क्या 2019 में फिर चलेगी मोदी लहर?

2019 में होने वाले आम चुनाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए बेहद दिलचस्प और चुनौतीपूर्ण रहने की संभावना है। क्योंकि खुद उनकी पार्टी बीजेपी और उन्हें चाहने वाले करोड़ों लोग उनसे पुनः 2014 में मिली प्रचंड जीत को दोहराने की इच्छा रखते हैं, लेकिन बड़ा सवाल है कि क्या 2014 में चली मोदी लहर का जादू 2019 में फिर बरकरार रहेगा? इस सवाल को लेकर एस्ट्रोसेज ने अपनी लोकप्रिय ‘राज योग रिपोर्ट’ के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कुंडली का ज्योतिषीय विश्लेषण किया और उनकी कुंडली में बने राज योगों का अध्ययन कर, वर्ष 2019 की संभावित तस्वीर पेश करने की कोशिश की है।

Click here to read in English


सूचना: प्रधानमंत्री की यह राज योग रिपोर्ट सार्वजनिक जीवन में उपलब्ध उनके जन्म विवरण के आधार पर तैयार की गई है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्म विवरण

जन्मतिथि- 17 सितंबर 1950, रविवार

जन्म समय- 11:00 बजे

जन्मस्थान- मेहसाणा (गुजरात)


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कुंडली में बनने वाले राज योग 

रूचक पंच महापुरुष योग, अमला योग, गज केसरी योग, वोशी योग, बुध आदित्य योग, चंद्र-मंगल योग, मूसल योग, दण्ड योग, पर्वत योग, कहाल योग, पाराशरी राज योग

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कुंडली में बनने वाले ये सभी राजयोग कुंडली में ग्रहों की विशेष स्थितियों से निर्मित होते हैं और व्यक्ति को जीवन में उन्नति प्रदान करते हैं। हालांकि हर राज योग का अलग-अलग महत्व होता है।

राज योग रिपोर्ट के अनुसार प्रधानमंत्री के लिए आने वाला शुभ समय


पहला स्वर्णिम काल

मार्च 2019 से सितंबर 2019

दूसरा स्वर्णिम काल

मई 2025 से मई 2026

तीसरा स्वर्णिम काल

नवंबर 2036 से मई 2039

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कुंडली में राजयोग की शक्ति: 95%

चूंकि राजयोग रिपोर्ट में मार्च 2019 से सितंबर 2019 का समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए अच्छा रहने वाला है। खास बात है कि 2019 के लोकसभा चुनाव भी अप्रैल से मई की अवधि में संपन्न होने की संभावना है, इसलिए इस समय में चुनावों में उन्हें सफलता मिलने की संभावना को बल मिलता है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कुंडली का ज्योतिषीय विश्लेषण


माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी वृश्चिक लग्न और वृश्चिक राशि में जन्मे हैं और उनका जन्म नक्षत्र अनुराधा है। वर्तमान समय में जनवरी 2020 तक शनि की उतरती हुई साढ़ेसाती का प्रभाव भी देखने को मिलेगा। यह स्थिति मानसिक तनाव और शारीरिक स्वास्थ्य में कमी की ओर इशारा करती है। 

सवाल है कि क्या जो करिश्मा साल 2014 में हुआ वहीं करिश्मा 2019 में भी दोहराया जाएगा अथवा नहीं? ज्योतिष की दृष्टि से देखें तो वर्ष 2019 के दौरान उनकी कुंडली में चंद्रमा की महादशा चलती रहेगी जो कि राजयोगकारी दशा है। यदि अंतर्दशा की बात करें तो फरवरी के अंत तक बुध की अंतर्दशा और उसके बाद सितंबर अंत तक केतु की अंतर्दशा और तदुपरांत शुक्र की अंतर्दशा चलेगी। श्री मोदी जी की कुंडली में बुध ग्रह अष्टम तथा एकादश भाव का स्वामी होकर एकादश भाव में दशमेश सूर्य और केतु के साथ अपनी उच्च राशि कन्या में स्थित है इसलिए उपलब्धियों की ओर इशारा करते हैं। केतु ग्यारहवें भाव में अच्छे फल देता है और कन्या राशि में होने से बुध के अनुसार परिणाम देगा जो कि मोदी जी के पक्ष में रह सकते हैं। बुध और केतु दोनों ही महादशा नाथ चंद्रमा से एकादश भाव में स्थित होकर कार्यों में आशातीत सफलता दर्शा रहे हैं। केतु की अंतर्दशा व्यतीत होने के उपरांत शुक्र की अंतर्दशा प्रारंभ होगी जो सप्तम भाव का स्वामी होकर दशम भाव में स्थित है और महादशा स्वामी चंद्रमा से दशम भाव में स्थित है। इन स्थितियों से यह पता चलता है कि 2019 में मोदी जी उन्हें जीत की ओर अग्रसर होंगे और उनकी जीत में धार्मिक संस्थाएं तथा विशेष रूप से महिलाओं का योगदान महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। 

जानें: राज योग रिपोर्ट से अपनी कुंडली में बनने वाले राज योगों की जानकारी 

Read More »

साप्ताहिक राशिफल - 18 से 24 फरवरी 2019

आपकी राशि ही बनाएगी आपके सभी बिगड़े काम ! पढ़ें इस सप्ताह का राशिफल और जानें अपनी भविष्यवाणियाँ। 


इस माह का ये सप्ताह जातकों के लिए खुशियों की सौगात लेकर आ रहा है क्योंकि इस सप्ताह चन्द्रमा के गोचर के अलावा शुभ ग्रह शुक्र का घनु राशि में गोचर हो रहा है। इसके साथ ही इस सप्ताह माघ पूर्णिमा व्रत और संकष्टी चतुर्थी भी घटित हो रही है, जिस दिन व्रत रखने का विधान है। ऐसे में इस कारण भी ये सप्ताह बेहद ख़ास हो जाता है। वहीं ये सप्ताह वैवाहिक जातकों के लिए बेहद अच्छा रहने वाला है, क्योंकि भौतिक सुख और वैवाहिक सुखों का कारक शुक्र ग्रह इसी सप्ताह स्थान परिवर्तन कर रहा है। अतः ग्रह, नक्षत्रों की बदलती ये चाल कई मायनों में जातकों पर शुभ प्रभाव डालने वाली है। 

हिन्दू पंचांग पर नज़र डालें तो इस सप्ताह की शुरुआत चतुर्दशी तिथि, शुक्ल पक्ष और पुष्य नक्षत्र के साथ होगी। ऐसे में इस दौरान चंद्रमा कर्क राशि में रहेंगें। इसके साथ ही इस सप्ताह का अंत षष्ठी तिथि, कृष्ण पक्ष और स्वाति नक्षत्र के साथ होगा। जिस दौरान चंद्र देव तुला राशि में होंगे। 

इस सप्ताह चन्द्रमा का गोचर कर्क, सिंह, कन्या और तुला इन चार राशियों में होगा। ये राशियाँ काल पुरुष कुंडली में क्रमशः चतुर्थ, पंचम , षष्ठम और सप्तम भावों को दर्शाती हैं। इस सप्ताह के अंत में यानि 24 फरवरी को शुक्र का गोचर धनु से मकर राशि में होगा। जिसका प्रभाव हर राशि पर देखने को मिलेगा। ज्योतिष में शुक्र ग्रह को शुभ ग्रह का दर्जा दिया गया हैं जो भौतिक सुख, वैवाहिक सुख, भोग-विलास, शौहरत, कला, प्रतिभा, सौन्दर्य, रोमांस, काम-वासना और फैशन-डिजाइनिंग आदि का कारक है। जहाँ वृषभ और तुला राशि का ये स्वामी होता है और मीन इसकी उच्च राशि कहलाती है तो वहीं कन्या इसकी नीच राशि होती है। इन बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए ही वैदिक ज्योतिष में व्यक्ति को शुक्र के बुरे प्रभाव से बचने के लिए अरंड मूल, हीरा या छः मुखी रुद्राक्ष धारण करने की सलाह दी जाती है। तो आइए जानते हैं कि आपकी राशि के लिए ये सप्ताह कैसा रहने वाला है। 



यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें चंद्र राशि कैल्कुलेटर से अपनी चंद्र राशि

मेष


इस सप्ताह चंद्र ग्रह का गोचर आपके चतुर्थ, पंचम, षष्टम और सप्तम भाव में होगा। इसके प्रभाव से आपको इस सप्ताह मिले-जुले परिणाम प्राप्त होंगे। आर्थिक पक्ष को देखा जाए तो इस सप्ताह आपकी आमदनी में देरी हो सकती है...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- इस सप्ताह प्रेम के मामलों में उत्सुकता बनी रहेगी। क्योंकि पंचम भाव का स्वामी सूर्य ग्रह आपके सप्तम भाव पर दृष्टि रखेगा...आगे पढ़ें

वृषभ


इस सप्ताह चंद्रमा आपकी राशि से तीसरे, चौथे, पंचम और षष्टम भाव में गोचर करेगा। इसके परिणाम स्वरूप भाई-बहनों के साथ आपका विवाद हो सकता है। इससे बचने के लिए उनकी बातों को सुनें और उनके साथ प्रेमपूर्ण व्यवहार करें...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- इस सप्ताह प्रेम जीवन पेचीदा रह सकता है। इसमें आपको असमंजस परिस्थितियों से गुजरना पड़ सकता है। जिससे आपको अपने प्रेम जीवन में...आगे पढ़ें

मिथुन


चंद्रमा आपकी राशि से दूसरे, तीसरे, चौथे और पाँचवें भाव में स्थित होगा। इसके प्रभाव से सप्ताह की शुरुआत में आपके ख़र्चों में वृद्धि संभव है। ऐसे में आपको अपने बेवज़ह के ख़र्चों में लगाम लगाने की आवश्यकता है...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- इस सप्ताह प्रेम और रोमांस के मामले में आपको मिलेजुले फल प्राप्त होंगे। किसी बात को लेकर प्रियमत के साथ बहसबाज़ी भी हो सकती है। परंतु ऐसी स्थिति में...आगे पढ़ें

