और इस दौरान मिलने वाले कष्टों और असफलता से परेशान हैं, तो नाव की कील का छल्ला धारण करें। इसके प्रभाव से शनि जनित कष्टों में कमी आएगी। वहीं यदि आपके घर व ऑफिस पर किसी की बुरी नजर है, तो काले घोड़े की नाल घर या दफ्तर में लगाएं। इसके प्रभाव से घर और ऑफिस में सुख, शांति व समृद्धि रहेगी।


यहाँ बताए गए ये छोटे-छोटे उपाय करने में सरल हैं और जल्दी असर दिखाते हैं। अगर श्रद्धा के साथ इन उपायों को किया जाए, तो शनि देव की वक्र दृष्टि से बचकर उनकी कृपा सहज ही हासिल की जा सकती है। इन सरल उपायों को अपनाएं और शनि देव के आशीष से अपना जीवन सुखमय बनाएँ।

Read More »

व्यापार विशेषज्ञ ज्योतिषी से पूछें @ ₹399/- सिर्फ आज के लिए

क्या आपके व्यापार में हो रहा है घाटा? व्यवसाय में आने वाली चुनौतियों को दूर करने का चाहते हैं उपाय? "बिजनेस एक्सपर्ट से पूछें" सेवा के द्वारा एस्ट्रोसेज करेगा आ पकी इस समस्या का समाधान। इस सेवा के द्वारा हमारे व्यापार विशेषज्ञ ज्योतिषी बिजनेस से संबंधित आपके सभी सवालों का न केवल जवाब देंगे बल्कि व्यापार में कैसे तरक्की करें इसके उपाय भी बताएँगे।


प्रत्येक बिजनेस मैन के मन में अपने व्यापार को लेकर कई तरह के सवाल रहते हैं जो कि व्यापार के लाभ और हानि से जुड़े हुए होते हैं। क़ारोबार में कई बार ऐसी भी परिस्थितियाँ आ जाती हैं जिसमें व्यापारी को बहुत नुकसान उठाना पड़ता है, क्योंकि इसमें रिस्क फैक्टर सदैव उपस्थित रहता है जो कभी बहुत अच्छे परिणाम देता है और कभी व्यापारी को एक सीख दे जाता है। ऐसा अनेकों बार होता है जब आप अपनी ओर से पूर्ण प्रयास करते हैं लेकिन फिर भी उसमें बुरी तरह से विफल हो जाते हैं। यदि आप बार-बार की विफलताओं से थक गए हैं और आप अपने व्यापार को बढ़ाने का रास्ता जानना चाहते हैं तो एस्ट्रोसेज आपकी सहायता के लिए लाया है "बिजनेस एक्सपर्ट से पूछें" सेवा जहां हमारे व्यापार विशेषज्ञ ज्योतिषी आपकी समस्या का कारण ढूँढ कर उसका समाधान बताएंगे। इसलिए हमारी इस सेवा का लाभ उठाएं और अपनी व्यापार संबंधित समस्याओं का पाएं उचित समाधान।


इसके अलावा अब सिर्फ ₹650 में प्राप्त करें अपनी "महाकुंडली"। इस सौ पन्नों की कुंडली में है आपके जीवन से जुड़ी समस्याओं के समाधान और शुभ समय की जानकारी। आपके घर का सपना कब पूरा होगा? आपका जीवनसाथी कैसा होगा? आपका भाग्य किस उम्र में चमकेगा? महाकुंडली में मिलेगी इन सभी बातों की जानकारी।
Read More »

कृष्णमूर्ति पद्धति से जानें भविष्य के राज़

जानिए कैसे पाएँ केपी सिस्टम से प्रश्नों के सटीक उत्तर, भविष्य का सही फलादेश तथा और भी बहुत कुछ...

आजकल मीडिया का जमाना है। हर क्षेत्र में हमें नई-नई बातें सुनने और जानने को मिलती हैं। ज्‍योतिष भी इससे कुछ अलग नहीं है। कोई ज्‍योतिषी नाड़ी की बात करता है, तो कोई भृगु संहिता की। कोई कृष्‍णमूर्ती पद्धति का ज़िक्र करता है, तो कोई लाल किताब का। ऐसे में आम आदमी के लिए यह समझना बेहद मुश्किल हो जाता है कि आख़िर ये सब हैं क्‍या और इन सबका वे अपने दैनिक जीवन में क्‍या फायदा उठा सकते हैं? आइए, इस लेख में बात करते हैं कृष्‍णमूर्ति पद्धति के बारे में और समझने की कोशिश करते हैं कि यह ज्‍योतिष की पारम्‍परिक पद्धति से किस तरह भिन्‍न है।


