आज धनतेरस पर ऐसे करें कुबेर देव को खुश।

जानें धनतेरस की पूजा का शुभ मुहूर्त और साथ ही पढ़ें इस दिन खरीदारी के वक़्त किन बातों का रखें विशेष ध्यान। 


धनतेरस का त्योहार आज यानी 25 अक्टूबर को मनाया जायेगा। इसी दिन से दीपावली की शुरुआत भी मानी जाती है। धनतेरस का दिन धन के देवता कुबेर, आरोग्य के देवता धन्वंतरी और माता लक्ष्मी को समर्पित माना जाता है। इस दिन माता लक्ष्मी और कुबेर देव को प्रसन्न करने के लिये जातकों द्वारा पूजा अर्चना की जाती है। इस दिन बाजारों में लोगों की भीड़ उमड़ती है। लोगों द्वारा इस दिन सोने-चांदी के आभूषण, बर्तन इत्यादि खरीदे जाते हैं। हालांकि आधुनिक दौर में लोग इस दिन घर के जरुरी सामान भी अब खरीदने लगे हैं।


धनतेरस पूजा मुहूर्त 2019


धनतेरस मुहूर्त 19:10:19 से 20:15:35 तक
अवधि :1 घंटे 5 मिनट
प्रदोष काल17:42:20 से 20:15:35 तक
वृषभ काल :18:51:57 से 20:47:47 तक

नोट- ये धनतेरस मुहूर्त केवल नई दिल्ली के लिए प्रभावी होगा। अपने शहर का मुहूर्त जानने के लिए यहाँ पढ़ें।

शास्त्रों के अनुसार धनतेरस के नियम 


हिंदू पंचांग के अनुसार धनतेरस का त्योहार कार्तिक माह में मनाया जाता है। हालांकि इसमें यह बात ध्यान देने योग्य है कि कार्तिक मास में कृष्ण पक्ष की उदयव्यापिनी त्रयोदशी को यानि त्रयोदशी तिथि यदि सूर्य उदय के साथ शुरु होती है तो धनतेरस का त्योहार मनाया जाता है। इसी दिन प्रदोष काल में लोगों द्वारा यमराज को दीपदान भी किया जाता है। 

"आइये जानते है नववर्ष 2020 में सभी राशि के जातकों का राशिफल कैसा होगा"

धनतेरस के दिन क्या खरीदें और क्या न खरीदें


  • इस दिन बर्तन खरीदना अत्यंत शुभ माना जाता है। कुबेर देव को चांदी अति प्रिय है इसलिये इस दिन चांदी के बर्तन खरीदने चाहिये। 
  • चांदी के अलावा पीतल के बर्तन भी खरीदे जा सकते हैं। 
  • माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिये इस दिन यंत्र, कौड़ियां और धनिया खरीदना चाहिये। 
  • घर के जरुरत के सामान भी इस दिन खरीदे जा सकते हैं। 
  • धनतेरस के दिन गाड़ी खरीदना शुभ नहीं माना जाता। 
  • कांच का सामान खरीदने से भी इस दिन बचना चाहिये। 
  • इस दिन काले रंग की चीजों को खरीदने से परहेज करना चाहिये। 

धनतेरस के दिन इन बातों का रखें ध्यान 


हिंदू धर्म में आस्था रखने वाले लोग धनतेरस के दिन माता लक्ष्मी, कुबेर देव और धन्वंतरी देव को पूजते हैं और कामना करते हैं कि उनके जीवन में शांति और समृद्धि और आरोग्य बना रहे। हालांकि इस दिन लालच वश भगवान की पूजा नहीं की जानी चाहिये। बल्कि आपके मन में यह भाव होना चाहिये कि आप धन से लोगों की सहायता करेंगे और समाज में भी अच्छाईयां फैलाएंगे। लक्ष्मी आपके घर में तभी प्रवेश करेगी जब आपके मन में किसी के प्रति द्वेष की भावना नहीं होगी और आपका मन साफ होगा। यदि आप किसी के प्रति गलत भावना रखते हैं तो लक्ष्मी प्राप्ति में आपको बाधाएं आ सकती हैं।


धनतेरस पूजा विधि 


  • धनतेरस के दिन सुबह स्नान इत्यादि करके आपको स्वच्छ वस्त्र पहनने चाहिये। इसके साथ ही आपको अपने घर की सफाई भी करनी चाहिये। 
  • इस दिन आरोग्य के देवता धन्वंतरि देव की पूजा षोडशोपचार से की जानी चाहिये। इसके साथ ही माता लक्ष्मी का ध्यान भी पूजा करते वक्त किया जाना चाहिये। 
  • परिवार के सब लोगों को पूजा में शामिल होना चाहिये और पूजा समाप्ति के बाद सबमें प्रसाद बांटा जाना चाहिये। 
  • शाम के वक्त घर के मुख्य़ द्वार पर दीये जलाने चाहिये। 
  • शाम के वक्त विधि विधान से माता लक्ष्मी की पूजा करनी चाहिये।

धनतेरस पर ज्योतिषीय उत्पादों पर पाएँ भारी डिस्काउंट- यहाँ क्लिक कर ख़रीदें

Related Articles:

No comments:

Post a Comment