ऑनलाइन सॉफ्टवेयर से मुफ्त जन्म कुंडली प्राप्त करें।

कर्क


इस सप्ताह चंद्र ग्रह का आपकी राशि से पहले भाव, दूसरे, तीसरे और चौथे भाव में स्थित रहेगा। इस कारण आपके स्वभाव में क्रोध, झुंझलाहट देखने को मिल सकती है। ऐसे में आपको अपने गुस्से पर क़ाबू रखना होगा अन्यथा इससे आपके संबंध...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- इस सप्ताह कर्क राशि के जातकों का प्रेम जीवन बहुत ज्यादा अनुकूल दिखाई नहीं दे रहा है। लव पार्टनर के साथ बहसबाज़ी हो सकती है। लेकिन इसके साथ...आगे पढ़ें


सिंह


इस सप्ताह चंद्रमा आपकी राशि से द्वादश, लग्न, द्वितीय एवं तृतीय भाव में स्थित होगा। इस कारण आपको इस सप्ताह विभिन्न क्षेत्रों में उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। सप्ताह की शुरुआत में आपके खर्च बढ़ेंगे। ऐसे में...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- इस सप्ताह आपके प्रेम जीवन में तनाव की स्थिति रह सकती है। इस दौरान लव पार्टनर के साथ बहसबाज़ी या फिर तकरार हो सकती है। इन सबसे आपके...आगे पढ़ें

कन्या


इस सप्ताह चंद्र ग्रह का आपकी राशि से एकादश, द्वादश, लग्न एवं द्वितीय भाव में गोचर होगा। एकादश भाव में चंद्रमा की उपस्थिति से आपको आर्थिक लाभ मिलेगा। इस दौरान आपके पास धन का आगमन होगा। चंद्रमा के गोचर से...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- इस सप्ताह आपका प्रेम जीवन चुनौतीपूर्ण रह सकता है। आप अपनी लव लाइफ को लेकर असंतुष्ट दिखाई दे सकते हैं। सप्ताह की शुरुआत में प्रियतम के साथ...आगे पढ़ें

तुला


इस सप्ताह चंद्रमा आपकी राशि से दसवें, ग्यारहवें, बारहवें और पहले भाव में स्थित होगा। इस दौरान आपकी कुंडली में मंगल के सप्तम भाव में उपस्थित होने से रूचक योग बन रहा है। कुंडली में सप्तम भाव से विवाह का विचार किया जाता है। यह योग...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- सप्ताह प्रेम रिश्ते को निभाने के लिए बहुत सही नहीं है। क्योंकि आपके प्रेम और रोमांस को प्रदर्शित करने वाले पंंचम भाव में सूर्य बैठा है। हालाँकि आप...आगे पढ़ें

वृश्चिक


इस सप्ताह चंद्रमा आपके नवम, दशम, एकादश एवं द्वादश भाव में रहेगा। इस स्थिति में माता-पिता के साथ आपकी बहसबाज़ी हो सकती है। इसके अलावा वैचारिक मतभेद होने की भी संभावना है। इससे बचने का प्रयास करें। इस सप्ताह आपके करियर का ग्राफ...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- प्रेम संबंध के लिए सप्ताह अच्छे संकेत दे रहा है। गुरु बृहस्पति की कृपा से आपको अच्छे परिणामों की प्राप्ति हो सकती है। प्रियतम के साथ...आगे पढ़ें

धनु


चंद्रमा आपकी राशि से अष्टम, नवम, दशम एवं एकादश भाव में गोचर करेगा। इन भावों में चंद्रमा की उपस्थिति आपके जीवन में उतार-चढ़ाव को दर्शा रही है। इस सप्ताह आपकी राह में बाधाएँ आएंगी। लेकिन आपका आत्म विश्वास और कड़ी मेहतन...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- इस सप्ताह प्रेम संबंध मधुर बना रहेगा और आपके बीच आकर्षण बढ़ेगा। हालाँकि पंचम भाव में मंगल ग्रह की उपस्थिति प्रेम संबंध विवाद को जन्म दे सकती है...आगे पढ़ें


मकर


इस सप्ताह चंद्रमा आपकी राशि से सप्तम, अष्टम, नवम और दशम भाव में गोचर करेगा। इन भावों में चंद्रमा की उपस्थिति से व्यापार में लिए गए फैसलों पर अच्छी तरह से विचार करना होगा। इस दौरान ख़ुद पर भरोसा रखें। इस सप्ताह आपको...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- प्रेम संबंध के लिए सप्ताह अच्छा है। लेकिन अपने प्रियतम को लेकर आपको किसी प्रकार का भय सता सकता है। मन में असुरक्षा की भावना हो सकती है। तात्पर्य यह है कि...आगे पढ़ें

कुंभ


इस सप्ताह चंद्रमा आपकी राशि से षष्टम, सप्तम, अष्टम और नवम भाव में होगा। चंद्रमा के इस गोचर से आपको ख़र्चों में अचानक से वृद्धि होने की संभावना है। अपने कमाए हुए धन को ग़ैर ज़रुरी चीज़ो पर खर्च न करें। इस दौरान आपको अपने शत्रुओं से सावधान रहने की आवश्यकता है। हालाँकि आप...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- इस सप्ताह अपने प्रेम जीवन को लेकर आप संतुष्ट दिखाई दे सकते हैं। हालाँकि किसी कारणवश आपके दरम्यान दूरियाँ भी बढ़ सकती हैं। प्रेम के मामलों में आवश्यकता से अधिक न सोचें और न...आगे पढ़ें

मीन


इस सप्ताह चंद्रमा आपके पंचम, षष्टम, सप्तम और अष्टम भाव में विरामान होगा। इसके परिणाम स्वरूप संतान के साथ आपकी बहसबाज़ी हो सकती है। इस सप्ताह आपके ख़र्चों में वृद्धि होगी। आप बिना रोक टोक के धन ख़र्च करेंगे जिससे कि बाद में आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- मीन राशि के जातकों के प्रेम जीवन के लिए यह सप्ताह अच्छा बीतेगा। हालाँकि पार्टनर के साथ छोटी-मोटी तकरार देखने को मिलेगी। लेकिन दोनों के बीच प्रेम-भाव बना रहेगा। परन्तु...आगे पढ़ें

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

Read More »

कल वैलेंटाइन डे पर इन 5 राशि के प्रेमियों की चमकेगी किस्मत !

वैलेंटाइन डे स्पेशल - अगर आपको भी है किसी ख़ास का इंतज़ार तो कल ही करें ये काम, खुद चलकर आपके पास आएगा सच्चा प्यार !


वैलेंटाइन डे, प्रति वर्ष 14 फरवरी को दुनियाभर में मनाया जाता है। यह त्यौहार प्रेम, भावना, समर्पण, विश्वास और विवाह का प्रतीक है। भारत में भी इस प्रेम के उत्सव को बड़ी धूम-धाम के साथ मनाया जाता है। इस दिन प्रेम करने वाले जोड़े एक-दूसरे से अपने प्यार का इज़हार करते हैं। 

वैदिक ज्योतिष के अनुसार वैलेंटाइन डे पर ग्रह नक्षत्र की स्थिति 


वैलेंटाइन डे पर चंद्रमा वृषभ राशि में स्थित होंगे। वहीं नक्षत्रों में यह रोहिणी नक्षत्र में विद्यमान होंगे। ज्योतिष में चंद्र ग्रह जुनून, रोमांस, विचार, राष्ट्र के लिए प्रेम, पारिवारिक जीवन एवं व्यक्तिगत मामलों को दर्शाता है। हिन्दू पौराणिक कथाओं में ऐसा कहा जाता है कि चंद्रमा ने राजा दक्ष की 27 कन्याओं में रोहिणी से सर्वाधिक प्रेम किया और उसी से उन्होंने विवाह किया। इस कारण 14 फरवरी यानि वैलेटाइन डे का दिन अपने आप में विशेष दिन हो जाता है। समीप होने के साथ-साथ यह नक्षत्र प्रेम, सुंदरता, परवाह, संतुष्टि, काम-वासना, जुनून एवं अधिकारत्व की भावना का प्रतीक भी है। और इन्ही की गणना को ध्यान में रखते हुए ज्योतिषी आपके संपूर्ण जीवन के भविष्यफल के आधार पर आपका प्रेम एवं विवाह फल आपको बताते हैं। 

वैलेंटाइन डे के दिन शुक्र ग्रह जो कि वृषभ राशि का स्वामी है वह भी अपना प्रभाव जातकों के जीवन पर डालेगा। यह उन्हें संवेदनशील, भावुक एवं आकांक्षाओं से परिपूर्ण बनाएगा। वहीं जन्म कुंडली में पंचम भाव प्रेम संबंधी मामलों का बोध कराता है। ग्रह एवं नक्षत्र का यह मिश्रण आपकी जन्म राशि पर अवश्य ही प्रभाव डालेगा। 

क्यों नहीं मिला रहा आपको अपना सच्चा साथी? हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषियों से करें परामर्श। 


भाग्यशाली रंग एवं वैलेंटाइन डे गिफ्ट


आइए, आपकी राशि के अनुसार ज्योतिषीय दृष्टिकोण से जानते हैं कि वैलेंटाइन डे को और भी स्पेशल बनाने के लिए आपको किस रंग के कपड़े पहनने चाहिए और अपने पार्टनर को कौन-सी स्पेशल चीज़ गिफ्ट करनी चाहिए।


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें चंद्र राशि कैल्कुलेटर से अपनी चंद्र राशि

मेष


मेष राशि के जातकों की जन्म कुंडली के पंचम भाव यानि प्रेम भाव का स्वामी सिंह राशि है, जिस पर सूर्य ग्रह का अधिकार है। वैलेंटाइन डे पर सूर्य ग्रह आपकी राशि से एकादश भाव में स्थित होंगे। ज्योतिष में इस भाव से इच्छा पूर्ति एवं नए रिलेशनशिप को भी देखा जाता है। इसलिए, इस दिन आपकी इच्छाओं की पूर्ति होने की संभावना है। अगर आप सिंगल हैं तो वैलेंटाइन डे के दिन आप किसी ऐसे शख्स से मुलाक़ात कर सकते हैं जिससे आपकी रिलेशिप की शुरुआत होगी। यद्यपि इस रिश्ते को बनाने से पहले धैर्य रखें और ज्यादा जल्दबाज़ी न दिखाएं।