कृष्णमूर्ति पद्धति की सबसे बड़ी ख़ासियत है इसका सटीक फलकथन। इस पद्धति के आधार पर निश्चित तौर पर यह बताया जा सकता है कि कोई घटना ठीक कितने बजे घटित होगी, यहाँ तक कि उसके घटित होने के समय का ब्यौरा सटीकता से सेकेण्डों में भी बताना संभव है। उदाहरण के लिए कृष्णमूर्ति पद्धति यह बताने में सक्षम है कि कोई हवाई जहाज़ हवाई-पट्टी पर कब उतरेगा, बिजली कितने बजकर कितने मिनट पर आएगी और कोई खोई हुई वस्तु कब मिलेगी। केपी के आश्चर्यजनक फलकथन इस पद्धति को ज्योतिष की दुनिया में न सिर्फ़ एक विशेष स्थान दिलाते हैं, बल्कि स्वयं ज्योतिष को एक ठोस वैज्ञानिक आधार भी मुहैया कराते हैं।

कृष्‍णमूर्ति पद्धति को संक्षेप में “केपी” भी कहते हैं। इस प‍द्धति की खोज या आविष्कार का श्रेय दक्षिण भारत के श्री के. एस. कृष्‍णमूर्ति को जाता है। उन्‍होंने पारम्‍परिक और विदेशी अनेक ज्‍योतिष की शाखाओं का अध्‍ययन किया और पाया की वे बहुत ही भ्रमित करने वाली और मुश्‍किल हैं। पुराने लेखकों की बातों में भी काफ़ी मतभेद हैं। लाखों या करोड़ों की संख्‍या में लिखे गए श्लोकों को याद रखना सामान्‍य व्‍यक्ति के लिए बड़ा मुश्‍किल है। सबसे मुख्‍य बात यह है कि दो अलग-अलग ज्‍योतिषियों के पास जाएँ तो वे दो अलग-अलग और परस्‍पर विरोधी बातें बता देते हैं। इन सभी वजहों से ज्‍योतिषी सही भविष्‍यवाणी नहीं कर पाते, जनता भ्रमित होती है और अन्त में ज्‍योतिष का नाम भी बदनाम होता है।

श्री के. एस. कृष्‍णमूर्ति ने ज्‍योतिष की विभिन्‍न शाखाओं के बेहतरीन विचारों को एकत्रित करके और उनमें अपने नवीन शोधों का समन्‍वयन करके इस पद्धति का नामकरण किया “कृष्‍णामूर्ति पद्धति”। यह पद्धति आज के समय में ज्‍योतिष की सबसे सटीक पद्धतियों में से एक मानी जाती है। यह पद्धति सीखने और प्रयोग में लाने में बहुत आसान है। पारम्‍परिक पद्धति के विपरीत यह सुनियोजित है और दो केपी ज्‍योतिषी आपको विरोधी भविष्‍यकथन करते भी नहीं मिलेंगे।

पारम्‍परिक पद्धति और कृष्‍णमूर्ति पद्धति में मुख्य फ़र्क इस प्रकार हैं -

जिस तरह बारह राशियाँ और सत्ताईस नक्षत्र होते हैं, उसी तरह केपी में हर नक्षत्र के भी नौ विभाजन किए जाते हैं जिसे उप-नक्षत्र या “सब” कहते हैं। कुल मिलाकर 249 उपनक्षत्र होते हैं, जो ज्‍योतिष फलकथन की सूक्ष्‍मता में वृद्धि करते हैं। उप-नक्षत्र की वजह से ही केपी में दिन की ही नहीं, बल्कि घण्टे, मिनट और सेकन्‍ड की सूक्ष्‍मता से भी भविष्‍यवाणी की जा सकती है।

“सब” की सूक्ष्‍मता और स्‍पष्ट सिद्धान्‍तों की वजह से केपी ज्‍योतिषी सूक्ष्‍म और दैनिक जीवन के बहुत सटीक फलकथन भी कर सकता है, जैसे - बिजली कितने बजे आएगी, कोई फोन कॉल कितने बजे आएगा, बारिश कितने बजे तक होगी और कब रुकेगी इत्‍यादि। पारम्‍परिक ज्‍योतिष से इतनी सटीकता से फलकथन बहुत मुश्किल या यूँ कहें कि असम्‍भव-सा लगता है।

केपी नक्षत्रों के प्रयोग पर विशेष जोर देती है। पारम्‍परिक ज्‍योतिष में नक्षत्रों का प्रयोग सीमित है।

पारम्‍परिक भारतीय ज्‍योतिष में भाव की गणना भाव चलित के आधान पर होती है। केपी पाश्‍चात्‍य पद्धिति के भाव चलित को मान्‍यता देता है, जिसे प्लेसीडस कस्‍प चार्ट या ‘निरयन भाव चलित’ भी कहते हैं। इस वजह से केपी की कुण्‍डली और पारम्‍परिक राशिचक्र में ग्रहों की स्थिति में कभी-कभी फ़र्क आ जाता है।

केपी में फलकथन का मुख्‍य आधार यह है कि कोई ग्रह न सिर्फ अपना फल देता है, परन्‍तु अपने नक्षत्र-स्वामी का भी फल देता है। पारम्‍परिक ज्‍योतिष का भुलाया हुआ यह सूत्र केपी में अति महत्‍ववपूर्ण है।

