सावन प्रारंभ - 9 बातें जो शिव को करती हैं क्रोधित

सावन का महीना आज से प्रारंभ होकर आगामी 18 अगस्त यानी रक्षा बंधन को समाप्त होगा। श्रावण को शिव का माह माना जाता है, जिसमें किये गए धार्मिक क्रिया-कलापों के प्रभावों को सभी जानते हैं। पर कुछ बातें ऐसी भी हैं जिनको करने से भगवान् शिव क्रोधित हो सकते हैं। तो चलिए जानते हैं वो 9 बातें जिनसे हो जाते हैं सावन में शिव नाराज़। 

Sawan ka mahina Hinduon ke liye sabse shubh hota hai; khaaskar un logon ke liye jinhe apne jeevan mein prem ke liye badi jagah banani hai.



चतुर्मास के दौरान ही सावन का आगमन होता है, इसलिए भगवान् शिव ही विष्णु का कार्यभार सम्भालते हैं। माना जाता है कि इस दौरान भगवान् शिव में त्रिदेव (ब्रह्मा-विष्णु-महेश) की शक्ति समाहित होती है और वे भक्तों की किसी भी कामना को पूर्ण कर सकते हैं। इसलिए यह भी जानना बहुत ज़रूरी है कि ऐसी कौनसी 9 बाते हैं जिनकी वजह से भगवान् शिव क्रोधित हो सकते हैं।

इन 9 बातों का सावन में करें परहेज़

  1. जीवनसाथी के साथ न झगड़ें और यदि ऐसा होता है तो शिव-पार्वती की आराधना कर लें। 
  2. तामसिक चीज़ों से परहेज़ करें क्योंकि सावन के दौरान भगवान् शिव ही विष्णु जी का कार्यभार संभालते हैं, इसलिए इस दौरान मांस, मछली, मदिरा, आदि का सेवन करना उचित नहीं है।
  3. दूध का सेवन न करें क्योंकि सावन माह में दूध का सेवन करने से वात दोष बढ़ता है। इसलिए शिवलिंग को इन दिनों दूध से स्नान कराया जाता है।
  4. इस दौरान बैंगन की सब्ज़ी न खाएँ क्योंकि सावन में इसे अपवित्र माना जाता है। कुछ लोग द्वादशी तिथि, चतुर्दशी तिथि और कार्तिक मास में भी इसका सेवन नहीं करते हैं।
  5. ब्रह्म मूहूर्त में उठकर शिव की आराधना करना न भूलें, ऐसा कहा जाता है कि पिछले कर्मों के पाप धोने के लिए प्रतिदिन सबेरे जल्दी उठकर शिव का स्नान कराकर उनकी आराधना करनी चाहिए।
  6. भगवान शिव के भक्तों को नाराज़ न करें; सावन शिव का माह है, इसलिए उनके भक्तों की सेवा करना उन्ही की सेवा करने के बराबर है। भोले बाबा के भक्तों की मदद करें और उन्हें ठेस न पहुँचाएँ।
  7. सावन के दौरान हरी पत्तेदार सब्ज़ियों का सेवन न करें; सावन मास में हरी पत्तेदार सब्ज़ियों को खाना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक माना गया है।
  8. बैल को चारा खिलाएँ, उन्हें चोट न पहुँचाएँ; यदि सावन के दौरान आपको कोई बैल दिख जाता है तो उसे भगाएँ नहीं, बल्कि प्रेमभाव से उसकी सेवा करें क्योंकि नंदी बैल भगवान् शिव के वाहन हैं।
  9. किसी को अपने शब्दों से ठेस न पहुंचाएँ और बड़ों का आदर करें।

भगवान कैलाश शंभु के लिए सोमवार का दिन पवित्र माना जाता है, भक्तगण उन्हें मनाने के लिए इस दिन व्रत रखते हैं। इसलिए हम नीचे श्रावण सोमवार की तिथियों को आप से साझा कर रहें हैं:

  • जुलाई 25, 2016
  • अगस्त 1, 2016
  • अगस्त 8, 2016
  • अगस्त 15, 2016
उपरोक्त दिए गए दिनाँक उत्तर भारतीय हिन्दू कैलेंडर के अनुसार हैं।

आज, सावन के पहले दिन, बुध कर्क राशि में उदय हो रहा है। आशा करते हैं कि सावन के शुभ अवसर पर इस जानकारी की सहायता से आप भोलेनाथ का आशीर्वाद प्राप्त कर सकेंगे।

सावन माह की हार्दिक शुभकामनाएँ!


आने वाले पर्व


2 बड़े पर्व श्रावण की शुरुआत के साथ आ रहे हैं।

  • पंचक (जुलाई 22 से 26)
  • संकष्टी चतुर्थी (जुलाई 23)

आपका दिन मंगलमय हो!

Related Articles:

26 comments:

  1. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  2. kya savan maas me baal or nakhun kaat sakte hai?

    ReplyDelete
  3. हर हर महादेव

    ReplyDelete
  4. Mare Bhole Nath Sab ki manokamna puri Kare free time main JAI SHIV Mantra ka jaap karain...Sab ki Manokamna puri ho..Pardeep Sharma Visit my Facebook page Balak Tours & Travels Amritsar and liked on page.

    ReplyDelete
  5. Mare Bhole Nath Sab ki manokamna puri Kare free time main JAI SHIV Mantra ka jaap karain...Sab ki Manokamna puri ho..Pardeep Sharma Visit my Facebook page Balak Tours & Travels Amritsar and liked on page.

    ReplyDelete
  6. Om namah Shivay....vichar n vyabhichar.......

    ReplyDelete
  7. Bam bhole ki fauz karegi mauj...jai bhole ki..har har mahadev.

    ReplyDelete
  8. हर हर महादेव
    ऊँ नमः शिवाय

    ReplyDelete
  9. ॐ नमः शिवाय ! ॐ नमः शिवाय! ॐ नमः शिवाय !ॐ नमः शिवाय!ॐ नमः शिवाय !!

    ReplyDelete
  10. Jai ho baba bhole nath ki,China nhi kisi baatk ki.HAR HAR MAHADEV

    ReplyDelete