  • क्या पहनें: इस दिन आप मोटे रेशों वाला कपड़ा जैसे जींस, स्वेटर, कोट या फिर जैकेट पहन सकते हैं।
  • लकी कलर: आज के दिन ऑरंजिस रेड, कॉपर और रस्ट कलर के कपड़े पहने जा सकते हैं।
  • गिफ्ट: आज के दिन आप अपने पार्टनर को उन्हें स्पेशल फील कराने के लिए कोई ब्रैंडेड चीज़ गिफ़्ट कर सकते हैं।

वृषभ


आपकी कुंडली में प्रेम भाव यानि पंचम भाव का स्वामी कन्या है और कन्या राशि का स्वामी बुध ग्रह है। वैलेंटाइन डे के दिन बुध ग्रह आपकी राशि से दशम भाव में स्थित होगा। यह भाव बहिर्मुखी, स्पष्टवादिता एवं अभिव्यक्ति आदि को दर्शाता है। अतः वैलेंटाइन डे पर आप अपने विचारों को पूरे आत्म-विश्वास के साथ दूसरों के सामने रखेंगे। आप किसी भी माध्यम से संवाद करने की तुलना में अपने दिल और दिमाग की बात करेंगे। हालाँकि इस दौरान अपने शब्दों में मर्यादा बनाए रखें ताकि सामने वाला व्यक्ति असहज महसूस न करें।

  • क्या पहनें: आज के दिन आप फंकी कपड़े और एक्ससरीज़ पहन सकते हैं।
  • लकी कलर: जब आप अपने लव पार्टनर से मिलने जाएं तो हरे रंग के विभिन्न शेड्स की ड्रेस पहन सकते हैं।
  • गिफ्ट: अपने पार्टनर के लिए आप सॉफ्ट टॉय जैसे टेडी बियर या फिर डॉल्स ख़रीद सकते हैं। 

मिथुन


आपके पंचम भाव की राशि तुला है और तुला राशि का स्वामी शुक्र ग्रह है। वैलेंटाइन डे पर आपकी जन्म कुंडली में शुक्र ग्रह सप्तम भाव में स्थित होगा। ज्योतिष में सप्तम भाव गंभीर रिश्ते, वैवाहिक जीवन एवं नए रिश्ते को दर्शाता है। अतः इस दिन सिंगल जातकों की लाइफ़ में नई रिलेशनशिप की शुरुआत हो सकती है। वहीं जो जातक पहले से ही प्यार की नाव में सवार हैं या फिर शादीशुदा हैं तो उनके जीवन में प्रेम और आकर्षण बढ़ेगा। दरअसल, नैसर्गिक रूप शुक्र ग्रह सप्तम भाव का स्वामी होता है। प्यार के मामले में जल्दबाज़ी न दिखाए और न ही असभ्य व्यवहार करें।
  • क्या पहनें: वैलेंटाइन डे पर आप चटकीले कपड़े पहन सकते हैं जैसे गोल्डन जैकेट या फिर सिल्वर टॉप आदि।
  • लकी कलर: वैलेंटाइन डे पर आप चमकीले शेड्स के मिश्रण वाले सिल्वर कलर के कपड़े पहने जा सकते हैं। 
  • गिफ्ट: वैलेंटाइन डे पर गिफ्ट के रूप में प्यार सा फूल दिए जा सकते हैं। 

कर्क


आपकी कुंडली में पंचम भाव का स्वामी वृश्चिक राशि है और वृश्चिक राशि पर मंगल ग्रह का अधिपत्य है। 14 फरवरी के दिन मंगल ग्रह आपके दशम भाव में विराजित होगा। मंगल ग्रह जुनून, ऊर्जा और क्रोध का कारक होता है। इसके परिणाम स्वरूप आपका वैलेंटाइन डे कुछ फीका-फीका रह सकता है। अपने लव पार्टनर के प्रित आपका व्यवहार भी रूखा-सूखा रह सकता है। इसलिए इस दिन खुद को शांत रखें और प्रियतम के साथ अच्छा व्यवहार करें।

  • क्या पहनें: लैदर/ चमड़े के कपड़े जैसे जैकेट पहनी जा सकती है और उसके साथ जींस भी डाली जा सकती है।
  • लकी कलर: वैलेंटाइन डे पर ब्लड रेड/ लाल या मैरून रंग आपके लिए लकी साबित हो सकता है।
  • गिफ्ट: अगर आपका प्रियतम तकनीकी प्रेमी है तो आप उन्हें इस दिन इलेक्ट्रॉनिक गैजेट गिफ्ट में दे सकते हैं।


सिंह


आपकी कुंडली में पंचम भाव की राशि धनु है और धनु राशि का स्वामी बृहस्पति ग्रह है। वैलेंटाइन डे पर गुरु आपकी राशि से चौथे भाव में स्थित होगा। इस भाव से आंतरिक आभास एवं भावनाओं को देखा जाता है। वैलेंटाइन डे के दिन आप अपने लव पार्टनर के प्रति अधिक भावुक हो सकते हैं। रिलेशनशिप को लेकर आवश्यकता से अधिक न सोचें। क्योंकि इसके बुरे असर से आपका रिलेशनशिप प्रभावित हो सकता है।

  • क्या पहनें: वेलैंटाइन डे पर आप सिंपल ट्रेडिशनल यानी कोई परंपरागत ड्रेस पहन सकते हैं। 
  • लकी कलर: पीला रंग आज आपके लिए सबसे अच्छा रहेगा।
  • गिफ्ट: वेलैंटाइन डे पर साथी की पसंद की कोई किताब उन्हें गिफ्ट की जा सकती है।

कन्या


मकर राशि आपके पंचम भाव में स्थित है। कुंडली में पंचम भाव जुनून, रोमांस और प्यार को दर्शाता है। वहीं मकर राशि का स्वामी शनि ग्रह है। ज्योतिष में शनि ग्रह को आलसी स्वभाव, देरी एवं दुख आदि का कारक माना जाता है। वैलेंटाइन डे के दिन यह आपके चतुर्थ भाव में स्थित होगा। इस भाव को सुख भाव भी कहा गया है। ऐसी स्थिति में शनि का प्रभाव आपके रिलेशिप में आलस, बलवंता और विवादों को जन्म दे सकता है। इसलिए ऐसा कोई कार्य न करें जिससे प्रियतम की भावनाएं आहत हों।

  • क्या पहनें: स्टाइलिश फेडेट जींस और टी-शर्ट पहनी जा सकती है।
  • लकी कलर: आज लव पार्टनर से मिलने जाएं तो काले रंग के कपड़े ही पहनें।
  • गिफ्ट: इस दिन को और भी हसीन बनाने के लिए डार्क चॉकलेट गिफ्ट करें।
देखें अपने पार्टनर से कितने मिलते हैं आपके गुण : कुंडली मिलान

तुला


तुला राशि के जातकों के पंचम भाव की स्वामी राशि कुंभ है और कुंभ राशि पर शनि ग्रह का अधिपत्य है। वैलेंटाइन डे पर शनि ग्रह आपके तृतीय भाव में स्थित होगा। यह भाव साहस, और छोटी दूरी की यात्राओं को दिखाता है। इसलिए 14 फरवरी को आप अपने लव पार्टनर के साथ छोटी दूरी की यात्रा कर सकते हैं। इसके अलावा आप अपने प्रियतम को बड़ी बेबाकी से अपने दिल की बात कहने में सफल होंगे। इस दिन प्यार में उठाए गए कदमों को पीछे न लें। हालाँकि ऐसे कदम भी न उठाएं जिससे प्रियतम का दिल दुखे।

  • क्या पहनें: मोटे कपास से बने हुए कपड़ों को पहनें।
  • लकी कलर: काले या फिर नीले रंग के कपड़ो को वैलेंटाइन डे के स्पेशल दिन पर पहना जा सकता है।
  • गिफ्ट: अपने लव पार्टनर का दिन बनाने के लिए उसे आप चॉकलेट केक गिफ्ट में दे सकते हैं।

वृश्चिक


ज्योतिषीय गणना के अनुसार आपके पंचम पर मीन राशि का आधिपत्य है और ज्योतिष में गुरु ग्रह मीन राशि का स्वामी है। आपकी जन्म कुंडली में बृहस्पति ग्रह आपके लग्न भाव में विराजमान है। गुरु के प्रभाव से वैलेंटाइन डे पर आप अपने प्यार के प्रति सच्ची भावना रखेंगे। कुंडली में लग्न भाव आपके व्यक्तित्व एवं स्वभाव के बारे में बताता है। आज के दिन अपने आपको सादगी से परिपूर्ण रखें। निश्चित हीं परिस्थितियाँ आपके हक़ में दिखाई देंगी।

  • क्या पहनें: इस वेलैंटाइन डे पर सादे और ब्रांडेड कपड़े पहनें। 
  • लकी कलर: पीले हलके रंग के कपड़े वैलेटाइन डे पर आपको ज्यादा सूट करेंगे।
  • गिफ्ट: अपने लवर को संगीत से संबंधित आइटम जैसे सीडी, म्यूजिक एलबम या फिर म्यूजिक गैजेट दे सकते हैं।

धनु 


मेष राशि आपके पंचम भाव की स्वामी है और इस राशि का स्वामी मंगल ग्रह है। वैलेंटाइन डे पर मंगल ग्रह आपके पंचम भाव में ही स्थित है। इसके प्रभाव से धनु राशि के जातक प्रेम के प्रति शक्तिशाली और उत्साहित रहेंगे। इसके परिणाम स्वरूप वैलेटाइन डे आपके लिए लकी साबित हो सकता है। लव पार्टनर और आपके दरम्यान दूरी कम होगी और नजदीकियाँ बढ़ेंगी, जिससे आपका रिश्ता भी मजबूत होगा। वैलेंटाइन डे पर लव पार्टनर के प्रति आप अधिक आकर्षित हो सकते हैं।