पारम्‍परिक ज्‍योतिषी में कई दशाओं का प्रयोग होता है, जैसे विशोंत्तरी दशा, अष्‍टोत्तरी दशा और योगिनी दशा इत्‍यादि। केपी सिर्फ विशोंत्‍तरी दशा को मानती है। सिर्फ एक दशा होने की वजह से ज्‍योतिषी के लिए केपी का प्रयोग आसान हो जाता है।

केपी में शासक ग्रहों के सिद्धान्‍त का प्रयोग होता है जिसके अनुसार प्रश्‍न के समय और उत्‍तर के समय शासक ग्रह समान होते हैं। जैसे किसी व्‍यक्ति को यह जानना है कि उसका विवाह कब होगा। केपी के अनुसार जिस वक्‍त यह प्रश्‍न पूछा जाएगा उस वक्‍त के शासक ग्रह और जब उस व्‍यक्ति का विवाह होगा उस वक्‍त के शासक ग्रह एक ही होंगे।

केपी में हजारों योगों का प्रयोग नहीं होता अत: ज्‍योतिषी को लाखों करोडों श्‍लोक याद रखने की जरूरत नहीं है। जरूरत है तो बस मुख्‍य नियमों को याद रखने की। इसी लिए में हमेशा कहता हूं कि केपी 21वीं सदी के ज्‍योतिषियों के मस्तिष्‍क के लिए बनाई गई पद्धति है।

केपी पारम्‍परिक ज्‍योतिष के अन्‍य कई सिद्धान्‍तों जैसे अष्‍टकवर्ग, योग जैसे कालसर्प, साढ़ेसाती, मंगल दोष आदि को भी मान्‍यता नहीं देती है।

केपी में प्रश्न ज्‍योतिष पर विस्‍तार से चर्चा की गई है। अगर किसी व्‍यक्ति को अपना जन्‍म-दिन और जन्‍म-समय नहीं पता, तो उसका जन्‍म समय न सिर्फ निकाला जा सकता है परन्‍तु बिना जन्‍म-समय आदि के भी उस व्‍यक्ति के प्रश्न का उत्तर दिया जा सकता है।

अन्‍त में सिर्फ इतना कहूंगा कि “केपी” 21वीं सदी की, कम्‍प्‍यूटर के जमाने के ज्‍योतिषी के लिए बनाई गई पद्धति है जो किसी व्‍यक्ति के जीवन के छोटे-से-छोटे पहलू का भी सटीकता से फलकथन करती है।

Read More »

जानें अपना भाग्य रत्न? रत्न सुझाव सिर्फ ₹199 में!

क्या भाग्य नहीं दे रहा है आपका साथ? लगातार मेहनत के बावजूद नहीं मिल रही है सफलता? यदि किसी ग्रह के अशुभ प्रभाव से हैं पीड़ित? तो अवश्य उठाएं हमारी ‘’रत्न सुझाव सेवा’’ का लाभ और पाएं रत्न, रुद्राक्ष और जड़ी धारण करने की सलाह व विधि।



जीवन में समस्याएं हर व्यक्ति के साथ होती है। अक्सर हमें यह शिकायत रहती है कि मुझे अपनी मेहनत का उचित परिणाम नहीं मिल पाता है। कोई बात बनते-बनते बिगड़ जाती है, भाग्य साथ नहीं देता है। अगर आप भी ऐसी समस्याओं से जूझ रहे हैं तो रत्न धारण करना आपके लिए कल्याणकारी सिद्ध हो सकता है। हर रत्न किसी ग्रह विशेष का प्रतिनिधित्व करता है और उससे संबंधित ऊर्जा प्रदान करता है। यही ऊर्जा और शक्ति मनुष्य को कार्य में सफलता प्रदान करती है। इसलिए आजकल हर कोई व्यक्ति रत्न धारण करना चाहता है। लेकिन सबसे बड़ा सवाल है कि आखिर कौन से रत्न से आपकी समस्या का समाधान होगा और तरक्की मिलेगी। इसी संबंध में एस्ट्रोसेज लेकर आया है “रत्न सुझाव सेवा”। इस सेवा में हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषी देंगे आपको उचित परामर्श। आपकी जन्म तिथि और राशि का विश्लेषण कर सही रत्न, रुद्राक्ष और जड़ी की जानकारी व धारण करने की विधि।

इसके अलावा अब सिर्फ ₹650 में प्राप्त करें अपनी “महाकुंडली”। इस सौ पन्नों की कुंडली में है आपके जीवन से जुड़ी समस्याओं के समाधान और शुभ समय की जानकारी। आपके घर का सपना कब पूरा होगा? आपका जीवनसाथी कैसा होगा? आपका भाग्य किस उम्र में चमकेगा? महाकुंडली में मिलेगी इन सभी बातों की जानकारी।
Read More »