  • क्या पहनें: अपने प्रभाव को छोड़ने के लिए आज के दिन मिलिट्री प्रिंट के कपड़े पहनें।
  • लकी कलर: हरा और मैरून कलर आपके लिए आज लकी साबित होगा।
  • गिफ्ट: मनोरंजन पार्क, स्पोर्ट्स रिलेटेड एरीना जैसे आइस स्केटिंग की टिकट ख़रीद कर आप अपने पार्टनर को वहाँ ले जा सकते हैं।

मकर 


मकर राशि वाले जातकों की कुंडली में पंचम भाव से उनके प्रेम संबंधों, रिश्तों और प्रेम जीवन के बारे में जाना जाता है। यह भाव वृषभ राशि द्वारा अधिकृत है जिसका स्वामी शुक्र ग्रह है। वैलेंटाइन डे पर शुक्र आपकी राशि से बारहवें भाव में स्थित रहेगा जिसके कारण अलगाव की स्थिति बन सकती है। अतः प्रेम जीवन के लिए यह दिन शुभ नहीं माना जा सकता है। इस दिन आपका रिश्ता टूट सकता है या आप अपने प्रेमी/प्रेमिका से अलग हो सकते हैं। अगर आप अपने रिश्ते में अलगाव नहीं चाहते तो आपको अपने प्रेमी/प्रेमिका के साथ बहस करने से बचना चाहिए और उन्हें दबाने की कोशिश नहीं करनी चाहिए। अपनी भावनाओं पर काबू रखें और किसी भी बात को लेकर ज्यादा प्रतिक्रिया देने से बचें। 

  • क्या पहनें: वैलेंटाइन डे पर कुछ क्रिएटिव और ट्रेंडी पहना जा सकता है। इस दिन आप ऑड जींस भी पहन सकते हैं। 
  • लकी कलर: वैलेंटाइन डे पर गुलाबी रंग के कपड़े पहनना आपके लिए शुभ रहेगा। 
  • गिफ्ट: अपने प्रेमी/प्रेमिका को किसी रोमांटिक मूवी पर ले जाकर उन्हें सरप्राइज दें। किसी थिएटर में जाकर रोमांटिक प्ले देखना भी आपके लिए अच्छा रहेगा।

कुंभ


आपकी कुंडली में पंचम भाव पर मिथुन राशि का अधिपत्य है। ज्योतिष में मिथुन राशि का स्वामी बुध ग्रह है। वैलेंटाइन डे के दिन बुध ग्रह आपके लग्न भाव में होगा। कुंडली का लग्न भाव आपकी पर्सनैलिटी, और आपके स्वभाव को दर्शाता है। बुध ग्रह संवाद का कारक होता है। इसलिए बुध ग्रह के प्रभाव से वैलेंटाइन डे के दिन आपका व्यक्तित्व निखरकर सामने आएगा। आप बड़ी बेबाकी से अपने दिल की बात प्रियतम से कहेंगे। अपनी आकर्षक व्यक्तित्व से आप उन्हें प्रभावित करेंगे। परंतु आप इस दौरान अपने प्रियतम के प्रति अधिक पजेसिव/ मालिकाना हक़ रख सकते हैं और उन पर अपने विचार थोपने की कोशिश कर सकते हैं। परंतु ऐसा न करें क्योंकि इससे प्रियतम के दिल को चोट पहुँच सकती है। इसके अलावा यह विशेष दिन आपके लिए शानदार साबित होगा।

  • क्या पहनें: आज के दिन फिटेड जींस पहन सकते हैं। इसके अलावा आप आप कैप्रिज़ या शॉर्ट ड्रेस भी पहन सकते हैं।
  • लकी कलर: वैलेंटाइन डे पर समुद्री हरा रंग आपके लिए लकी साबित हो सकता है।
  • गिफ्ट: आप आज के दिन अपने प्रेम साथी को महंगी घड़ी गिफ्ट में दे सकते हैं।

मीन 


आपके प्रेम भाव पर कर्क राशि का अधिपत्य है। कर्क राशि का स्वामी चंद्र ग्रह है जो भावनाओं, प्रेम और केयरिंग नेचर का प्रतीक है। वैलेंटाइन डे पर चंद्र ग्रह आपकी राशि से तीसरे भाव में स्थित होगा। इसके परिणाम स्वरूप आप अपने प्रियतम की अधिक परवाह करेंगे और उनके प्रति आज आपका प्यार भी अधिक उमड़कर आएगा। यह बहुत ही बढ़िया समय होगा जब आप अपने प्रेम साथी को यह अहसास दिला पाने में कामयाब होंगे कि आप उनके लिए कितने समर्पित हैं। अपने रिश्ते में किसी तीसरे शख़्स को न आने दें। 

  • क्या पहनें: अपने लव पार्टनर को सरप्राइज़ करने के लिए आप नए लुक में नज़र आ सकते हैं। वैलेंटाइन के दिन क्लासिक लुक के लिए ब्लेजर्स के साथ क्रिस्प शर्ट और फिटेड ट्राउजर्स पहनी जा सकती है।
  • लकी कलर: वैलेंटाइन डे पर हलके रंगों के कपड़े को पहनना शुभ रहेगा। 
  • गिफ्ट: वैलेंटाइन डे पर आप अपने लव पार्टनर को कीचेन दे सकते हैं जिस पर उनका नाम लिखा हो या फिर दिल के शेप में आप उन्हें तकिया भी गिफ्ट कर सकते हैं।
रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

Read More »

आज सूर्य का कुंभ में राशि परिवर्तन लाएगा आपके जीवन में ये बड़े बदलाव

सूर्य का कुंभ में गोचर हर राशि पर डालेगा असर, किसी को मिलेगा राज योग तो किसी को होना पड़ेगा सावधान ! 


समस्त सृष्टि के लिए सूर्य का विशेष महत्व है, इसी लिए पौराणिक शास्त्रों में इसे सृष्टि की आत्मा भी कहा जाता है। हिन्दू धर्म में इसे देवता के रूप में पूजा जाता है। वहीं वैदिक ज्योतिष में सूर्य को सभी ग्रहों का प्रधान माना जाता है। यह सिंह राशि का स्वामी है। वहीं नक्षत्रों में इसे कृतिका, उत्तरा-फाल्गुनी एवं उत्तरा षाढ़ा नक्षत्रों का स्वामित्व प्राप्त है। हिन्दू ज्योतिष में सूर्य ग्रह जब किसी राशि में प्रवेश करता है तो वह धार्मिक कार्यों के लिए बहुत ही शुभ समय होता है। इस दौरान लोग आत्म शांति के लिए धार्मिक कार्यों का आयोजन कराते हैं तथा सूर्य की उपासना करते हैं। विभिन्न राशियों में सूर्य की चाल के आधार पर ही हिन्दू पंचांग की गणना संभव है। तभी कई लोग सूर्य ग्रह की शांति के लिए माणिक्य रत्न भी धारण करते हैं। 

सूर्य के स्थान परिवर्तन से हर राशि के जातकों पर भी प्रभाव देखने को मिलता है। सूर्य ग्रह 13 फरवरी 2019, (बुधवार) को प्रातः 8 बजकर 44 मिनट में कुंभ राशि में अपना गोचर करेगा। जिसका असर हर जातक पर पड़ेगा। इस दौरान 15 मार्च 2019, शुक्रवार को प्रातः 5:35 बजे तक सूर्य के इस गोचर की अवधि रहेगी। ऐसे में सूर्य ग्रह का ये गोचर कितना शुभ रहने वाला है ये जानने के लिए आइए उन प्रभावों पर डालते हैं एक नज़र…. 



यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें चंद्र राशि कैल्कुलेटर से अपनी चंद्र राशि


मेष


कुभ राशि में सूर्य का होने वाला गोचर मेष राशि वालों के लिए बहुत सारी ख़ुशियाँ लेकर आने वाला है। लंबे समय से इंतजार कर रहे जातकों की हर इच्छा पूरी होगी। यह अवधि आपके लिए बेहद….आगे पढ़ें

वृषभ


इस अवधि में वृषभ राशि के जातकों के घर-परिवार में निराशा का भाव उत्पन्न होगा। पारिवारिक जीवन प्रभावित होगा। कई मामलों में मन में असंतोष पैदा होगा। किसी संपत्ति को खरीदने या….आगे पढ़ें


मिथुन


सूर्य के कुंभ राशि में गोचर के प्रभाव से भाग्य पूरी तरह से आपके साथ रहेगा। नौकरी वालों को मेहनत और अच्छे प्रयासों की वजह से लाभ मिलता दिख रहा है। इस अवधि में मिथुन राशि के जातकों की इच्छाशक्ति….आगे पढ़ें

कर्क


कर्क राशि के जातकों के लिए यह गोचर मुश्किलों भरा हो सकता है। सूर्य का यह गोचर आर्थिक नुकसान और बेतुके खर्च बढ़ा सकता है इसलिए पैसों के मामले में सोच समझ कर फैसले लेने की आवश्यकता है। एकाग्रता में….आगे पढ़ें


सिंह


इस गोचर के दौरान सिंह राशि के जातकों के अंदर क्रोध की प्रवृत्ति बढ़ेगी। किसी भी मामले को शांतिपूर्वक और धैयपूर्वक हल करें और गुस्से पर काबू रखें। कार्य स्थल में नई….आगे पढ़ें


कन्या


इस गोचर के दौरान आप प्रभावशाली होंगे। कन्या राशि के जातक इस अवधि में विरोधियों पर बढ़त बनाने में कामयाब रहेंगे। अगर पहले से कोई कानूनी मामला या मुकदमा चल रहा है तो फैसला आपके पक्ष में आएगा। सूर्य के इस गोचर के दौरान….आगे पढ़ें