पैसों की तंगी? धन संबंधी ज्योतिषीय परामर्श सिर्फ ₹ 199 में

क्या आप कोई नई प्रॉपर्टी खरीदने की तैयारी कर रहे हैं? आपको अपनी पैतृक संपत्ति की मनचाही कीमत नहीं मिल रही है? क्या कोई धन संबंधी परेशानी है? इन तमाम सवालों के समाधान के लिए एस्ट्रोसेज लेकर आया है एक नई सेवा ‘’धन संबंधी ज्योतिषीय परामर्श’’ । इस सेवा के माध्यम से आपको मिलेगा आर्थिक समस्याओं को संपूर्ण समाधान।



जीवन में अच्छा और बुरा दोनों तरह का समय आता है। कभी परिस्थितियां आपके पक्ष में होती हैं तो कभी हालात बेहद खराब हो जाते हैं। कोई व्यक्ति एक अच्छी नौकरी की तलाश में रहता है, तो किसी को अपनी संपत्ति को बेचने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। पूरी लगन, मेहनत और समर्पण से काम करने के बावजूद कभी हमें अपनी मेहनत का उचित फल नहीं मिल पाता है और आर्थिक चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। धन जीवन की एक बड़ी आवश्यकता है। इससे जीवन में समृद्धि, स्थिरता और खुशहाली आती है। बढ़ती महंगाई और आर्थिक चुनौतियों की वजह से अक्सर हर इंसान पैसों की तंगी से जूझता है। अगर आप भी आर्थिक चुनौतियों का सामना कर रहे हैं, तो हमारी नई सेवा ‘’धन संबंधी ज्योतिषीय परामर्श’’ के माध्यम से समाधान प्राप्त कर सकते हैं। हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषी आपको बताएंगे धन वृद्धि और धन संचय करने के प्रभावी ज्योतिषीय उपाय। अभी प्राप्त करें अपने प्रश्न का उत्तर!
Read More »

साप्ताहिक राशिफल (04 से 10 दिसंबर 2017)

इन 6 राशि वालों की होने वाली है चांदी! पढ़ें साप्ताहिक राशिफल और जानें इस सप्ताह क्या कहते हैं आपके सितारे?



यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि।

मेष


परिवार में प्रसन्नता का माहौल रहेगा। अचल संपत्ति से अप्रत्याशित लाभ होने की संभावना है। आपको कार्यक्षेत्र में उतार चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। माता-पिता को किसी प्रकार का लाभ होगा। संतान अपने क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करेगी। विद्यार्थी भी मन लगाकर मेहनत करेंगे। परिश्रम के कारण आपको सफलता मिलेगी।

प्रेमफल: प्रेमी युगल के लिए अच्छा समय रहेगा। सप्ताह की शुरुआत बेहद शानदार, मध्य अच्छा तथा सप्ताहांत भी अच्छे रहने के संकेत दे रहा है। हृदय में प्रेम सागर की लहरे उठेंगी, परंतु आप मर्यादा की सीमा को न लांघें। यदि विवाहित हैं तो जीवनसाथी के साथ तकरार हो सकती है। जीवनसाथी आपके ऊपर हावी होने का प्रयास कर सकता है।

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: घर के मुख्य द्वार पर कपूर का दीपक जलाएं।


वृषभ


इस हफ़्ते आपका मन प्रफुल्लित रहेगा। प्रत्येक कार्य में आप बढ़-चढ़कर हिस्सा लेंगे। इस समय आप ऊर्जा से लबरेज़ रहेंगे। व्यापार एवं व्यवसाय में वृद्धि होगी और आप विरोधियों पर भारी पड़ेंगे। कुछ अप्रत्याशित खर्चे हो सकते हैं। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। छोटे भाई-बहनों को कोई समस्या हो सकती है। आप किसी छोटी दूरी की यात्रा पर जा सकते हैं। विद्यार्थी पढ़ाई में सफलता प्राप्त करेंगे।

प्रेमफल: प्रेम जीवन के लिए सप्ताह अच्छा रहेगा। सप्ताह की शुरुआत बेहतर, मध्य भाग सामान्य तथा सप्ताहांत के अच्छे रहने के योग हैं। यदि विवाहित हैं तो जीवनसाथी से अहम का टकराव हो सकता है इसलिए दाम्पत्य जीवन में अहम को आड़े न आने दें और प्रेम भावना को प्रबल रखें। 

भाग्यस्टार: 4/5

उपाय: गौ माता को आटे से बना पेड़ा खिलाएं।


मिथुन


इस सप्ताह किसी कारण आपके मन में उथल-पुथल रह सकती है। दैनिक जीवन में आप ख़ूब मेहनत करेंगे। वाहन सावधानी से चलाएं और खानपान पर भी विशेष ध्यान दें। फूड प्वॉइजनिंग से बचें। संतान का स्वास्थ्य कमजोर रह सकता है। नौकरी में तरक्की होगी और आप विरोधियों पर हावी रहेंगे। वाद-विवाद तथा कॉम्पटीशन में सफलता मिलने की प्रबल संभावना है। पारिवारिक जीवन सुखी रहेगा। विद्यार्थी खूब मेहनत करेंगे लेकिन किसी कारण उनकी एकाग्रता भंग हो सकती है।