तुला


इस गोचर के दौरान तुला राशि के जातकों को आर्थिक लाभ और आय में वृद्धि की संभावना है। नौकरी और बिजनेस में प्रगति होगी। आगे बढ़ने के कई अवसर मिलेंगे। आप अपनी बुद्धि और कौशल की बदौलत मिले अवसरों का….आगे पढ़ें

वृश्चिक


वृश्चिक राशि के जातकों के लिए सूर्य का यह गोचर अनुकूल रहेगा। पारिवारिक जीवन में कुछ छोटे मुद्दों को लेकर तनाव और टकराव का माहौल बनेगा। इस दौरान संयम से काम लेना होगा। कार्यस्थल पर आप….आगे पढ़ें

धनु


इस दौरान धनु राशि के जातकों की निर्णय लेने की क्षमता बेहद अच्छी रहेगी। इस अवधि में आपके निशाने पर केवल आपका लक्ष्य रहेगा, हालांकि आपके बड़े भाई बहनों के लिए यह गोचर….आगे पढ़ें

मकर


मकर राशि वालों को इस अवधि में आर्थिक लाभ मिलने की संभावना दिख रही है। सूर्य के इस गोचर के दौरान जातकों को अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। पैतृक के साथ साथ ससुराल पक्ष से भी आर्थिक….आगे पढ़ें

कुंभ


कुंभ राशि के जातक गोचर की अवधि में स्वास्थ्य का विशेष ख्याल रखें। सिरदर्द, बुखार या किसी संक्रमण की वजह से सेहत खराब हो सकती है। इसके अलावा आप इस अवधि में स्वयं को खुश, प्रफुल्लित एवं उर्जावान….आगे पढ़ें

मीन 


मीन राशि के जातकों के लिए सूर्य का कुंभ राशि में गोचर बेहद मंगलमय रहने वाला है। नौकरी-पेशा से जुड़े लोगों के लिए तो यह अवधि बेहद मंगलकारी रहने वाली है। जो लोग सरकारी सेवा में हैं वे….आगे पढ़ें

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

Read More »

साप्ताहिक राशिफल - 11 से 17 फरवरी 2019

इस सप्ताह चंद्र-सूर्य का गोचर बनाएगा दुर्लभ संयोग। पढ़ें साप्ताहिक राशिफल में हर राशि की विशेष भविष्यवाणियाँ !


फरवरी का ये सप्ताह कई मायनों में बेहद ख़ास रहने वाला है क्योंकि इस सप्ताह चन्द्रमा के गोचर के अलावा सूर्य ग्रह कुम्भ राशि में अपना राशि परिवर्तन कर रहे हैं। इसके साथ ही इस सप्ताह बसंत पंचमी भी घटित हो रही है, जिसमें सरस्वती पूजा करने का विधान है। इसीलिए भी इस सप्ताह का महत्व बढ़ जाता। वहीं ये सप्ताह प्रेमियों के लिए बेहद महत्वपूर्ण रहने वाला है, क्योंकि उनका मुख्य दिन ‘वैलेंटाइन डे’ इसी हफ़्ते पड़ रहा है। अंत में इस हफ्ते में ग्रह, नक्षत्रों की बदलती चाल जहाँ कई जातकों पर सकारात्मक प्रभाव डालेगी तो वहीं कई राशि के जातकों को इस योग से नकारात्मक परिणाम भोगनें पड़ सकते हैं। 

हिन्दू पंचांग को देखें तो इस सप्ताह की शुरुआत षष्ठी तिथि, शुक्ल पक्ष और अश्विनी नक्षत्र के साथ होगी। ऐसे में इस दौरान चंद्रमा मेष राशि में रहेंगें। इसके साथ ही इस सप्ताह का अंत द्वादशी व त्रयोदशी तिथि, शुक्ल पक्ष और पुनर्वसु नक्षत्र के साथ होगा। जिस दौरान चंद्र देव मिथुन राशि में होंगे। 

इस सप्ताह चन्द्रमा मेष, वृषभ, मिथुन और कर्क राशि में गोचर करेंगे। ज्योतिष में चंद्र ग्रह को मन, मस्तिष्क एवं द्रव्य पदार्थो का कारक माना जाता है। यह कर्क राशि के स्वामी होते हैं। वहीं इस सप्ताह के मध्य यानि 13 फरवरी को सूर्य ग्रह मकर राशि से कुंभ राशि में गोचर करेंगे। सूर्य ग्रह सिंह राशि के स्वामी होते हैं। ये आत्मा, नेतृत्व, राजा, उच्च पद आदि के कारक भी होते हैं। ऐसे में इस सप्ताह सूर्य और चंद्रमा के गोचर का प्रभाव सभी 12 राशियों पर पड़ेगा। वैदिक ज्योतिष में सूर्य ग्रह के लिए रूबी/माणिक्य को धारण करना सबसे शुभ माना गया है। तो आइए ज्योतिषीय गणना के आधार पर अब जानते हैं कैसा रहेगा आपका यह सप्ताह।



यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें चंद्र राशि कैल्कुलेटर से अपनी चंद्र राशि

मेष


इस सप्ताह चन्द्रमा आपके लग्न, द्वितीय, तृतीय और चतुर्थ भाव में गोचर करेंगे। इसके अलावा सूर्य का गोचर आपके एकादश भाव में होगा। जिससे आपके तेज में वृद्धि होगी और आपका चेहरा भी चमकेगा...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- इस सप्ताह प्रेम जीवन के लिहाज़ से कुछ निराशा हाथ लग सकती है। इस दौरान प्रियतम से किसी बात को लेकर विवाद होने की संभावना है...आगे पढ़ें

वृषभ


इस सप्ताह शुक्र का गोचर धनु राशि में होने से आपको किसी प्रकार का मानसिक तनाव रह सकता है। इसके साथ ही आप लम्बे समय से अष्टम शनि की ढैय्या से भी जूझ रहे हैं। लिहाज़ा...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- इस सप्ताह आपका प्रेम जीवन सामान्य रहेगा। हालाँकि फिज़ाओं में प्रेम की ख़ुशबू अपना रंग बिखेरेंगी। उसकी महक से...आगे पढ़ें

मिथुन


इस सप्ताह सूर्य का आपकी राशि से नवम भाव में गोचर होगा। आमदनी के लिहाज़ से यह सप्ताह अच्छा है। लेकिन साथ ही साथ आपके खर्चे भी उसी अनुपात में बढ़ेंगे। सूर्य का गोचर नवम भाव में होने से यह...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- यह सप्ताह प्रेम सम्बन्धी मामलों के लिए शुभ संकेत दे रहा है। इसमें आप अपने प्यार के रिश्ते को और भी मजबूत बना सकते हैं। आप दोनों एक दूसरे के प्रति...आगे पढ़ें

ऑनलाइन सॉफ्टवेयर से मुफ्त जन्म कुंडली प्राप्त करें।

कर्क


इस सप्ताह चन्द्रमा आपकी राशि से दशम, एकादश, द्वादश और लग्न भाव में गोचर करेंगे। वहीं सूर्य का आपकी राशि से अष्टम भाव में गोचर होगा। इसलिए इस सप्ताह कार्यक्षेत्र में आप बढ़ चढ़ कर प्रदर्शन करेंगे और आपका...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- इस सप्ताह आपका प्रेम जीवन काफी अच्छा रह सकता है। प्रियतम के साथ यादगार समय बिताने का अच्छा मौक़ा है। उनके साथ कहीं घूमने अथवा...आगे पढ़ें


सिंह


इस सप्ताह सूर्य का कुंभ राशि में गोचर होगा। ऐसे में यह आपके सप्तम भाव में प्रवेश होंगे। वहीं मंगल की दृष्टि आपके तृतीय भाव पर रहने से आपके साहस और पराक्रम में वृद्धि होगी। साथ ही भाई-बहनों को अच्छे फल प्राप्त होंगे...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- प्रेम संबंधों के लिए सप्ताह शुभ संकेत दे रहा है। इस सप्ताह आपके प्रेम का रिश्ता और भी मजबूत होगा। लव पार्टनर के साथ आप विवाह करने के बारे में...आगे पढ़ें

कन्या


इस सप्ताह चन्द्रमा का आपकी राशि से अष्टम, नवम, दशम और एकादश भाव में गोचर होगा। साथ ही इसी सप्ताह सूर्य भी आपकी राशि से षष्ठम भाव में प्रवेश करेंगे। ऐसे में आपको कम प्रयासों में ही अच्छी सफलता मिल सकती है। लेकिन...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- प्रेम जीवन के लिए यह सप्ताह मिला जुला परिणाम देने वाला हो सकता है। इस दौरान प्रियतम के साथ तकरार भी हो सकती है। साथ ही उनका प्यार भी...आगे पढ़ें

तुला



इस सप्ताह चन्द्रमा आपकी राशि से सप्तम, अष्टम, नवम और दशम भाव में गोचर करेंगे। वहीं सूर्य ग्रह का आपकी राशि से पंचम भाव में प्रवेश होगा। आपके सप्तम भाव में चन्द्रमा गोचर के साथ ही आप विपरीत लिंग के लोगों के प्रति आकर्षित होंगे, जिससे...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- सप्ताह के मध्य तक आपके प्रेम सम्बन्ध अच्छे रहेंगे। लेकिन सूर्य गोचर के बाद रिश्ते में थोड़ी कड़वाहट आ सकती है। ऐसी स्थिति में आपको...आगे पढ़ें

वृश्चिक


इस सप्ताह देव गुरु बृहस्पति आपके लग्न भाव में पहले से ही विराजमान हैं, जो कि आपके लिए अत्यंत लाभकारी है। सप्ताह की शुरुआत में आप किसी वाद-विवाद या झगड़े में...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- इस सप्ताह आपका प्रेम जीवन अच्छा रहेगा। बशर्ते लव पार्टनर पर शक न करें। अन्यथा आपके रिश्ते में दरार पैदा हो सकती है। आपका वैवाहिक जीवन अत्यंत...आगे पढ़ें

धनु


इस सप्ताह चन्द्रमा आपकी राशि से पंचम, षष्टम, सप्तम और अष्टम भाव में गोचर करेंगे। तृतीय भाव में सूर्य के गोचर के साथ ही आपके साहस और पराक्रम में वृद्धि होगी। आपका रचनात्मक कार्यों में अधिक मन लगेगा। परंतु आपकी संतान और आपके बीच किसी बात को लेकर...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- इस सप्ताह आपका प्रेम जीवन अच्छा रहेगा। अपने प्रियतम के प्रति आकर्षण बढ़ेगा और आप भी उनकी ओर से यही उम्मीद कर सकते हैं। इस सप्ताह आप दोनों...आगे पढ़ें


मकर


इस सप्ताह चन्द्रमा आपकी राशि से चतुर्थ, पंचम, षष्टम और सप्तम भाव में प्रवेश करेंगे। इसके अलावा सूर्य के दूसरे भाव में गोचर के साथ ही आपको अपनी वाणी पर नियंत्रण रखना होगा। आप प्रॉपर्टी या ज़मीन से संबंधित कारोबार में...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- यह सप्ताह प्रेम सम्बन्धों के लिए अच्छा है, लेकिन आप और आपके प्रेमी के बीच वियोग रह सकता है। तात्पर्य यह है कि...आगे पढ़ें

कुंभ


इस सप्ताह चन्द्रमा आपकी राशि से तृतीय ,चतुर्थ, पंचम और षष्टम भाव में गोचर करेंगे। इसके अलावा सूर्य आपकी ही राशि या लग्न में प्रवेश करेंगे। सूर्य के लग्न में गोचर करते ही आपके अंदर थोड़ा अहंकार बढ़ सकता है। लेकिन यह बुध के साथ युति करेगा जो कि आपके लग्न में बुधादित्य योग का निर्माण करेगा, जिससे...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- इस सप्ताह प्रेम जीवन में ऐसी संभव है कि आपको अपने रूठे प्रेमी को मनाने के लिए थोड़ा अधिक प्रयास करना पड़े। लेकिन शुक्र की सप्तम दृष्टि प्रेम भाव पर पड़ने से ...आगे पढ़ें

मीन


इस हफ्ते सूर्य का गोचर आपके द्वादश भाव में होगा। सप्ताह के प्रारम्भ में आप धार्मिक कार्य के लिए अपना धन खर्च कर सकते है। इस दौरान आपका अधिक ख़र्चा भी हो सकता है। यदि आप लेखन इत्यादि के कार्य से जुड़े हैं तो आपको...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- प्रेम जीवन के लिए यह सप्ताह उतार चढाव भरा रह सकता है। आप किसी ग़लतफ़हमी के कारण अपने प्रियतम पर शक कर सकते हैं जिससे की आपके प्रेम के रिश्ते में...आगे पढ़ें

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

Read More »

बसंत पंचमी पर करें माँ सरस्वती को खुश !

बसंत पंचमी पर इस शुभ मुहूर्त में करें सरस्वती पूजा, परिवार का होगा बेडा पार !


हिन्दू पंचांग के अनुसार बसंत पंचमी माघ माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी को देशभर में मनाई जाती है। इसी दिन से भारत में वसंत ऋतु की शुरुआत होती हैं। इस दिन माँ सरस्वती की पूजा करने का भी विधान है। ज्योतिषियों की मानें तो बसंत पंचमी पर सरस्वती पूजा सूर्योदय के बाद और दिन के मध्य भाग से पहले की जाती है, जिस काल को पूर्वाह्न भी कहा जाता है।

शुभ पूजा मुहूर्त

बसंत पंचमी व सरस्वती पूजा
दिनांक :
10 फरवरी, 2019 (रविवार)
पूजा मुहूर्त :
07:03:57 से 12:35:38 तक
अवधि :
5 घंटे 31 मिनट

(नोट: यह मुहूर्त New Delhi, India के लिए प्रभावी होगा।)


ये देखा गया है कि यदि माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि दिन के मध्य के बाद शुरू हो रही है तो ऐसे में वसंत पंचमी का शुभ मुहूर्त अगले दिन का मान्य होगा। इस दौरान ख्याल रखें कि यह पूजा अगले दिन भी उसी स्थिति में ही हो जब तिथि का प्रारंभ पहले दिन के मध्य से पहले नहीं हो रहा हो। कहने का मतलब है कि पंचमी तिथि पूर्वाह्नव्यापिनी न हो। इसके अलावा बाक़ी सभी परिस्थितियों में पूजा पहले दिन की जा सकती है। यही कारण है कि कई बार पंचांग के अनुसार बसंत पंचमी चतुर्थी तिथि को भी पड़ जाती है।




बसंत पंचमी पर सरस्वती पूजा का महत्व 


आज के दिन कई लोग विशेषकर साहित्य, शिक्षा, कला इत्यादि के क्षेत्र से जुड़े लोग ऊपर दिए गए मुहूर्त अनुसार विद्या की देवी माँ सरस्वती की पूजा और आराधना करके उन्हें प्रसन्न करते हैं। क्योंकि बसंत पंचमी का विशेष दिन ज्ञान, विद्या, बुद्धिमत्ता, कला और संस्कृति की देवी माँ सरस्वती को समर्पित होता है। इसी लिए ये माना जाता है कि जो भी व्यक्ति माघ शुक्ल पंचमी के दिन देवी सरस्वती की पूरी विधि अनुसार पूजा करता है उसे माँ सरस्वती का आशीर्वाद प्राप्त होता है। इस दिन माँ शारदा के पूजन का भी बहुत महत्व होता है। शास्त्रों अनुसार मान्यता है कि इस दिन माँ सरस्वती की पूजा के साथ यदि सरस्वती यंत्र की स्थापना और सरस्वती स्त्रोत भी पढ़ा जाए तो इससे आशीर्वाद के साथ-साथ अद्भुत परिणाम भी माँ देती हैं। 

पौराणिक मान्यता 


पौराणिक मान्यताओं की मानें तो इस दिन देवी रति और भगवान कामदेव की षोडशोपचार पूजा भी की जाती है। इतना ही नहीं ये भी कहा जाता है कि यदि बसंत पंचमी के दिन कोई भी पति-पत्नी भगवान कामदेव और देवी रति की षोडशोपचार पूजा करें तो उनके वैवाहिक जीवन में आ रही हर समस्या दूर हो जाती हैं और उनका रिश्ता अपार ख़ुशियाँ से भर जाता है।

बसंत पंचमी पर देवी ‘श्री’ की पूजा


व्यवसायी लोग आज के दिन व्यापार वृद्धि यंत्र की स्थापना के साथ देवी ‘लक्ष्मी’ (जिन्हें श्री भी कहा गया है) और भगवान विष्णु की पूजा भी करते है। इसी लिए कुछ लोग माँ लक्ष्मी और माँ सरस्वती की पूजा एक साथ ही करते हैं। लक्ष्मी जी की पूजा के साथ श्री सू्क्त पाठ करना बेहद ज़रूरी एवं महत्वपूर्ण माना जाता है। तभी इस दिन का विशेष फल मिल पाता है।

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

Read More »

आज बुध के कुंभ में गोचर से चमकेगा आपका भाग्य !

बुध कर रहे हैं अपना स्थान परिवर्तन जिससे बनेगा शुभ योग! जानिए आपकी राशि पर कैसा रहने वाला है इस गोचर का प्रभाव।


वैदिक ज्योतिष में बुध ग्रह को एक तटस्थ ग्रह के रूप में जाना जाता है। यह ग्रहों की संगति के अनुसार ही फल देता है। बुध ग्रह को संचार, वाणी, गणित, वाणिज्य, हरा रंग, बुद्धि एवं त्वचा का कारक माना जाता है। यह मिथुन और कन्या दोनो राशियों का स्वामी है और नक्षत्रों में यह अश्लेषा, ज्येष्ठा, रेवती नक्षत्र का स्वामी होता है। कन्या राशि में यह उच्च का होता है। जबकि मीन इसकी नीच राशि कहलाती है। कोई भी ग्रह अपनी उच्च राशि में बलशाली होता है जिसके कारण जातकों को अच्छे फलों की प्राप्ति होती है। जबकि अपनी नीच राशि में ग्रह पीड़ित और कमज़ोर होता है जिसके परिणाम स्वरूप जातकों को इसके अच्छे परिणाम प्राप्त नहीं होते हैं। ऐसी स्थिति में जातकों को संबंधित ग्रह की शांति के उपाय करने चाहिए। 


वैदिक ज्योतिष की मानें तो जिन जातकों की कुंडली में बुध ग्रह शक्तिशाली होता है वो जातक बुद्धिमान, चतुर और गजब के वक्ता होते हैं। उन जातकों की गणित एवं वाणिज्य विषय में मजबूत पकड़ होती है। इसके साथ ही जिन लोगों की राशि में बुध ग्रह कमज़ोर होता है उन्हें बुध ग्रह की शांति के लिए पन्ना रत्न धारण करने की सलाह दी जाती है। 

बुध ग्रह 7 फरवरी 2019 को, गुरुवार के दिन प्रातः 09:59:30 बजे कुंभ राशि में गोचर करेगा। उसके बाद यह 25 फरवरी 2019 को सोमवार के दिन सुबह 8:42:50 बजे मीन राशि में जाएगा। बुध के इस गोचर का प्रभाव सभी राशियों पर पड़ेगा। आइए उन प्रभावों पर डालते हैं एक नज़र…. 


यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें चंद्र राशि कैल्कुलेटर से अपनी चंद्र राशि

मेष


कुंभ राशि में बुध का होने वाला गोचर मेष राशि के जातकों के लिए शुभ फल देने वाला साबित होगा। इस काल में बुध के इस गोचर की वजह से आपका आर्थिक लाभ, आय में बढ़ोतरी और आत्मविश्वास….आगे पढ़ें

वृषभ


इस राशि के जातकों के लिए बुध का गोचर बेहद शुभ रहने वाला है। इस दौरान वृषभ राशि के जातक किसी नई व्यावसायिक परियोजना की शुरुआत कर सकेंगे। पारिवारिक जीवन भी बेहद शांतिमय और सुखमय….आगे पढ़ें

मिथुन


आपके लिए कुंभ राशि में बुध का यह गोचर शुभ फलदायी साबित होने वाला है। भाग्य पूरी तरह से आपके साथ होगा। पारिवारिक और व्यक्तिगत जीवन भी शांतिपूर्ण और सद्‌भाव से परिपूर्ण होगा। परिजनों के माध्यम से….आगे पढ़ें

कर्क


कर्क राशि के जातकों के लिए यह अवधि बेहद धार्मिक और आध्यात्मिक रहने वाली है। बुध का यह गोचर आपके लिए बेहद लाभकारी रहने वाला है। मनोविज्ञान अथवा रहस्मयी विद्या से जुड़े जातकों के लिए….आगे पढ़ें

सिंह


सिंह राशि के जातकों के लिए बुध का यह गोचर बेहद शानदार रहने वाला है। इस अवधि में वैवाहिक जीवन काफी बेहतर रहेगा। जीवन साथी के साथ संबंध पहले की तुलना में और ज्यादा मजबूत होंगे और प्यार में….आगे पढ़ें

कन्या


सेहत को लेकर बुध का यह गोचर अशुभ संकेत दे रहा है। कोशिश करें कि किसी भी किस्म के विवाद में न पड़ें, यही आपके लिए अच्छा रहेगा। करियर के क्षेत्र में आपकी तरक्की पूरी तरह से आपकी व्यवहार कुशलता पर….आगे पढ़ें


तुला


इस गोचर की अवधि में आपके ज्ञान में बढ़ोतरी होगी। आय में भी वृद्धि होगी, जिससे आपकी खुशहाली बढ़ेगी। परिवार के सदस्यों के साथ सुकून भरे पल बिताएंगे। उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाने की इच्छा रखने वाले छात्रों के लिए….आगे पढ़ें

वृश्चिक


वृश्चिक राशि के जातकों के लिए बुध का यह गोचर थोड़ा अशुभ साबित हो सकता है। लेकिन यह समय पारिवारिक जीवन के लिए शुभ संकेत दे रहा है। हालाँकि घर-परिवार में छोटे छोटे विवाद हो सकते हैं। माता-पिता….आगे पढ़ें

धनु


धनु राशि के जातक इस दौरान हर कार्य को पूरी ईमानदारी से करेंगे। राह में आने वाली हर चुनौतियों का डट कर सामना करेंगे। इस दौरान लोगों से मेल-मिलाप बेहतर होगा, भाषा शैली भी निखरेगी जिससे सामाजिक….आगे पढ़ें

मकर


बुध का कुंभ राशि में होने वाला गोचर मकर राशि के जातकों के लिए बेहद शुभ फलदायी और अत्यंत लाभकारी सिद्ध होगा। आशा से अधिक लाभ मिलने से आपकी खुशी का ठिकाना नहीं रहेगा। पहले से कोई अदालती या कानूनी….आगे पढ़ें

कुंभ


चूंकि बुध कुंभ राशि में गोचर करेंगे, इसी लिए इसके प्रभाव से आपके ज्ञान में बढ़ोतरी होगी। आपकी हाज़िर जवाबी और चतुराई भरे बड़े फैसलों की वजह से हर कोई आपकी प्रशंसा करेगा। ससुराल पक्ष की ओर से कोई सरप्राइज….आगे पढ़ें

मीन 


इस राशि के जातकों को बुध के गोचर की वजह से यात्रा करने के अनेकों अवसर प्राप्त होंगे। विदेश यात्रा के भी संयोग बनते दिख रहे हैं। जीवन साथी या लव पार्टनर के स्वास्थ्य का ख्याल रखें, क्योंकि….आगे पढ़ें

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर
Read More »

मंगल का राशि परिवर्तन है बड़े बदलावों का संकेत !

मंगल का राशि परिवर्तन इन राशियों को दिलाएगा मांगलिक दोष से छुटकारा ! 

मंगल ग्रह भूमि, सेना, पराक्रम और ऊर्जा का कारक होता है। जो लाल रंग का प्रतिनिधित्व करता है। इसी लिए इसे सौर मंडल का लाल ग्रह भी कहा जाता है। इसे मेष और वृश्चिक राशि का स्वामित्व प्राप्त है। वहीं मकर इसकी उच्च राशि तो कर्क इसकी नीच राशि कहलाती है। नक्षत्रों की बात करें तो मंगल ग्रह को मृगशिरा, चित्रा एवं धनिष्ठा नक्षत्र का स्वामी कहा गया है। 


ज्योतिषी अनुसार जिस जातक की जन्म कुंडली में मंगल ग्रह प्रथम, चतुर्थ, सप्तम, अष्टम या द्वादश भाव में बैठा हो तो यह स्थिति जातक की कुंडली में मांगलिक दोष बनाती है। इसी मंगल दोष के चलते व्यक्ति को विवाह में देरी या फिर विवाह से संबंधित अन्य प्रकार की रुकावटों का सामना करना पड़ता है। वहीं जब कुंडली में मंगल ग्रह का प्रभाव शुभ हो तो स्थिति में व्यक्ति निडर और ऊर्जावान होता है। ऐसे व्यक्ति न केवल स्वतंत्र रूप में अपना कार्य करते हैं, बल्कि किसी भी खेल में उसका प्रदर्शन दूसरों से कई गुना ज्यादा बढ़िया होता है। विशेषज्ञ मंगल ग्रह की शान्ति के लिए मूंगा धारण करने की सलाह देते हैं। यहाँ से खरीदें लैब द्वारा सत्यापित वास्तविक मूंगा रत्न! 

लाल ग्रह मंगल 5 फरवरी 2019, मंगलवार को 23:57 बजे अपनी स्वराशि मेष में गोचर करेगा और यह 22 मार्च को शुक्रवार के दिन 15:20 बजे तक इसी राशि में स्थित रहेगा। मंगल का यह गोचर सभी 12 राशियों के जातकों के जीवन में सकारात्मक और नकारात्मक परिवर्तन लेकर आएगा। आइए इस लेख के माध्यम से जानते हैं कि मंगल के इस गोचर का आपके जीवन पर क्या प्रभाव पड़ने वाला है।


मेष


मंगल ग्रह आपकी राशि में गोचर करेगा और यह आपके लग्न यानि तनु भाव में गोचर करेगा। लग्न भाव से मंगल की उपस्थिति आपको ऊर्जावान रखेगी। गोचर के दौरान आपकी सेहत में सुधार देखा जा सकता है। परंतु…...आगे पढ़ें

वृषभ


मंगल ग्रह आपकी राशि से बारहवें भाव में गोचर करेगा। मंगल के गोचर का प्रभाव आपके आर्थिक पक्ष को मुख्य रूप से प्रभावित करेगा। इस दौरान आपके ख़र्चे तेज़ी से बढ़ेंगे। इस गोचर से आपके अप्रत्याशित ख़र्चों…...आगे पढ़ें

मिथुन


मंगल आपकी राशि से ग्यारहवें भाव में गोचर करेगा। इस भाव में मंगल का गोचर आपके आर्थिक जीवन में मजबूती लेकर आएगा। इस अवधि में आपकी आमदनी में ज़बरदस्त इज़ाफा होगा। जिससे आपके पास रुका हुआ…...आगे पढ़ें


कर्क


मंगल आपके दशम भाव यानि कर्म भाव में गोचर करेगा। कार्य स्थल पर आपके सफल प्रयासों को सराहा जाएगा। बॉस या फिर आपके सीनियर्स आपके कार्य की प्रशंसा करेंगे। इस दौरान पदोन्नति, वेतन बढ़ोतरी और आपके अधिकारों में वृद्धि होगी। लेकिन…...आगे पढ़ें

सिंह


मंगल ग्रह आपकी राशि से नौवें भाव में गोचर करेगा। आपको किसी लंबी दूरी की यात्रा पर जाना पड़ सकता है। यह यात्रा कार्य के सिलसिले में या फिर यह धार्मिक यात्रा भी हो सकती है। गोचर के दौरान आप अपने…...आगे पढ़ें

कन्या


मंगल ग्रह आपकी राशि से आठवें भाव में गोचर करेगा। मंगल का गोचर आपके लिए परेशानियाँ पैदा कर सकता है। इसलिए मंगल की यह स्थिति आपके लिए थोड़ी चिंताजनक हो सकती है। इस दौरान…...आगे पढ़ें

तुला


मंगल ग्रह का गोचर आपकी राशि से सप्तम भाव में होगा। मंगल का यह गोचर आपके वैवाहिक जीवन के लिए कम अनुकूल होगा। इस दौरान जीवनसाथी से मनमुटाव हो सकता है अथवा उनसे…...आगे पढ़ें


वृश्चिक


मंगल ग्रह आपकी राशि का स्वामी है। यह आपके छठे भाव में गोचर करेगा। इस भाव में मंगल की उपस्थिति आपके लिए कई मायनों में लाभकारी साबित हो सकती है। इस अवधि में आप अपने शत्रुओं…...आगे पढ़ें

धनु


मंगल ग्रह आपकी राशि से पांचवें भाव में गोचर करेगा। इस दौरान धनु राशि के जातकों के संतान के स्वभाव में परिवर्तन देखने को मिल सकता है। उनके स्वभाव में गुस्सा देखा जा सकता है या फिर…...आगे पढ़ें

मकर


मंगल ग्रह आपके चौथे भाव में गोचर करेगा। इस भाव से माता, वाहन, प्रॉपर्टी एवं सभी प्रकार के सुखों को देखा जाता है। इस अवधि में प्रॉपर्टी से जुड़े मामलों में आपको लाभ…...आगे पढ़ें


कुंभ 


मंगल का गोचर आपकी राशि से तीसरे भाव में होगा। इस अवधि में मंगल के प्रभाव से आपके पराक्रम में बढ़ोतरी होगी। आपका आत्म विश्वास बढ़ेगा और आप अपने कर्म क्षेत्र में…...आगे पढ़ें

मीन


मंगल ग्रह आपकी राशि से दूसरे भाव में गोचर करेगा। इस दौरान मंगल के प्रभाव से आपकी आमदनी में बढ़ोतरी होगी और आपका आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। आप अपना पैतृक यानि खानदानी…...आगे पढ़ें


रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

Read More »

साप्ताहिक राशिफल - 4 से 10 फरवरी 2019

इस सप्ताह मंगल-बुध के गोचर से हर राशि पर मंडरा सकता है बड़ा खतरा, पढ़ें साप्ताहिक राशिफल और हो जाएँ सावधान !