प्रेमफल: प्रेम जीवन के लिए थोड़ा चुनौतीपूर्ण समय रहेगा। सप्ताह का शुरुआती और मध्य भाग सामान्य रहेगा लेकिन सप्ताहांत के बेहतर रहने के योग हैं। रिलेशनशिप में विवादों से बचें और एक दूसरे को समय दें। यदि विवाहित हैं तो जीवनसाथी के प्रति वफादार रहें और विवादों को तूल न दें। जीवनसाथी को किसी प्रकार का लाभ हो सकता है।

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: श्री विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें।



कर्क


किसी कारण आपको मानसिक अवसाद रह सकता है। निर्णय लेने में समस्या होगी। ऐसे में महत्वपूर्ण फ़ैसलों को कुछ समय के लिए टाला जा सकता है। पारिवारिक जीवन में परेशानी आ सकती हैं। कार्यक्षेत्र में प्रगति एवं तरक्की होगी। आपके अपने लोग आपको समझने में थोड़ा भूल कर सकते हैं जिसका प्रभाव आपके रिश्ते पड़ेगा। आप अपने विरोधियों पर हावी रहेंगे। प्रतियोगी परीक्षा में सफलता मिलेगी। किसी मुद्दे पर भाई-बहनों से विवाद संभव है। आमदनी खर्चों के मुकाबले कम रहेगी।

प्रेमफल: प्रेमी युगल के लिए सप्ताह मिला-जुला रह सकता है। सप्ताह की शुरुआत अच्छी, मध्य भाग सामान्य और सप्ताहांत के ठीक-ठाक रहने की संभावना है। रिश्ते में प्यार बढ़ेगा लेकिन अहम इसमें खलल डाल सकता है इसलिए अहम का त्याग करें। यदि विवाहित है तो जीवनसाथी का स्वास्थ्य कमजोर रह सकता है।

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: भगवान शिव की आराधना करें और उन्हें श्वेत पुष्प अर्पित करें ।


सिंह


खर्चों के साथ-साथ आमदनी में वृद्धि होगी। पारिवारिक जीवन सामान्य रहेगा। आप कोई नया वाहन ख़रीद सकते हैं। माता-पिता का स्वास्थ्य थोड़ा कमजोर रह सकता है। छोटी दूरी की यात्रा संभव है। संतान अथवा भाई बहनों को शारीरिक समस्या हो सकती है। विद्यार्थियों में एकाग्रता की कमी देखी जा सकती है। कार्यक्षेत्र में आप अच्छा प्रदर्शन करेंगे और आपको उसका लाभ मिलेगा। विदेश यात्रा पर जाने के योग हैं।

प्रेमफल: प्रेमी युगल के लिए चुनौतीपूर्ण सप्ताह रहेगा। सप्ताह का शुरुआत और मध्य भाग कुछ ख़ास नहीं है परंतु सप्ताहांत के ठीक-ठाक रहने के योग हैं। ध्यान रखें, अति संवाद आपके रिश्ते में विवाद उत्पन्न कर सकता है इसलिए अपने प्रेमी को थोड़ा स्पेस दें और अत्यधिक बात करने से बचें। जो जातक विवाहित हैं उनके लिए समय अच्छा रहेगा।

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: सूर्य देव को जल अर्पित करें, उसमें थोड़ा सिंदूर भी मिला लें। 


रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिष समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

कन्या


परिवार में कोई शुभ कार्य संपन्न हो सकता है परंतु विवाद की संभावना से भी इनकार नहीं किया जा सकता है। आपका मनोबल बढ़ा रहेगा और आप ऊर्जावान रहेंगे। छोटी यात्रा के योग हैं। कार्यक्षेत्र में आपका प्रभाव क्षेत्र बढ़ेगा। संतान को कोई शारीरिक समस्या हो सकती है और छात्रों की पढ़ाई में एकाग्रता भंग हो सकती है। भाई-बहनों को किसी प्रकार का लाभ होगा।

प्रेमफल: प्रेमी युगल के लिए सप्ताह सामान्य रहेगा। आप अपने मन की बातों को अपने साथी से साझा करेंगे। साथ में किसी पार्टी या फिर घूमने भी जा सकते हैं। यदि आप विवाहित हैं तो जीवनसाथी के माध्यम से आपको लाभ होगा परंतु आप उनकी सेहत का ख़्याल रखें।

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: मंगलवार के दिन गुड़ और चने का दान करना उत्तम रहेगा।



तुला


मन में किसी चीज़ को लेकर उथल पुथल रहेगी। आपके अंदर ज़िद और गुस्सा बढ़ सकता है। इससे आपके रिश्ते प्रभावित हो सकते हैं इसलिए इस पर ध्यान दें। दिनचर्या व्यस्त रहेगी परंतु आपको अपने पर्सनल और प्रोफ़ेशनल लाइफ़ में बैलेंस बनाना होगा। परिवार में कोई फंक्शन हो सकता है। मेहनत के बल पर आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे। धन लाभ के योग हैं। संतान तरक्की करेगी और विद्यार्थियों को भी उनकी मेहनत का फल मिलेगा।

प्रेमफल: प्रेमी युगल के लिए सप्ताह अच्छा रहेगा। सप्ताह की शुरुआत शानदार, मध्य भाग सामान्य तथा सप्ताहांत के अच्छे रहने के योग हैं। इस दौरान किसी नए रिश्ते की शुरुआत हो सकती है। रिश्ते में गंभीरता लाएं। यदि विवाहित हैं तो जीवनसाथी आपके प्रति समर्पित रहेगा।

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: प्रतिदिन इत्र लगाएं।


ऑनलाइन सॉफ्टवेयर से मुफ्त जन्म कुंडली प्राप्त करें।

वृश्चिक


अत्यधिक खर्चों से धन हानि हो सकती है। भाई-बहनों का सहयोग मिलेगा और उनके द्वारा आपको आर्थिक मदद भी मिलेगी। अहंकार को अपने अंदर न पनपने दें और कड़वा बोलने से बचें। पारिवारिक जीवन सुखी रहेगा। अचल संपत्ति से लाभ होगा। लंबी दूरी की यात्रा पर जा सकते हैं। विदेश गमन भी संभव है। विद्यार्थी पढ़ाई हेतु विदेश जा सकते हैं। कार्यक्षेत्र में तरक्की होगी। सरकार के द्वारा भी लाभ संभव है।

प्रेमफल: प्रेमी युगल के लिए सप्ताह सामान्य रहेगा। ऐसी भी संभावना है कि आप अपने साथी के साथ कहीं लॉन्ग टूर पर जाएं। इससे आपके प्यार का रिश्ता गहरा होगा। यदि आप विवाहित हैं तो जीवनसाथी आपके प्रति पूर्ण समर्पित रहेगा। बस आपको अपने रिश्ते की गहराई को महत्व देना होगा।

भाग्यस्टार: 3.5/5

उपाय: काले कुत्ते को रोटी खिलाएं। 


धनु


धन लाभ के साथ-साथ खर्चे भी बने रहेंगे। महँगी वस्तुओं की ख़रीदारी से आपका ख़र्च बढ़ेगा। आप कहीं घूमने की योजना बना सकते हैं। घर में कोई विवाद संभव है। प्रॉपर्टी से लाभ होगा। विदेशी संबंधों से धन लाभ होने की प्रबल संभावना है। कार्यक्षेत्र में तरक्की होगी। पारिवारिक जीवन सुखी रहेगा। संतान उम्मीदों पर खरी उतरेगी। वहीं विद्यार्थी वर्ग अपने क्षेत्र में खूब अच्छा प्रदर्शन करेंगे। 

प्रेमफल: प्रेमी युगल के लिए सप्ताह मिलाजुला रहेगा। सप्ताह की शुरुआत तो अच्छी रहेगी लेकिन मध्य भाग और सप्ताहांत सामान्य रह सकता है। आप अपने साथी के साथ किसी पार्टी में जा सकते हैं। कुछ जातकों के लिए प्रेम विवाह के योग हैं। यदि विवाहित हैं तो जीवनसाथी के साथ तालमेल बनाकर चलें। 

भाग्यस्टार: 4/5

उपाय: भगवान सूर्य नारायण को प्रतिदिन कुमकुम मिश्रित जल चढ़ाएं। 


मकर


कार्यक्षेत्र में उच्चतम लाभ मिलने की संभावना है। आपके अधिकार क्षेत्र का दायरा बढ़ेगा। करियर के लिए सप्ताह अच्छा रहेगा। हालांकि पारिवारिक जीवन में थोड़ा तनाव रह सकता है। नई प्रॉपर्टी ख़रीदने के योग हैं। विद्यार्थियों को पढ़ाई में सफलता मिलेगी। ख़र्चों में वृद्धि संभव है। इस सप्ताह अपनी सेहत का ख़्याल रखें।

प्रेमफल: प्रेम प्रसंगों के लिए सप्ताह की शुरुआत अच्छी, मध्य भाग सामान्य तथा सप्ताहांत के बेहतर रहने की संभावना है। प्रियतम के साथ कहीं सुदूर यात्रा पर जाना हो सकता है। रिश्ते में किसी प्रकार की दरार को पैदा न होने दें। विवाहित जातकों का जीवनसाथी के साथ तालमेल बिगड़ सकता है।