फरवरी के इस हफ्ते में ग्रह, नक्षत्रों की बदलती चाल जहाँ कई राशियों को लाभ की स्थिति में पहुँचाएगी वहीं अन्य दूसरी राशियों पर नाकारात्मक प्रभाव डालेगी। जिसमें इस हफ्ते तुला, कुम्भ और मीन राशि वालों को सबसे ज्यादा लाभ मिलने वाला है। राशि राशिचक्र के उन बारह बराबर भागों को कहा जाता है जिन पर ग्रह, नक्षत्रों और चन्द्रमां की दशा और दिशा उस राशि के आने वाले कल की भविष्यवाणी करने में मदद करती है। और इन सभी राशियों का संबंध सूर्य ग्रह के क्रांतिवृत्त (ऍक्लिप्टिक) पर आने वाले एक तारामंडल से सीधा-सीधा होता है, जिसे देखकर, समझकर और सही गणना करके ही हमारे ज्योतिषी आपके लिए सप्ताहिक राशिफल लेकर आते है। 

हिन्दू ज्योतिष के अनुसार इस सप्ताह की शुरुआत अमावस्या तिथि, कृष्ण पक्ष और श्रवण नक्षत्र के साथ होगी। ऐसे में इस दौरान चंद्रमा मकर राशि में रहेंगें। इसके साथ ही इस सप्ताह का अंत पंचमी तिथि, शुक्ल पक्ष और रेवती नक्षत्र के साथ होगा। जिस दौरान चंद्र देव 19:37:16 बजे तक मीन राशि में और फिर मेष में गोचर कर जाएंगे। 

अगर चंद्रमा की स्थिति को देखें तो इस हफ्ते चंद्र देव मकर, कुम्भ, मीन और मेष इन चार राशियों में गोचर करेंगे। काल पुरुष कुंडली के अनुसार, ये क्रमशः दसवें, ग्यारहवें, बारहवें और पहले भाव हैं। इसके साथ ही इस सप्ताह 5 फरवरी को मंगल ग्रह मीन से निकलकर मेष राशि में और 7 फरवरी को बुध का मकर राशि से कुम्भ राशि में गोचर भी होगा। ऐसे में आपकी राशि इन सभी प्रभावों से कितनी परिवर्तित होती हैं ये ज्योतिषीय गणना के आधार पर जानते हैं, इस हफ्ते के राशिफल में: 



यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें चंद्र राशि कैल्कुलेटर से अपनी चंद्र राशि

मेष


इस सप्ताह चंद्र ग्रह आपकी राशि से दशम, एकादश, द्वादश और प्रथम भाव में गोचर करेगा। इस दौरान यदि आप किसी नौकरी की तलाश कर रहे हैं तो आपको इस संबंध में शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- मंगल का पहले भाव में गोचर होने से इस हफ्ते आपका अपने पार्टनर से वाद विवाद हो सकता है। इसलिए...आगे पढ़ें

वृषभ


इस हफ्ते चन्द्रमा आपकी राशि के नौवें, दसवें, ग्यारहवें और बारहवें भाव में स्थित होंगें। इसके फलस्वरूप इस हफ्ते यदि एक हाथ से आपको धन लाभ होगा तो दूसरे हाथ से उसका व्यय भी होगा...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- इस हफ्ते मंगल का आपकी राशि के ग्यारहवें भाव से निकलकर बारहवें भाव में गोचर होने से आपकी अपने प्रिय के साथ तकरार भी होगी लेकिन...आगे पढ़ें

मिथुन


इस सप्ताह चन्द्र ग्रह आपकी राशि से अष्टम, नवम, दशम एवं एकादश भाव में गोचर करेगा। जबकि मंगल आपकी राशि से एकादश भाव में प्रवेश करेगा जिससे आपके जीवन में किसी प्रकार की अप्रत्याशित घटना घट सकती है...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- इस सप्ताह प्रेम विवाह के अच्छे योग बन रहे हैं। मंगल का गोचर आपको बल देगा लिहाज़ा आप अपने घर वालों से अपने प्रेम विवाह की बात कर सकते हैं...आगे पढ़ें

ऑनलाइन सॉफ्टवेयर से मुफ्त जन्म कुंडली प्राप्त करें।

कर्क


इस सप्ताह चन्द्र देव आपकी राशि से सप्तम, अष्टम, नवम और दशम भाव में गोचर करेंगे, जिस चलते ये सप्ताह बिज़नेस पार्टनर शिप के दृष्टिकोण से अच्छा नहीं साबित होनें की उम्मीद है...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- मंगल के गोचर के बाद मंगल की अष्टम दृष्टि आपकी राशि के पंचम भाव पर पड़ने से आपके और प्रियतम संग थोड़े विवाद इत्यादि की स्तिथि...आगे पढ़ें


सिंह


इस हफ्ते चंद्रमा आपकी राशि के छठें, सातवें, आठवें और नौवें भाव में गोचर करेंगे। जिससे कानूनी मामलों से जुड़े पक्षों में पैसों का व्यय होने के साथ ही साथ सफलता मिलने का भी योग बनेगा...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- विवाह योग्य जातकों को प्रेम जीवन में शुभ फल मिलने की पूरी उम्मीद है। हालांकि चंद्र देव के सातवें भाव में होने से आप अपने पार्टनर को लेकर चिंतित रहेंगे लेकिन...आगे पढ़ें

कन्या


मंगल आपके अष्टम भाव में गोचर करेगा और बुध का गोचर आपके छठे भाव में होगा, जो आपके सामने चुनौतियों को पेश कर सकता है। बहरहाल, सप्ताह की शुरुआत में आपका रुझान अध्यात्म जैसे विषयों पर रह सकता है। जिससे...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- सूर्य, बुध, केतु की पंचम भाव में उपस्थिति प्रेम संबंध में परेशानियों एवं कठिनाइयों को दर्शा रही है, लिहाज़ा...आगे पढ़ें

तुला


मंगल ग्रह आपकी राशि से सप्तम भाव में गोचर करेगा। जिसके परिणामस्वरूप आपका अपनी माता से विवाद हो सकता है, और घर में थोड़ा अशांति का माहौल भी छा सकता है। हालांकि...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- चंद्र की सातवें भाव की स्थिति के चलते आप दोनों काफी निकट आ सकते हैं, क्योंकि काल पुरुष कुंडली में ये भाव तुला राशि का होता है, जो...आगे पढ़ें

वृश्चिक


इस हफ्ते चंद्रमा आपकी राशि के तीसरे, चौथे, पांचवें और छठे भाव में विराजमान होंगें। जिससे आपको हफ्ते की शुरुआत में कठिन परिश्रम के बाद ही सफलता की प्राप्ति होगी। दूसरी तरफ बुध ग्रह का कुंभ राशि में गोचर होने से आपको...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- बुध का गोचर और चंद्र देव की स्थिति हफ्ते की शुरुआत में पार्टनर के साथ किसी बात को लेकर हल्की नोक झोंक का कारण बनेगी। हालांकि हफ्ते के अंत में...आगे पढ़ें

धनु


इस सप्ताह चंद्रमा आपकी राशि से द्वितीय, तृतीय, चतुर्थ और पंचम भाव में गोचर करेंगे जिस कारण सप्ताह के प्रारम्भ में आपका धन धार्मिक कार्यो में खर्च हो सकता है। परंतु इसमें आपको आनंद की अनुभूति प्राप्त होगी और...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- प्रेम जीवन के लिए सप्ताह शुभ संकेत दे रहा है। इस सप्ताह बुध और मंगल ग्रह के राशि परिवर्तन से लव पार्टनर और आपके बीच ज़बरदस्त...आगे पढ़ें


मकर


इस सप्ताह चंद्र देव आपकी ही राशि से गोचर करेंगे, जो बाद में आपके द्वितीय, तृतीय और चतुर्थ भाव में स्थित हो जाएंगे। इसलिए आपको बिज़नेस पार्टनरशिप में किसी प्रकार का कोई धोखा भी हो सकता है, लिहाज़ा आपको इस पूरे सप्ताह...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- मंगल ग्रह के गोचर के बाद संभावना है कि छोटा सा विवाद भी आपके रिश्ते में दरार ला सकता है। जिससे आपका रिश्ता टूटने की कगार पर भी आ सकता है...आगे पढ़ें

कुंभ


मंगल आपकी राशि से तृतीय भाव में गोचर करेगा, वहीं बुध का आपकी राशि में गोचर होगा। इसी लिए सप्ताह की शुरुआत में आपके खर्चे बढ़ सकते हैं और धन हानि भी हो सकती है। ऐसे में आपको संभल कर आर्थिक फैसले लेने होंगे। साथ ही ...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- प्रेम सम्बन्धों के मामलो में यह सप्ताह अच्छा नहीं प्रतीत हो रहा है। शुरुआती दिनों में आपको किसी भी तरह के झगड़े से बचना चाहिए क्योंकि...आगे पढ़ें

मीन


इस हफ्ते चन्द्रमा की स्थिति आपकी राशि के प्रथम, द्वितीय, ग्यारहवें और बारहवें भाव में बन रही है। इसके चलते विदेश यात्रा की कामना रखने वाले जातकों को इस हफ्ते काम के सिलसिले में विदेश जाने का अवसर प्राप्त हो सकता है। इसके साथ ही साथ कार्यक्षेत्र में...आगे पढ़ें

प्रेम जीवन :- आपकी राशि के पांचवें भाव में राहु की उपस्थिति होने से आप दोनों के बीच कुछ गलत फहमियां पैदा हो सकती हैं। इसलिए...आगे पढ़ें

रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

Read More »