भाग्यस्टार: 3.5/5

उपाय: गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ करें।


कुम्भ


मन प्रसन्न रहेगा। माताजी के स्वास्थ्य में उतार चढ़ाव आ सकता है। कार्यक्षेत्र में अधिकार प्राप्ति के योग बनेंगे। धर्म-कर्म में आपकी रुचि बढ़ेगी। आपका सामाजिक स्तर बढ़ेगा। अच्छी आमदनी के योग है परंतु कुछ खर्चों में भी वृद्धि संभव है। आध्यात्म की ओर आपकी रुचि बढ़ेगी। आपको भाई-बहनों का पूरा सहयोग प्राप्त होगा।

प्रेमफल: प्रेम जीवन के लिए सप्ताह सामान्य रहने के संकेत दे रहा है। लव पार्टनर के साथ अपना संवाद बनाए रखें। यदि आप प्रेम के प्रति वफादार रहते हैं तो यह रिश्ता अटूट बन सकता है। वहीं जो लोग विवाहित हैं उनको जीवनसाथी से पूर्ण सहयोग मिलेगा हालांकि दोनों के बीच छोटी मोटी तकरार भी हो सकती है।

भाग्यस्टार: 3/5

उपाय: शनि देव की आराधना करें और पीपल के वृक्ष के नीचे तेल का दिया जलाएं।


मीन


आप इस सप्ताह उत्साह से लबरेज रहेंगे। आध्यात्मिक क्रियाकलापों में सक्रियता बढ़ेगी। स्वास्थ्य में कमी आ सकती है। बुखार, सिरदर्द, पित्त संबंधी विकार तथा रक्त संबंधी रोग होने की संभावना है। पारिवारिक जीवन में उतार चढ़ाव देखने को मिल सकता है। कार्यक्षेत्र पर कठिन परिश्रम करने से सफलता मिलेगी। अंतर्राष्ट्रीय क़ारोबार में वृद्धि होगी। संतान को शारीरिक समस्या हो सकती है। विद्यार्थी पढ़ाई में खूब मेहनत करेंगे। 

प्रेमफल: प्रेम संबंधी मामलों के लिए सप्ताह अच्छा रहेगा। सप्ताह की शुरुआत बेहतर, मध्य भाग थोड़ा कमज़ोर और सप्ताहांत के बेहतर रहने की संभावना है। आप अपने प्रेमी के साथ कहीं घूमने का प्लान बना सकते हैं। रिश्ते में किसी तरह के संदेह को पनपने न दें। यदि विवाहित हैं तो जीवनसाथी से विवाद हो सकता है।

भाग्यस्टार: 3.5/5

उपाय: केसर का तिलक लगाएँ। 

Read More »

बुध धनु राशि में वक्री, जानें प्रभाव

बुध के वक्री होने से किसे मिलेगा लाभ! पढ़ें बुद्धि के कारक बुध ग्रह के धनु राशि में वक्री होने का ज्योतिष प्रभाव। 

बुध ग्रह 3 दिसंबर 2017, रविवार को 13:04 बजे धनु राशि में वक्री होगा और 11 दिसंबर 2017, सोमवार को 04:07 बजे वृश्चिक राशि में चला जाएगा। 23 दिसंबर 2017, शनिवार 07:21 बजे बुध पुन: मार्गी हो जाएगा। बुध की इस चाल का असर सभी राशियों पर होगा। आईये जानते हैं प्रत्येक राशि पर इसके होने वाले प्रभाव।



यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। चंद्र राशि कैल्कुलेटर से जानें अपनी चंद्र राशि।

मेष


बुध ग्रह को बुद्धि, संवाद और संचार का कारक कहा जाता है, इसलिए इस अवधि में आपको कम्युनिकेशन स्किल्स के मामले में सावधानी रखनी होगी। आगे पढ़ें...

वृषभ


दाम्पत्य जीवन के लिए यह समय थोड़ा कष्टकारी रहने की संभावना है। क्योंकि इस अवधि में आपके बीच मतभेद होने से समस्या उत्पन्न हो सकती है। आगे पढ़ें...

मिथुन


बुध की इस गोचरीय अवधि में आपका आर्थिक बजट गड़बड़ा सकता है। इस दौरान आपके खर्चों में बढ़ोत्तरी होगी। आगे पढ़ें...

कर्क


बुध के गोचर की इस अवधि में आपके अंदर एक ऐसी भावना जागृत होगी। जिसके फलस्वरुप आप अपने प्रियजनों की बहुत देखभाल और चिंता करेंगे। आगे पढ़ें...

सिंह


बुध के इस गोचर के प्रभाव से आप खुद को साबित करने के लिए जोश और जुनून के साथ कोशिश करेंगे। आगे पढ़ें...


कन्या


बुध ग्रह आपकी राशि का स्वामी है इसलिए बुध के वक्री होने का असर आपकी संवेदनशीलता पर पड़ सकता है। आगे पढ़ें...

तुला


इस अवधि में आप दूसरों की बातों को सुनना ज्यादा पसंद नहीं करेंगे और अपनी ही मस्ती में मस्त रहेंगे। आगे पढ़ें...

वृश्चिक


इस समय आप दूसरों की भावनाओं को अधिक महत्व देंगे। हालाँकि बदले में आप उनका अटेंशन अपनी ओर चाहेंगे। आगे पढ़ें...

धनु


इस समय आप अपनी आंतरिक क्षमता का विकास करेंगे। एक जुनूनी शख़्स की तरह आप अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ेंगे। आगे पढ़ें...

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिष समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

मकर


इस समय आप ऐसा कोई कार्य न करें जो विधि और नैतिकता के विरुद्ध हो। कई मौक़ों में आप ख़ुद को एक आज़ाद पंछी की तरह महसूस करें। आगे पढ़ें...

कुंभ


यह अवधि आपके लिए ज़्यादा अनुकूल नहीं दिख रही है इसलिए आपको हर क्षेत्र में अनुशासित रहकर कार्य करने होंगे। आगे पढ़ें...

ऑनलाइन सॉफ्टवेयर से मुफ्त जन्म कुंडली प्राप्त करें।

मीन


इस अवधि में आप अति भावुक हो सकते हैं और इससे आपकी निर्णय लेने की क्षमता प्रभावित हो सकती है, इसलिए आपको इस दौरान अति भावुक स्वभाव से बचना होगा। आगे पढ़ें...
Read More »

महाकुंडली: करें जीवन की समस्याओं का समाधान!

एस्ट्रोसेज महाकुंडली



जीवन में समस्याएं हर व्यक्ति के साथ होती हैं। जिंदगी को लेकर हर आदमी की कुछ शिकायतें होती हैं और इन वजहों से वह असंतुष्ट और दु:खी रहता है। कोई नौकरी नहीं मिलने से परेशान हैं, किसी को व्यवसाय में मिल रही असफलता ने तोड़ दिया है। हर व्यक्ति की अक्सर यह शिकायत रहती है कि वह जितनी मेहनत करता है उसे उसकी मेहनत का पर्याप्त फल नहीं मिलता है। हर आदमी सपने देखता है कि उसके पास घर और गाड़ी हो। अच्छी नौकरी और बिजनेस हो लेकिन ये सब कब होगा यह एक बड़ा सवाल है? इन सभी सवालों और समस्याओं के समाधान के लिए एस्ट्रोसेज लेकर आया है एक खास ज्योतिष सेवा ‘’महाकुंडली’’।


महाकुंडली यानि संपूर्ण ज्योतिष समाधान

इस सौ पन्नों की कुंडली में है आपके जीवन से जुड़ी सभी समस्या और सवालों के जवाब व समाधान। यह महाकुंडली एक ज्योतिषी की तरह आपका मार्गदर्शन करेगी। आपके जीवन में कब, कैसे और क्या होगा? इस बात की जानकारी का बोध कराएगी महाकुंडली।

करियर-बिजनेस के लिए शुभ समय- मुझे नौकरी कब मिलेगी, बिजनेस में कैसे होगी तरक्की? मेरे करियर का अच्छा समय कब आएगा। नौकरी-बिजनेस में उन्नति के क्या हो सकते हैं जरूरी उपाय। 

विवाह के लिए शुभ समय- आपका विवाह किस उम्र में होगा, आपका जीवनसाथी कैसा होगा? किसी वजह से विवाह में हो रही है देरी और क्या हैं इन समस्याओं के उपाय।

गृह निर्माण के लिए शुभ समय- आपके घर का सपना कब पूरा होगा? कब बनेगा आपके सपनों का महल? महाकुंडली में मिलेगा आपको अपने इन सवालों का जवाब।

भाग्य वृद्धि के उपाय- किस्मत हर आदमी की होती है लेकिन किस्मत चमकेगी कब? यह बात कोई नहीं जानता है। महाकुंडली में आप पाएंगे भाग्य वृद्धि के चुनिंदा और प्रभावी उपाय। 

रत्न विचार, यंत्र और जड़ी- ज्योतिष में राशि रत्न और यंत्र का विशेष महत्व है। महाकुंडली में आपको मिलेगी आपकी राशि के अनुसार रत्न धारण करने का सुझाव और संपूर्ण विधि। इसके अलावा विभिन्न अशुभ ग्रहों के प्रभाव से बचने के लिए यंत्र स्थापना और जड़ियों की जानकारी।

वर्षफल- महाकुंडली में आप पाएंगे आने वाले 10 सालों की वर्षफल रिपोर्ट। इस रिपोर्ट में होगा ग्रहों की स्थिति का विश्लेषण और उनका आपके जीवन पर होने वाला अच्छा व बुरा असर।

यदि आप अपने जीवन से जुड़ी समस्याओं का संपूर्ण ज्योतिष समाधान चाहते हैं तो अवश्य खरीदें महाकुंडली। क्योंकि इस सौ पन्ने की महाकुंडली में है आपके जीवन से जुड़ी हर समस्या का समाधान और समुचित उपाय, इसलिए देर न करें और अभी ऑर्डर करें!!

Read More »